लो ब्लड प्रेशर का इलाज- Low Blood Pressure Ka Desi Ilaj In Hindi

0

Low Blood Pressure / लो ब्लड प्रेशर शरीर में आवश्यक मात्रा में पौष्टिक भोजन ना मिलने या आयु अधिक बढ़ जाने के कारण होता हैं। विटामिन ‘बी’ ‘सी’ और प्रोटीन उचित रुप से ना मिलने पर शरीर का रक्तचाप कम रहने लगता है। गुर्दे आंतो या मूत्राशय के विकार भी इस रोग का कारण हो सकते हैं। लंबी अवधि तक बार बार असफलता, निराशा और प्रेम स्नेह का आभाव भी इस रोग को जन्म देता है। अक्सर चक्कर आना या कमजोरी हो सकते हैं लो ब्लड प्रेशर के लक्षण। आइये जाने लो ब्लड प्रेशर के घरेलु उपचार… 

लो ब्लड प्रेशर का इलाज - Low Blood Pressure Ka Desi Ilaj In Hindiलो ब्लड प्रेशर का घरेलु आयुर्वेदिक इलाज – Low Blood Pressure In Hindi

  • रात को बादाम की तीन-चार गिरी जल में डालकर रखें। प्रातः उठकर गिरी को पीसकर खाने और दूध पीने से निम्न रक्तचाप नष्ट होता है।
  • आधा गिलास चुकंदर का ताजा रस सुबह और आधा गिलास शाम को नित्य 7 दिन तक पीते रहने से निम्न रक्तचाप में लाभ होता है।
  • 50 ग्राम देशी चने व 10 ग्राम किशमिश को रात में 100 ग्राम पानी में किसी भी कांच के बर्तन में रख दें। सुबह चनों को किशमिश के साथ अच्छी तरह से चबा-चबाकर खाएं और पानी को पी लें। यदि देशी चने न मिल पाएं तो सिर्फ किशमिश ही लें। इस विधि से कुछ ही सप्ताह में ब्लेड प्रेशर सामान्य हो सकता है।
  • 20 ग्राम जटामासी को ढाई सौ ग्राम पानी में उबालकर उस को 4 बराबर भागों में बांट लें। इस पानी को दिन में चार बार छान कर पीने से निम्न रक्तचाप शीघ्र ही सामान्य हो जाएगा।
  • अंकुरित अनाज व दालों का खूब सेवन करें। अनार, संतरे, अंगूर, सेब, गाजर, चुकंदर, अनन्नास आदि फल खाएं या इन फलों का रस पिएं।
  • रात को बादाम की 3-4 गिरी पानी में भिगों दें और सुबह उनका छिलका उतारकर कर 15 ग्राम मक्खन और मिश्री के साथ मिलाकर बादाम-गिरी को खाने से लो ब्लड प्रेशर नष्ट होता है।
  • दिन में दो बार एक गिलास मट्ठा नित्य पीने से इस रोग में पर्याप्त लाभ होता है।
  • रोगी को उचित मात्रा में जितना वह सरलता से पचा सके, नित्य दूध, दही और घी का सेवन करना चाहिए इससे रक्तचाप सामान्य हो जाएगा।
  • रक्ताल्पता के कारण निम्न रक्तचाप होने पर रोगी को अधिक फल-सब्जियों और पौष्टिक खाद्य पदार्थो का सेवन करना चाहिए।
  • 200 ग्राम टमाटर के रस में थोडी सी काली मिर्च व नमक मिलाकर पीना लाभदायक होता है। उच्च रक्तचाप में जहां नमक के सेवन से रोगी को हानि होती है, वहीं निम्न रक्तचाप के रोगियों को नमक के सेवन से लाभ होता है।
  • निम्न रक्तचाप के रोगी को अपने भोजन में शुद्ध हींग का उपयोग अवश्य करना चाहिए इससे रोग शीघ्र ही ठीक हो जाता है।
  • संतरा, नारंगी या आंवले के रस में नमक डालकर रेगुलर पीने से निम्न रक्तचाप का रोगी 10-15 दिनों में स्वास्थ्य लाभ प्राप्त कर लेता है।
  • गाजर के 200 ग्राम रस में पालक का 50 ग्राम रस मिलाकर पीने से बहुत लाभ होता है।
  • निम्न रक्तचाप में नमक खाने की मात्रा से कुछ अधिक बढ़ा देने पर लाभ होता है। रोगी को चाहिए कि जब तक रक्तचाप सामान्य स्थिति में न आए, वह प्रतिदिन एक चम्मच नमक पानी में मिलाकर ले। इसके लिए एक चम्मच नमक को चार समान भागों में बांट लें तथा दिन में 4 बार एक गिलास सुद्ध जल के साथ ले। इस जल में एक नींबू का रस निचोड़ ले। अवश्य लाभ होगा।
  • रोगी का एक साथ अधिक मात्रा में भोजन नहीं करना चाहिए। थोड़ी-थोड़ी मात्रा में दिन में कई बार भोजन करना चाहिए।

और अधिक लेख –

Please Note :  Low Blood Pressure In Hindi मे दी गयी Information अच्छी लगी हो तो कृपया हमारा फ़ेसबुक (Facebook) पेज लाइक करे या कोई टिप्पणी (Comments) हो तो नीचे  Comment Box मे करे। Low Blood Pressure Ka Desi Ilaj In Hindi व नयी पोस्ट डाइरेक्ट ईमेल मे पाने के लिए Free Email Subscribe करे, धन्यवाद।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here