आँखों में दर्द, जलन, सूजन का घरेलु रामबाण इलाज Eye Pain Treatment in Hindi

कभी कभी विभिन्न कारणों की वजह से आँखों (Eye) में दर्द, जलन या सूजन हो जाता है। क्यूंकि आँखे हमारे शरीर के सबसे नाजुक एवं संवेदनशील अंगों में से एक है इसलिए इन पर किसी भी चीज का प्रभाव बहुत जल्दी पड़ता है। दिनभर लैपटॉप, कम्प्यूटर, मोबाइल में लगे रहने के कारण आंखें (Eyes) थक जाती है। इससे आँख पर अत्यधिक तनाव, एलर्जी, या कुछ ऐसे रोग हो जाते हैं, जो आंख को प्रभावित करते हैं। इसके आलावा आँखों में गन्दगी पड़ने से भी आँखों में दर्द होता हैं। आइये जाने आँखों में दर्द, जलन, सूजन का घरेलु इलाज (Aankhon mein dard ka gharelu ilaj)..

आँखों में दर्द, जलन, सूजन का घरेलु रामबाण इलाज Eye Pain

आंख का दर्द कभी-कभी अपने आप ठीक हो जाता है लेकिन यह कभी-कभी किसी गंभीर स्थिति का संकेत भी हो सकता है। इसीलिए आँखों को अच्छे से देखभाल करना जरुरी होता है।

आंखों में दर्द के प्रकार – Types of Eye Pain in Hindi

आँखों में दर्द दो  तरह के होते हैं-

ओकुलर (Ocular) – यह आंख की सतह में होने वाला दर्द है यानि संवेदनशील बाहरी संरचनाओं से आना वाला दर्द है।

ओर्बिटल (Orbital) – आंख के पीछे महसूस होने वाले गहरे या मध्यम दर्द को ओर्बिटल दर्द कहा जाता है। आँखों के भीतरी भाग में दर्द होना, इससे आँखों में एक तरह का स्पन्दन और किरकिरी महसूस होती है।

आँखों में दर्द का कारण – Eye Pain Causes in Hindi

आँखों में दर्द होने के कई कारण हो सकते हैं, जैसे –

  • धूल-मिट्टी के सम्पर्क में आने के कारण
  • बहुत अधिक वक्त मोबाइल, लैपटॉप स्क्रीन के सामने बिताना
  • कॉन्टैक्ट लेंसेज का ज्यादा इस्तेमाल करना
  • आँखों में चोट लगने के कारण
  • ज्यादा टेंशन के कारण
  • नींद पूरा न होना
  • शरीर में पानी की कमी
  • बहुत अधिक दवाइयां लेना
  • केमिकल के संपर्क में आना

इसके आलावा पलकों के बाल व अन्य कचरा आदि भी आंख में परेशानी पैदा कर सकते हैं। गुहेरी यह आंखों की पलकों की ग्रंथियों का एक संक्रमण होता है जो पलकों के साथ-साथ आंख में भी दर्द पैदा कर देता है। कई बार बैक्टीरियल संक्रमण या वायरल संक्रमण के कारण भी आँखों में दर्द होता हैं।

आंखों में दर्द के लक्षण – Eye Pain Symptoms in Hindi

आंख में दर्द के लक्षण उसके कारण पर निर्भर करते हैं। आँखों में दर्द होना बहुत कष्टकारक होता है तथा इसके कारण व्यक्ति कोई भी काम नहीं कर पाता। आँख में दर्द के साथ अन्य लक्षण भी देखे जाते है जैसे-

  • आँखों में लाली और खून जैसे धब्बे
  • आंखों से पानी या अन्य पदार्थ बहना
  • जलन होना
  • सिर दर्द या माइग्रेन होना
  • आँखों में खुजली होना

हालाँकि कई बार सामान्य रूप से भी आँखों पर ज्यादा जोर देने से या कईं घंटो तक टी.वी. और कम्प्यूटर के सामने बैठे रहने से भी आँखों में दर्द हो जाता है। जो सामान्य दर्द हैं।

आँखों के दर्द से बचाव के तरीके – How to Prevent Eye Pain in Hindi

शरीर में दर्द का कारण मुख्य रूप से जीवनशैली एवं खानपान में गड़बड़ी के कारण होता हैं। संतुलित और सही आहार हमें कई बिमारियों से निजात दिलाते हैं। इसके लिए आहार और जीवनशैली में थोड़ा बदलाव लाने की जरूरत होती है। जैसे-

  • ताजा फल, सब्जियाँ, साबुत अनाज और नट्स जिनमें ओमेगा-3 फैटी एसिड्स होते है। इनका सेवन करें।
  • विटामिन सी से युक्त फलों का सेवन अधिक करें जैसे- खट्टे फल यह आँखों के लिए लाभदायक होते हैं।
  • अधिक देर तक कम्प्यूटर के सामने न बैठें।
  • लगातार बहुत अधिक देर तक नहीं पढ़ना चाहिये, बीच-बीच में आँखों को आराम देना चाहिये।
  • हर रोज दिन में 2–3 बार आँखों को ठंडे पानी से धोएं।
  • नियमित रूप से प्राणायाम एवं योगासन करें।
  • बच्चों को ऐसे खिलौने या वस्तु के साथ ना खेलने दें जो उसकी आंखों में चोट पहुंचा सकते हैं।
  • अपने चश्मे को रोजाना नियमित रूप से अच्छे तरह से धोएं। अवसरों के अनुसार ही चश्मे पहनें ताकि आपकी आंखों को आराम मिलता रहे।
  • खेलते, व्यायाम करते व अन्य कार्य करते समय अपनी आंखों में खरोंच, जलन व अन्य प्रकार की चोट लगने से बचाएं।

आँखों में दर्द, सूजन और जलन का घरेलु इलाज – Home Remedies for Eye Pain in Hindi

आंखों में दर्द, सूजन और जलन होने पर ये घरेलु उपचार करने चाहिए..

आंखों (Ankho) की सूजन अथवा लाली में, धनिया कूटकर पानी में उबाल ले। उस पानी को कपड़छन करके आंखों में टपकाएं। इससे लाली मिटती है, दर्द कम होता है और आंखों से पानी बहना बंद हो जाता है।

आँखों में दर्द और जलन होने पर आलू का प्रयोग सबसे अच्छा है। एक आलू छील कर इसकी स्लाइस को आँखों में कुछ देर के लिए रखें, कुछ ही देर में दर्द कम होने लगेगा।

आँखों में जलन या दर्द हैं तो 2–2 बूंद गुलाब जल डालकर कुछ देर के लिए आँखों को बंद रखें। ऐसा करने से दर्द में आराम मिलेगा।

यदि संक्रमण के कारण आँखों में दर्द हो रहा हो तो रात को साफ पानी में तुलसी के पत्ते भिगा कर रखें और अगली सुबह इस पानी से आँखों को धोएं।

खीरा आंखों के दर्द को कम करने में मदद कर सकता है। इसका ठंडा प्रभाव रिलेक्स करने में सहायक होगा। खीरे की स्लाइस काटकर फ्रिज में रख दें। अच्छा ठंडा होने पर आंख बंद कर इसे आंख पर रख दें। कुछ देर ऐसे ही रहने दें, जल्दी आराम मिलेगा।

चैत्र के महीने में गोरखमुंडी के 5 या 7 ताजे फूल चबाकर पानी के साथ सेवन करने से आँखों की ज्योति बढ़ती है।

प्याज का रस आंखों में लगाने से नेत्रों की पीड़ा मिटती है।

हल्दी की गांठ को पानी द्वारा पत्थर पर घिस ले और सलाई से आंखों में लगाएं। कुछ ही दिनों में आंखों की सूजन जल्दी ठीक हो जाएगी।

आँखे दुखने पर एक तोला हल्दी को एक पाव पानी में औटाकर कपड़छन कर ले। इस जल के सहने योग्य हो जाने पर बूंद बूंद करके आंखों में टपकाएं। इससे आंखों की जलन एवं सूजन जल्दी मिट जाती है।

बचपन में बेलगिरी के बीज की मिंगी शहद में मिलाकर चटाने से जीवनभर आँखें नहीं दुखती।

घरेलू उपचारों में एक बहुत ही उत्तम उपाय है कि आप आंखों में गुलाब जल डालें इससे आंखों को बहुत आराम मिलेगा।

त्रिफला का चूर्ण घी और शहद के साथ लगातार कुछ दिन खाने से आंखों का दर्द, जलन, सूजन और पानी बहना आदि रोग नष्ट हो जाते हैं।

रुई के फाहे को ठंडे पानी में भिगोकर शुद्ध घी लगाकर आँखों पर रखने से आँखों के दर्द में लाभ मिलता है।

गाय का मक्खन आंखों पर लगाने से आंखों की जलन दूर होती है।

दही की मलाई का लेप पलकों पर करने से आंखों की सूजन, जलन दूर हो जाती है।

हल्दी, फिटकरी और इमली के पत्ते संभाग में लेकर पीस ले। फिर उसकी पुल्टिस बनाकर आंखों पर सेंक करें। आंखों की जलन खत्म हो जाएगी।

धनिये के माध्यम से भी आंखों की सूजन को कम किया जा सकता है। धनिए का काढ़ा बनाकर उससे आंखों की जलन को कम किया जा सकता है।

दस ग्राम किशमिश रात को पानी में भिगो दें। सुबह हाथ से मसल कर पानी छान लें। फिर उसमें शक्कर मिलाकर पीने से आंखों की जलन में राहत मिलती है।

तिल के 5 ताजे फूल प्रात:काल अप्रैल माह में निगलें। इससे पूरे वर्ष आँखें नहीं दुखेंगी।

गुलाब जल में फूली फिटकरी डालकर आंखों को धोने और बूंद बूंद करके आंखों में टपकाने से दर्द जलन एवं सूजन में लाभ होता है।

एलोवेरा जेल जो कि आंखों के लिए बहुत फायदेमंद है। इसके लिए आपको एक सूखे स्वच्छ कपड़े को एलोवेरा जूस में डूबाना चाहिए और उसके बाद उससे आंखे पोछ लें।

खीरा शीतलन प्रभाव प्रदान करता है। एक फ्रिज में रखे खीरे के स्लाइस को काटें और आंखों पर लगाएं। कुछ देर के लिए इसे रखें और इससे आपकी आँखों को बहुत आराम मिलेगा।

अनार भी दर्द दूर करने में मदद कर सकता है। अनार के पत्तों को पीस लें और फिर आंखों के ऊपर लेप लगाएं। इससे दर्द गायब होगा।

आंखों में दर्द का इलाज – Eye Pain Treatment in Hindi

आँखों में दर्द का इलाज, डॉक्टर बीमारी को पहचान कर करते हैं। ज्यादा समय तक दर्द या जलन ठीक नहीं हो रहा हैं या फिर दर्द अधिक हैं, तो बेहतर होगा किसी अच्छे डॉक्टर से मिले।

आंखों में दर्द का डॉक्टरी इलाज – Eye Pain and Treatment Option in Hindi

आँखों में दर्द हो तो उसे मसलने से बचे। क्योंकि इसके कारण आंख में परेशानियां बढ़ जाती हैं और अन्य बीमारिया होने लगती हैं। यदि आपको लगता है कि आपकी आंख में कुछ फंस गया है तो आप अपनी आंख को स्टेराइल सेलाइन सोलूशन से धो सकते हैं। यदि दर्द हल्का है तो आप ईबूप्रोफेन जैसी काउंटर पर बिना किसी पर्चे के मिलने वाली दवाओं का उपयोग कर सकते हैं। लेकिन सभी उपचार डॉक्टरों द्वारा ही किए जाने चाहिए। आँख में दर्द का उपचार उसके परीक्षण और दर्द की गंभीरता के अनुसार अलग-अलग हो सकता है। डॉक्टर आंख में दर्द होने की वजह की पहचान कर इस तरह उसका इलाज करते हैं:-

आंख आना(कंजक्टिवाइटिस ) – Conjunctivitis Treatment in Hindi

कंजक्टिवाइटिस (Conjunctivitis) को आमतौर पर ‘आँख आना’ कहते है। यह एक प्रकार का संक्रमण होता है जिसके कारण आँखों में सूजन होती है। यह संक्रमण आँख की बाहरी परत (Conjunctivitis) और पलक की अंदरूनी सतह पर होती है। इसकी वजह से आँखे लाल, सूजनयुक्त, चिपचिपी (कीचड़युक्त) हो जाती है और उनमें बाल चुभने जैसी अनुभूति होती है। इस समस्या के दौरान आँखों में बहुत तकलीफ होती है। एंटी बैक्टीरियल आइड्रॉप्स दवाएं आंख आने की समस्या का इलाज कर देती हैं। यदि आंख आने की समस्या एलर्जी आदि के कारण हुई है तो आइड्रॉप्स, टेबलेट और पीने की दवाओं के रूप में एंटीहिस्टामिन दवा दी जाती है।

कॉर्निया में खरोंच – Corneal in Hindi

कॉर्नियाआँख का वह पारदर्शी हिस्सा है, जिस पर बाहर का प्रकाश पड़ता है। अगर इसमें खरोंच या रगड़ हुआ हैं तो, यह समस्या समय के साथ अपने आप ठीक हो जाती है। इसके अलावा डॉक्टर आपके लिए एंटीबायोटिक मरहम या आइड्रॉप्स दवाएं लिख सकते हैं।

आंख में केमिकल पड़ना – Ankho ka Ilaj

अगर आँख में केमिकल पड़ गया हैं, तो इस स्थिति का इलाज अनेस्थेटिक आइड्रॉप्स की मदद से तत्काल किया जाता है। इस दौरान आंख धोने के लिए पानी का प्रयोग किया जाता है। आंख में केमिकल जाने की गंभीरता के आधार पर आगे के उपचारों के लिए नेत्र-विशेषज्ञ द्वारा आंख की जांच किए जाने की आवश्यकता भी पड़ सकती है। इसके बाद इलाज किया जाता हैं।

ग्लूकोमा – Glaucoma Treatment 

ग्लूकोमा होने पर आंख की ऑप्टिक नर्व डैमेज हो जाती है। आंख में दबाव को कम करने के लिए आपको आइड्रॉप्स व अन्य टेबलेट दी जा सकती हैं। अगर ये दवाएं काम ना करें तो आपको सर्जरी की आवश्यकता भी पड़ सकती है। क्यूंकि यह गंभीर समस्या हैं।

ऑप्टिक न्यूराइटिस – Optic Neuritis ka Ilaj

ऑप्टिक न्यूराइटिस में आंखों की नर्व सूज जाती है। जिस कारण मेलिन डैमेज हो जाती है। इसका उपचार कोर्टिकोस्टेरॉयड दवाओं के द्वारा किया जाता है।

आंख की बिलनी (गुहेरी) – Guheri Upchar

आंख की बिलनी यानी की पलकों पर होने वाले ऑयल ग्‍लैंड का एक इंफेक्शन होता है। जिसका मुख्य कारण गंदगी, मेकअप या बार-बार हाथ, तनाव, हार्मेन परिवर्तन आदि के कारण होता है। इसका इलाज करने के लिए घर पर ही कुछ दिन आंख को गर्म चीजों से सेका जाता है।

इसके आलावा यदि आँख में कुछ कठोर नुकीली वस्तु घुस गई है तो किसी नेत्र विशेषज्ञ द्वारा ही इसकी जांच करवाना सबसे बेहतर होता है और इमर्जेंसी डिपार्टमेंट में जाकर इसकी गंभीरता का तत्काल आंकलन करवाना बहुत जरूरी होता है।

FAQ

Q : आंखों में दर्द क्यों होता है?

Ans – स्क्रीन के सामने बैठने, धूल-मिटटी के संपर्क में आने या चोट लगने के कारण आँखों में दर्द हो सकता हैं।

Q : आंखों के लिए कौन सा विटामिन होता है?

Ans – विटामिन-ए


और अधिक लेख –

Leave a Comment

Your email address will not be published.