हिलते दांतो को ठीक करने के लिए घरेलु उपचार Loose Teeth

Loose Teeth / दांत हिलने की समस्या अधिकतर वृद्ध लोगो में देखि जाती हैं, लेकिन जरूरी नही है की केवल वृद्ध लोगो के ही दांत हिलते है। बच्चो और युवाओं के भी दांत ठीक तरीके से साफ न करने के कारण हिलने शुरू हो जाते है। दांतों में इस तरह की समस्‍या आपके दांतों के निचले टिश्‍यू का ढीला पड़ जाने के कारण होती है। मेडिकल में इस समस्‍या को पेरियोडोंटम कहते हैं। इस बीमारी में दांतों से जुड़े होने वाले फाइब्रोस टिश्‍यू, अंदर से हड्डी से कनेक्‍ट होते हैं जो काफी मुलायम होते हैं और ज्‍यादा मुलायम हो जाते हैं जिससे दांतों में हिलने की समस्‍या होने लगती है। अगर आप बहुत ज्‍यादा रगड़ते हैं या गम क्‍लीनिंग करते हैं तो ये समस्‍या उत्‍पन्‍न हो सकती है। मुंह की सफाई न रखने पर भी ये दिक्‍कत होती है। हलनि कुछ घरेलू उपायों को अपनाकर आप अपने दांतों के हिलने की समस्या को खत्म कर सकते है।

हिलते दांतो को ठीक करने के लिए घरेलु उपचार Loose Teeth

दांतो के हिलने पर यह उपचार किए जा सकते हैं – Danto ka Hilna 

पीपल की छाल का चूर्ण बनाकर रातों पर मले। कुछ देर बाद गर्म और ठंडे पानी से बार-बार कुल्ले करने से दांत का हिलना रुक जाता है।

दांतों के हिलने पर एक गिलास दूध को हल्का गरम कर के उसमे हल्दी पाउडर को डालकर मिला ले। रात को सोते हुए इस दूध को प्रतिदिन पीए। आपके दांतों का हिलना बंद हो जायेगा, और आपके दांत मजबूत हो जायेंगे।

सेंधा नमक और राई के तेल को सुबह और रात के भोजन के बाद दातों पर मलने से दांत का हिलना रुक जाता है।

10 ग्राम लोंग और 1 ग्राम सेंधा नमक को पीसकर दांतो पर मलने से दांत का हिलना ठीक हो जाता है।

मौलसिरी की दातुन का मुलायम बरस बनाकर उससे दांत साफ करने से दांत का हिलना धीरे-धीरे रुक जाता है।

तुलसी और चमेली के पत्तों को चबाने से दांतों का हिलना बंद हो जाता है।

आवंला में विटामिन सी की भरपूर मात्रा होती है। विटामिन सी से दांतों की पकड़ और मजबूत हो जाती है। हिलते दांत में आवंला जूस काफी आराम देता है। आप चाहें तो इससे कुल्‍ला कर लें या पी लें।

बकुलादि तेल को दांतों पर मलने से दांत का हिलना कुछ दिनों में बंद हो जाता है।

नागरमोथा, हरड़, त्रिकुट, बायविंडग, एक-एक भाग तथा निम् की हरी पत्ती दो भाग लेकर पीसें। तत्पश्चात गौमूत्र के साथ इनकी गोलियां बनाएं। एक-एक गोली सुबह-शाम मुख में रखने से दांतों का हिलना रुक जाता है।

हर दिन सुबह उठकर नमक और सरसों का तेल मिलाकर इससे दांत साफ करें और दर्द वाली जगह पर लगाएं। लगाने के बाद हल्‍के हाथों से मसाज करें। इससे शर्तिया आराम मिलता है।

पिपरमेंट ऑयल में काफी गुण होते हैं जिनकी वजह से दांतों में दर्द से तो आराम मिलता ही है, इसके साथ-साथ दांतों के हिलने की समस्‍या भी दूर हो जाती है। ऑयल को उंगली में लगाकर हिलते दांत पर अच्‍छे से लगा लें और मसाज करें। आपको दो दिन में ही आराम मिल जाएगा।

लौंग का तेल मसूड़ों की सूजन और दांत दर्द को नियंत्रित करने का बहुत ही अच्‍छा प्राकृतिक उपचार है। लौंग के तेल का उपयोग पुदीना तेल के समान होता है। सूजन को नियंत्रित करने और राहत पाने के लिए इसका इस्‍तेमाल प्रभावित क्षेत्र पर मसाज करने के लिए किया जाता है। अगर दांत ज्‍यादा हिलते हैं तो लौंग तेल को हिलते दांत पर लगाएं और मसाज करें। या रात को लगाकर छोड़ दें। इससे काफी राहत मिलती है।

दांतों के हिलने पर खाने का सोडा और हल्दी का प्रयोग करना बहुत ही उपयोगी होता है। थोडा सा खाने का सोडा और थोडी सा हल्दी को मिलाकर रोजाना दांतों को साफ करने से दांतों का हिलना बंद हो जाता है तथा दांत के अन्य रोगों से भी छुटकारा मिलता है।

दांतों का हिलना बंद करने के लिया प्याज का प्रयोग भी किया जा सकता है। इसके लिए एक प्याज को किसी बर्तन में थोडा सा पानी लेकर उसमे प्याज को डाल कर उबाल ले। जब प्याज उबल जाये तब उसे निकाल कर ठंडा कर ले। फिर उसे अच्छे से मैश कर ले. उसमे थोडा सा मक्खन, काली मिर्च का पाउडर और नमक मिला कर खये. आपके दांत ठीक हो जायेंगे। इसके प्रयोग करने से आपके दांत भी मजबूत हो जायेंगे।


और अधिक लेख –

Leave a Comment

Your email address will not be published.