होंठ फटने के कारण, बचाव और घरेलु इलाज | Honth Fatne Ka Upchar

Lip care in hindi / चेहरे की सुंदरत बढ़ाने में होठो (Lips) का बहुत अहम् रोल होता हैं। लेकिन सर्दियों का मौसम आते ही जहां पूरा शरीर शुष्क होने लगता है वहीं होंठों के फटने की समस्या भी हो जाती है। होंठ फटने से सिर्फ चेहरे की सुंदरता ही नष्ट नहीं होती है बल्कि खाने पीने में और बातचीत करने में भी परेशानी होने लगती है। और ऐसा इसलिए होता हैं क्यूंकि होंठ हमारे शरीर के किसी भी दूसरे भाग की तुलना में कहीं अधिक पतली और संवेदनशील होती है। ठंडी हवाओं और मौसम के बदलने से होंठों की नमी कहीं खो सी जाती है और वे फटने लग जाते हैं। ऐसे में ये बेहद जरूरी हो जाता है कि हम अपने होंठों का अच्छी तरह से ख्याल रखें ताकि वो हमेशा कोमल, मुलायम और खूबसूरत बने रहें। आइये जाने कुछ घरेलु उपाय…

होंठ फटने के कारण, बचाव और घरेलु इलाज | Honth Fatne Ke Upayहोंठ फटने के कारण – Causes Of Cracked Lips in Hindi 

मौसम बदलने के साथ ही हमारी कुछ आदतें भी होंठ फटने के लिए जिम्मेदार होती हैं (Honth Fatne Ka Karan) जैसे –

  • होठ चाटना, चबाना या काटना :- जो लोग अपने होंठ चबाते हैं, बार-बार होंठों पर जीभ फेरते हैं या कम पानी पीते हैं उन्हें भी इस समस्या से दो-चार होना पड़ता है।
  • बीमारी और दवाएं :- सस्ते और घटिया किस्म के रसायनिक उत्पादों के इस्तेमाल से भी होंठ फटने लग जाते हैं। वहीँ कभी-कभी बीमारी की वजह से भी होंठ फटते हैं। थायराइड, सिरोसिस, डायबिटीज आदि बीमारियों के होने से होंठ फटने की समस्या हो सकती है।
  • हॉर्मोन्स, विटामिन बी व आयरन की कमी :- होंठ फटने का एक दूसरा कारण हॉर्मोन्स का असंतुलित होना भी हो सकता है। विटामिन बी की कमी के कारण होठ सूखने की समस्या पैदा हो सकती है। इसके अलावा होठ फटने का  कारण आयरन या फोलेट की कमी भी हो सकता है।
  • कुछ विशेष तत्व :- टूथपेस्ट में ऐसे तत्व हो सकते है जो होठो में सूखापन ला सकते है। यदि आपको ऐसा महसूस हो तो टूथपेस्ट बदल लेना चाहिए। इसके अलावा और भी कोई उत्पाद ऐसा हो जिसे काम में लेने पर होठों में सूखापन  लगे तो उसे बदलना चाहिए। इसके आलावा कभी कभी मल्टी विटामिन के कुछ तत्व की एलर्जी के कारण होंठ सूखने की परेशानी पैदा हो सकती है।

फटे होंठो से छुटकारा पाने का घरेलु इलाज – Home Remedies For Cracked Lips in Hindi

नाभि में तेल लगाने से होंठ नहीं फटते।

पेट साफ रखने से होंठ नहीं फटते।

मक्खन में नमक मिलाकर होठों पर लगाने से फटे होंठ जल्दी ठीक हो जाते हैं।

बादाम का तेल रोजाना सुबह शाम होठो पर लगाने से होंठ फटना ठीक होता है।

घी को नाभि में अथवा होठों पर लगाने से होंठ फटने बंद हो जाते हैं।

तरबूज की मिंगो को पानी में पीसकर होंठ और जीभ पर लगाने से उनका फटना बंद हो जाता है।

होंठ काले और सूखे हो गए हों तो गुलाब के फूल की ताजा पत्तियां पीस कर इसमें ग्लिसरीन मिला लें। लिपस्टिक का उपयोग बंद करके इसे नियमित रूप से होठो पर लगाने से होंठ सुन्दर गुलाबी हो जाते है।

खीरे के एक टुकड़े को कुचलकर निचोड़ ले। इस रस को होठों पर लगाने से होठों का फटना दूर हो जाता है।

पिसा हुआ नमक लोनी घी में मिलाकर होठों पर मलने से होठों का फटना बंद हो जाता है।

जैतून का तेल और वैसलीन मिलाकर दिन में तीन या चार बार फटे होंठों (Cracked Lips) पर लगाएँ। तीन-चार दिन नियमित उपचार करने पर आपके होंठों की दरारें भरने लगेंगी या भर जाएँगी।

नहाने से पहले हथेली में चौथाई चम्मच मूंगफली का तेल लेकर अंगुली से हथेली में रगड़े। फिर होंठो पर इसकी मालिश करें। होंठो के लिए यह लाभप्रद है।

सरसों के तेल में हल्दी पाउडर मिलाकर होंठो और नाभि में लगाने से फटे होंठ नहीं फटते हैं।

Fate hoth ke upay in hindi

होंठ में ब्रश से बाम लगाए। इसके लिए अच्छी क्वालिटी का लिप बाम ले और नर्म टूथब्रश या धुला हुआ नर्म कपड़ा से अपने होंठों पर लिप बाम की एक मोती परत लगाएं। इसे रात में सोने से पहले लगाए। अब सुबह उठकर, एक नर्म टूथब्रश को भिगोकर उससे होंठों पर मालिश करें, ताकि आपके होंठों की मृत कोशिकाएं निकल जाएं। फिर आप अपने होंठों पर लगे अत्यधिक लिप बाम को पोंछ लें। अगर आप नियमित तौर पर इसका प्रयोग करते हैं, तो यह आसानी से आपके होंठों की रूखी त्वचा और परत को हटा देगा। साथ ही फटे होंठों को भरकर उसे मॉइस्चराइज करेगा।

अगर आपके होंठ फट रहे हैं तो इन बातों का जरूर ख्याल रखे – Crack Lips Care Tips In Hindi

शरीर में पानी की कमी नहीं होनी चाहिए. सर्दियों में भी कोशिश करें कि रोजाना 8 से 10 गिलास पानी पिएं। होंठ सूख रहे हों तो उन पर जीभ फेरने की गलती न करें।

अगर आपके होंठ फटे हैं, तो उन्हें लगातार चबाने या कुरेदने से बचें। ये दो आदतें स्थिति को और बदतर कर देती हैं। होंठों को चबाने से तुरंत राहत मिल सकती है, लेकिन जब लार होंठों से सूख जाती है तो आपके होंठ फिर से सूख जाते हैं। होठों की त्वचा को कुरेदने से खून निकल सकता है, संक्रमण हो सकता है, या घाव भी हो सकता है। इसलिए इससे बचे।

कई बार होंठों का फटना पोषक तत्वों की कमी की वजह से भी होता है। ऐसे में अपने खानपान का पूरा ख्याल रखें ताकि शरीर को किसी तत्व की कमी न होने पाए।

आप जो भी उत्पाद इस्तेमाल करें वो उच्च गुणवत्ता वाला होना चाहिए। आप चाहें तो बादाम के तेल या फिर जोजोबा ऑयल का इस्तेमाल कर सकते हैं।

नमक या चीनी के स्क्रब का प्रयोग करें। अपने होठों पर स्क्रब लगाएँ और सर्कुलर मोशन में मालिश करें, मृत त्वचा को हटाते जाएँ (आप थोड़े से ऑलिव ऑयल में चीनी मिला के भी उपयोग कर सकते हैं)। आपके होंठ मुलायम और फ्रेश लगने चाहिए।

फटे होंठो से छुटकारा पाने के लिए विटामिन की गोलियों की खुराक लेकर या बेहतर आहार लेकर, अपने आहार में आवश्यक विटामिन की मात्रा में वृद्धि करें।

मुंह खुला करके सोने या सांस लेने की कोशिश नहीं करें। अगर आप सूखे, फटे होंठ के साथ सुबह जागते हैं, तो हो सकता है आप मुँह खुला करके सोएं होंगें। हवा रातभर मुंह के अंदर और बाहर होने से होंठ सूख सकते हैं। अपनी नींद की स्थिति को बदलने की कोशिश करें।

कोई भी चीज जो आप नियमित रूप से होंठ के साथ संपर्क में रखते हैं, वो उनकी हालत को प्रभावित कर सकती है। सिगरेट, गम और प्रोसेस्ड स्नैक्स में मौजूद रसायन होंठों के सूखने और फटने के लिए जिम्मेदार हो सकते हैं।

तेज हवा में अपने होंठों को असुरक्षित छोड़ना नुकसान का कारण बन सकता है। बहुत ही ड्राय जगह में समय व्यतीत करना होंठों को ड्राय कर सकता है और दरारें पैदा कर सकता है। अगर आपके होठों के लिए पर्यावरण दोषी है, तो आपको बाहर जाते समय होठों की सुरक्षा के लिए अतिरिक्त देखभाल करनी चाहिए।

किसी भी मेडिकल कंडीशन के निदान के लिए हमेशा एक चिकित्सक से परामर्श करें, खासकर जब यह घर के उपचार के तहत एक सही समय में नहीं हो सकता। होठों के मामले में, एक त्वचा विशेषज्ञ शायद किसी भी स्थिति का आकलन करने के लिए सबसे योग्य है।

अपने फटे होंठों को कभी भी कठोरता से नहीं रगड़ें, जैसे कि नेल फाइल या एक कड़े ब्रश के साथ।


और अधिक लेख – 

Cracked lips treatments in hindi से जुडी कोई सवाल हो तो कृपया कमेंट में पूछे।

Leave a Comment

Your email address will not be published.