आसमान से लटकी होगी दुनिया की ये सबसे ऊंची इमारत – Analemma Tower

इंसानो ने धरती पर कई अद्भुत निर्माण प्राचीन काल से करते आ रहे हैं, और अभी इंजीनियरिंग इतना आगे निकल गया हैं की कई निर्माण को देख कर विश्वास नहीं होता की ये इंसानो द्वारा बनाया गया हैं। लेकिन अब और एक ऐसा ईमारत का निर्माण होने जा रहा हैं जिसके बारे सुन के दांतो तले ऊँगली दबा लेंगे, ये ईमारत की सबसे खास बात हैं की ये ईमारत धरती पर नहीं बनेगी, बल्कि आसमान से धरती ओर लटका रहेगा, जो की उल्कापिंड के सहारे ये ईमारत झूलती रहेगी। पढ़े पूरी जानकारी….   

आसमान से लटकी होगी दुनिया की ये सबसे ऊंची इमारत (Analemma Tower)न्यूयॉर्क की आर्किटेक्चर कंपनी ने एक गगनचुंबी इमारत का डिजाइन तैयार किया है, जो दुनिया की सबसे ऊंची इमारत होने के साथ-साथ दूसरी इमारतों से बिल्‍कुल अलग होगी। दरअसल, यह एक ऐसी इमारत है जो धरती से बाहर होगी। यह बिल्डिंग धरती से 50000 किलोमीटर यानी 31068 मील की दूरी पर होगी। यह बिल्डिंग जमीन से आसमान की ओर नहीं, बल्कि आसमान से जमीन की ओर होगी। इसे एक उल्कापिंड से लटका कर बनाने का इरादा हैं। जो की उल्कापिंड के सहारे ये ईमारत झूलती रहेगी।

यह बिल्डिंग उत्तर से दक्षिण में आठ पैटर्न में घूमती रहेगी और 24 घंटे में पृथ्वी के दोनों गोलार्द्धों में मौजूद कई शहरो के ऊपर से गुजरेगी। कंपनी ने इसको इसे ऐनालेमा टावर (ANALEMMA TOWER) का नाम दिया गया है।

दुबई के ऊपर इस बिल्डिंग को बनाने का प्रस्ताव दिया गया है, क्योंकि यह शहर लंबी बिल्डिंग के लिए विख्यात है और यहां न्यूयॉर्क के मुकाबले काफी कम लागत में इसे बनाया जा सकता है। यह सब 24 घंटे के ऑर्बिटल सर्कल में होगा। यह अद्भुत डिजाइन क्लाउड्स आर्किटेक्चर ऑफिस ने तैयार किया है।

यह कंपनी इससे पहले मार्श हाउस और क्लाउड सिटी का प्रस्ताव भी रख चुकी है। अब इस फर्म ने अपना लेटेस्ट डिजाइन सार्वजनिक किया है। इस बिल्डिंग में रहने वालों को बरसात और बादलों से पानी मिलेगा।वहीं सोलर एनर्जी से बिजली बनाई जाएगी। इसमें बड़ी संख्या में सोलर पैनल लगाने का प्रस्ताव है।

अगर इसमें रहने वाले लोग धरती पर वापस जाना चाहते हैं, तो उन्हें एक पैराशूट की दरकार होगी। बिल्डिंग के डिजाइन में यूनिवर्सल ऑर्बिटल सपोर्ट सिस्टम का इस्तेमाल किया जाएगा।


और अधिक लेख –

Leave a Comment

Your email address will not be published.