वैज्ञानिक अलेक्जेंडर फ्लेमिंग की जीवनी | Alexander fleming biography in hindi

Sir Alexander Fleming /अलेक्जेंडर फ्लेमिंग स्कॉटलैण्ड के जीव वैज्ञानिक (बायोलॉजिस्ट) थे। इन्होंने पेनिसिलिन का आविष्कार की, जिनकी वजह से हम खुशनुमा जिंदगी गुजर-बसर कर रहे हैं। एलेग्जेंडर फ्लेमिंग दुनिया के दिग्गज वैज्ञानिको में सुमार हैं।

वैज्ञानिक अलेक्जेंडर फ्लेमिंग की जीवनी | Alexander fleming biography in hindiवैज्ञानिक अलेक्जेंडर फ्लेमिंग – Alexander Fleming Biography in Hindi

एलेग्जेंडर फ्लेमिंग का जन्म 6 अगस्त 1881 को स्कॉटलैण्ड में हुवा था। एलेग्जेंडर के पिता का नाम हुघ फ्लेमिंग था। ये अपने चार भाई बहनो में तीसरे नंबर पर थे। इन्होने स्कूली शिक्षा डारवेल स्कूल से प्राप्त की और लन्दन की Royal Polytechnic Institution से आगे की शिक्षा प्राप्त की।

एलेग्जेंडर ने अपने शुरुवाती दिनों में शिपिंग ऑफिस में काम किया। इसे बाद अपने भाई के कहने पर St Mary’s Hospital Medical School in Paddington से MBBS की डिग्री ली।

उस समय प्रथम विश्व युद्ध चल रहा था इस दौरान जख्म सड़ने की वजह से कई सैनिकों की मौत देखी। इसका उनके दिलोदिमाग पर खासा असर रहा। इसके बाद इन्होने पेनिसिलिन की खोज की। यह खोज उन्होंने लंदन के सेंट मैरी अस्पताल में की। पेनिसिलिन को सदी की सबसे बड़ी खोज के तौर पर जाना गया।

फ्लेमिंग ने अचानक पेनिसिलिन की खोज की। जिसने आधुनिक एंटीबायोटिक को बदल कर रख दिया। साल 1945 में फ्लेमिंग होवार्ड फ्लोरे और अन्सर्ट बोरिस चेन को मेडिसिन का नोबेल पुरस्कार दिया गया।

 

और अधिक लेख –

Please Note :  Alexander fleming Biography & Life History In Hindi मे दी गयी Information अच्छी लगी हो तो कृपया हमारा फ़ेसबुक (Facebook) पेज लाइक करे या कोई टिप्पणी (Comments) हो तो नीचे  Comment Box मे करे। Alexander fleming Essay & Life Story In Hindi व नयी पोस्ट डाइरेक्ट ईमेल मे पाने के लिए Free Email Subscribe करे, धन्यवाद।

Leave a Comment

Your email address will not be published.