धार क़िला का इतिहास और जानकारी | Dhar Fort History in Hindi

Dhar Fort in Hindi / धार क़िला, मध्य प्रदेश के मालवा नगर में छोटी पहाड़ी पर बना हुआ है। इस किले का निर्माण 1344 ई में महमूद तुग़लक़ ने करवाया था। यह विशाल क़िला लाल बलुआ पत्थर से बना है, और समृद्ध इतिहास के आइने का झरोखा है, जो अनेक उतार-चढ़ावों को देख चुका है।

धार क़िला का इतिहास और जानकारी | Dhar Fort History in Hindi

धार क़िला का इतिहास – Dhar Fort Madhya Pradesh in Hindi

14वीं शताब्दी के आसपास सुल्तान मुहम्मद बिन तुगलक ने यह किला बनवाया था। 1857 के विद्रोह दौरान इस किले का महत्व बढ़ गया था। क्रांतिकारियों ने विद्रोह के दौरान इस किले पर अधिकार कर लिया था। बाद में ब्रिटिश सेना ने किले पर पुन: अधिकार कर लिया और यहां के लोगों पर अनेक प्रकार के अत्याचार किए।

हालाँकि 1731 ई. में इस किले पर पवाँर राजपूतों का अधिकार हो गया था। प्राचीन काल में धार नगरी के नाम से विख्यात मध्य प्रदेश के इस शहर की स्थापना परमार राजा भोज ने की थी। ऐतिहासिक और सांस्कृतिक दृष्टि से यह मध्य प्रदेश का एक महत्वपूर्ण शहर है।

धार के प्राचीन शहर में अनेक हिन्दू और मुस्लिम स्मारकों के अवशेष देखे जा सकते हैं। एक जमाने में मालवा की राजधानी रहा यह शहर धार किला और भोजशाला मन्‍दीर की वजह से पर्याप्त संख्या में पर्यटकों को आकर्षित करने में सफल रहता है। साथ ही इसके आसपास अनेक ऐसे दर्शनीय स्थल हैं जो पर्यटकों को रिझाने में कामयाब होते हैं।

हिन्दू, मुस्लिम और अफ़गान शैली में बना यह क़िला पर्यटकों को लुभाने में सफल होता है। यहां बाग नदी के किनारे स्थित गुफाएं ऐतिहासिक रूप से महत्वपूर्ण है। यहां पर 5वीं और 6वीं शताब्दी की चित्रकला भी है। यहां भारतीय चित्रकला का अनूठा नजारा देखने को मिलता है।


और अधिक लेख –

Please Note – अगर आपके पास Dhar Fort History In Hindi मे और Information हैं, या दी गयी जानकारी मे कुछ गलत लगे तो तुरंत हमें कमेंट मे लिखे हम इस अपडेट करते रहेंगे. धन्यवाद अगर आपको हमारी Information About Dhar Kila Madhya Pradesh in Hindi अच्छी लगे तो जरुर हमें, Facebook पे Like और Share कीजिये.

Leave a Comment

Your email address will not be published.