डाॅल्फिन्स के बारे में 35 मजेदार रोचक तथ्य | Facts About Dolphins in Hindi

Dolphins Facts in Hindi/ डॉ‍ल्फिन समुन्द्र और नदियों में पाया जाने वाला स्तनधारी प्राणी है। यह एक छोटी व्हेल की ही तरह है। हमारे भारत में डॉल्फिन गंगा नदी में पाई जाती है लेकिन गंगा नदी में मौजूद डॉल्फिन अब विलुप्ति की कगार पर है। डॉलफिन बहुत ही समझदार स्तनधारी प्राणी है। इंसानो की तरह इनके भी अपने नाम और पहचान होते हैं। डॉल्फिन आवाज और सीटियों के द्वारा एक दूसरे से बात करती हैं। इसी तरह डाॅल्फिन्स के बारे में और भी मजेदार तथ्य बताने जा रहे है…

डाॅल्फिन्स के बारे में 35 मजेदार रोचक तथ्य | Facts About Dolphins in Hindi

डाॅल्फिन्स के बारे में रोचक तथ्य -All Interesting Dolphins in Hindi

1). फिलहाल पृथ्वी पर डाॅल्फिन्स की 41 जीवित प्रजातियाँ है। इनमें से 37 समुंद्रो में और 4 नदियों में पाई जाती है।

2). डाॅल्फिन की उम्र 15 साल होती है, कुछ प्रजातियाँ 50 साल तक भी जिंदा रहती है।

3). डाॅल्फिन्स, इंसानों से 10 गुना ज्यादा सुन सकती है। लेकिन इन्हें खूशबू और बदबू का पता नहीं लगा सकती।

4). सबसे छोटी डाॅल्फिन 4 फीट की और सबसे लंबी डाॅल्फिन 32 फीट की है।

5). आपको जानकर हैरानी होगी की डाॅल्फिन्स टेलिफोन पर एक दूसरे से बातचीत कर सकती है, और पता लगा सकती है कि सामने फोन पर कौन है जैसे:- उसका बेटा या कोई पहचान वाला।

6). डॉल्फिन को अकेले रहना पसंद नहीं है यह सामान्यत: समूह में रहना पसंद करती है। इनके एक समूह में 10 से 12 सदस्य होते हैं।

7). जानवरों में सबसे लंबी याददाशत डाॅल्फिन्स की ही होती है।

8). सबसे छोटी डाॅल्फिन 40 किलो की और सबसे बड़ी डाॅल्फिन 9,000 किलो की है।

9). आपको ये बात जानकर अजीब लगे लेकिन डाॅल्फिन्स खुद को शीशे में पहचान सकती है। और खुद को शीशे में देखकर खुश होती हैं।

10). अमेरिका Navy के पास 75 प्रशिक्षित की गई Dolphins है जो उनकी पानी के अंदर माइन्स और दुश्मन तैराकों को ढूंढने में मदद करती है।

11). डॉल्फिंस एक आँख खोल कर सोती है।

12). डाॅल्फिन्स 60km/hour की स्पीड से भी तैर सकती है जबकि इंसान अधिकत्तम 8.6km/h की स्पीड से ही तैर पाते है।

13). डाॅल्फिन और व्हेल जब बच्चे को जन्म देती है तब सबसे पहले उसकी पूँछ निकलती है ना कि सिर।

14). डाल्फिन automatically साँस नही लेती, यही कारण है कि नींद में भी इनके दिमाग का एक हिस्सा जगा रहता है ताकि सांस लिया जा सके।

15). डॉलफिन एक ही समय में सोने और तैरते रहने की दोनों क्रिया एक साथ कर सकती है।

16). डॉलफिन में सांस लेने की प्रक्रिया स्वयं नहीं होती उन्हें अगर चेतना शुन्य करने वाली औषधि दी जाए तो ये मर जाएंगी।

17). डाॅल्फिन पानी में 990ft. की गहराई तक जा सकती है और पानी से 20ft. ऊपर तक उछल सकती है। (यानि दो मंजिला इमारत के बराबर)।

18). यदि आपको कोई डाॅल्फिन समुंद्र से बाहर बीच पर मिलती है तो उसे वापिस पानी में भेजने की कोशिश न करे। क्योंकि ये ऐसा बीमार होने पर डूबने से बचने के लिए करती है।

19). डॉलफिन को अपने शरीर के वजन का करीबन 1/8 हिस्सा खाना हर दिन चाहिए होता है और ये छोटी मछलियों को खाकर अपनी भूख मिटाती है।

20). डॉल्फ़िन के पास 2 पेट हैं। एक भोजन के भंडारण के लिए उपयोग किया जाता है और दूसरा पाचन के लिए प्रयोग किया जाता है।

Amazing Facts About Dolphins in Hindi

21). नर डॉल्फिंस को “bulls” और मादा डॉल्फिंस को “cows” कहा जाता है।

22). मादा डॉलफिन अपने बच्चे का पालन पोषण करती है और उसे अपने आप को सुरक्षित रखने के लिए हर तरह के कौशल में निपुण बनाती है।

23). पहली दो मुँह वाली डाॅल्फिन 2014 में तुर्की की एक बीच पर पाई गई थी।

24). डॉल्फिंस, का सेक्स नाभि से नाभि में होता है। और मनुष्य की ही तरह डॉलफिन भी सेक्स आनंद के लिए करती है।

25). डॉलफिन का गर्भधारण काल 10 महीने का होता है और प्रसव के कुछ दिन पहले से मादा डॉलफिन का एक समूह गर्भवती डॉलफिन की देखभाल करता है।

26). जब ‘Killer Whale’ और ‘Bottlenose Dolphin’ का आपस में सेक्स करवाया गया तो एक नई प्रजाति “Wolphin” पैदा हुई।

27). डॉल्फ़िन कभी अपना भोजन नहीं चबाते, वे इसे पूरी तरह निगलते थे उनके दांत का उपयोग केवल उनके शिकार को पकड़ने के लिए किया जाता है।

28). डाॅल्फिन और व्हेल जब बहुत ज्यादा खुश होती है तब वो चिल्लाने लगती है।

29). डाॅल्फिन्स अपनी त्वचा की ऊपरी परत्त को हर 2 घंटे में उतार देती है।

30). ब्रिटिश पानी में जितनी डाॅल्फिन्स मौजूद है वो सभी इंग्लैंड की महारानी की है।

31). डाॅल्फिन्स समुंद्र का पानी नही पीती, क्योंकि ये इन्हें बीमार और यहाँ तक की मार भी सकता है. ये अपने भोजन से ही पानी की आपूर्ति कर लेती है।

32). डॉल्फिन की एक बड़ी खासियत यह है कि यह कंपन वाली आवाज निकालती है जो किसी भी चीज से टकराकर वापस डॉल्फिन के पास आ जाती है। इससे डॉल्फिन को पता चल जाता है कि शिकार कितना बड़ा और कितने करीब है।

33). डॉलफिन बहुत ही समझदार जानवर है और इनका मनुष्य के साथ बरसो से बहुत ही मित्रतापूर्ण रिस्ता रहा है।मनुष्य की ही तरह डॉलफिन भी दुसरो को देख कर उसकी भावनाओं को समझ सकती है।

34). डॉल्फ़िन में बहुत ही नाजुक त्वचा होती है, कठिन सतह की थोड़ी सी भी खरोच में घायल होती है। हालांकि, उनकी तेजी से चिकित्सा विशेषता के कारण, कम से कम घावों को भी ठीक किया जा सकता है।

35). यह वैज्ञानिकों द्वारा साबित कर दिया गया है कि डॉल्फिन खुद को नाम देते हैं। वे अपने स्वयं के व्यक्तिगत को विकसित करते हैं और वे उनकी और अन्य डॉल्फिन के नामों को पहचानते हैं।


और अधिक लेख –

 

Leave a Comment

Your email address will not be published.