भारतीय सेना के बारे में 26 रोचक तथ्य | Facts About Indian Army in Hindi

Indian Army – भारतीय सेना विश्व के सबसे पॉवरफुल सेनाओ में सुमार हैं। अभी भारत के पास करीब 489,571,520 सैन्यबल हैं और 46 बिलियन अमेरिकी डॉलर का रक्षा बजट। भारतीय सेना का बहुत गौरवान्वित इतिहास रहा हैं, चाहे दुश्मन को मात देने का या अपने देश को किसी आपदा परिस्थिति से निकलने का। आइये जाने भारतीय सेना से जुड़े रोचक बातें..

भारतीय सेना के बारे में 27 रोचक तथ्य | Facts About Indian Army in Hindi

इंडियन आर्मी से जुड़े रोचक बातें – Indian Army Information & Facts in Hindi

#1). भारत की रक्षा सेनाओं का सर्वोच्च कमांडर भारत का राष्ट्रपति है, किन्तु देश रक्षा व्यवस्था की ज़िम्मेदारी मंत्रिमंडल की है। रक्षा से संबंधित सभी महत्त्वपूर्ण मामलों का फ़ैसला राजनीतिक कार्यों से संबंधी मंत्रिमंडल समिति करती है, जिसका अध्यक्ष प्रधानमंत्री होता है। रक्षा मंत्री सेवाओं से संबंधित सभी विषयों के बारे में संसद के समक्ष उत्तरदायी है।

#2). वर्ष 1946 के पूर्व भारतीय रक्षा का पूरा नियंत्रण अंग्रेज़ों के हाथों में था। 1947 में देश का विभाजन होने पर भारत को 45 रेजीमेंट मिलीं, जिनमें 2.5 लाख सैनिक थे। गोरखा फ़ौज़ की 6 रेजीमेंट (लगभग 25,000 सैनिक) भी भारत को मिलीं। शेष गोरखा सैनिक ब्रिटिश सेना में सम्मिलित हो गये। ब्रिटिश सेना की अंतिम टुकड़ी सामरसैट लाइट इन्फैंट्री की पहली बटालियन हो गयी, और भारतीय भूमि से 28 फ़रवरी, 1948 को स्वदेश रवाना हुई। कुछ अंग्रेज़ अफ़सर परामर्शक के रूप में कुछ समय तक भारत में रहे लेकिन स्वतंत्रता के पहले क्षण से ही भारतीय सेना पूर्णत: भारतीयों के हाथों में आ गयी थी। स्वतंत्रता के तुरंत पश्चात् भारत सरकार ने भारतीय सेना के ढांचे में कतिपय परिवर्तन किये। थल सेना, वायु सेना एवं नौसेना अपने-अपने मुख्य सेनाध्यक्षों के अधीन आयी।

#3). ऊंचे-ऊंचे पहाड़ों लड़ने की महारत भारत के पास ही है। भारतीय सेना की ओर से High Altitude Warfare School दुनियाभर के सैनिकों को ट्रैनिंग देता है। हाल ही में अमेरिका, इंग्लैंड और रूस के विशेष सेना बल ने अफ़ग़ानिस्तान पर आक्रमण करने से पहले हिस्सा लिया था।

#4). दुनिया की सबसे ऊंची रणभूमि काराकोरम का सियाचिन ग्लेशियर हैं। इसकी उंचाई समुद्र तल से 5000 मीटर उपर है जिसकी भारतीय सेना देखरेख करती है।

#5). मध्यप्रदेश में इंदौर जिले में स्थित महू भारत की पुरानी छावनियों में से एक है। 1840 से 1948 तक यहां रेजिमेंट की ट्रेनिंग होती थी। यह उस समय का Military headquarters of War (MHOW) था। तभी से इसका नाम शार्ट में महू हो गया था।

#6). भारत-पाकिस्तान के बीच लोंगेवाला लड़ाई में सिर्फ दो ही भारतीय जवान शहीद हुए थे। इसी लड़ाई पर सनी दयोल की फिल्म बॉर्डर बनी थी। खासबात यह थी कि मात्र 120 जवानों ने पाकिस्तान के 2000 सैनिकों को धूल चटा दी थी। भारतीय सेना के पास उस समय एक जीप थी और पाकिस्तानी सेना के पास करीब 2000 टैंक थे।

#7). भारतीय सेना ने 2013 में ऑपरेशन राहत चलाया था। जो अब तक का सबसे बडा़ बचाव मिशन था। यह मिशन भारतीय वायु सेना ने चलाया था। उत्तराखंड में आई भयंकर बाढ़ के दौरान इन जांबाज सैनिकों ने 20 हजार लोगों को बचाया था।

#8). भारत में सबसे बड़ी निर्माण एजेंसियों में से एक है सैन्य इंजीनियरिंग सेवा (M.E.S)। एमईएस और सीमा सड़क संगठन (B.R.O) पर देश की बेहद शानदार सडकों के निर्माण और रखरखाव की जिम्मेदारी है। दुनिया में सबसे ऊँची सड़क खर्दुन्गला और चुम्बकीय पहाड़ी जैसी सडकों के रखरखाव की जिम्मेदारी भी यही एजेंसी करती है।

#9). सेना दिवस, भारत में हर वर्ष 15 जनवरी को लेफ्टिनेंट जनरल (बाद में फ़ील्ड मार्शल) के. एम. करियप्पा के भारतीय थल सेना के शीर्ष कमांडर का पदभार ग्रहण करने के उपलक्ष्य में मनाया जाता है। उन्होंने 15 जनवरी 1949 को ब्रिटिश राज के समय के भारतीय सेना के अंतिम अंग्रेज शीर्ष कमांडर जनरल रॉय फ्रांसिस बुचर से यह पदभार ग्रहण किया था।

#10). 1971 में भारत और पाकिस्तान युद्ध हआ था। युद्ध में पराजय के बाद 93,000 पाकिस्तानी जवानों ने भारतीय सेना के सामने आत्मसमर्पण किया था। दुसरे विश्व युद्ध के बाद यह सबसे बड़ा आत्मसमर्पण था जो पाकिस्तानी सेना द्वारा किया गया था।

#11). भारतीये सेना दुनिया भर में इसीलिये भी जानी जाती हैं क्योकिं जब 1970 और 1990 में परमाणु परिक्षण किया तब इस बात की भनक दुनिया की सबसे बडी खुफिया एजेंसी सीआईए को भी नहीं लगी थी। यह सी.आई.ए की अब तक की सबसे बड़ी असफलता है।

#12). दुनियाभर में भारतीय सेना को शांति फैलाने के लिये भी जाना जता है। युनाइटेड नेशंस के शांति अभियान के तहत भारत दुनिया के किसी भी देश से सबसे बड़ी संख्या में जवानों को भेजता है।

#13). बेली ब्रिज दुनिया की सबसे उंची ब्रिज है जोकि लद्दाख में द्रास और सुरु नदी के बीच स्थित है जिसका निर्माण भारतीय सेना ने 1982 में कराया था।

#14). राष्ट्रपति की सुरक्षा में लगी सेना भारतीय सेना की सबसे पुरानी रेजीमेंट है, जोकि वर्तमान में राष्ट्रपति भवन में ही रहती है। यह 1773 में स्थापित हुआ था।

#15). जंगलों में लड़ने के मामले में भारतीय सेना को दुनिया में सबसे श्रेष्ठ सेना के तौर पर जाना जाता है। भारत की इस गुणवत्ता को जानने के लिए अमेरिका, ब्रिटेन और रूस जैसे देश अक्सर इस टुकड़ी का दौरा करते हैं।

#16). अगर पुरे एशिया की सबसे बड़ी अकादमी की बात करें तो ये भारत में स्थित केरल की एजिमाला एकादमी है।

#17). भारतीय वायु सेना का ताजीकिस्तान में आउट-स्टेशन है। ताजिकिस्तान के बाद अब भारतीया सेना अपना आउट-स्टेशन अफगानिस्तान में भी बनाने जा रही है।

#18). सचिन तेंदुलकर को भारतीय वायु सेना द्वारा कप्तान के रैंक से सम्मानित किया गया है। वही महेंद्र सिंह धोनी को सेना की ओर से लेफ्टिनेंट का पद प्राप्त है।

#19). इंडियन नेवी की स्थापना सन 1830 में हुई थी और उस समय भारत आजाद नहीं था। राम दास खत्री को पहला भारतीय चीफ बनने का सौभाग्य प्राप्त हुआ और वह दिन था 22 अप्रैल 1958.

#20). भारतीय सेना का निर्माण 1776 में ईस्ट इंडिया कंपनी ने कोलकाता में किया था।

#21). भारतीय सेना सबसे पहला एक्शन 1961 में लिया था जब गोआ से पुर्तगाल नेवी को हटाना था। 18 दिसंबर 1961 को भारतीय सेना ने गोवा में ऑपरेशन विजय की शुरुआत की और 19 दिसंबर को पुर्तगाली सेना ने आत्मसर्पण कर दिया। यहां भारतीय सेना 450 साल के पुर्तगाली साम्राज्य से आजाद कराया था।

#22). दुनिया की सबसे बड़ी स्वैच्छिक सेना है भारत के पास। सभी सेवारत और रिज़र्व सेना के पास अपनी सेवा देने या न देने का अधिकार होता है। यह अधिकार भारत के संविधान में भी दर्ज है। दूसरे सरकारी संगठनों की तुलना में भारतीय सेना में जाति या धर्म के आधार पर मिलने वाली आरक्षण की व्यवस्था नहीं है।

#23). भारतीय सेना में घुड़सवारों की भी टुकड़ी है। दुनिया में सिर्फ 3 देशों के पास घुड़सवारों की सेना है।

#24). भारतीय सेना के देशभर में में 53 कैंटोनमेंट और 9 आर्मी बेस हैं।

#25). असम रायफल्स भारतीय सेना की सबसे पुरानी पैरामिलट्री फोर्स है जिसकी स्थापना 1835 में की गयी थी।

#26). भारतीय सेना के पास घुड़सवार सेना की एक रेजीमेंट भी है, जो दुनिया में तीन देशों के पास ही है।

और अधिक लेख – 

Leave a Comment

Your email address will not be published.