शिशु के दांत निकलते समय करें ये घरेलू उपचार (Bacho ke Dant Nikalne ka Ilaj)

Bachon Ke Dant Nikalna – जन्म के 3-6 महीने के बाद बच्चों के दांत निकलने लगते हैं। प्राय: दांत निकलते समय बहुत से बच्चों को तकलीफ़ उठानी पड़ती है। यदि बच्चे कमजोर हो तो उनमें अधिक रोग उत्पन्न होते हैं। ऐसे में मसूड़े में देहयुक्त सूजन, अधिक लार का बहना, हरे पीले यह सफेद दस्त तथा कभी कभी उल्टी होती है। मसूड़ों में खुजली के कारण दूध पीते समय बच्चा स्तन को मुंह में दबाता है। किसी-किसी बच्चे में दांत निकलते समय खांसी, जुखाम, ज्वर, आंख या कान में दर्द आदि भी देखने को मिलते हैं। ऐसी स्थिति में यह निम्नलिखित उपचार करें..

शिशु के दांत निकलते समय करें ये घरेलू उपचार Bache ke Dant Aana

बच्चे के दांत निकलते समय करें ये घरेलू उपचार, सुगमता से दांत बाहर निकलेंगे –  Home remedies for baby teething in hindi

चुटकी-भर पीपली का चूर्ण लेकर शहद में मिलाकर मसूढ़ों पर मलने से बच्चे के दांत बिना कष्ट के निकल जाते हैं।

दांत निकलते समय बच्चे को वंशलोचन और शहद मिलाकर चटाना चाहिए। इससे दांत सुन्दर निकलते हैं और दांतों का दर्द भी खत्म होता है।

25 मि.ग्रा. बलचतुर्भ्द्र चूर्ण को शहद के साथ चटाने से बालकों के पतले दस्त कम हो जाते हैं।

दो सौ मि.ग्रा सुहागे की खील माता के दूध में मिलाकर बच्चों को दिन में एक-दो बार चटाने से उसके दांत सुगमतापूर्वक निकल आते हैं।

आंवला और घन के फूलों का चूर्ण शहद में मिलाकर मसूढ़ों पर मलने से बच्चे के दांत सुगमता से निकल आते हैं।

5 मिलीलीटर तुलसी के पत्तों का रस शहद में मिलाकर बच्चों के मसूढ़ों पर लगाने और बच्चे को चटाने से दांत निकलते समय दर्द नहीं होता है।

सिरस के बीजों की माला बालक के गले में पहना देने से भी बच्चों के दांत सुगमता के साथ निकल आते हैं।

सिप की माला पहनाने से बच्चे के दांत आसानी से निकल आते हैं।

पिसे सुहागे में शहद मिलाकर मसूड़ों पर मलने से दांत शीघ्रतापूर्वक निकल आते हैं।

बच्चों के दांत निकलते समय दर्द कम करने के लिए अंगूर का रस पिलाएं। इससे दर्द कम होता है और दांत स्वस्थ व मजबूत निकलते हैं।

शिशु के दांत निकलने पर ये तरीके अपनाएं – Bachho ke dant Ana 

  • सबसे जरुरी बात, शिशु के जब दांत निकलते हैं ऐसे समय में उन्हें ज्यादा से ज्यादा तरल चीजें पीने के लिए दें।
  • दांत निकलते वक्त बच्चों को बहुत जोरो से दर्द होता है, जिसके कारण वह रोते हैं। इसलिए कोशिश करें कि अगर शिशु सो रहा है तो उसे जबरदस्ती जगाने का प्रयास न करें।
  • अगर आपका बच्‍चा दांत में दर्द की वजह से बेचैन हो रहा है तो मालिश से उसे आराम मिल सकता है।

Please Note- ऐसा जरूरी नहीं है कि हर बच्‍चे को घरेलू नुस्‍खों से आराम जरूर मिले। इ‍सलिए बेहतर होगा कि आप दांत निकलने पर आप डॉक्‍टर से मिले।


और अधिक लेख – 

Leave a Comment

Your email address will not be published.