यूनाइटेड किंगडम का इतिहास और महत्वपूर्ण जानकारी | History of britain in hindi

United Kingdom / यूनाइटेड किंगडम (सामान्यतः ग्रेट ब्रिटेन, संयुक्त राजशाही, UK) यह पश्चिम यूरोप का एक विकसित देश है। ये देश ब्रिटिश द्वीप समूह में फैला है जिसमें ग्रेट ब्रिटेन, आयरलैंड का पूर्वोत्तर भाग और कई छोटे द्वीप समावेश हैं। ये वही देश हैं जो एक समय दुनिया के बड़े भूभाग पर राज किया था।

यूनाइटेड किंगडम का इतिहास और महत्वपूर्ण जानकारी | United Kingdom Historyयूनाइटेड किंगडम के महत्वपूर्ण जानकारी – United Kingdom Information in Hindi

यूनाइटेड किंगडम में कुल चार देश आते है – इंग्लैंड, स्कॉटलैंड, वेल्स और उत्तरी आयरलैंड। अंतिम तीन देशो में न्यागत प्रशासन है, सभी की ताकत भी अलग-अलग है, जो क्रमशः अपनी-अपनी राजधानी एडिनबर्घ, कार्डिफ और बेलफ़ास्ट में बसे हुए है। पास ही का मैन द्वीप यूनाइटेड किंगडम का भाग नही है।

उत्तरी आयरलैंड, UK का एकमात्र ऐसा हिस्सा है जहां एक स्थल सीमा अन्य राष्ट्र से लगती है। इस जमीनी सतह के अलावा, यूनाइटेड किंगडम अटलांटिक महासागर से घिरा हुआ है, जिसके पूर्व में उत्तर सागर, दक्षिण में इंग्लिश चैनल और दक्षिण-दक्षिण-पश्चिम में केल्टिक सागर है, जो इसे दुनिया का 12 वा सबसे विशाल समुद्री तट प्रदान करते है। आयरिश सागर ग्रेट ब्रिटेन और आयरलैंड के बीच में आता है। 2,42,500 किलोमीटर वर्ग के क्षेत्रफल के साथ यूनाइटेड किंगडम दुनिया का 78 वा सबसे बड़ा और यूरोप का 11 वा सबसे बड़ा देश है। 65.1 मिलियन की जनसँख्या के साथ, जनसँख्या के हिसाब से यह दुनिया का 21 वा सबसे बड़ा देश है। यूरोपियन संघ में इसे चौथा सबसे बड़ा घनी आबादी वाला देश मना जाता है।

यूनाइटेड किंगडम की राजधानी और उसका सबसे बड़ा शहर लन्दन है, जो वैश्विक शहर और फाइनेंसियल सेंटर भी है, जहाँ देश की कुल जनसँख्या में से 10.3 मिलियन लोग रहते है, जनसँख्या के हिसाब से यह यूरोप का चौथा सबसे बड़ा और यूरोपियन संघ का दूसरा सबसे बड़ा शहर है। यूनाइटेड किंगडम दुसरे मुख्य शहरों में मेनचेस्टर, बिर्मिंघम, लीड्स, ग्लासगो और लिवरपूल शामिल है।

यूनाइटेड किंगडम प्रतीकत्मक सकल घरेलू उत्पाद द्वारा दुनिया की छठी बड़ी अर्थव्यवस्था और क्रय शक्ति समानता के हिसाब से सातवाँ बड़ा देश होने के साथ ही एक विकसित देश है। यह दुनिया का पहला औद्योगिक देश था और 19 वीं और 20 वीं शताब्दियों के दौरान विश्व की अग्रणी शक्ति था। लेकिन दो विश्व युद्धों की आर्थिक लागत और 20 वीं सदी के उत्तरार्ध में साम्राज्य के पतन ने वैश्विक मामलों में उसकी अग्रणी भूमिका को कम कर दिया। फिर भी यूके अपने सुदृढ़ आर्थिक, सांस्कृतिक, सैन्य, वैज्ञानिक और राजनीतिक प्रभाव के कारण एक प्रमुख शक्ति बना हुआ है। यह एक परमाणु शक्ति है और दुनिया में चौथी सर्वाधिक रक्षा खर्चा करने वाला देश है। यह यूरोपीय संघ का सदस्य है, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में एक स्थायी सीट धारण करता है और राष्ट्र के राष्ट्रमंडल, जी8, OECD, नाटो और विश्व व्यापार संगठन का सदस्य है।

यहां संवैधानिक राजतंत्र प्रणाली है और महारानी राष्ट्राध्यक्ष हैं किन्तु उनका यह पद सांकेतिक मात्र है। ब्रिटिश संसद के दो सदन- हाउस ऑफ लॉडर्स (ऊपरी सदन) व हाउस ऑफ कॉमंस (निम्न सदन) हैं। हाउस ऑफ लॉडर्स में 574 व हाउस ऑफ कॉमंस में 651 सदस्य होते हैं। संसद का शासनकाल 5 वर्ष का होता है। हाउस ऑफ लॉडर्स की अधिकांश शक्ति 1911 में छीन ली गई थी। सम्राट की कार्यकारी शक्ति कैबिनेट में हैं जिसका मुखिया प्रधानमंत्री होता है।

इंग्लैण्ड का एकीकरण 10वीं शताब्दी में हुआ था। 1284 में इंग्लैण्ड व वेल्स का संघ बन गया था। 1707 के एक्ट ऑफ यूनियन के द्वारा इंग्लैण्ड व स्कॉटलैंड ने मिलकर ग्रेट ब्रिटेन की घोषणा की गई। 1801 में ग्रेट ब्रिटेन और आयरलैण्ड ने मिलकर संघ बनाया। 1921 में एंग्लो-आयरिश संधि के द्वारा आयरलैंड का विभाजन हो गया। उत्तरी आयरलैण्ड की छह उत्तरी आयरिंग काउंटियों ने उत्तरी आयरलैण्ड के रूप में यूनाइटेड किंगडम में रहने का फैसला किया। 1927 में देश का वर्तमान नाम यूनाइटेड किंगडम ऑफ ग्रेट ब्रिटेन एंड नॉर्दर्न आयरलैण्ड स्वीकार किया गया।

यूनाइटेड किंगडम का इतिहास –  United Kingdom History in Hindi

पहली शताब्दी ई.पू. में रोमन आक्रमण की वजह से पहली बार ब्रिटेन का महाद्वीपीय यूरोप से प्रथम बार सम्पर्क स्थापित हुआ। ब्रिटेन में सात बड़े ऐंग्लो-सैक्सन साम्राज्यों की स्थापना हुई और यहाँ के मूल निवासी वेल्स व स्कॉटलैण्ड में जा कर बस गए। 10वीं शताब्दी में वेसेक्स के राजा के नेतृत्व में देश का पूर्ण एकीकरण हो गया।

हेनरी द्वितीय (1154-1189ई.) के शासनकाल के दौरान सामंतों की शक्तियों का ह्वास हुआ और राजतंत्र मजबूत हुआ। लेकिन 1215 ई. में सम्राट जॉन (1199-1216ई.) को मजबूरन मैग्ना कार्टा पर हस्ताक्षर करने पड़े। मैग्नाकार्टा ने जनता को व्यापक अधिकार प्रदान किए। 13वीं व 14वीं शताब्दियों के दौरान संसद के नए सदन ‘हाउस ऑफ कॉमंसÓ की स्थापना की गई जिसे करारोपण के अधिकार दिए गए। एडवर्ड तृतीय द्वारा फ्रांस की गद्दी पर अधिकार जताने की वजह से इंग्लैण्ड-फ्रांस के मध्य 100 वर्षीय युद्ध (1338-1453) हुआ जिससे ब्रिटेन को भारी नुकसान हुआ।

सम्राट हेनरी अष्टïम (1509-1547 ई.) के शासनकाल में इंग्लैण्ड के चर्च ने रोमन कैथोलिक चर्च से अपने को स्वतंत्र घोषित कर दिया। ऐलिजाबेथ प्रथम (1558-1603) ने इंग्लैण्ड के चर्च की स्थापना की। एलिजाबेथ के शासनकाल के दौरान इंग्लैण्ड वैश्विक शक्ति के रूप में उभरा। 1642 में स्टुअर्ट सम्राट चाल्र्स प्रथम और संसद के मध्य गृहयुद्ध शुरु हो गया। चाल्र्स को युद्ध में पराजय मिली और उसे मृत्युदंड दिया गया। इसके बाद राजशाही की समाप्ति हो गई और लॉर्ड प्रोटेक्टर ऑलीवर क्रॉमवेल के नेतृत्व में सरकार की स्थापना हुई। क्रॉमवेल की मृत्यु के पश्चात सरकार का पतन हो गया और 1660 में सम्राट चाल्र्स द्वितीय का राज्यारोहण हो गया। जेम्स द्वितीय (1685-1688) को क्रांति के द्वारा गद्दी से हटा दिया गया और संसद की श्रेष्ठता स्थापित हुई। 1707 में एक्ट ऑफ यूनियन के द्वारा इंग्लैण्ड में स्कॉटलैण्ड का विलय हो गया। 1775-1781 के दौरान ब्रिटिश महत्वकांक्षाओं को अमेरिका में जबर्दस्त झटका लगा और अमेरिका ब्रिटिश साम्राज्य से स्वतंत्र हो गया। फ्रांस में नेपोलियन के शासनकाल में ब्रिटेन का फ्रांस से टकराव हुआ और 1815 में नेपोलियन की वाटरलू के युद्ध में पराजय से इसका अंत।

विक्टोरिया युग (1887-1901) में ब्रिटेन ने रूस के खिलाफ क्रीमिया युद्ध और हॉलैण्ड के खिलाफ बोअर युद्ध (1899-1902) लड़ा। प्रथम विश्वयुद्ध में ब्रिटेन ने मित्र राष्ट्रों का गठबंधन बनाकर युद्ध का नेतृत्व किया।

1 सितम्बर, 1939 को पोलैण्ड पर जर्मनी के आक्रमण के साथ ही द्वितीय विश्वयुद्ध की शुरुआत हो गई। 1940 में मित्र राष्ट्रों को जर्मनी के हाथों कई मोर्चों पर मुँह की खानी पड़ी। इसके फलस्वरूप, प्रधानमंत्री नेविल चेम्बरलिन को इस्तीफा देना पड़ा और कंजरवेटिव विंस्टन चॢचल के नेतृत्व में सरकार का गठन हुआ। चॢचल ने द्वितीय विश्वयुद्ध में ब्रिटेन का शानदार तरीके से नेतृत्व किया। विश्वयुद्ध की समाप्ति के बाद सम्पन्न आम चुनाव में चॢचल को करारी शिकस्त मिली और ब्रिटेन की औपनिवेशिक शक्ति का पराभव होना शुरू हो गया। 3 मई, 1979 को मार्गरेट थैचर के नेतृत्व में कंजरवेटिव सरकार का गठन हुआ। थैचर ब्रिटेन की पहली महिला प्रधानमंत्री थीं।

मई 1997 में टोनी ब्लेयर ब्रिटेन के नए प्रधानमंत्री बने। ब्लेयर के संवैधानिक सुधारों के तहत वेल्स और स्कॉटलैण्ड में अलग संसदों की स्थापना की गई। जुलाई 1997 में ब्रिटेन ने चीन को हाँगकाँग सौंप दिया। 1998 में ‘गुड फ्राइडे’ समझौते के तहत ब्लेयर ने उत्तरी आयरलैण्ड में कैथोलिक व प्रोटेस्टेंट समुदायों के मध्य शांति स्थापित करने का प्रयास किया। 11 सितम्बर 2001 को अमेरिका पर आतंकवादी हमले के बाद टोनी ब्लेयर अमेरिका के सबसे बड़े दोस्त के रूप में उभरकर सामने आए। अफगानिस्तान के खिलाफ हमले में अमेरिकी नेतृत्व वाले गठबंधन का ब्रिटेन ने बखूबी साथ दिया। इसी तरह से इराक पर अमेरिकी नेतृत्व वाले गठबंधन का भी ब्रिटेन ने साथ दिया। देश में भारी विरोध के बावजूद भी टोनी ब्लेयर ने इराक पर हमले के लिए 45,000 ब्रिटिश सैनिक भेजे।

UK की वर्तमान जनसंख्या विविध जातीय समूह के वंशजो से है, जिनमे मुख्य हैं पूर्व केल्टिक, केल्टिक, रोमन, एंग्लो-सक्सों और नोर्मंन 1945 के बाद से, अफ्रीका, कैरिबियाई और दक्षिण एशिया से पर्याप्त आप्रवास समानता की विरासत है जो ब्रिटिश साम्राज्य द्वारा अनुकरण की गई है।

ये वह देश हैं जिस पे ब्रिटेन ने आज तक राज नहीं कर पाया, इसके आलावा दुनिया के सभी देशो में राज किया।

ऐंदोरा, बेलारूस, बोलिविया, बुरुंडी, मध्य अफ्रीकी गणराज्य, चैड, कांगो, गुआतेमाला, आइवरी कोस्ट, किर्गिस्तान, लिचटेनस्टाइन, लग्जमबर्ग, माली, मार्शल आइलैंड्स, मौनेको, पैरग्वॉय, साओ टोमे ऐंड प्रिंसिपी, स्वीडन, उज्बेकिस्तान, वैटिकन सिटी, तजिकिस्तान, मंगोलिया.


और अधिक लेख – 

Please Note : – History of britain in hindi मे दी गयी Information अच्छी लगी हो तो कृपया हमारा फ़ेसबुक (Facebook) पेज लाइक करे या कोई टिप्पणी (Comments) हो तो नीचे  Comment Box मे करे।

Leave a Comment

Your email address will not be published.