विटामिन ए की जानकारी, लाभ व हानि | Vitamin A Information in Hindi

विटामिन (vitamin) या जीवन सत्व भोजन के अवयव हैं जिनकी सभी जीवों को अल्प मात्रा में आवश्यकता होती है। रासायनिक रूप से ये कार्बनिक यौगिक होते हैं। उस यौगिक को विटामिन कहा जाता है जो शरीर द्वारा पर्याप्त मात्रा में स्वयं उत्पन्न नहीं किया जा सकता बल्कि भोजन के रूप में लेना आवश्यक हो। वैसे तो कोई भी विटामिन हो सबकी शरीर में अलग अलग काम के लिए जरुरत होती है। लेकिन विटामिन ए मानव शरीर के लिए बहुत ही जरूरी होता है। विटामिन ए का उपयोग आँखों की रोशनी, माँसपेशियों की मजबूती, हड्डियों की वृद्धि और रक्त में कैल्शियम का स्तर सही बनाए रखने में बहुत लाभदायक होता है।

विटामिन ए की जानकारी, लाभ व हानि | Vitamin A Information in Hindi

विटामिन ए क्या हैं – Vitamin A in Hindi

विटामिन ए वसा में घुलनशील विटामिन है। यह मुख्यत: रेटिनॉयड और कैरोटिनॉयड दो रूपों में पाया जाता है। सब्जियों का रंग जितना गहरा और चमकीला होगा, उनमें कैरोटिनॉयड की मात्रा उतनी ही अधिक होगी। यूं तो करीब 600 तरह के कैरोटिनॉयड के बारे में जानकारी है, लेकिन बीटा-कैरोटिन, अल्फा कैरोटिन और बीटा-जैन्थोफिल सबसे महत्वपूर्ण हैं। इन्हें ‘प्रोविटामिन ए’ कहा जाता है। विशेष परिस्थितियों में शरीर इन्हें रेटिनॉयड में परिवर्तित कर लेता है।

विटामिन शरीर के सभी अंगों को सुचारू रूप में चलाने में मदद करता है। हालांकि यह हमारे भोजन में विभिन्न रूपों में पर्याप्त रूप से रहता है, लेकिन अगर इसकी कमी भी हो तो इसकी पूर्ति के लिए प्राकृतिक स्रोतों का ही लाभ उठाना चाहिए।

विटामिन ए स्रोत – Vitamin A source in Hindi

विटामिन ए हरी पत्तेदार सब्जियों में पाया जाता है। चुकंदर, साग, ब्रोकली, साबुत अनाज, पनीर, गिरीदार फल, बटर, गाजर, मिर्च, डेयरी प्रोडक्‍ट, हरी पत्‍तेदार सब्‍जियां, अंडा, बींस, राजमा, मीट, आम, सरसों, पपीता, धनिया, चीकू, मटर, कद्दू, लाल मिर्च, सी फूड, शलजम, टमाटर, शकरकंद, तरबूत, मकई के दाने, पीले या नारंगी रंग के फल, कॉड लीवर ऑयल आदि।

उपयोगिता – Vitamin A Benefits in Hindi

  • विटामिन ए को ‘रेटिनल’ भी कहते हैं, क्योंकि यह आंखों के रेटिना में पिग्मेंट्स उत्पन्न करता है। विटामिन ए हमारी आंखों की रोशनी को बनाए रखता है और कम रोशनी में भी चीजों को देखने में सहायता करता है।
  • यह स्वस्थ त्वचा, दांतों, हड्डियों, मुलायम ऊतकों और म्युकस मेंब्रेन के लिए जरूरी है। यह प्रजनन और स्तनपान के लिए भी आवश्यक है।
  • रेटिनॉयड विटामिन ए का सक्रिय रूप है। शरीर में प्रोटीन की कमी विटामिन ए के रेटिनॉयड रूप की कमी का कारण बन सकती है।
  • विटामिन ए वसा में घुलनशील विटामिन है, इसलिए इसके अवशोषण के लिए उचित मात्र में वसा और जिंक का अवशोषण भी अत्यधिक आवश्यक है।
  • यह विटामिन इम्यून तंत्र को मजबूत बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, जिससे हमारी कोशिकाएं अति सक्रिय होने से बच जाती हैं। इससे कई तरह की फूड एलर्जी का खतरा कम हो जाता है।
  • विटामिन ए कोशिकाओं के सामान्य विकास और कार्य प्रणाली के लिए, प्रजनन तंत्र, पुरुषों में स्पर्म के उचित मात्रा में निर्माण के लिए भी अत्यंत आवश्यक है।
  • यह एक एंटीऑक्सीडेंट है। एंटी ऑक्सीडेंट्स वह पदार्थ होते हैं, जो कोशिकाओं को फ्री रेडिकल्स के हानिकारक प्रभावों से बचाते हैं।
  • ऊर्जा पैदा करने के लिए सभी कोशिकाओं को इसकी जरुरत पडती है। स्वस्थ रहने के लिए विटामिन ए के दोनों रूपों का सेवन करना चाहिए। कैरोटिनॉयड रूप विशेष परिस्थितियों में रेटिनॉयड रूप में परिवर्तित हो जाता है।

विटामिन ए की कमी से होने वाले नुकसान – Vitamin A Side Effect in Hindi

  • एक अनुमान के अनुसार विश्व के एक तिहाई बच्चे विटामिन ए की कमी से पीड़ित हैं।
  • रतौंधी अर्थात जिन लोगों को कम रोशनी में ठीक से दिखाई नहीं देता, उनमें विशेष रूप से विटामिन ए की कमी पाई जाती है।
  • जिन गर्भवती महिलाओं में विटामिन ए की कमी होती है, उनके गर्भावस्था और प्रसव के समय मृत्यु की आशंका बढ़ जाती है और स्तनपान कराने में भी समस्या आती है।
  • बच्चों में विटामिन ए की कमी के कारण पाचन मार्ग और श्वसन मार्ग के ऊपरी भाग में संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है, जो उनकी मृत्यु का एक प्रमुख कारण है।
  • विटामिन ए की कमी से कमजोर दांत, थकान, सूखे बाल, सूखी त्वचा, साइनस, क्रोनिक डायरिया, निमोनिया, सर्दी – जुखाम, वजन में कमी, नींद ना आना, नाईट ब्लाइंडनेस (रतौंधी) जैसे रोग होते है।

अधिक मात्रा में विटामिन ए लेने से नुकसान

अत्याधिक विटामिन ए की मात्रा लेना हानिकारक हो सकता है सिरदर्द, दस्त, बाल गिरना, देखने में दिक्कत, थकावट, स्किन खराब हो जाना, हड्डी और जोडों में दर्द, हृदय को नुकसान पहुंचना और लडकियों में असमय मासिक धर्म जैसी समस्या हो सकती है। गर्भवती महिला में गर्भ के दौरान अत्याधिक विटामिन ए की मात्रा लेने से पेट में पलते बच्चे को नुकसान हो सकता है।


और अधिक लेख –

Please Note : – Vitamin A Benefit & Side Effect in Hindi मे दी गयी Information अच्छी लगी हो तो कृपया हमारा फ़ेसबुक (Facebook) पेज लाइक करे या कोई टिप्पणी (Comments) हो तो नीचे करे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here