ख़ुशी से जिंदगी कैसे जिए, 10 सरल तरीके | Zindagi Kaise Jiye in Hindi

हर इंसान चाहता हैं की वो जिंदगी अच्छे से जिए, लेकिन लाइफ कभी-कभी ऐसा करवट ले लेती हैं की इंसान फिर जिंदगी जीता नहीं, सिर्फ काटते रहता हैं। और ऐसे समय में उन्हें लगता हैं की ये मेरा दोष नहीं बल्कि किस्मत का दोष हैं। मेरा किस्मत में ही ऐसा लिखा हैं। उन्हें लगता है कि उनकी खुशी और दुख, दोनों ही किस्मत के हाथों हैं। इसलिए वे खुद अपने सुख-दुख पर नियंत्रण रखने की कोशिश भी नहीं करते, लेकिन यह तो गलत है ना! आप चाहें तो अपनी किस्मत के सितारों को बदल सकते हैं। हाँ ये बात हैं की जितना टाइम बीत गया उसे वापस नहीं ला सकते हैं पर जो वक्त बचा हैं उसे तो अच्छी तरह से एन्जॉय कर सकते हैं। तो चलिए जानते हैं ऐसे कुछ टिप्स जिससे जिंदगी बेहतर तरीका से जी सके… 

ख़ुशी से जिंदगी कैसे जिए, 10 सरल तरीके | Zindagi Kaise Jiye In Hindiजिंदगी अनमोल हैं इसे बेकार न गंवाए – Mast zindagi kaise jiye

जिंदगी इतना अनमोल हैं की अगर एक बार चला जाए तो लाख कोशिश करने के बाद भी दोबारा नहीं पा सकते हैं। इसलिए हर इंसान को जिंदगी का हर एक पल एन्जॉय करके बिताना चाहिए। पता नहीं कल क्या हो जाए,, जिंदगी ऐसी चीज हैं जो बड़ी किस्मत से मिलती हैं।

इसलिए जिंदगी का कोई भी मौका ऐसे न गवाएं की उसके बारे में बाद में आपको अफ़सोस रहे। जिंदगी के दो पहलु हमेशा से रहे हैं. पहला ख़ुशी और दूसरा गम,, ये दोनों पहलु जिंदगी भर हमारे साथ रहते हैं, कभी खुशी हैं तो कभी गम। लेकिन ऐसा नहीं की अभी गम हैं तो कभी ख़ुशी नहीं आएगी, समय के साथ ये चेंज होते रहते। इसका सबसे अच्छा उदहारण हम सूर्य से ले सकते हैं, जैसा की सुबह होते-होते सूर्य निकलता हैं उसी तरह शाम होते-होते डूब भी जाता हैं। .. इसी तरह हमारा जिंदगी हैं… इसलिए कभी ये न सोचे की आज हमारा जीवन में दुःख हैं तो कभी सुख नहीं आएगी। ये समय के साथ बदलेगी और एक दिन जरूर ख़ुशी आएगी… इसलिए हर एक पल को बेकार न गवाएं, हसते हुए ख़ुशी-ख़ुशी बिताए।

लोग हमेशा किस्मत को पकड़ के बैठे रहते हैं। उन्हें लगता हैं किस्मत में जो लिखा होगा वही होगा, लेकिन दोस्तों ऐसा नहीं, किस्मत आपके हाथो में हैं। आप उसे कैसे हेंडल करते हैं ये आप पे निर्भर करता हैं। आचार्य चाणक्य की एक बात हमेशा आपको याद रखना चाहिए–

“प्रश्न- भाग्य पहले से ही लिखा जा चुका है तो कोशिश करने से क्या होगा?
उत्तर- क्या पता भाग्य में लिखा हो कि कोशिश करने से ही मिलेगा।”

अब तो आप समझ ही गए होंगे की सबकुछ किस्मत के भरोसे नहीं होता हैं। सच कहूं तो जीवन अच्छे से जीना एक कला हैं। अगर कोई भी ये कला सिख लिया तो समझ ले वो हमेशा अपना जीवन ख़ुशी से बिताएगा, उसे मरने टाइम भी कोई अफ़सोस नहीं होगा।… तो चलिए आज मैं आपको वही कला से रूबरू कराता हूँ।

10 Simple Ways to Live a Happy Life – Success and Motivation – Zindagi Kaise Jiye in Hindi

1). हमेशा हस्ते रहे 

जिंदगी में खुश रहने के लिए हमें हमेशा हस्ते रहना चाहिए। अगर हम हमेशा हस्ते रहेंगे तो कम टाइम में ही ज्यादा ज़िन्दगी जी लेंगे। फिर ज़िन्दगी कितनी भी छोटी हो हमे अपनी ज़िन्दगी से कोई शिकायत नहीं रहेगी। अब आप सोच रहे होंगे की बिना वजह कैसे हस्ते रहे, तो आपको पता होगा की आप चाहे तो हसने का कई वजह ढूंढ लेंगे.. कई लोगो का चेहरा आपको भी याद होगा की वे हमेशा खुश रहते हैं हस्ते रहते हैं। उनका चेहरा ही हसमुख होता हैं, उसी तरह आप भी जिए।

2). खुशी के पल जी लें

अगर किस्मत को बदल नहीं सकते तो कम से कम जिन खुशियों को महसूस कर सकते हैं उनका तो जी भर के अपने जीवन में स्वागत करें। क्योंकि जब तक हम छोटी-छोटी खुशियों का आनंद नहीं लेंगे, तो ज़ाहिर है कि बड़ी खुशियां भी हमसे मुख मोड़कर जा सकती हैं। लेकिन यह बात भी सही है कि जब वक्त ही बुरा चल रहा हो तो हम खुशियों को कैसे महसूस करें? हमारी आंखों के सामने ही जब बहुत बुरा स्थिति खड़ी हो तो ऐसे में हम अपनी ज़िंदगी को अच्छा कैसे मान सकते हैं। लेकिन वक्त हर समय एक जैसा भी तो नहीं रहता, इसलिए वक्त के साथ हमें अपनी सोच भी बदल लेनी चाहिए।

3). दिल की बात सुने 

जो भी काम करके आप का मन खुश होता हैं और वो काम करने से किसिका कोई नुकसान ना हो तो आप वो काम ज़रूर करे। क्यूकी अपना मनचाहा काम करने से ही आप अपनी जिंदगी मैं खुश रह पाएँगे।

दिल से लिए हुए निर्णय गलत हो सकते है ,लेकिन उनका कभी अफ़सोस नहीं होता है। अगर हम कोई भी निर्णय अपने दिल से लेते है, तो अपना खुद को निर्णय होता है, वो किसी को थोपा नहीं होता है। हम उस पे दिल से ही काम करते है और खुश रहते है। तो अच्छी जिन्दगी जीने के लिए हमें अपने निर्णय अपने दिल से ही लेने चाहिए।

“जब आप किसी काम की शुरुआत करें, तो असफलता से न डरें और उस काम को न छोड़ें। जो लोग ईमानदारी से काम करते हैं वह सबसे प्रसन्न होते हैं।” – आचार्य चाणक्य 

4). आज में जीना सीखे –

क्या आप हाथों में हवा को कैद कर सकते हैं? नहीं ना? तो फिर हमेशा की तरह दुख हमारे हाथों को कब तक जकड़ कर रख सकते हैं? यह भी एक ना एक दिन खुद ही हमें रिहा कर देते हैं और खुशियों की ओर ढकेल देते हैं।

हमारा बीता हुआ कल कैसा था और आने वाला जीवन कैसा होगा, इसके बारे में हम क्यों विचार करें? जबकि हमारे पास हमारा ‘आज’ मौजूद है, यदि बीते कल और आने वाले पल की ही चिंता में लगे रहेंगे तो हम अपना आज कभी भी महसूस नहीं कर पाएंगे। क्योंकि यह आज धीरे-धीरे बीत जाएगा, हमारा बीता हुआ समय बन जाएगा जिसे हमने बिलकुल भी खुशी से अपनाया नहीं था। फिर हम दोबारा से बीते हुए बुरे कल को याद करके दुखी होंगे। इसलिए उस समय की कद्र करें जो हमारे पास है। आप वाकई खुश रहेंगे।

5). मन में नफरत न रखे –

जिंदगी नाम हैं प्यार और अपनेपन के साथ जीने का हैं। आप अपने मन मे किसिके लिए नफ़रत ना रखे। सबसे प्यार और अपनापन रखे तभी आप अपनी जिंदगी को फुल एंजाय कर पाएँगे और पूरी तरह से जी पाएँगे। अपनो के साथ जीने मे ही लाइफ की सबसी बड़ी खुशी हैं। तो जितनी दिन भी जिंदगी हैं हमेशा अपनो को जोड़कर और अपनो के साथ जिए।

ज़िंदगी सिर्फ़ खुश रहने का ही नाम नही हैं बल्कि खुश रखने का भी नाम हैं। इसीलिए जितना हो सके अपने आस पास के लोगो को खुशिया बाटने की कोशिश करे। याद रखिए दूसरो को खुशिया देने का भी एक अपना ही मज़ा हैं।

6). दर्द झेलना सीखे –

मान लीजिये आपको आपके सामने पड़ी अनाज की बोरी उठानी है। यदि आपकी क्षमता साधारण है तो हो सकता है कि आप 30 किलोग्राम की बोरी उठा लें, लेकिन यदि आप शक्तिशाली हैं तो आप 30 किलोग्राम की एक तो क्या, दो बोरियां भी उठा सकते हैं। लेकिन एक साधारण क्षमता वाला इंसान तो एक से अधिक बोरी उठा ही नहीं सकता। बस इसी प्रकार से हमारी ज़िंदगी भी हमें उतना ही दर्द देती है जितना कि हम सहन कर सकें। यदि इससे अधिक मिले तो इंसान टूट जाता है। लेकिन टूटने की बजाय हमें खुद में इतनी क्षमता उत्पन्न कर लेनी चाहिए कि हम परिस्थितियों का सामना कर सकें।

7). अपनी तुलना दूसरो से ना करे –

अगर आप अपनी तुलना किसी दुसरे से कर रहे है तो आप अपनी ही value घटा रहे है। अपनी तुलना कभी भी दुसरे से ना करे। तुलना अपने साथ ही करे की हम किस तनाव का शिकार हो जाते है, जो जिन्दगी में बहुत नुकसान पहुचाती है।

जब आप खुद की तुलना खुद से ही करने लगेंगे तो आप खुद पर गर्व भी महसूस करने लगेंगे, क्योंकि अचानक खुद में हिम्मत देखकर आप खुद भी अचंभे में आ जाएंगे। बस यहीं आपको ज़िंदगी की एक और सीख मिल जाएगी। आप समझ जाएंगे कि यही तो आपकी ताकत है, क्योंकि भले ही देखने में हम साधारण हों, लेकिन भगवान ने हमें एक फरिश्ते की तरह पंख लगाकर भेजा है।

8). अच्छी संगत मे रहे –

दुनिया मे बुरे लोगो की कमी नही हैं जो आपको हमेशा दुख देते हैं। पर ऐसा नही की दुनिया मे अच्छे लोग नही हैं। वो कहते हैं ना की अच्छे और सच्चे दोस्त हमेशा सही रास्ता दिखाते हैं। और अगर हम सही रास्ते पर चलेंगे तो हम डेफनेट्ली खुश रहेंगे। इसलिए हमेशा अच्छे लोगो से दोस्ती करे।

9). आत्मविश्वास पैदा करें –

जहां तक मुझे लगता है एक इंसान का आत्मविश्वास सबसे ज्यादा तब टूटता है जब उसे कोई अपना या फिर गैर ही चोट पहुंचाए। उसकी पहचान का मजाक बनाए और उसे कायर समझने लगे। लेकिन जब ज़िंदगी आपकी है, उससे जुड़े फैसले आपके हैं, दुनिया में नाम भी आपका ही होगा, तो फिर कोई दूसरा आकर आपके आत्मविश्वास को ठेस कैसे पहुंचा सकता है?

और यदि उसने कुछ कह भी दिया तो यह तो हमारी समझ है कि उसे हम किस प्रकार से खुद पर हावी होने दें। इसलिए सबसे पहले तो लोगों की चिंता करना छोड़ दें क्योंकि यदि उनको आपकी चिंता होती तो वे कभी भी आपको चोट ना पहुंचाते। इसलिए अपने दिमाग को चिंताओं से हटाकर अपनी ज़िंदगी को सही बनाने में लगाएं।

10). लालच ना करे –

अगर आप के पास कोई चीज़ पड़ा हैं और उस चीज़ की किसिको बहुत ज़्यादा ज़रूरत हैं तो आप उस इंसान को अपना वो चीज़ देने मैं कंजूसी ना करे। लेकिन अगर किसी और के पास कोई चीज़ हैं तो उस चीज़ के प्रति कभी अपने मन लोभ ना रखे। लालच बहुत बुरी चीज़ होती हैं इससे हमेशा बचने का कोशिश करे।


दोस्तों  (Life kaise jiye tip) जानकारी अच्छी लगी हो तो कृपया हमारा फेसबुक पेज लाइक करे. और ये जानकारी अपने दोस्तों से भी शेयर करे.. या किसी तरह का कोई सवाल हो तो निचे कमेंट के माध्यम से पूछे.  

और अधिक लेख –

3 thoughts on “ख़ुशी से जिंदगी कैसे जिए, 10 सरल तरीके | Zindagi Kaise Jiye in Hindi”

  1. Comment: thank sir aap ki jankari hame bhaut prerit karta h sir mai avi avi kisi kam ko karna start keya h us kam ko jaldi kese sikhu mera constret nahi rahta hame hmesa apni life ke bare me sochta rata so plez help me

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *