ग्रीन टी ‘हरी चाय’ के फायदे और नुक्सान | Benefits of Green Tea in Hindi

Green Tea / ग्रीन टी (हरी चाय) हमारे फिटनेस के लिए बहुत ही लाभदायक हैं। रोजाना ग्रीन टी पीने वालों को न सिर्फ कई तरह की बीमारियों से निजात मिलती है, बल्कि उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है। ग्रीन टी दुनिया में सबसे महत्वपूर्ण और व्यापक रूप से खपत पेय में से एक है। एक स्वादिष्ट पेय पदार्थ होने के अलावा, ग्रीन टी के महत्वपूर्ण एंटीवायरल, एंटीऑक्सीडेंट और विरोधी गुहा गुणों की वजह से इसके कई शक्तिशाली लाभ हैं। ग्रीन टी कैमलिया सिनेजिस सयंत्र से बनाई जाती है, केमिला सिनेसिस के सूखे पत्तों और कलियों को विभिन्न प्रकार के चाय बनाने के लिए उपयोग किया जाता है।

ग्रीन टी (हरी चाय) के फायदे, नुक्सान और सेवन तरीका | Benefits of Green Tea in Hindi

ग्रीन टी (हरी चाय) – Green Tea: Health benefits, Side Effects, How to Drink Green Tea

ग्रीन टी पीने से न केवल सामान्‍य बीमारियां दूर रहती हैं बल्कि कैंसर और अल्‍जाइमर के मरीजों के लिए यह फायदेमंद है। मोटापा कम करने में ग्रीन टी बहुत मदद करती है। ग्रीन टी पीने से आप तरोताजा महसूस करेंगे।

ग्रीन टी के प्रकार – Types of Green Tea in Hindi

ग्रीन टी कई प्रकार के होते हैं जिसमे सेन्चा ग्रीन टी, फुकामुशी सेन्चा, मचा, तेंचा, सींचा आदि हैं। ग्रीन टी शुष्क पत्ते और तरल पत्तियों के रूप में भी पाए जाते है। ग्रीन टी सिंगल टी बैग के रूप में, पाउडर के रूप में, डिब्बाबंद कंटेनर, कैप्सूल इत्यादि कई प्रकारों में उपलब्ध है।

ग्रीन टी का इतिहास – History of Green Tea in Hindi 

600-900 ई. में चीन के लू यू द्वारा लिखी गई एक किताब, “Tea classic” ग्रीन टी के इतिहास में महत्वपूर्ण माना जाता है। 1191 में जेन प्रीस्ट ईसाई द्वारा लिखी गई एक किताब में ग्रीन टी के फायदे बताये गए थे। बाद में मंगोलों ने इसे पेय पदार्थ के रूप में इस्तेमाल करना शुरू कर दिया। भारत में अंग्रेज आने के बाद एशिया और यूरोप में चाय के व्यापार को शुरू किया। इसके बाद में दार्जलिंग में चाय की खेती को प्रसिद्धी मिली और भारतीय चाय एशियाई लोगों के लिए एक प्रसिद्ध और लोकप्रिय पेय बन गया, आज पुरे विश्व में चाय एक महत्वपूर्ण पेय प्रदार्थ बन गया है।

100 ग्राम ग्रीन टी में पाए जाने वाले पोषक तत्व – Green Tea Nutrition Facts in Hindi

न्यूट्रीशनमात्रा
प्रोटीन0.2 ग्राम
ऊर्जा0.96 कैलोरी
थाईमीन बी10.007 मिलीग्राम
रिबोफ्लाविन बी20.06 मिलीग्राम
नियासिन बी30.03 मिलीग्राम
विटामिन बी60.005 मिलीग्राम
विटामिन सी0.3 मिलीग्राम
कैफ़िन12 मिलीग्राम
मैग्नीशियम0.18 मिलीग्राम
पानी99.9 ग्राम
सोडियम1 मिलीग्राम
पोटैशियम8 मिलीग्राम
आयरन0.02 मिलीग्राम

ग्रीन टी लेने के फायदे – Green Tea Benefits in Hindi

ग्रीन टी लेने के कई फायदे हैं। यहां पर ग्रीन टी के कुछ महत्वपूर्ण फायदे और गुण बताये जा रहे हैं।

बालों के लिए ग्रीन टी के फायदे – Benefits Of Green Tea For Hair in Hindi

अगर आपके बाल झड़ रहे है और आप एक बेहतरीन घरेलु उपाय खोज रहे है, तो ग्रीन टी का प्रयोग जरुर करें। यह बाल के विकास में अहम भूमिका अदा करता है। ग्रीन टी यानी हरी चाय में विटामिन सी, विटामिन इ, 5 अल्फ़ा रीडक्टेज और पोल्यफेनोल्स इत्यादि होता है। यह तत्व बालों के विकास में सहायक होता है। साथ ही साथ बाल को मुलायम भी बनाने का काम करता है। यह बाल को प्राकृतिक रूप से लम्बे और घने करने का उत्तम उपाय है। ग्रीन टी बाल को झड़ने से रोकता है और संक्रमण से भी बचाता है।

  • गर्म ग्रीन टी में शुद्ध शहद मिलाकर रोजाना पिए। यह विधि बालों को झड़ने से रोकने में मदद करता है। आप चाहे तो ठंडी ग्रीन टी में भी शहद मिलाकर सेवन कर सकते है। इससे आपको लाभ मिलेगा।
  • 2 से 3 चम्मच ग्रीन टी लीजिये। अब उसमे कच्चा अंडा फोड़कर मिला लीजिये। अब इस मिश्रण को बालों में अच्छे से लगाये। लगाने के बाद 25 से 30 मिनट के लिए छोड़ दीजिये। उसके बाद पानी से बालों को धो लीजिये। ऐसा करने से आपके बाल मुलायम हो जायेंगे और बाल भी बढ़ेंगे।
  • ग्रीन टी उसमे शहद, निम्बू का रस और अंडा मिला लीजिये। अब इस पेस्ट बालों की जड़ों में सही तरीके से लगाये। अब कुछ समय के लिए छोड़ दीजिये। फिर ठन्डे पानी से बालों को साफ़ का लीजिये। इससे बाल लम्बे और मुलायम हो जायेंगे।
  • सर्वप्रथम चाय की ताजा हरी पत्ती का रस निकाल लीजिये। फिर बालों को सामान्य तरीके से धो लीजिये। अब आपने जो चाय के पत्ती का रस निकाला था। उस रस को बालों में अच्छे से लगा लें। अब 10 से 12 मिनट के लिए छोड़ दीजिये। ऐसा करने से रुसी की समस्या से भी छुटकारा मिलेगा। यह उपाय बालों के लिए बहुत ही लाभदायक है। आप चाहे तो इस विधि को सप्ताह में 2 से 3 बार बालों पर आजमाए।
  • इसके अलावा बाजार में हरी चाय मिली हुई शैम्पू, कंडीशनर और कैप्सूल भी उपलब्ध है, जिसका उपयोग कर आप बालों को झड़ने से बचा सकने में मदद ले सकते है।

ग्रीन टी त्वचा के लिए लाभदायक – Benefits Of Green Tea For Skin in Hindi

ग्रीन टी त्वचा की अशुद्धियों को दूर करने का एक असरकारी माध्यम है। यह चेहरे में झुर्रियों और महीन रेखाओं का आना रोकती है। ग्रीन टी के फायदे, इसमें कई सौन्दर्यवर्धक गुण भी होते हैं और बाज़ार में मिलने वाले कई सौंदर्य प्रसाधनों में ग्रीन टी की मात्रा होती है।

  • 3 चम्‍मच ग्रीन टी और कोकोआ पाउडर लेकर उसे 1 चम्‍मच बादाम के तेल में मिला लें। इसे 20 मिनट तक चेहरे पर लगाएं और चहरे को धो लें, इससे आपका चेहरा ग्‍लो करने लगेगा।
  • पके पपीते का गूदा निकालिये और उसमें ग्रीन टी का पानी मिलाइये। इस पैक को चेहरे पर 15 मिनट तक रखने के बाद साफ कर लें। इससे टैन पड़ी स्‍किन बिल्‍कुल साफ हो जाएगी।
  • ग्रीन टी के 2 बैग को 1 चम्‍मच चावल के आटे के साथ मिलाइये और उसमें नींबू का रस डाल कर पेस्‍ट तैयार कीजिये। इस पेस्‍ट को चेहरे पर 15 मिनट तक लगा रहने के बाद इसे स्‍क्रब कर के निकाल लीजिये। इससे स्‍किन ब्राइट दिखने लगेगी।
  • तीन स्‍ट्रॉबेरी को मैश कर के उसमें आधा चम्‍मच शहद और 1 चम्‍मच ग्रीन टी मिलाइये और इसे पेस्‍ट से चेहरे को ऊपर की ओर हाथों से मसाज करें। आधे घंटे के बाद चेहरा धो लें, आपकी सारी झुर्रियां गायब हो जाएंगी।
  • पानी उबाले और उसमें 3 टी बैग ग्रीन टी के और कुटी हुई अदरक डाल दें। जब पानी आधा हो जाए तो उसे छान लें और पानी को उस जगह पर लगाएं जहां पर पिंपल या दाग धब्‍बे हैं। इससे पिंपल साफ हो जाएगा।
  • 1 चम्‍मच शहद, ऑलिव ऑयल और 1 चम्‍मच ग्रीन टी पाउडर एक साथ मिलाइये। इस पेस्‍ट को हल्‍का सा गरम करें और इससे अपने चेहरे की मसाज करें, फिर 30 मिनट तक छोड़ने के बाद चेहरा धो लें।

ग्रीन टी स्वास्थ्य के लिए लाभदायक – Green Tea Benefits for Health in Hindi

एक शोध के मुताबिक रोजाना आठ कप ग्रीन टी हृदय रोग होने की आशंकाओं को कम करती है। इसके साथ ही यह कोलेस्ट्रॉल के स्‍तर को भी कम करती है। साथ ही ग्रीन टी शरीर पर जमा अतिरिक्‍त वसा को भी दूर करने में मदद करती है।

1). इम्मयून सिस्टम मजबूत बनाए – ग्रीन टी में विटामिन सी, पालीफिनोल्स के अलावा अन्य एंटीआक्सीडेंट मौजूद होते हैं, जो शरीर के फ्री रेडीकल्स को नष्ट कर इम्‍यून सिस्‍टम को मजबूत बनाते हैं। इससे शरीर में बीमारियां होने का खतरा कम होता है और शरीर रोग-मुक्‍त होता है।

2). कैंसर से बचाए – ग्रीन टी कैंसर की कोशिकाओं को बढ़ने से रोकती है। ग्रीन टी मुंह के कैंसर के लिए बहुत ही फायदेमंद है। इसके नियमित प्रयोग से पाचन नली और मूत्राशय के कैंसर की आशंका खत्म हो जाती है।

3). दिल को दुरुस्‍त रखें – ग्रीन टी पीने से मेटाबॉलिज्‍म का स्‍तर बढ़ता है। जिसके कारण शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा संतुलित रहती है। कोलेस्‍ट्रॉल की मात्रा संतुलित रहने से रक्तचाप सामान्य रहता है। ग्रीन टी खून को पतला बनाए रखती है जिससे खून का थक्का नहीं बन पाता। ग्रीन टी पीने से हार्ट अटैक आशंका बहुत कम रहती है।

4). वजन घटाए – मोटापा कम करने में ग्रीन टी बहुत मदद करती है। खाने के बाद एक कप ग्रीन टी पीने से पाचन की गति बढ़ जाती है। ग्रीन टी में मौजूद कैफीन से कैलोरी खर्च करने की गति भी बढ़ जाती है। इसके कारण वजन कम होता है।

5). यादाश्त को बढ़ाने में मददगार – साइकोफार्माकोलॉजी पत्रिका में प्रकाशित शोध से पता चला है कि हरी चाय हमारे मस्तिष्क के संज्ञानात्मक कार्यो को बढ़ा देती है। हरी चाय के सेवन से अल्जाइमर रोग के जोखिम को कम किया जा सकता है।

6). ब्‍लड शुगर को नियंत्रित करें – ग्रीन टी शरीर में ग्‍लूकोज की मात्रा को नियंत्रित करती है, और इन्‍सुलिन दवा के हानिकारक प्रभावो को कम करने में भी मदद करती है। यूनिवर्सिटी ऑफ मेरिलैंड मेडिकल सेंटर के अनुसार ग्रीन टी शरीर में ना सिर्फ टाइप 1 डाइबिटीज को कम करता है बल्कि इसके बुरे प्रभाव को भी कम करता है।

7). लम्बी उम्र बढ़ाये – ग्रीन टी सेवन से शरीर स्वस्थ रहता हैं और इससे लंबी उम्र बनी रहती हैं। ग्रीन टी हड्डियों की समस्या, कैंसर, मधुमेह होने से रोकता हैं और इम्युनिटी सिस्टम को बढ़ाता हैं। जिससे हमारा शरीर बीमारियों से दूर रहता हैं।

मुँह के संक्रमण के लिए  – Benefits of green tea for mouth (smokers)

ग्रीन टी चेहरे के बहरी हिस्से के लिए जितना लाभकारी हैं उतना अंदुरुनी हिस्से के लिए भी हैं। इसके सेवन से मुंह के संक्रमण से बचाव होता है। एक अध्ययन के अनुसार ग्रीन टी कैटेचिन, पी. जिंजिवलिस (P. gingivalis) और ऐसे ही अन्य बैक्टीरिया जैसे – प्रीवोटेला इंटरमीडिया (Prevotella Intermedia) और प्रीवोटेला निग्रेसेंस (Prevotella Nigrescens) जैसी बिमारियों को बढ़ने से रोक सकता है। साथ ही ग्रीन-टी, बैक्टीरियल प्लाक को नियंत्रित कर दांतों को खराब होने से रोकता हैं।

ग्रीन टी के साइड इफ़ेक्ट – Side Effect of Green Tea in Hindi

  • गर्भवती महिलाओं को ग्रीन टी नहीं पीने की सलाह दी जाती है क्योंकि इससे गर्भपात का खतरा बढ़ जाता है।
  • ग्रीन टी में टैनिन्स नाम का तत्व पाया जाता है। इससे पेट दर्द, एसिडिटी और कब्ज की समस्या हो सकती है। खाली पेट ग्रीन टी पीना ज्यादा खतरनाक हो सकता है।
  • बहुत अधिक मात्रा में ग्रीन टी पीने से एनिमिया होने का खतरा बढ़ जाता है।
  • अगर आप बहुत अधि‍क मात्रा में ग्रीन टी पीते हैं तो आपको सिर दर्द की शिकायत हो सकती है। ग्रीन टी में मौजूद कैफीन सिर दर्द दे सकता है। ऐसे में कोशिश करें कि एक दिन में दो कप से ज्यादा ग्रीन टी न पिएं।
  • बहुत अधिक मात्रा में ग्रीन टी के सेवन से अनिद्रा की शिकायत भी हो सकती है। इसके अति सेवन से नींद प्रभावित होती है और इससे जुड़ी कई दूसरी बीमारियों के होने का खतरा भी बढ़ जाता है।
  • बहुत अधिक मात्रा में ग्रीन टी पीना दिल की सेहत के लिए भी सही नहीं है. इससे दिल से जुड़ी कई बीमारियों के होने का खतरा बढ़ जाता है।
  • बहुत अधिक मात्रा में ग्रीन टी पीने से डायरिया होने का भी खतरा बढ़ जाता है।
  • कैफ़ीन की मौजूदगी मधुमेह, ह्रदय समस्या, खून के बहाव और ज़िगर की बीमारी की समस्या को बढ़ा सकती है।

ग्रीन टी पिने का सही तरीका और समय – How to Drink Green Tea in Hindi

ग्रीन टी फायदेमंद है लेकिन इसका मतलब ये बिल्कुल भी नहीं है कि आप एक के बाद एक कई कप ग्रीन टी पी जाएं। आमतौर पर लोग ऐसी गलती करते हैं। इसके साथ ही ग्रीन टी पीने का एक सही समय भी तय होना चाहिए, वरना ये नुकसानदेह भी हो सकता है। ग्रीन टी में कैफीन और टेनिन्स पाए जाते हैं, जो गैस्ट्रिक जूस को डाइल्यूट करके पेट को नुकसान पहुंचा सकते हैं। इसके बहुत अधि‍क इस्तेमाल से चक्कर आने, उल्टी आने और गैस होने जैसी प्रॉब्लम हो सकती हैं।

  • खाली पेट कभी भी ग्रीन टी न पिएं।
  • खाना खाने से एक या दो घंटे पहले ही ग्रीन टी पी लें।
  • कुछ लोग ग्रीन टी में दूध और चीनी मिलाकर पीते हैं। ग्रीन टी में चीनी और दूध मिलाने से परहेज करें।
  • ग्रीन टी को शहद के साथ मिलाकर पीना फायदेमंद रहेगा।
  • खाने के तुरंत बाद ग्रीन टी पीना खतरनाक हो सकता है।
  • एक दिन में दो या तीन कप ये ज्यादा ग्रीन टी पीना खतरनाक हो सकता है।

और अधिक लेख –

Please Note : – Health Benefits of Green Tea in Hindi मे दी गयी Information अच्छी लगी हो तो कृपया हमारा फ़ेसबुक (Facebook) पेज लाइक करे या कोई टिप्पणी (Comments) हो तो नीचे करे. Hari Chai ke Fayde Aur Pine ka Tarika व नयी पोस्ट डाइरेक्ट ईमेल मे पाने के लिए Free Email Subscribe करे, धन्यवाद।

2 thoughts on “ग्रीन टी ‘हरी चाय’ के फायदे और नुक्सान | Benefits of Green Tea in Hindi”

  1. बहुत अच्छी जानकारी शेयर की है आपने, पोस्ट को हम सब के बीच शेयर करने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *