इरफान खान की संघर्ष भरी जीवनी | Irrfan Khan Biography in Hindi

Irrfan Khan / इरफान खान एक भारतीय अभिनेता हैं जो की बॉलीवुड और हॉलीवुड में बेहतरीन अभिनय के लिए पहचाने जाते हैं। उन्‍हें तीन बार फिल्‍मफेयर पुरस्‍कार और सर्वश्रेष्‍ठ अभिनेता के तौर पर फिल्‍म ‘पान सिंह तोमर’ के लिए राष्‍ट्रीय पुरस्‍कार भी मिल चुका है। उन्‍हें पद्मश्री सम्‍मान से भी नवाजा जा चुका है। दर्शक ऐसा मानते हैं कि वे अपनी आंखों से ही पूरा अभिनय कर देते हैं और यही उनकी विशेषता भी है। वे लीक से हटकर फिल्‍में करने की वजह से मशहूर हैं। उन्होने द वारियर, मकबूल, हासिल, द नेमसेक, रोग, अंग्रेजी मेडियम जैसी फिल्मों मे अपने अभिनय का लोहा मनवाया।

एक्टर इरफान खान (Irrfan Khan) ने अपने 30 साल के फिल्मी किरयर में 50 से अधिक हिंदी फिल्मों में काम किया है। एक्टर ने टेलीविजन से अपने करियर की शुरुआत की थी। उन्होंने दूरदर्शन पर प्रसारित होने वाले कार्यक्रम ‘चाणक्य’, ‘भारत एक खोज’ और ‘चंद्रकांता’ जैसे सुपरहिट धारावाहिकों में काम किया था। स्टार प्लस पर प्रसारित होने वाले ‘डर’ सीरियल में इरफान खान मुख्य विलेन के किरदार में नजर आए थे।

इरफान खान की संघर्ष भरी जीवनी | Irfan Khan Biography In Hindiइरफान खान का परिचय – Irrfan Khan ka Jeevan Parichay

इरफान का जन्म 7 जनवरी 1967 को जयपुर, राजस्थान मे हुआ था। इनके पिता का नाम साहबज़ादे यासीन अली खान हैं और माँ का नाम सईदा बेगम। इरफान जब एम.ए. की पढ़ाई कर रहे थे तभी उन्‍हें नेशनल स्‍कूल ऑफ ड्रामा में पढ़ाई के लिए स्‍कालरशिप प्राप्‍त हुई थी। 23 फरवरी 1995 को इरफान ने सुपादा सिकदर से शादी की जिनसे उन्‍हें दो बच्‍चे हैं- बाबिल और आर्यना। सुतापा भी राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय से संबंधित हैं।

इरफ़ान खान का बचपन से सौक था की वे एक क्रिकेटर बनेंगे। लेकिन फॅमिली की इजाजत न मिलने के कारण उन्हें अपना लाइन चेंज करना पड़ा। वे बचपन में एक अच्छे क्रिकेटर भी थे सीके नायडू ट्रॉफी में उनका सिलेक्शन हो गया था। इनके पिता को शिकार करना बहुत पसंद था, इसलिए इरफ़ान भी बचपन में अपने पिताजी के साथ शिकार के लिए भी जाते थे।

Irrfan Khan कहते हैं – बड़ा होने पर कोई डॉक्टर बन जाता है तो कोई एक्टर। बड़ा होने पर चाहे हम कुछ भी बन जाएँ पर सभी को अपने बचपन के दिनों की याद तो आती ही है। बचपन के दिन सबसे मजेदार होते हैं। इन दिनों की घटनाएँ बड़ा हो जाने पर ही कहीं ना कहीं याद आती ही है।

इरफ़ान जब कॉलेज में ग्रेजुएशन कर रहे थे, उसी समय उनका ध्यान एक्टिंग की ओर गया। पहले कुछ नए कलाकारों के साथ वे एक्टिंग सीखने की कोशिश करने लगे। फिर उनकी मुलाकात नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा (एनएसडी) के एक शख्स से हुई। वे कॉलेजों में जाकर नाटक किया करते थे। इरफ़ान भी उनके साथ उनकी टीम में शामिल हो गए और स्टूडेंट्‍स के साथ कॉरिडोर में, क्लासरूम में और कैंटीन में ड्रामा करते हुए ही एक्टिंग में आये और इसी दिशा में करियर बनाने को लेकर गंभीर हुवे।

फ़िल्मी करियर की शुरुआत – Irrfan Khan Early Life 

इरफ़ान खान के करियर की शुरूआत टेलीविजन सीरियल्‍स से हुई थी। अपने शुरूआती दिनों में वे चाणक्‍य, भारत एक खोज, चंद्रकांता जैसे धारावाहिकों में दिखाई दिएा उनके फिल्‍मी करियर की शुरूआत फिल्‍म ‘सलाम बाम्‍बे’ से एक छोटे से रोल के साथ हुई। इसके बाद उन्‍होंने कई फिल्‍मों में छोटे बड़े रोल किए लेकिन असली पहचान उन्‍हें ‘मकबूल’, ‘रोग’, ‘लाइफ इन अ मेट्रो’, ‘स्‍लमडॉग मिलेनियर’, ‘पान सिंह तोमर’, ‘द लंचबाक्‍स’, ‘पीकू’ जैसी फिल्‍मों से मिलीा। 2020 में इन्होने ‘अंग्रेज़ी मीडियम’ फिल्म में काम किया जो खासा पसंद किया गया। इरफ़ान फिल्मों में अपने रोल को लेकर बहुत ज्यादा मेहनत करते हैं।

इरफ़ान बॉलीवुड में ही नहीं हॉलीवुड में भी जाने-पहचाने अभिनेताओं में शामिल हैं। 2008 में सुपर हिट हॉलीवुड फिल्म स्लमडॉग मिलियनेयर में अभिनय किये। इसके आलावा हॉलीवुड फिल्म द अमेजिंग स्पाइडर मैन (2012), जुरासिक वर्ल्ड (2015), इन्फर्नो (2016) आदि फिल्मो में काम कर चुके हैं ।

इरफान खान के संघर्ष की कहानी – Irrfan Khan Story in Hindi

इरफान खान का शुमार उन लोगों में होता है जिन्होने अपने हाथों की लकीरों को खुद ही खीचा है। और ऐसे लोग बाद में दूसरों के लिए एक मिसाल बन जाते हैं। इरफान खान आज बॉलीवुड का एक ऐसा नाम है। जो ना सिर्फ हिंदी बल्की हॉलीवुड की फिल्मों में भी अपनी एक खास छाप छोड़ी है। तभी तो हॉलीवुड के जाने माने अभिनेता टॉम हैंक्स को ये कहने के लिए मजबूर होना पड़ा कि इरफान खान की आंखे भी अभिनय करती थी। खैर बात इरफान के संघर्ष के दिनों की करते हैं।

इरफान ने जब दिल्ली के नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा में अभिनय के कोर्स के लिए एडमिशन लिया तो थोडे ही समय बाद उनके वालिद का इंतकाल हो गया। ऐसे में इरफान को घर से मिलने वाली इनकम बंद हो गई। इरफान को ऐसे में कुछ सहारा उनको मिलने वाली स्कॉलरशिप ने दिया। और इरफान को मजबूती प्रदान की उन्ही की एक सहपाठी सुतपा सिकदर ने जिससे बाद में इरफान के साथ शादी भी की। इनकी लव स्टोरी सबसे यूनीक भी है। पर बात यहां इरफान के स्ट्रगल की। कोर्स पूरा करने के बाद इरफान सुतपा के साथ मुंबई आ गए, यहां उन्हे कुछ सीरियल्स में काम मिला। 1988 में पहली फिल्म सलाम बॉम्बे में लेटर राइटिंग के रोल से इरफान ने अपने हिंदी सिनेमा के सफर की शुरू आत की। लेकिन कामयाबी कोसो दूर थी।

1990 में बनी फिल्म एक डॉक्टर की मौत से इरफान अपनी पहचान बनाने में कामयाब हो गए. फिर धीरे धीरे काम मिलने लगा। देखते ही देखते एक दशक का सफर बीत गया पर स्टारडम नहीं मिला। इसके बाद 2003 में इरफान खान की हासिल फिल्म रिलीज हुई. और इसके ठीक बाद मकबूल इन दोनों फिल्मों ने इरफान खान को वो शोहरत दिलवाई। जिसके वो हकदार थे. और इन दोनों ही फिल्मों के बाद इरफान खान के फिल्मी सफर की गाड़ी तेज़ रफ्तार से चलने लगी। इरफान ने ना सिर्फ बॉलीवुड बल्कि कई हॉलीवुड की फिल्मों में काम करके अपने अभिनय का लोहा मनवाया है. और ये सफर अब भी जारी है।

फिल्मोग्राफी – Irrfan Khan Movies

इन्फेरनो , जज़्बा, लाइफ ऑफ़ पाई, मदारी, जुररसिक वर्ल्ड, पीकू, द लंच बॉक्स, ये साली ज़िन्दगी, थैंक यू, राईट या राँग, हिस्स, नोक आउट, एसिड फैक्ट्री, बिल्लू बारबर, न्यूयॉर्क, स्लमडॉग मिलियनेयर, देहली 6, लाइफ़ इन अ… मेट्रो, अ माइटी हार्ट, सैनिकुडु, प्रथा, बोकशू द मिथ, अंग्रेज़ी मीडियम,

इरफ़ान खान की निजी जीवन – Irrfan Khan Personal Life

भारत सरकार द्वारा इरफ़ान खान पद्म श्री अवार्ड से सम्मानित किया जा चूका हैं। इसके आलावा उन्हें फिल्मफेयर अवार्ड, एन्सेबल अवार्ड, क्रिटिक्स अवार्ड मिल चुके हैं। इरफ़ान की शुरुवाती नाम Irfan khan था लेकिन बाद उन्होंने अपने नाम पर एक एक्स्ट्रा r जोड़ दिया, क्यूंकि उन्हें पसंद था। इस तरह उनका नाम Irrfan khan हो गया। इरफान भारत के पहले ऐसे अभिनेता हैं जो दो ऑस्कर विजेता मूवी हिस्सा का रहे हैं।

निधन – Irrfan Khan Death Hindi

इरफान खान (Irrfan Khan) ने 53 वर्ष की उम्र में 29 अप्रैल 2020 को दुनिया को अलविदा कह दिया। साल 2018 में इरफान खान (Irrfan Khan) को पता चला था कि वह न्यूरोएंडोक्राइन ट्यूमर से पीड़ित हैं। बीते दिनों उन्हें खराब स्वास्थ्य को लेकर मुंबई के कोकिलाबेन अस्पताल में भर्ती कराया गया, यही पर उनका निधन हो गया।

इरफान खान के बारे में और अधिक जानकारी – More Information About Irrfan Khan

⇒ शरीर माप /Height  –  (1.83m)

 शौक /Hobbies   –  रीडिंग बुक,

 धर्म /Religion  –  मुस्लिम

⇒ पसंदीदा भोजन /Favorite Food   – N/A,

⇒ पसंदीदा रंग /Favorite Color   – काला,

⇒ पसंदीदा अभिनेता /Favorite Actor   –  फिलिप सीमौर हॉफमैन,

⇒ पसंदीदा अभिनेत्री /Favorite Actress  – N/A

इरफान खान धूम्रपान करते हैं  /smoke? : हाँ

इरफान खान शराब पीते हैं /alcohal? : हाँ


और अधिक लेख –

Please Note :  Irrfan Khan Biography & Life History In Hindi मे दी गयी Information अच्छी लगी हो तो कृपया हमारा फ़ेसबुक (Facebook) पेज लाइक करे या कोई टिप्पणी (Comments) हो तो नीचे  Comment Box मे करे। Irrfan Khan Filmography & Life Story In Hindi व नयी पोस्ट डाइरेक्ट ईमेल मे पाने के लिए Free Email Subscribe करे, धन्यवाद।

3 thoughts on “इरफान खान की संघर्ष भरी जीवनी | Irrfan Khan Biography in Hindi”

  1. Love stories in hindi

    Very good my brother you inspiration view of the irfan khan life. I got aot of motivation. Through reading this. Keep. Working my brother we are always with you

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *