कमर दर्द होने का कारण और घरेलू उपचार Back Pain Ke Gharelu Nuskhe

Back Pain / कमर दर्द की मुख्य वजह बेतरतीब जीवनशैली और शारीरिक श्रम न करना है। अधिकतर लोगों को कमर के मध्य या निचले भाग में दर्द महसूस होता है। यह दर्द कमर के दोनों और तथा कूल्हों तक भी फ़ैल सकता है। बढ़ती उम्र के साथ कमर दर्द की समस्या बढ़ती जाती है। नतीजा काम करने में परेशानी। कमर दर्द प्राय: शरीर में वायु प्रकोप या सहशक्ति से अधिक भार उठाने अथवा कार्य करने से हो जाता है। निचे कमर दर्द से छुटकारा पाने के घरेलु उपाय दिए गए हैं.. (Back Pain Treatment in Hindi)

कमर दर्द होने का कारण और घरेलू उपचार Back Pain Ke Gharelu Nuskheकमर दर्द होने के कारण – Kamar Dard ka Karan

  • मांसपेशियों पर अत्यधिक तनाव।
  • लेटकर या झुककर पढ़ना या काम करना,
  • अधिक वजन।
  • गलत तरीके से बैठना।
  • दुर्घटना में चोट लगना।
  • हमेशा ऊंची एड़ी के जूते या सेंडिल पहनना।
  • गलत तरीके से अधिक वजन उठाना।
  • शरीर में लम्बे समय से बीमारियों का होना।
  • अधिक नर्म गद्दों पर सोना।
  • उम्र बढने के साथ-साथ हड्डियां कमजोर होने लगती हैं और इससे डिस्क पर जोर पड़ने लगता है,
  • कमर की हड्डियों या रीढ़ की हड्डी में जन्मजात विकृति या संक्रमण।
  • पैरों में कोई जन्मजात खराबी या बाद में कोई विकार पैदा होना।

कमर दर्द के लक्षण – Kamar Dard ka Lakshan

कमर दर्द ठीक करने के घरेलु आयुर्वेदिक इलाज – Kamar Dard ka Gharelu Upchar

50 ग्राम देसी गेहू रात को पानी में भिगो दें। सुबह 30 ग्राम धनिया की मींगी निकाल कर उसे इतनी ही मात्रा में खसखस के साथ गेंहू सहित पीस ले। पीसी हुई इस चटनी को 200 ग्राम दूध में पकाकर खीर बना ले। यह खीर रोगी को दिन में आधी आधी करके दो बार खिलाएं। जिससे कमर दर्द दूर होने के साथ पाचन शक्ति में वृद्धि होती है और शारीरिक शक्ति बढ़ती है।

रोज सुबह सरसों या नारियल के तेल में लहसुन की तीन-चार कलियॉ डालकर (जब तक लहसुन की कलियां काली न हो जायें) गर्म कर लें। ठंडा होने पर इस तेल से कमर की मालिश करें।

किसी भी तरह के दर्द में हल्दी कारगार साबित होती है। एक ग्लास गर्म दूध में एक टीस्पून हल्दी पाउडर मिलाएं और धीरे-धीरे इसे पिएं। रात को इस पीकर सो जाएं और सुबह आपका दर्द गायब हो चुका होगा।

खाली पेट 5-6 अखरोट की मींगी नित्य खाने से भी कमर दर्द दूर होता है।

नमक मिले गरम पानी में एक तौलिया डालकर निचोड़ लें। इसके बाद पेट के बल लेट जाएं। दर्द के स्थान पर तौलिये से भाप लें। कमर दर्द से राहत पहुंचाने का यह एक अचूक उपाय है।

अदरक का टुकड़ा लें और उसे पीस लें। इसे एक कप गर्म पानी में डालें और साथ में एक टीस्पून शहद मिलाएं। इसे चुसकियां लेकर पिएं। अदरक में जिंजरोल नाम का कंपाउंड होता है जिसमें सूजन कम करने और दर्द में राहत देने के गुण होते हैं।

सोंठ और गोखरू का काढ़ा बनाकर पीने से कमर दर्द ठीक हो जाता है।

कढ़ाई में दो-तीन चम्मच नमक डालकर इसे अच्छे से सेक लें। इस नमक को थोड़े मोटे सूती कपड़े में बांधकर पोटली बना लें। कमर पर इस पोटली से सेक करने से भी दर्द से आराम मिलता है।

कमर दर्द में तारपीन का तेल मालिश करने से जल्दी आराम मिलता है।

अजवाइन को तवे के पर थोड़ी धीमी आंच पर सेंक लें। ठंडा होने पर धीरे-धीरे चबाते हुए निगल जाएं। इसके नियमित सेवन से कमर दर्द में लाभ मिलता है।

सरसो के तेल में सोंठ डालकर गर्म करके मालिश करने से भी कमर दर्द में बहुत लाभ होता है।

कैल्शियम की कम मात्रा से भी हड्डियां कमजोर हो जाती हैं, इसलिए कैल्शियमयुक्त चीजों का सेवन करें।

कमर दर्द पुराना हो तो शरीर को गर्म रखें और गरम वस्तुएं खाएं। ऐसा करने से कमर दर्द में बेहद राहत मिलती है। सर्दियों में दर्द ज्यादा हो तो ध्यान रखें कि दर्द वाला हिस्सा हवा के संपर्क में न आए।

इन बातो का ख्याल जरूर रखे, जल्दी ठीक होगा कमर दर्द – Kamar Dard ka Upay

अधिक देर तक एक ही पोजीशन में बैठकर काम न करें। हर चालीस मिनट में अपनी कुर्सी से उठकर थोड़ी देर टहल लें।

गर्म गद्देदार सीटों से परहेज करना चाहिए। कमर दर्द के रोगियों को थोड़ा सख्ते बिस्तर बिछाकर सोना चाहिए।

ऊँची एड़ी के जूते-चप्पल के बजाय साधारण जूते-चप्पल पहनें।

कमर दर्द के लिए व्यायाम भी करना चाहिए। सैर करना, तैरना या साइकिल चलाना सुरक्षित व्यायाम हैं। तैराकी जहां वजन तो कम करती है, वहीं यह कमर के लिए भी लाभकारी है। साइकिल चलाते समय कमर सीधी रखनी चाहिए। व्यायाम करने से मांसपेशियों को ताकत मिलेगी तथा वजन भी नहीं बढ़ेगा।

ऑफिस में काम करते समय कभी भी पीठ के सहारे न बैठें। अपनी पीठ को कुर्सी पर इस तरह टिकाएं कि यह हमेशा सीधी रहे। गर्दन को सीधा रखने के लिए कुर्सी में पीछे की ओर मोटा तौलिया मोड़ कर लगाया जा सकता है।

दायें-बायें या पीछे देखने के लिए गर्दन को ज्यादा घुमाने के बजाय शरीर को घुमाएं।

कमर दर्द में भारी वजन उठाते समय या जमीन से किसी भी चीज को उठाते समय कमर के बल ना झुकें बल्कि पहले घुटने मोड़कर नीचे झुकें और जब हाथ नीचे वस्तु तक पहुंच जाए तो उसे उठाकर घुटने को सीधा करते हुए खड़े हो जाएं।

कार चलाते वक्त सीट सख्त होनी चाहिए, बैठने का पोश्चर भी सही रखें और कार ड्राइव करते समय सीट बेल्ट टाइट कर लें।

दर्द कम करने के लिए डॉक्टर की सलाह पर दर्द-निवारक दवाएं, मांसपेशियों को आराम पहुंचाने वाली दवाएं लें।


और अधिक लेख –

Back pain treatment at home in hindi में दी गयी जानकारी से जुड़े कोई सवाल हो तो हमें कमेंट में पूछे।

Leave a Comment

Your email address will not be published.