पैरों में दर्द के कारण और घरेलु उपचार | Foot Pain Treatment Home Remedies in Hindi

पैरों में दर्द या खिंचाव एक ऐसी स्वास्थ्य समस्या है जो कई कारणों से होती है। इससे चलने-फिरने ज्यादा परेशानी होती हैं। हालाँकि पेरो के दर्द को हलके में नहीं लेना चाहिए इससे बड़ी समस्या उत्पन्न हो सकती हैं। निचे पैरो में दर्द के कारण और उनके घरेलु उपचार जाने.. (Pero Me Dard ka Ilaj in Hindi)  

पैरों में दर्द के कारण और घरेलु उपचार | Foot Pain Treatment Home Remedies in Hindiपैरो में दर्द के कारण –

पैरों में दर्द कई कारणों से हो सकती हैं, जैसे – मांसपेशियों में सिकुड़न, मसल्स की थकान, ज्यादा वॉक करना, एक्सरसाइज, स्ट्रेस, ब्लड क्लॉटिंग की वजह से बनी गांठ, घुटनों, हिप्स व पैरों में सही ब्लड सर्कुलेशन न होना। पानी की कमी, सही डाइट ना लेना, सूजन, खाने में कैल्शियम व पोटेशियम जैसे मिनरल्स और विटामिंस की कमी, अंदर गहरी चोट होना, किसी प्रकार का संक्रमण हो जाना, नाखून का पकना आदि। कई बार शरीर की हड्डियां कमजोर होने से भी पैरों में दर्द की शिकायत हो जाती है।

पैरो में दर्द थी करने के घरेलु आयुर्वेदिक इलाज –

असगंध और चोपचीनी का चूर्ण एक-एक छोटा चम्मच दूध के साथ दिन में दो बार लेने से पैरों के दर्द में लाभ होता है।

नीम के पत्तो को पानी में उबाले और इस पानी में थोड़ी फिटकरी भी मिक्स कर ले, जितना गर्म सह सको इस पानी में अपने पैरो को 10 से 15 मिनट तक रखे।

सरसों के तेल में लहसुन को भूनकर उससे मालिश करें। पैरों का दर्द अवश्य ठीक हो जाएगा।

पानी पीना बहुत जरूरी है। यह मसल्स की सिकुड़न और पैरों के दर्द को कम करता है। जिम या वॉक पर जाने या किसी भी तरह की फिजिकल एक्सरसाइज करने से पहले सही मात्रा में पानी पीएं। यह बॉडी को पूरी तरह हाइड्रेट रखता है।

हल्दी पाउडर, नीम्बू रस और नमक को मिलाकर एक चिकना लेप बनायें। इस लेप को प्रभावित क्षेत्र पर लगायें। यह आपको दर्द से तुरंत आराम देगा और पैरों के दर्द को खत्म भी करेगा।

लौंग के तेल को तिल के तेल के साथ मिलाकर पैरों में लगाएं। इससे पैरों की खुजली दूर होगी।

पैर दर्द का ईलाज, पैरों के व्यायाम करने की भी सलाहा दी जाती है जो अपके शरीर में खून के परिसंचरण को बढ़ाकर आपके पैर के दर्द को आराम पहुंचायेगा।

दूध से बने प्रॉडक्ट्स ज्यादा लें। चीज, दूध, सोयाबीन, सलाद वगैरह से आपको पूरी मात्रा में विटामिंस मिलेंगे। अपने खाने में ऐसी चीजों की मात्रा बढ़ा दें जिनमें कैल्शियम और पोटैशियम ज्यादा हो।

इन बातों का ख्याल रखे  –

ऊंची एड़ियों वाले जूतों / चप्पलों का इस्तेमाल न करे इनसे गिरने की सम्भावना रहती हैं और इसी प्रकार पैरों को लपेट कर न बैठें।

पैरों को धोने के लिए एंटी-बैक्‍टीरियल प्रोडक्‍ट का इस्‍तेमाल करें।

फुट मसाज: पैरों के दर्द को दूर करने में फुट मसाज बहुत कारगर होती है। टेनिस बॉल या रोलिंग पिन से आप फुट मसाज कर सकते हैं। इससे काफी राहत मिलती है।

अगर आपको ऐसा लगता है कि आपके पैर में किसी प्रकार का संक्रमण है तो आप गुनगुने पानी में नमक डालकर पैरों की सिकाई करें। इससे पैरों में होने वाले बैक्‍टीरिया मर जाते हैं।

आप अपने पैरों के दर्द वाले हिस्से पर क्रम से गर्म और ठंडा पानी लगा सकते हैं जो तनावग्रस्त मांसपेशियों को आराम पंहुचयेगा। पैर दर्द का उपचार, आप इसे कई तरीके से कर सकते हैं जैसे कि तौलिये को गर्म पानी में डुबायें और तनावग्रस्त मांसपेशीपर लगा सकते हैं। आप अपनी तनावग्रस्त मांसपेशी पर गुनगुने पानी या भाप का स्नान लें सकते हैं। आप बर्फ लगाकर भी आराम पा सकते हैं।


और अधिक लेख –

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here