स्ट्रॉबेरी खाने के फायदे, पोषक तत्व और नुकसान Strawberry Benefits in Hindi

Strawberries Health Benefits in Hindi – स्ट्रॉबेरी, एक सीजनल फ्रूट है। गर्मियों का ये रसीला फल न केवल स्वादिष्ट है बल्कि पौष्टिक भी है। इसमें कई पौष्टिक तत्व जैसे प्रोटीन, कैलोरी, फाइबर, आयोडीन, फोलेट, ओमेगा 3, पोटेशियम, मैग्नीशियम, फास्फोरस, विटामिन आदि पाए जाते हैं। इसका रसदार खट्टा-मीठा स्वाद लोगों को बेहद भाता है। साथ ही इसकी खुशबू भी इसे दूसरे फलों से अलग बनाती है। इसका प्रयोग कई रूपों में किया जाता है, साथ ही इसके फ्लेवर का उपयोग कई प्रकार के स्वीट्स बनाने में किया जाता है जैसे मिल्कशेक, आइस-क्रीम, दही और जैम।

पहले यह आसानी से नहीं मिलती थी लेकिन आज यह पूरे देश में पाई जाती है। पूरी दुनिया में इसकी 600 किस्म की प्रजातियां पाई जाती है और सभी क़िस्मो का रंग और स्वाद अलग होता है। स्ट्रॉबेरी खाने में जितना स्वादिष्ट होती है उतनी ही स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद होती है। स्ट्रॉबेरी को भी एक प्रकार की बेरी ही माना जाता है। स्ट्रॉबेरी (स्ट्रॉबेरी के फायदे) में एंटीऑक्सीडेंट गुण और पॉलीफेनोल कंपआउंड पाए जाते हैं। स्ट्रॉबेरी में मौजूद विटामिन सी त्वचा और बालों को लंबे समय तक स्वस्थ रखने में मदद करता है।

Strawberry benefits in hindi

स्ट्रॉबेरी में पाएं जाने वाले पोषक तत्व – Strawberry Nutrition Facts in Hindi

एक कच्चे स्ट्रॉबेरी के 3.5 औंस (100 ग्राम) में पाए जाने वाले पोषक तत्व।

  • Calories: 32
  • Water: 91%
  • Protein: 0.7 grams
  • Carbs: 7.7 grams
  • Sugar: 4.9 grams
  • Fiber: 2 grams
  • Fat: 0.3 grams

स्ट्रॉबेरी के फायदे – Strawberry Khane ke Fayde

1). डायबिटीज के मरीजों के लिए – मधुमेह वाले लोगों के लिए स्ट्रॉबेरी एक स्वस्थ फल विकल्प है। स्ट्रॉबेरी में पर्याप्त फाइबर सामग्री भी रक्त शर्करा को नियंत्रित करने में मदद करती है और अत्यधिक उतार-चढ़ाव से बचकर इसे स्थिर रखती है। फाइबर तृप्ति में सुधार कर सकता है, जिससे लोगों को खाने के बाद लंबे समय तक पेट भरा हुआ महसूस करने में मदद मिलती है।

2). कैंसर में फायदे – हम सभी जानते है कि कैंसर जैसे घातक बीमारी से लोगो की क्या हालत होती है। लेकिन क्या आप को पता है स्ट्रॉबेरी कैंसर के लिए एक रामबाण इलाज हो सकती है। एक शोध से पता चला था कि, स्ट्रॉबेरी (Strawberry) में कैंसर प्रिवेंटिव और कैंसर थेराप्यूटिक गुण पाए जाते है, जो कैंसर के बचाव और उपचार में सहायक हो सकता है। एक शोध में पाया गया कि स्ट्रॉबेरी (Strawberry) ब्रेस्ट कैंसर के लिए लाभकारी साबित हो सकता है।

3). घटाने के लिए – स्ट्रॉबेरी (Strawberry) एक लो (low) कैलोरी फल है, जिसका सेवन वजन घटाने के लिए भी किया जाता है। स्ट्रॉबेरी (Strawberry) के एक कप में केवल 50 कैलोरी उर्जा होती है। इसमें उपस्थित फाइबर पेट को काफी देर तक भरा रखता है जिसके कारण ये वजन घटाने में बहुत ही लाभदायक है। आप इसे अपने आहार में शामिल करके अपने वजन को आसानी से घटा सकते है।

4). हृदय संबंधी समस्याओं में – स्ट्रॉबेरी में एंटीऑक्सीडेंट गुण और पॉलीफेनॉल्स कंपाउंड प्रचुर मात्रा में होते हैं। स्ट्रॉबेरी आपको ह्रदय संबंधी समस्याओं से बचा सकता है और आपके ह्रदय को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करता है। इसी वजह से ह्रदय स्वास्थ्य बनाए रखने के लिए सप्ताह में तीन बार स्ट्रॉबेरी खाने की सलाह दी जाती है। वहीं, स्ट्रॉबेरी को ह्रदय के लिए सबसे ज्यादा स्वस्थ फल माना गया है और इसे हार्ट हेल्दी फलों की श्रेणी में रखा गया है।

5). ब्लड प्रेशर नियंत्रित रखता हैं –  स्ट्रॉबेरी के फायदे में रक्तचाप को नियंत्रित रखना भी शामिल है। दरअसल, स्ट्रॉबेरी में पोटैशियम प्रचुर मात्रा में पाया जाता है, जो रक्तचाप को नियंत्रित कर स्ट्रोक के जोखिम को कम करने में मदद करता है। इसके अलावा, स्ट्रॉबेरी में मौजूद घुलनशील फाइबर खराब कोलेस्ट्रॉल (LDL) को कम करता है, जिससे ब्लड प्रेशर नियंत्रित रखने में मदद मिलती है।

6). स्किन के लिए – त्वचा को सुंदर और गोरा बनाने के लिए यह रस भरा फल बहुत ही फायदेमंद होता है। इसमें उपस्थित अल्फा हाइड्रोक्सी एसिड मृत त्वचा को जीवित कर त्वचा की नई सेल्स का निर्माण करता है। साथ ही इसमें सलिसीक्लिक एसिड और एललगिक एसिड की मात्रा भी होती है जो कि त्वचा के सभी काले धब्बों को हटाकर त्वचा को साफ और गोरा बनाने का काम करती है।

7). बालो के लिए – स्ट्रॉबेरी के प्रयोग से बाल मजबूत बनते हैं और रूसी की समस्या से भी निजाद मिलती है। इसमें उपस्थित विटामिन सी बालों को गिरने से रोकता है और बालों को मजबूती प्रदान करता है।

8). दांतो को चमकदार बनाये – अगर आप अपने दाँतों को बिना कोई नुकसान पहुचाएं सफ़ेद बनाना चाहते है, तो इसके लिए आप को स्ट्रॉबेरी (Strawberry) का इस्तेमाल करना होगा। इसमें उपस्थित विटमिन-सी हमारे दाँतों के पीलेपन को दूर करता है और ये एंजाइम को बनने से रोकता है, जो दाँतों में बैक्टेरिया पैदा करता है।

9). गठिया रोग में – स्ट्रॉबेरी (Strawberry) के सेवन से गठिया (gout) जैसे रोग से भी राहत मिल सकती है। इसमें पाए जाने वाले पॉलीफेनोल (Polyphenols) तथा अन्य पोषक तत्व जो घुटने के सूजन और दर्द को कम करने में सहायक होते है। इसके अतिरिक्त मसूड़ों की सूजन को भी कम करने में सहायक है क्योंकि इसमें विटामिन-सी प्रचुर मात्रा में पाई जाती है।

10). पुरुषो के लिए लाभदायक – स्ट्रॉबेरी पुरुषों के लिए बहुत ही लाभदायक होता है क्योंकि इसमें पाये जाने वाले अफ्रोडीसीएक (Aphrodisiac) जो कामोत्तेजना को बढ़ाने में सहायक होता है। इसके अतिरिक्त यह भी माना जाता है कि इसके इस्तेमाल से नपुंसकता में भी लाभदायक होता है। साथ ही स्ट्रॉबेर्री में विटामिन-सी प्रचुर मात्रा पाई जाती है , जो हमारे शरीर के प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में मदद करता है।

11). प्रेगनेंसी में सहायक – गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को कैल्सियम और विटामिन्स की अतिरिक्त मात्रा मे आवश्यकता होती है। खासकर विटामिन बी, जो स्ट्रॉबेरी में भरपूर मात्रा में पाई जाती है। अगर स्ट्रॉबेरी से एलर्जी नहीं है तो यह प्रेगनेंसी में सहायक मानी जाती है क्योंकि ये बर्थ डिफेक्ट जैसी परेशानियों से बच्चों को बचाता है। बर्थ डिफेक्ट में पोषक तत्वों की कमी हो जाती है और शिशुओं का विकास रुक जाता है।

स्ट्रॉबेरी के नुकसान – Strawberry Khane ke Nuksaan (Side Effects)

  1. कुछ लोगों को स्ट्रॉबेरी से एलर्जी (Allergic reaction) भी होता है। इसलिए उन लोगों को कभी भी इसका सेवन नहीं करना चाहिये।
  2. स्ट्रॉबेरी के ज्यादा सेवन से शरीर में विटामिन की मात्रा बढ़ जाती है। जिससे आपको डायरिया, गैस्ट्रिक और सुस्ती की समस्या का सामना करना पड़ा सकता है।
  3. स्ट्रॉबेरी में फाइबर भी उच्च मात्रा में पाया जाता है। जिसका ज्यादा सेवन करने से आंतो से जुड़ी बीमारी होने का खतरा बढ़ जाता है।
  4. अगर आप नियमित रूप से स्ट्रॉबेरी का सेवन करते हैं, तो इससे आपके गले में दर्द की शिकायत हो सकती है।
  5. स्ट्रॉबेरी के सीमित मात्रा से अधिक सेवन करने से पीलिया, शरीर में दर्द, और सूजन की समस्या भी आपको परेशान कर सकती है।

Also, Read More:- 

Leave a Comment

Your email address will not be published.