आंवला के फायदे और गुण – Benefits of Amla in Hindi

Indian gooseberry in Hindi – आंवला के फायदे बहुत सारे होते हैं। आंवला, डॉक्टर की दवाई की तरह होता है, जो कड़वी जरूर होती है, लेकिन बीमारी को ठीक करने में कारगार होती है। आंवला  बुढ़ापा दूर रखने, स्मरण शक्ति बढ़ाने समेत कई सारी बीमारियों को जड़ से खत्म करने में संजीवनी का काम करता है। आयुर्वेदिक चिकित्सकों का कहना है कि आंवला एंटीऑक्सीडेंट और पोषक तत्वों का प्रचुर स्रोत है। आमलकी का अर्थ ‘’मां’ एवं ‘’जीवनदायक’ होता है जिसमें औषधीय और पोषक गुण मौजूद हैं।

आयुर्वेद के दो सबसे प्रमुख ग्रंथों चरक संहिता और सुश्रुत संहिता में आंवला को ऊर्जादायक जड़ी बूटी के रूप में वर्णित किया गया है। इतना ही नहीं भारतीय पौराणिक कथाओं में आंवले को भगवान विष्णु का अश्रु (आंसू) कहा गया है। आंवला को आयुर्वेद में अमृतफल या धात्रीफल भी कहा गया है। आंवला का वानस्पतिक नाम (Scientific name of Amla) Phyllanthus emblica L. (पांईलैन्थस एम्बलिका) Syn-Emblicaofficinalis Gaertn है। यह Euphorbiaceae (यूफॉर्बियेसी) कुल से है। इसका अंग्रेजी नाम Emblicmyrobalan tree (एम्बलिक मायरोबालान ट्री) है।

Benefits of Amla in Hindi

आंवला का इस्तेमाल कैसे करे – Amla Kaise Khana Chahie

Contents

आंवला का प्रयोग कई तरह से किया जाता है, जैसे- आमला जूस (amla juice), आंवला पाउडर (amla powder), आंवला अचार आदि। आंवले के बारे में भी ज्यादातर लोग सोचते हैं कि ठंड में आंवला नहीं खाना चाहिए लेकिन आयुर्वेद के अनुसार ठंड के मौसम में आंवले का सेवन आपको कई बीमारियों से बचाता है। डॉक्टरों के अनुसार हमारे शरीर को रोजाना 50 मिली ग्राम विटामिन की जरुरत होती है। अगर हर रोज कोई एक आंवला भी खा लेता है तो शरीर में विटामिन की कमी नहीं रहती।

आंवला में पाएं जाने वाले पोषक तत्व – Amla Nutrition Facts in Hindi

आधा कप आंवला में पाए जाने वाले तत्व –

  • calories: 33
  •  Protein: Less than 1 gram
  •  Fat: Less than 1 gram
  •  Carbohydrates: 8 grams
  •  Fiber: 3 grams
  • Sugar: 0 grams

आंवला के फायदे – Benefits of Amla in Hindi

1). मोटापे में फायदेमंद – Amla ke fayde Motapa Kam Karne me

मोटापे की समस्या से जूझ रहे लोगों के लिए आंवला फायदेमंद साबित हो सकता है। दरअसल, एनसीबीआई (National Center for Biotechnology Information) के मुताबिक आंवले पर किए गए एक शोध से इस बात की पुष्टि होती है। चूहों पर किए गए इस शोध में माना गया कि आंवले में एंटीओबेसिटी यानी मोटापे की समस्या से राहत दिलाने वाला गुण पाया जाता है। इस तथ्य के आधार पर यह माना जा सकता है कि आंवला का उपयोग कर मोटापे की समस्या से कुछ हद तक राहत पाई जा सकती है। आँवले का रस उपापचयी क्रियाओं में सुधार लाता है और अधिक वसा को घटाता है। आँवले में प्रोटीन के अवशोषण को बढ़ाने की क्षमता होती है।

2). मधुमेह में फायदे – Amla Benefits for Diabetes in Hindi

डायबिटीज की समस्या से पीड़ित व्यक्ति भी आंवला का उपयोग कर इस समस्या में राहत पा सकते हैं। यह बात कर्नाटक के फादर म्यूलर मेडिकल कॉलेज की रिसर्च डेवलेपमेंट सेल द्वारा किए गए एक शोध से प्रमाणित होती है। इस शोध में पाया गया कि आंवला में गैलिक एसिड (Gallic Acid), गेलोटेनिन (Gallotanin), एलेजिक एसिड (Ellagic Acid) और कोरिलागिन (Corilagin) नाम के खास तत्व मौजूद होते हैं। ये सभी तत्व एंटीऑक्सीडेंट (मुक्त कणों के प्रभाव को नष्ट करने वाला) प्रभाव प्रदर्शित करते हैं। वहीं, शोध में यह भी माना गया कि इसी एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव के कारण ही यह तत्व एंटीडायबिटिक प्रभाव भी प्रदर्शित करते हैं, जो बढ़े हुए ब्लड शुगर को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है।

3). लिवर के लिए – Amla Liver Ke Rog Theek Karne Ke Liye in Hindi

आंवला के गुण लिवर को स्वस्थ बनाए रखने में भी मददगार साबित हो सकते हैं। देखा जाता है कि अनियमित और गलत खान-पान के कारण लिवर पर विपरीत प्रभाव पड़ता है, जिससे लिवर से संबंधित जोखिम की आशंका बढ़ जाती है। वहीं, शरीर में आयरन की अधिकता के कारण कुछ विषैले पदार्थ भी लिवर पर बुरा प्रभाव प्रदर्शित कर सकते हैं। इसके कारण लिवर में सूजन या क्षति की समस्या पैदा हो सकती है। ऐसे में आंवला में मौजूद हेपटोप्रोटेक्टिव (लिवर की रक्षा) करने वाला गुण इस जोखिमों के प्रभाव को कम करने में सहायता कर सकता है।

4). सूजन कम करने में – Amla Benefits for Swelling in Hindi

आंवला जूस के फायदे सूजन की समस्या में भी लाभकारी साबित हो सकते हैं। जैसा कि हम लेख में पहले भी बता चुके हैं कि आंवला में एंटीइन्फ्लामेट्री (सूजन कम करने वाला) गुण पाया जाता है। इस गुण के कारण आंवला का सेवन हड्डियों और मांसपेशियों से संबंधित सूजन की समस्या को दूर करने में कुछ हद तक मदद कर सकता है।

5). चमकती त्वचा के लिए – Amla Benefits For Skin in Hindi

आंवला रस के फायदे त्वचा के लिए भी फायदेमंद साबित हो सकते हैं। दरअसल, आंवला से संबंधित एक शोध के मुताबिक इसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण मौजूद होते हैं, जो मुक्त कणों के प्रभाव को दूर कर सकते हैं। साथ ही ये त्वचा की रंगत को साफ करने में भी सहायक साबित हो सकते हैं। आँवला पॉवडर को चेहरे पर लगाने से मुँहासे ठीक होते हैं। आँवला के जूस का सेवन करने से आपकी त्वचा में निखार आता है।

6). नकसीर ठीक करे – Amla ke Fayde in Hindi

नाक से खून बहने की समस्या कई कारणों से हो सकती है। इसमें आंवला फायदेमंद होता है। जामुन, आम तथा आंवले को कांजी आदि के साथ बारीक पीस लें। इसे मस्तक पर लेप करने से नकसीर (नाक से खून बहने की समस्या) में लाभ होता है।

7). आंवला के फायदे आँखों के लिए  – Amla Benefits for Eyes in Hindi

आंवले में मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट गुण रेटीना के लिए काफी फायदेमंद होता है. ये विटामिन सी का बहुत अच्छा माध्यम होता है. जर्नल ऑफ फार्माकोग्नॉसी एंड फाइटोकेमिस्ट्री के एक शोध में जिक्र मिलता है कि आंवला का सेवन कंजेक्टिवाइटिस और ग्लूकोमा आंखों के विकार में मदद कर सकता है।

8). कब्ज में आंवला के फायदे – Amla to Relieves Constipation in Hindi

आजकल की जीवनशैली या खान-पान की वजह से सभी लोग कब्ज से परेशान रहते हैं। 3-6 ग्राम त्रिफला चूर्ण को गुनगुने जल के साथ सेवन करें। इससे कब्ज में लाभ मिलता है। इसके अलावे चाहे मामूली-सा कब्ज़ (constipation) और डायरिया (diarrhea) हो या फिर गंभीर बवासीर (piles or haemorrhoids), आँवला सब में बहुत प्रभावशाली है।

9). लंबे एवं मज़बूत बालों के लिए – Amla Benefits for Hair in Hindi

आंवला को इंडियन गूजबेरी (Indian Gooseberry) भी कहा जाता है। यह बालों और स्कैल्प के लिए गुणों का खजाना है। आंवला एक प्राकृतिक हेयर टॉनिक (Hair Tonic) है। यह न केवल बालों के विकास को बढ़ाता है, उन्हें झड़ने से भी बचाता है। यह रूसी एवं गंजेपन का शत्रु है और सफेद बालों से भी राहत प्रदान करता है। अपने बालों को मज़बूत करने और उन्हें एक चमकदार रूप देने के लिए आंवला रस एवं तिल के तेल का मिश्रण बालों की जड़ों में लगायें।

10). दिमाग़ तेज करे – Amla Ka Upyog Kare Dimaag Ko Tej Karne Ke Liye in Hindi

अमला विटामिन और खनिजों का समृद्ध स्रोत है जो मस्तिष्क के स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण हैं। रक्त में आयरन की अधिक मात्रा मस्तिष्क को ऑक्सीजन प्रदान करती है और साथ ही स्मृति में सुधार करती है। अमला में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट मस्तिष्क को स्वस्थ बनाये रखने के लिए लाभकारी होते हैं। छात्रों के लिए आंवले का मुरब्बा खाना बहुत फायंदेमंद बताया गया है। रोजाना आंवले का मुरब्बा खाने से दिमाग तेज होता है।

11). मज़बूत हड्डियों के लिए – Amla Benefits for Bone in Hindi

आँवला हड्डियों को मज़बूत बनाने में भी निपुण है। इसमे कैल्शियम अच्छी मात्रा में पाया जाता है और यह वातनिरोधक (anti-arthritic) औषधि गुणों से भी परिपूर्ण है।  आंवला का मुरब्‍बा हड्डियों (Bone) को मजबूत करने, खून को बढ़ाने, स्‍मृति को बढ़ाने जैसे बहुत से स्‍वास्‍थ्‍य लाभ प्रदान करता हैं।

12). बुढ़ापा धीमा करे – Amla ke Fayde for Age in Hindi

आंवला आयुर्वेद ग्रन्थ चरक संहिता के अनुसार आयु बढ़ाने में काफी कारगर हैं। हालाँकि बुढ़ापा एक प्राकृतिक प्रक्रिया है और इसे कोई रोक नहीं सकता परंतु आँवला इस प्रतिक्रिया की गति को मंद अवश्य कर सकता है। आँवला को नहाने के पानी में मिलाकर स्नान करने से यौवन को बनाए रखने (maintaining youth) में सहायता मिलती है।

13). खून साफ करने में आमला फायदेमंद – Amla Beneficial in Blood Purification in Hindi

आंवला का सेवन खून को साफ करने में सहायता करता है। अतः आंवला जूस खून के अशुद्ध से होने वाले रोगों से राहत दिलाने में फायदेमंद होता है। चूँकि आँवला एंटीऑक्सीडेंट से भरा हुआ है। यह रक्त शोधक के रूप में काम करने के साथ ही हीमोग्लोबिन और लाल रक्त कोशिकाओं को भी बढ़ाता है। इसलिए इसके जूस का इस्तेमाल करे।

14). दांतों के लिए आंवला का उपयोग – Use of Amla for Teeth in Hindi

आवँला एक शक्तिशाली एंटीमाइक्रोबायल एजेंट है। इसलिए यह विभिन्न प्रकार के रोगजनकों और बैक्टीरिया से होने वाली परेशानी को कम कर सकता है। एक अध्ययन में पाया गया कि आँवला स्ट्रेप्टोकोकस म्यूटन नामक बैक्टीरिया के विकास को रोकने में सक्षम है। स्ट्रेप्टोकोकस म्यूटन दांतो में कीड़ा लगने का मुख्य कारण होता है। आंवला की पत्तियां और फल दोनों ही मुँह से संबंधित रोगों में फ़ायदेमंद होते है। आंवला की पत्तियों का प्रयोग दांतो की मजबूती के लिए किया जाता है साथ ही फल का प्रयोग मसूड़ो यानि गम्स से संवंधी रोगों में फायदेमंद होता है।

15). हृदय को स्वस्थ रखने में आंवले के फायदे – Amla Benefits for Healthy Heart in Hindi

आंवला का सेवन हृदय को स्वस्थ रखने में सहायक होता है, क्योंकि आंवले का सेवन कोलेस्ट्रॉल को कम करने में सहायता करता है साथ ही आंवले में पाये जाने वाला विटामिन-सी रक्तवाहिनी को संकुचित होने से रोकता जिसे रक्त का दबाब भी सामान्य रहता है। आँवला खराब कोलेस्ट्रॉल के निर्माण को कम करके अच्छे कोलेस्ट्रॉल या एचडीएल को बढ़ाकर धमनी में अवरोध को कम करता है और इस प्रकार यह ह्रदय से जुडी परेशानियों को कम करता है।

16). आंवला प्रतिरक्षा बढ़ाए – Amala Good for Immunity in Hindi

जैसा की मैंने पहले बताया आंवला में विटामिन सी की अच्‍छी मात्रा उपलब्‍ध होने के कारण इसके फायदे हमारे अच्‍छे स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देते हैं। इसमें एंटीऑक्‍सीडेंट गुण भी मौजूद रहते हैं जो प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाने में मदद करते हैं। यह ठंड, बुखार और बार-बार होने वाले संक्रमणों से हमारी सुरक्षा करते हैं।

17). गर्भावस्‍था में फायदे – Amla Benefits for Pregnant in Hindi

ऐसा कहा जाता हैं की जब महिला गर्भवती (Pregnant) होती है तो उसे आंवला मुरब्‍बा का सेवन करना चाहिए। यह मां और उसके होने वाले बच्‍चे दोनों के लिए रामबाण साबित होता है। यदि गर्भवती महिला आंवला के मुरब्‍बे का हर रोज सेवन करती है तो उसके शरीर में होने वाले हार्मोनल परिवर्तन (Hormonal Changes) के कारण बाल गिरने की समस्‍या को रोका जा सकता है। साथ ही आंवला मुरब्‍बा बच्‍चे की आंखों की क्षमता को बढ़ाने में भी मदद करता है।

आंवला के हेल्थ फायदे – Amla Health Benefits in Hindi

(Indian gooseberry Benefits in Hindi)

  • आंवले में एंटी-ऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं। इसके साथ ही इसमें एंटी-कैंसर गुण भी होता है। एक शोध के अनुसार, आंवला कैंसर कोशिकाओं के विकास को रोकता है।
  • यूरिनेशन न होने की समस्या बच्चे, महिला या पुरुष किसी को भी हो सकती हैं, लेकिन सामान्य रूप से यह समस्या बुजुर्ग पुरुषों में अधिक देखने को मिलती है। वजह यह है कि बढ़ती उम्र में बुजुर्ग पुरुषों की प्रोस्टेट ग्रंथि (वीर्य बनाने वाले ग्रंथि) में सूजन आ जाती है । ऐसे में आवंला का सेवन इस समस्या से राहत पाने का एक बेहतर विकल्प साबित हो सकता है। विशेषज्ञों के मुताबिक आयुर्वेद में कई ऐसे फल, फूल या जड़ी-बूटियां शामिल हैं, जिनमें डियूरेटिक (मूत्रवर्धक) गुण पाए जाते हैं। इनमें आंवला का नाम भी शामिल है।
  • आंवला में एंटीऑक्सिडेंट और विटामिन सी आपके मेटाबॉलिज्मह को बढ़ावा देने और सर्दी – खांसी सहित वायरल और बैक्टीरियल बीमारियों को रोकने में काफी मदद करता है। आंवले का कसैला स्वाद ही आपकी सेहतमंद रखता है इसलिए आप इसकी कैंडी या फिर आंवला, गुड़ और सेंधा नमक के मिश्रण से तैयार करके सेवन कर सकते हैं।
  • आंवला विटामिन सी का खजाना है। इसमें एक संतरे की तुलना में 8 गुना अधिक विटामिन सी होता है और 1 आंवले में संतरे से 17 गुना अधिक एंटीऑक्सिडेंट होता है। विटामिन सी के साथ-साथ यह कैल्शियम का भी एक समृद्ध स्रोत है। यह आपको कई मौसमी बीमारियों से दूर रखने के साथ-साथ सर्दी या खांसी में भी राहत दिलाता है।
  • आँवला में पोटेशियम भी प्रचुर मात्रा में होता है जिसके कारण यह तंत्रिका तंत्र (nervous system) को मजबूत कर परिसंचरण में सुधार करता है। इसमें जैव-फ्लैवोनोइड्स भी होते हैं जो कोशिकाओं की पारगम्यता (permeability of capillaries) को बनाए रखने में मदद करते हैं। ताकि पोषक तत्व रक्त वाहिकाओं के माध्यम से पुरे शरीर में आसानी से पहुंच सके। इस प्रकार आँवला तंत्रिका तंत्र और नसों को स्वस्थ रखने में लाभदायक है।
  • महिलाओं में पीरियड्स के दौरान ज्यादा ब्लीहडिंग के कारण होने वाली आयरन की कमी की भरपाई करने के लिए महिलाओं को भी आंवले के मुरब्बे का उपयोग करना चाहिए।

आंवला के नुकसान – Amla Side Effects in Hindi

  • अत्यधिक आंवला खाने से लिवर को नुकसान पहुंच सकता हैं। खासतौर से अगर इसका सेवन आंवले और अदरक के साथ किया जाये तो, इससे आपका लिवर प्रभावित हो सकता है।
  • आंवले के अधिक सेवन से हाइपर टेंशन की समस्या हो सकती है।
  • अधिक आंवला खाने से एसिडिटी व कब्ज़ की समस्या हो सकती है।
  • अत्यधिक आंवला खाने से यूरिन में जलन होने लगती है।
  • यदि आपको किडनी की समस्या है, तो आंवला का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • आँवला त्वचा की नमी को भी कम कर सकता हैं। इसीलिए आँवला खाने के साथ ज़्यादा मात्रा में पानी पीना भी महत्त्वपूर्ण है।

आंवला जूस कैसे बनाये – How to Make Amla Juice in Hindi

सबसे पहले 4-5 आंवले को साफ कर ले और छोटे छोटे टुकड़ों में काट लें और इसके बीज निकाल दें। – अब एक ग्राइंडर जार में कटा हुआ आंवला, अदरक, पानी और काला नमक डालकर इसे तब तक चलाएं जब तक कि स्मूद पेस्ट न बन जाए। – इसके बाद एक छन्नी के माध्यम से मिश्रण को छानते हुए इसका पल्प अलग कर दें। – तैयार है आंवला जूस।

अमला की तासीर क्या है – Amla ka Tasir Kya Hain?

आँवला ठंडी तासीर वाला फल है। इसके स्वास्थ के लिए कई लाभ हैं। तासीर में ठंडा होने के कारण यह त्वचा रोगो के इलाज में प्रयोग किया जाता है।

Also, Read More:- 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *