निशात बाग का इतिहास और जानकारी | Nishat Bagh History in Hindi

Nishat Bagh / निशात बाग का निर्माण 1633-34 ई. में मुगल शासकों ने करवाया था। यह भारत का दूसरा सबसे बड़ा गार्डन है। यह श्रीनगर से 11 किलोमीटर दूर डल झील के पास पूर्वी हिस्से पर बना हुआ है। इस गार्डन से आप डल झील की खूबसूरती को भी निहार सकते हैं। इस सीढ़ीदार गार्डन के एक तरफ झील और दूसरी तरफ हिमालय की चोटी दिखाई पड़ती है।

निशात बाग का इतिहास और जानकारी | Nishat Bagh History in Hindi

निशात बाग, जम्मू और कश्मीर – Nishat Bagh Information & History in Hindi

निशात बाग़ जम्मू और कश्मीर राज्य के श्रीनगर शहर में स्थित एक मुग़ल बाग़ है। श्रीनगर के मुग़ल बाग़ों में सबसे बड़ा बाग़ निशात बाग़ है। यह बगीचा डल झील के किनारे स्थित है। निशात बाग़ को विविलास-वाटिका नाम से भी जाना जाता है।

Nishat Garden – निशात बाग को 1633 में हसन आसफ खान, मुमताज महल के पिता और नूर जहान के भाई द्वारा बनाया गया था। निशात बाग का अर्थ होता है खुशियों का बगीचा। कहा जाता है कि शाहजंहा प्रसिद्ध मुगल सम्राट और अब्दुल हसन आसफ खान का दामाद था और इस बाग को देखकर वह बहुत प्रभावित हुआ था। इसको देखने के बाद उसने चुपके से यह आशा व्‍यक्‍त की थी कि उसके ससुर उसे यह बाग उपहार में दे दें। बाद में ससुर द्वारा बगीचे को गिफ्ट न करने पर उसने बगीचे में पानी की सप्‍लाई को रूकवा दिया था।

श्रीनगर ज़िला मुख्यालय से निशात बाग़ 11 किमी की दूरी पर स्थित है। निशात बाग़ से झील के साथ-साथ अन्य कई ख़ूबसूरत दृश्यों का नज़ारा देखा जा सकता है। निशात बाग़ में मुग़ल काल से भी पहले के कुछ खंडहर पाये जाते हैं। निशात बाग़ के पीछे एक झरना बहता है जिसका नाम गोपी तीर्थ है और जो बाग़ में बहने वाले नहर के शुभ्र व स्वच्छ जल का स्रोत है।

इस गार्डन में फूलों की दुर्लभ प्रजातियां, चिनार वृक्ष और सरू के पेड़ भी पाएं जाते हैं। यह मुगल गार्डन, क्षेत्र का सबसे बड़ा सीढ़ीदार उद्यान है। यहां स्थित सुंदर फव्‍वारों, बड़े से लॉन और खूबसूरत फूलों के कारण यह बगीचा काफी विख्‍यात है। यह बाग़ पर्यटको को अपनी ओर आकर्षित करता हैं।


और अधिक लेख –

Please Note : – Nishat Bagh, Srinagar History & Information In Hindi मे दी गयी Information अच्छी लगी हो तो कृपया हमारा फ़ेसबुक (Facebook) पेज लाइक करे या कोई टिप्पणी (Comments) हो तो नीचे करे. Mahatma Gandhi Short Biography & Life story In Hindi व नयी पोस्ट डाइरेक्ट ईमेल मे पाने के लिए Free Email Subscribe करे, धन्यवाद।

1 thought on “निशात बाग का इतिहास और जानकारी | Nishat Bagh History in Hindi”

Leave a Comment

Your email address will not be published.