कैंसर क्या है? कैसे होता है? कैंसर के लक्षण व घरेलू उपचार

Cancer in Hindi / जैसे-जैसे हमारा जीने का लाइफ स्टाइल चेंज हो रहा है वैसे हम नये-नये बीमारियो को भी जन्म दे रहे है। इसका सबसे कारण, खाने-पीने मे चेंजिंग, रहने के तरीक़ो मे चेंजिंग, इन्ही मे एक बीमारी कैंसर भी हैं, तो चलिए जानते है कैंसर के बारे में।

cancer causes and symptoms
90 % मरीज कैंसर से नहीं मरते बल्कि उसके इलाज से मर जाते हैं ये एक आश्चर्यजनक तथ्य हैं। इसलिए बड़ी सावधानी पूर्वक इसका उपचार किया जाता हैं।

कैंसर क्या है – What is cancer in hindi

कैंसर एक घातक जानलेवा बीमारी है। कैंसर से पीड़ित मरीज जल्‍दी ठीक नही होते हैं क्यूंकी इस बीमारी के लक्षणों का पता देर से चलता है। और अभी तक दुनिया मे इस ख़तरनाक बीमारी का कोई स्थायी इलाज नही निकला है। अगर समय रहते इस बीमारी का इलाज सही से ना हो तो इसे रोक पाना मुस्किल है।

शरीर मे कैंसर कैसे होता है – Body cancer

शरीर में 100 से 1000 तक खराब सेल्स(कोशिका) होते है। हर समय हमारी बॉडी में नये सेल्स पैदा होते है और पुराने खराब सेल्स समाप्त भी होते है। पर कैंसर होने पर लाल और सफेद रक्त कोशिकायो का संतुलन बिगड़ जाता है और सेल्स की बढ़ोतरी कंट्रोल से बाहर हो जाती है, जो कैंसर का रूप ले लेता है।

कैंसर के प्रकार – Types of cancer

  • Sarcoma Cancer – ये खून और हड्डियो से संबंधित कैंसर होता है।
  • Carcinoma Cancer – यह स्किन से संबंधित कैंसर होता है।
  • Lymphoma cancer – ग्रंथियो मे होने वाला कैंसर कहा जाता है।
  • Leukemia Cancer –  खून को बनाने वाले सेल्स का कैंसर होता है।

कैंसर होने का कारण क्या-क्या है – Cancer causes in hindi

  • नशा का सेवन करने से जैसे – खैनि, गुटखा, तंबाखू, पान मशाला, बीड़ी, सिगरेट, शराब आदि से।
  • ख़ान-पान से जैसे – ज़्यादा चर्बी वाले चीज़ो को खाने से, ज़्यादा नमक खाने से,  जो खाना पचने मे ज़्यादा समय लेता है उससे, ज़्यादा समय से एक ही जगह पर बैठने से।
  • मोटापा, हेपटाइटिस ब और एचाइवी के वाइरस की वजह से भी।
  • महिलाओ मे कैंसर के वजह, – बच्चो को अपना दूध नही पिलाने से, ज़्यादा गर्व निरोधक दावा का इस्तेमाल से।
  • मासिक धर्म के बाद अंडरआर्म या फिर ब्रैस्ट में गांठ दिखाई पड़ना।
  • ब्रैस्ट की त्वचा में कोई भी बदलाव महसूस होना। या गड्ढा हो जाना।

कैंसर का लक्षण – Cancer symptoms in hindi

  • मूह के अंदर छाले होना, मूह का सुकड़ना और पूरी तरह मूह का ना खुलना।
  • खाना खाने चबाने, निगलने या हज़्म करने में परेशानी होना।
  • कमर में हमेशा दर्द होना।
  • पेसाब की आदतो मे बदलाव होना, पेशाब में आनेवाले ख़ून।
  • लगातार खाँसी होना या आवाज़ का बैठ जाना, खांसी के दौरान ख़ून का आना।
  • ब्रेस्ट में या फिर शरीर के किसी और हिस्से में गाँठ बनाना।
  • ख़ून की कमी की बिमारी अनीमिया।
  • प्रोस्टेट के परीक्षण के असामान्य परिणाम।
  • मीनोपॉस के बाद ख़ून आना।

कैंसर से कैसे बचे / घरेलू उपचार – Cancer treatment in hindi

  • पान, गुटखा, सिगरेट किसी भी नशा का सेवन बिल्कुल ना करे।
  • फल, हरी सब्जी का ज़्यादा इस्तेमाल करे।
  • नींबू, संतरा या मौसमी का जूस पिए।
  • गाय का मूत्र, गेहू का जावरा कैंसर के लिए आयुर्वेदिक रामबाण के जैसा है।
  • किसी भी बीमारी मे जितना ज़रूरत है उतना ही दावा का इस्तेमाल करे, फालतू दावा ना खाए।
  • बादाम, किशमिश जैसे ड्राइ फ्रूट्स खाने से कैंसर की बीमारी नही बढ़ती है।
  • नमक का इस्तेमाल कम करे, और रेग्युलर एक्सर्साइज़ करे।
  • ज़्यादा लोगो से यौन समबंध रखने से भी कैंसर ख़तरा ज़्यादा रहता है।
  • चर्बी वाले चीज़ो को बिल्कुल ना खाए।
  • हरी चाय(Green Tea) ले, ये कैंसर के इलाज के लिए बहुत बेहतर है।
  • अगर आपको कैंसर है तो, दूध, दही, डेआरी प्रॉडक्ट का इस्तेमाल ना करे।
  • हल्दी का इस्तेमाल कैंसर के मरीज़ो के लिए बहुत लाभदायक है।
  • गेहू और जौ मिश्रित आटा के इस्तेमाल बहुत फयदेमंद है।
  • आलू, बैंगन, अरबी, खाने से परहेज करे।
  • कलौंजी का तेल और अंगूर का रश मिलाकर दिन मे तीन बार पिया कीजिए, और लहसुन भी खाया कीजिए।
  • जितना ज़्यादा हो सके, नॅचुरल चीज़ो का इस्तेमाल करे।
  • लाल, नीले, पीले और जमुनई रंग के फल और सब्जिया जैसे जामुन, टमाटर, पपीता, काले अंगूर, अमरूद, तरबूज खाने से कैंसर का ख़तरा कम हो जाता है।
  • कैंसर की श्रेणी में सर्वाइकल कैंसर से बचने के लिए एक वैक्सीन बाजार में उपलब्ध है और यह तीन डोज के रूप में पहले से छ्टे महीने के अंदर दिया जा सकता है और यह टीका 11 वर्ष से 40 वर्ष की महिलाओं को दिया जा सकता है जिसकी मदद से कैंसर का खतरा बहुत हद तक कम हो सकता है।
  • मुंह की तकलीफ में उपयोगी देसी बबूल- इसकी छाल व पत्तियां मुंह व आमाशय के कैंसर में विशेष रूप से लाभकारी हैं। एक रिसर्च के मुताबिक इसकी पत्तियों में छाल से भी ज्यादा कैंसररोधी तत्त्व पाए जाते हैं लेकिन तीक्ष्ण (तीखा) होने के कारण ये मेटाबॉलिज्म को नुकसान पहुंचा सकती हैं इसलिए काढ़े में पत्तियों के बजाय सिर्फ छाल का ही प्रयोग किया जाता है। पत्तियों में मौजूद तत्त्वों का फायदा लेने के लिए विशेषज्ञ इसकी पत्तियों को पानी में उबालकर कुल्ला करने की सलाह देते हैं। इससे मुंह में मौजूद कीटाणु नष्ट हो जाते हैं।
  • पुनर्नवा का पंचांग सभी प्रकार के कैंसर के लिए फायदेमंद माना जाता है। लेकिन यह ब्लड कैंसर के मरीजों के लिए खासतौर पर फायदेमंद है। औषधि के रूप में इसके पंचांग (फल, फूल, पत्तियां, तना, जड़) का रस, काढ़ा व चूर्ण प्रयोग में लिया जाता है। पंचांग बाजार में भी आसानी से उपलब्ध है। इसकी पत्तियों की सब्जी भी बनाकर खा सकते हैं।

Also Read More  –

Please Note :  Cancer treatment in hindi मे दी गयी Information अच्छी लगी हो तो कृपया हमारा फ़ेसबुक पेज लाइक करे या कोई टिप्पणी (Comments) हो तो नीचे Comment Box मे करे। Cancer causes and symptoms in Hindi व नयी पोस्ट डाइरेक्ट ईमेल मे पाने के लिए Free Email Subscribe करे, धन्यवाद।

 

22 thoughts on “कैंसर क्या है? कैसे होता है? कैंसर के लक्षण व घरेलू उपचार”

  1. Hi sir
    Mere bhai ko aankh ke niche censar ho gaya hai 6 mahine se ilag (kimo) chal raha hai abhi tak teek nahi huaa pls koi upay bataye ya koi achha hospital bataye

    1. Hello Sir,,, Agar 6 Mahina Me Kuch Sudhar Nahi Ho raha Hain To,, Apko Koi cancer specialist Se Milna Chahiye,, Iske Liye Aap Local Doctor Se Pata kar Sakte Hain,,

  2. PRAKASH RANJAN PRASAD

    Hello sir. mere papa ko metastatic adenocarcinoma,omentum. cancer ho gaya hai.unko doctors bole hai. Ghar le kar jao sewa karo….Plz kuchh ho sakta hai toh hamari madat kare ..Plz plz plz ..

    Mob. +918651575035 (Banti)

      1. sir mujko brest me gath hai and o bohat hu dard karti hai to kya vo cancer ka karan ho sakti hai jab ki docter se mene salah li thi 6 month pehle to normal batayi thi gathko to mujko ab kya karna chahiye pls reply first sir

  3. sir esophageal ko radiation and chemotherapy se 8th month ago control ho gaya tha and now restarts esophageal and right hillar lower lobe what is this cureable

  4. Hello sir
    Sir meri nani ko 2 se 3 din pahle hi pata chala hai ki unke pet me cancer hai .
    To sir uper me jo cancer ko khtm karna ka jo tarika hai usse bah thik ho jayegi…

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *