दाचीगम राष्ट्रीय उद्यान, कश्मीर | Dachigam National Park Information in Hindi

दाचीगम राष्ट्रीय उद्यान जम्मू और कश्मीर की राजधानी श्रीनगर से 22 किमी की दूरी पर स्थित एक विख्‍यात पर्यटन स्‍थल है जो समुद्र स्‍तर से अधिकतम 14000 फीट और न्‍यूनतम 5500 फीट की ऊंचाई वाली क्षेत्र में बना हुआ है। दाचीगम वन्यजीव अभयारण्य को 1951 में एक राष्‍ट्रीय उद्यान घोषित किया गया था। यह सेंचुरी, 141 वर्ग किलोमीटर के व्‍यापक क्षेत्र में फैली हुई है। यह अभयारण्‍य मुख्‍य रूप से लाल हिरण जिसे हंगुल भी कहा जाता है के लिए काफी प्रसिद्ध है। पर्यटक यहां आकर काले और भूरे भालू, तेंदुए, कस्तूरी मृग, और प्रवासी पक्षियों को भी देख सकते हैं।

दाचीगम राष्ट्रीय उद्यान, कश्मीर | Dachigam National Park in Hindi

दाचीगम राष्ट्रीय उद्यान की जानकारी और इतिहास – Dachigam National Park History & Information in Hindi

दाचीगम राष्ट्रीय उद्यान का अर्थ है “दस गाँव”। दाचीगम राष्ट्रीय उद्यान उन दस गाँवों को समर्पित किया गया है जिन्होंने इस राष्ट्रीय उद्यान के गठन के लिए अपनी जगह बदली थी। 1910 के बाद एक संरक्षित क्षेत्र बना और पहली बार जम्मू और कश्मीर के महाराजा की देखभाल के अंतर्गत किया गया इसके बाद में संबंधित सरकार के अधिकारियों के निरीक्षण के तहत किया गया है। श्रीनगर के शहर के लिए स्वच्छ पेयजल की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए बनाया गया था। यह अंत में उन्नत और वर्ष 1981 में एक राष्ट्रीय उद्यान घोषित किया गया था।

दाचीगाम राष्ट्रीय उद्यान कई तरह के विलुप्त होते जानवरों के संरक्षण के लिए जाना जाता है। इसके अलावा इस उद्यान में ऐसे और कई विशेषता है जो पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता है। यह उद्यान हंगुल या कश्मीरी हिरण के घर के तौर पर जाना जाता है। वसंत और शरद ऋतु में नीचले इलाकों में हिमालयी काला भालू दिखाई देता है। सर्दी के मौसम में यह सो जाता है। लंबी पूंछ वाले मार्मोट गर्मी के मौसम में उपरी इलाकों में बहुत देखे जा सकते हैं जबकि चूहे के जैसे खरहे पूरे वर्ष सक्रिए रहते हैं।

यह राष्ट्रीय उद्यान प्रसिद्ध डल झील के जलग्रहण क्षेत्र का लगभग आधे क्षेत्र पर अपना अधिकार रखता है और आज भी श्रीनगर के निवासियों को स्वच्छ पेयजल की आपूर्ति में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इस उद्यान के महत्वपूर्ण वन्यजीव प्रजातियां हैं– तेंदुआ, हिम तेंदुआ, काला भालू, भूरा भालू, जंगली बिल्ली, हिमालयी मार्मोट, कस्तूरी मृग, सीरो और लाल लोमड़ी। पक्षियों में तीतर के कोकलास और मोनल, बुलबुल, मिनिवेट, बार्ड वल्चर, सुनहरे चील आम हैं।

दाचीगाम राष्ट्रीय उद्यान में सभी तरह के पेड़ पौधे पाए जाते है। इन सभी वनस्पतियों के अलावा यहाँ कई आकर्षक फुल, पौधे और घास के मैदान शामिल है। यह उद्यान न केवल जानवरों के लिए जाना जाता है बल्कि यह उद्यान कई तरह के पक्षियों को रहने के लिए आश्रय प्रदान करता है।

दाचीगम वन्यजीव अभयारण्य साल के हर महीने में खुला रहता है। लेकिन इस सेंचुरी में घूमने से पहले चाफ वाइल्‍डलाइफ वार्डन से अनुमति लेनी पड़ती है। इस सेंचुरी में शाम 5:30 से 6 :30 तक प्रतिदिन भ्रमण किया जा सकता है। हालाँकि इस उद्यान में घूमने का सबसे अच्छा मौसम मार्च से जून के बीच होता है। पर्यटकों के लिए इस उद्यान में लॉज और रेस्ट हाउस हैं।

कैसे जाएँ – Dachigam National Park

हवाई मार्ग – निकटतम हवाई अड्डा श्रीनगर हवाई अड्डा है, जो कि दचिगम राष्ट्रीय उद्यान से लगभग 22 किलोमीटर दूर है।

रेल मार्ग – निकटतम रेलवे स्टेशन जम्मू रेलवे स्टेशन है, जो कि दाचीगाम राष्ट्रीय उद्यान से लगभग 310 किलोमीटर दूर है।

सड़क मार्ग  – श्रीनगर निकटतम शहर है जो सड़क नेटवर्क के द्वारा प्रमुख शहरों और स्थानों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। दाचीगाम दो हिस्सों में है। लोअर दाचीगाम में पर्यटक आसानी से जा सकते हैं जबकि अपर दाचीगाम घूमने के लिए पूरे दिन का समय चाहिए और यह यात्रा थोड़ी कठिन भी है।


और अधिक लेख –

Please Note : – Dachigam National Park in Hindi मे दी गयी Information अच्छी लगी हो तो कृपया हमारा फ़ेसबुक (Facebook) पेज लाइक करे या कोई टिप्पणी (Comments) हो तो नीचे करे.

Leave a Comment

Your email address will not be published.