अकल दाढ़ के दर्द से परेशान हैं तो ये घरेल उपाय अपनाये (Akal Daad ka Ilaj)

किशोरावस्था में मानसिक बदलाव के साथ कई शारीरिक बदलाव भी होते हैं। कुछ बदलाव सामान्य होते हैं, तो कुछ दर्दनाक होते हैं। अकल दाढ़ निकलना इन दर्दनाक बदलावों में से एक है। अकल दाढ़ निकलने पर किसी को हल्का दर्द होता है, तो किसी को तेज। इसकी वजह से मुंह की सूजन के साथ कई अन्य समस्याएं भी हो सकती हैं। आइये जाने इसके उपचार  (akal daad ka gharelu upay)

akal daad ke upay

अकल दाढ़ क्या हैं – What is Wisdom teeth in Hindi (akal daad kya hota hai)

अकल दाढ उन दाँतों के नाम हैं जो आखिर में निकलते हैं। अधिकतर लोगों को चार अकल दाढ होते हैं – मुँह के हर कोने में एक – ये ज्यादातर जवानी में निकलते हैं। ज्यादातर लोगों की अक्ल दाढ़ (विस्डम टूथ) 17 से 25 साल के बीच में आ जाती है लेकिन कई लोगों में ये 25 के बाद भी आती है। ये हमारे मुंह के सबसे आखिरी, मजबूत दांत होते हैं और सबसे अंत में आते हैं। (akal daad kyu aati hai)

अक्ल दाढ़ निकलने से दर्द क्यों होता है? (Wisdom teeth pain causes in hindi)

दरअसल, विस्डम टूथ सबसे अंत में आते हैं और इसके चलते उन्हें मुंह में पूरी जगह नहीं मिल पाती। इसकी वजह जब ये दांत आते हैं तो बाकी के दांतों को भी दबाते हैं। इससे मसूड़ों पर भी दवाब बनता है। इस वजह से दांतों में दर्द, मसूड़ों में सूजन और असहजता की शिकायत हो जाती है।

इस दौरान न केवल तेज दर्द होता है बल्क‍ि कई बार मुंह से दुर्गंध, खाने में तकलीफ और सिर दर्द की शिकायत भी हो जाती है। अक्ल दाढ़ का दर्द कभी भी हो सकता है और ये कम से कम एक या दो दिन तक तो रहता ही है।

अक्ल दाढ़ निकलने के लक्षण – Wisdom teeth pain symptoms in hindi

  1. मसूड़े में सूजन या लालिमा
  2. दर्द
  3. जबड़े के नीचे सूजन
  4. मुंह खोलने में परेशानी
  5. भोजन निगलने में कठिनाई
  6. सांस की बदबू
  7. मसूड़े से मवाद आना
  8. बुखार

घरेलू उपचार (Wisdom teeth pain relief home remedies in hindi)

1). नमक – दांत दर्द में नमक का इस्तेमाल करना भी बहुत फायदेमंद होता है. ये मसूड़ों की जलन को कम करने में मददगार है। इसके अलावा नमक के इस्तेमाल से इंफेक्शन का खतरा भी कम हो जाता है।

2). लौंग – दांत दर्द के लिए आपने लौंग के उपाय के बारे में जरूर सुना होगा। दरअसल, लौंग में एनाल्जेसिक गुण मौजूद होते हैं, जो दर्द को कम करने में मदद कर सकते हैं। इसी गुण के कारण यह अकल दाढ़ दर्द में भी लाभकारी साबित हो सकता है। इसमें मौजूद एंटीस्पेटिक, एंटी-वायरल, एंटीफंगल और एंटी-माइक्रोबियल गुण अकल दाढ़ से जुड़ी समस्याओं को दूर करने का काम करेंगे। इन सब गुणों के अलावा, यह ऐंटीनोसीसैप्टिव (Antinociceptive) की तरह भी काम कर सकता है, जो दर्द की संवेदनशीलता को कम करने में मदद कर सकता है।

3). लहसुन – लहसुन में एलिसिन (Allicin) नामक यौगिक होता है, जिसमें एंटी-इन्फ्लेमेटरी गुण मौजूद होते हैं। लहसुन का यह गुण दर्द से राहत दिलाने में आपकी मदद कर सकता है। इसके अलावा, इसमें एनाल्जेसिक (Analgesic) यानी दर्द निवारक गुण भी होता है, जो दर्द को कम करने में मदद कर सकता है। इतना ही नहीं इसमें मौजूद एंटीबैक्टीरियल गुण मुंह में संक्रमण से बचाव करने का काम कर सकता है।

4). अमरूद की पत्तियां –अमरूद की पत्तियों में एनाल्जेसिक (Analgesic) यानी दर्द को कम करने, एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीमाइक्रोबियल गुण मौजूद होते हैं, जो दांत दर्द से राहत दिलाने में मदद कर सकते हैं ।

5). हींग – सर्दी-जुकाम हो या किसी प्रकार का दर्द, यह एक बेहतरीन घरेलू नुस्खों में से एक है। इसमें मौजूद एनाल्जेसिक गुण और एंटी-इन्फ्लेमेटरी गुण अकल दाढ़ के दर्द से राहत दिलाने में मदद कर सकते हैं।

6). प्याज़ – प्याज में एंटी-सेप्ट‍िक, एंटी-बैक्टीरियल और दूसरे कई गुण पाए जाते हैं। इससे दर्द में राहत मिलती है और ये मसूड़ों को भी इंफेक्शन से सुरक्षित रखने में मददगार है।

7). बर्फ – अगर दांत में दर्द है तो बर्फ के छोटे-छोटे टुकड़े लेकर उन्हें दांत के पास रखें। इससे दर्द और मसूड़ों की सूजन भी कम होगी। ऐसा रोजाना करें, तभी फर्क दिखना शुरू होगा।

8). सेंकना – दर्द ज्‍यादा होने पर दांत की बाहर वाली साइड काे किसी कपड़े या बोतल में गर्म पानी डालकर सेका भी जा सकता है। इससे भी राहत मिलती है।

9). पेपरमिंट एसेंशियल ऑयल – पेपरमिंट एसेंशियल ऑयल में मेंथॉल होता है, जिसमें एनाल्जेसिक (Anlagesic) गुण यानी दर्द को कम करने के गुण मौजूद होते हैं। इसे अकल दांत में लगाने से दर्द से राहत मिल सकती है।

10). टी ट्री ऑयल – टी ट्री ऑयल को अपने एंटीसेप्टिक और एंटीमाइक्रोबियल गुणों के लिए जाना जाता है। ऐसे में अगर आप इसे अकल दाढ़ के दर्द से प्रभावित जगह पर लगाएंगे, तो यह संक्रमण से बचाव कर सकता है। इतना ही नहीं इसका एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण सूजन को भी कम करने में मदद कर सकता है। इतना ही नहीं, इसमें दर्द निवारक गुण भी होता हैं, जो दर्द को कम करने में मदद कर सकता है।

Also, read more :- 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *