लौकी जूस पीने के फायदे और नुक्सान | Lauki Juice Benefits and Side Effects in Hindi

लौकी में कई गुण होते हैं जो शरीर के लिए बहुत फायदेमंद हैं। इसलिए लाखों लोग स्‍वस्‍थ रहने के लिये रोज़ लौकी का जूस पीते हैं। इसे घीया या या दूधी के नाम से भी जाना जाता है। गर्मियों में इसका जूस पीने से शरीर को काफी लाभ मिलते हैं। लौकी हमारे शरीर में विटामिन बी, विटामिन सी, आयरन और सोडियम की कमी को पूरा करने में मदद करती है। और लौकी की सबसे अच्छी बात ये है कि ये बेहद आसानी से मिल जाती है। तो चलिए जाने लौकी जूस पिने के फायदे और नुक्सान ..

Lauki Juice Benefits and Side Effects in Hindi

लौकी के बारे में कुछ जानकारियां – Bottle Gourd Juice in Hindi

Contents

लौकी का वानस्‍पतिक नाम: लेजीनेरिया सिसेरेरिया हैं। इसका मूल स्‍थान दक्षिण अफ्रीका में माना जाता है। लौकी का तासीर ठण्ड होती हैं। इसे लौकी, कद्दू, लउका, घीया के नाम से जाना जाता हैं। लौकी में लगभग 12 प्रतिशत तक पानी होता है और बाकी फाइबर होता है। भारतीय व्यंजनों में लौकी का खूब इस्तेमाल किया जाता है, इसे सब्जी और जूस के तौर पर इस्तेमाल किया जाता हैं। लौकी का स्‍वाद कुछ लोगो को बिलकुल पसंद नहीं होता लेकिन इसमें इतने फायदे हैं कि आप इसे नज़रअंदाज भी नहीं कर सकते हैं। आमतौर पर लौकी 2 प्रकार की होती है। गोलाकार और बेलनाकार. लौकी में आयरन की मात्रा भरपूर पाई जाती है। जिन लोगों में हीमोग्लोबिन की कमी है उन्हें अपनी डाइट में लौकी को शामिल करना चाहिए।

लौकी जूस कब पीना चाहिए – Lauki juice kab pina chahiye in Hindi

वैसे तो लौकी के जूस का सेवन कभी भी कर सकते हैं। लेकिन इसका सेवन सुबह-सुबह खली पेट किया जाए तो यह अधिक फायदेमंद होता है। रोजाना सुबह खली पेट लौकी के जूस का सेवन करने से आपको वजन कम करने में मदद मिलती है और यह पाचन तंत्र के लिए काफी लाभदायक होता है। इसके आलावा यह गर्मियों के दिन में और बेहतर साबित होता हैं।

लौकी के जूस बनाने का तरीका – Lauki Juice Kaise Banaye in Hindi

जूस निकालने से पहले ध्यान रहे की, लौकी का स्वाद कड़वी नहीं होनी चाहिए। 2011 में ‘इंडियन कौसिंल ऑफ मेडिकल रिसर्च’ ‘ के अनुसार लौकी के ऐसे जूस को पीने से बचें, जिसका स्वाद कड़वा या कसैला हो चुका हो। लौकी का जूस बनाने के लिए सबसे पहले लौकी को छील कर धो लें। फिर उसके छोटे-छोटे पीस कर लें। अब एक ब्‍लेंडर में लौकी के टुकड़े डालें इसमें पुदीने की पत्ती मिलाएं और ब्लेंड करें। जब जूस तैयार हो जाए तो इसमें जीरा पाउडर, नमक और काली मिर्च पाउडर डालें और अच्छे से मिला लें, अब इसमें बर्फ डाल कर सर्व करें।

लौकी जूस के फायदे – Lauki (Bottle Gourd) Juice Benefits in Hindi

1). लौकी जूस के फायदे वजन कम करने में – Lauki juice Benefits for Weight Loss in Hindi

अगर आप मोटापे की समस्या से परेशान हैं और वजन कम करना चाहते हैं, लौकी का जूस काफी फायदेमंद हो सकता है। इसके लिए नियमित व्यायाम के बाद आपको प्रतिदिन 100 ग्राम लौकी का जूस पीना चाहिए। लौकी के जूस से भूख कंट्रोल में रहती है क्यूंकि लौकी के जूस पीने से पेट घंटो तक भरा रहता है जिससे आपका मोटापा कम होता है। लौकी को उबाल कर नमक के साथ सेवन करने से वजन और जल्दी घट जाता है।

2). त्वचा के लिए – Lauki juice for Skin in Hindi

लौकी में कई तरह के पोषक तत्व पाए जाते हैं जो चेहरे की सुंदरता को बढ़ाने में मदद करते हैं। माना जाता है कि लौकी का जूस स्किन को लंबे समय तक यंग बनाए रखता है। लौकी का जूस पेट की अंदरूनी सफाई करता है। इससे चेहरे पर धूप और प्रदूषण से होने वाले मुँहासे और दाग-धब्बों से छुटकारा मिलता है और त्वचा खूबसूरत और सुन्दर दिखाई देने लगती है। इसके साथ ही यह बढ़ती उम्र के लक्षणों को दूर करने में भी मदद करता है।

3). गंजापन दूर करने में लौकी – Lauki Juice Benefits in Baldness in Hindi

बाल झड़ने और गंजेपन की समस्या से सब परेशान रहते हैं लेकिन लौकी का घरेलू उपाय गंजापन दूर करने में बहुत ही फायदेमंद साबित होता है। लौकी के पत्ते के रस को सिर पर लगाने से खालित्य या गंजेपन में लाभ होता है। यह एक आयुर्वेदिक तरीका हैं।

4). उच्च रक्तचाप में – Lauki juice for High blood Pressure in Hindi

आज के समय में हाई ब्लड प्रेशर एक आम समस्या बन चुकी है। अगर आप नियमित रूप से सिर्फ़ एक गिलास लौकी का रस पीते हैं तो आप काफ़ी हद तक हाई बीपी की समस्या को कम कर सकते हैं। लौकी के जूस में पोटैशियम अधिक पाया जाता है जो कि ब्लड प्रेशर को कम करने के लिये जाना जाता है।

5). दिल के बीमारी में लाभकारी – Lauki Juice Benefits in Heart Disease in Hindi

दिल की बीमारी से राहत पाने के लिए दिल को स्वस्थ रखना सबसे ज्यादा जरूरी होता है। लौकी का सेवन करने से दिल की बीमारी के खतरे को कुछ हद तक कम किया जा सकता है। प्रतिदिन 100-150 मिली मीठी लौकी के रस का सेवन हृदय रोगों को रोकता है। एक रिसर्च के अनुसार 90 दिनों तक सुबह खाली पेट 200 मिलीग्राम ताजी लौकी का रस पीने से कोलेस्ट्रॉल घट जाता है।

6). पाचन संबंधी रोग में – Lauki juice for Digestive problem in Hindi

आज के समय में कब्ज और पाचन संबंधी रोग एक सामान्य समस्या बन चूका है। लौकी में ढेर सारा घुलनशील फाइबर पाया जाता है जो कि उसमें मौजूद ढेर सारे पानी के साथ मिल कर पाचन क्रिया को आसान बनाता है। इस जूस को नियमित पीने से कब्‍ज ठीक होता है तथा एसिडिटी में आराम मिलता है। इसके अलावा लौकी में लगभग 92 प्रतिशत पानी होता है। पानी हमारे पाचन स्वास्थ्य को बनाए रखने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

7). लीवर में सूजन नहीं होती – Benefits of Lauki juice for liver in Hindi

लीवर हमारे शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग होता है। ज्‍यादा तला-भुना या अनहेल्‍दी खाना खाने से लीवर में सूजन आदि की समस्या हो सकती है। लेकिन आपको बता दें कि लौकी के जूस का सेवन करने से लीवर को स्वस्थ रखा जा सकता है। आयुर्वेद के अनुसार भी लौकी के जूस के तत्वों से हमारा लिवर भी काफी स्वस्थ रहता है।

8). तनाव में लाभ – Lauki juice for stress in Hindi

लौकी में choline की मात्रा भी पाई जाती है। choline एक तरह का न्यूरोट्रांसमिटर है जो ब्रेन के फंक्शन को बेहतर करने का काम करता है। इसकी वजह से लौकी का जूस स्ट्रेस और मेंटल डिस्ऑर्डर में भी लाभ पहुंचा सकता है।

9). वर्कआउट ड्रिंक के रूप में फायदेमंद- Bottle Gourd Juice a good workout drink in Hindi

वर्कआउट के बाद शरीर में ग्लूकोस के लेवल को रिस्टोर करने के लिए लौकी का जूस एक बेहतर विकल्प हो सकता है। लौकी में मौजूद न्यूट्रिएंट्स मसल्स के लिए भी बेहतर समझे जाते हैं। इसलिए इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

10). पेशाब के समय जलन और दर्द से बचने के लिए – Lauki juice for Urinary tract infection in Hindi

लौकी के जूस में 96 फीसदी पानी होता है, जो शरीर पर कूलिंग प्रभाव डालता है। नेचर में ऐल्कलाइन होने के चलते लौकी का जूस एक शक्तिशाली मूत्रवर्धक डाइयुरेटिक (diuretic) एजेंट के रूप में कार्य करता है और पेशाब के समय होने वाली जलन को कम करता है। इसके सेवन से पानी की कमी शरीर में नही होती है।

लौकी जूस पीने के नुक्सान – Bottle Gourd (Lauki) Juice Side Effects in Hindi

लौकी का जूस पीना कई मायनों में बेहद फायदेमंद है। लेकिन आपको पता होगा कि अति किसी भी चीज की अच्छी नहीं होती भले ही वह फायदेमंद चीज ही क्यों न हो। लौकी का जूस अगर ज्यादा पी लिया जाए तो ये सेहत को फायदे की जगह नुकसान पहुंचाने लगती है। ऐसा दो कारणों से होता है एक तो लौकी का जूस जब ज्यादा कच्चा पिया जाए या जूस ज्यादा कड़वी हो तो इसे पेट ने में असमर्थ हो जाता है वहीं लौकी को अब आर्टिफिशियल ग्रोथ देने के लिए कई तरह के इंजेक्शन दिए जाते हैं और ऐसी लौकी का जूस बेहद हानिकारक और गंभीर रोग का कारण बन सकता है। इसलिए –

  • लौकी का जूस बनाने के बाद उसे एक बार चख कर के देखें। यदि जूस कड़वा हुआ तो उसका सेवन न करें।
  • स्तनपान कराने वाली महिला भी कड़वा लौकी के जूस सेवन न करें।

यदि आपको लौकी का जूस पीने बाद आपको ऐसे लक्षण दिखने लगे जिससे आप सहज महससू न करें तो सावधान हो जाएं। अत्यधिक पसीना आने लगे, भूख बहुत लगे या लगना ही बंद हो जाए, बेहोशी, थकान, के साथ ही आपको धुंधला देखने लगे, मन मायूस या डिप्रेस लगे, एलर्जी होने लगे आदि तो आपको अपने डॉक्टर से तुरंत संपर्क करना चाहिए।

वीडियो में देखे –

Also, Read More:- 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *