10 सबसे अमीर मंदिर की लिस्ट, सम्पति | Top 10 Richest Temple in India Hindi

भारत एक प्राचीन देश हैं। जितना पुराना भारत का इतिहास हैं उतना ही पुराना यहां के धर्मो का इतिहास हैं। भारत में ही अनेक धर्मो का उदय हुआ, जिसमे दुनिया के सबसे प्राचीन धर्मो में शामिल सनातन धर्म भी हैं। इस कारण यहां प्राचीन काल से ही अनेक मंदिरो का निर्माण हुआ और आज भारत में कई प्रसिद्द मंदिर हैं। इन मंदिरो में लोग पूजा-अर्चना करने साथ दान भी करते हैं, जिससे मंदिर की सम्पति बढ़ती हैं। इसी कारण दुनिया के सबसे अमीर मंदिर भारत में ही हैं। तो चलिए जानते हैं दुनिया के 10 सबसे अमीर मंदिरो के बारे में…

India ka Sabse Amir Mandir 

1). पद्मनाभस्वामी मंदिर: तिरूवनंतपुरम् (त्रिवेंद्रम) – Padmanabhaswamy Temple

पद्मनाभस्वामी मंदिर का रोचक इतिहास | Padmanabhaswamy Temple History In Hindiतिरुवनंतपुरम, केरल स्थित पद्मनाभस्वामी मंदिर दुनिया का सबसे अमीर मंदिर है। 2011 में कोर्ट के आदेश पर यहां के दो तहखानों में एक तहखाने को खोला गया था जिसमे कई क्विंटल सोना और हीरे-जवाहरात मिले, जिनकी कीमत दो लाख करोड़ रुपये आंकी गई। यह मंदिर बहुत प्राचीन है और द्रवि़ड शैली में बनाया गया है। इस मंदिर की देखभाल त्रावणकोर के पूर्व शाही परिवार द्वारा की जाती है।

मंदिर के गर्भगृह में भगवान विष्णु की विशाल मूर्ति विराजमान है जिसे देखने के लिए हजारों भक्त दूर दूर से यहां आते हैं। इस प्रतिमा में भगवान विष्णु शेषनाग पर शयन मुद्रा में विराजमान हैं। मान्यता है कि तिरूअनंतपुरम नाम भगवान के अनंत नामक नाग के नाम पर ही रखा गया है। यहां पर भगवान विष्णु की विश्राम अवस्था को पदमनाभ कहा जाता है और इस रूप में विराजित भगवान पkनाभ स्वामी के नाम से विख्यात हैं। ..और पढ़े 

2). तिरूपति बालाजी का मंदिर, आंध्रप्रदेश – Tirupati Balaji Temple

तिरुपति बालाजी मंदिर का इतिहास, रोचक सत्य | Tirupati Balaji Temple In Hindiआंध्र प्रदेश के चित्तूर जिले में धन और वैभव के भगवान श्री तिरुपति बालाजी का मंदिर स्थित है। ऐसा माना जाता है यहां साक्षात् भगवान व्यंकटेश विराजमान हैं। यहां बालाजी की करीब 7 फीट ऊंची श्यामवर्ण की प्रतिमा स्थापित है। 650 करोड़ रुपये की वार्षिक आय के साथ तिरुपति बालाजी मंदिर दुनिया का दूसरा सबसे अमीर मंदिर है।

अलग-अलग बैंकों में मंदिर का 3000 किलो सोना जमा है जबकि मंदिर के पास 1000 करोड़ रुपये की फिक्स्ड डिपॉजिट हैं। यह मंदिर समुद्र तल से 2800 फिट की ऊंचाई पर स्थित है। इस मंदिर को तमिल राजा थोडईमाननें ने बनवाया था। इस मंदिर में लगभग 50,000 श्रृद्धालु रोज दर्शन करने आते हैं। हैदराबाद के सातवे निज़ाम, मीर उस्मान अली खान ने वर्ष 1951 में इस मंदिर के प्रति 80,000 रुपैये का दान दिया। ..और पढ़े 

3). सांई बाबा मंदिर, शिरडी – Sai Baba Shirdi Temple

शिरडी स्थित साईं बाबा का मंदिर दुनिया के सबसे अमीर मंदिरों में से एक है। सांई बाबा एक भारतीय गुरू, योगी और फकीर थे, उन्हें उनके भक्तों द्वारा संत कहा जाता है। उनके असली नाम, जन्म, पता और माता पिता के सन्दर्भ में कोई सूचना उपलब्ध नहीं है। सांई शब्द उन्हें भारत के पश्चिमी भाग में स्थित प्रांत महाराष्ट्र के शिरडी नामक कस्बे में पहुंचने के बाद मिला। श्री साईबाबा संस्थान ट्रस्ट की 2017-18 ऑडिट रिपोर्ट के अनुसार इसकी कुल संपत्ति 2693 करोड़ 69 लाख रुपये आंकी गई है। ट्रस्ट ने 450 करोड़ रुपये का निवेश कर रखा है। इस मंदिर की संपत्ति और आय दोनों ही अरबों में है। 6 लाख कीमत के चांदी के सिक्के हैं। साथ ही, हर साल लगभग 350 करोड़ का दान आता है।

4). श्री जगन्नाथ मंदिर, पुरी – Shri Jagannath Temple

पुरी जगन्नाथ मन्दिर का इतिहास, तथ्य | Puri Jagannath Temple History In Hindiपुरी का श्री जगन्नाथ मंदिर भगवान जगन्नाथ (श्रीकृष्ण) को समर्पित है। यह भारत के उ़डीसा राज्य के तटवर्ती शहर पुरी में स्थित है। जगन्नाथ शब्द का अर्थ जगत के स्वामी होता है। इनकी नगरी ही जगन्नाथपुरी या पुरी कहलाती है। इस मंदिर को हिन्दुओं के चार धाम में से एक गिना जाता है। यह वैष्णव सम्प्रदाय का मंदिर है।

पुरी जगन्नाथ मंदिर दुनिया के दस अमीर मंदिरों में से एक है। इस मंदिर के लिए जो भी दान आता है। वह मंदिर की व्यवस्था और सामाजिक कामों में खर्च किया जाता है। इस मंदिर की संपत्ति 3000 करोड़ रुपयों से भी ज्यादा है। इसके आलावा श्री जगन्नाथ मंदिर के पास ओडिशा और राज्य के बाहर 60,418 एकड़ की जमीन है. मंदिर के पास कुल जमीन ओडिशा के पुरी शहर से भी 15 गुना अधिक है। ..और पढ़े 

5). वैष्णो देवी मंदिर, जम्मू – Vaishno Devi Temple

Vaishno devi templeभारत में हिन्दूओं का पवित्र तीर्थस्थल वैष्णो देवी मंदिर है जो त्रिकुटा हिल्स में कटरा नामक जगह पर 1700 मी. की ऊंचाई पर स्थित है। यहां हर साल सैकड़ों किलो सोने-चांदी के आभूषण चढ़ाए जाते हैं। माता वैष्णो देवी मंदिर की सालाना आय 500 करोड़ रुपये है। इस मंदिर की देखरेख की जिम्मेदारी वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड की है। ये बोर्ड वर्ष 1986 में बनाया गया। और पढ़े 

6). स्वर्ण मंदिर, अमृतसर (पंजाब) – Gold Temple Amritsar 

Gold templeस्वर्ण मंदिर को हरमंदिर साहिब या दरबार साहिब भी कहा जाता है। इसके आस पास के सुंदर परिवेश और स्वर्ण की पर्त के कारण ही इसे स्वर्ण मंदिर कहते हैं। यह अमृतसर (पंजाब) में स्थित सिक्खों का सबसे पवित्र मंदिर माना जाता है। यह मंदिर सिक्ख धर्म की सहनशीलता तथा स्वीकार्यता का संदेश अपनी वास्तुकला के माध्यम से प्रदर्शित करता है, जिसमें अन्य धर्मों के संकेत भी शामिल किए गए हैं। दुनिया भर के सिक्ख अमृतसर आना चाहते हैं और श्री हरमंदिर साहिब में अपनी अरदास देकर अपनी श्रद्धा व्यक्त करना चाहते हैं। इस मंदिर की भी सालाना आय 500 करोड़ के करीब हैं। और पढ़े 

7). सिद्घिविनायक मंदिर, मुंबई – Siddhivinayak Temple

Siddhivinayak templeमुंबई स्थित सिद्धिविनायक मंदिर, दुनिया का 7वा सबसे अमीर मंदिर है। गणेश भगवान का यह मंदिर मुंबई की पहचान से जुड़ा है। इसे सिलेब्रिटी मंदिर कहा जाता है क्योंकि बॉलिवुड का लगभग हर सिलेब्रिटी इस मंदिर में माथा टेकने आता है। हर साल इस मंदिर में लगभग 80 करोड़ रुपये का चढ़ावा चढ़ता है। इसके 125 करोड़ रुपये फिक्स्ड डिपॉजिट में जमा है। इस मंदिर को 3.7 किलोग्राम सोने से कोट किया गया है, जो कि कोलकत्ता के एक व्यापारी ने दान किया था।

8). सोमनाथ मंदिर, गुजरात – Somnath Temple

Somnath templeसोमनाथ एक महत्वपूर्ण हिन्दू मंदिर है जिसकी गिनती 12 ज्योतिलिंüगों में प्रथम ज्योतिलिंüग के रूप में होती है। गुजरात के सौराष्ट्र क्षेत्र के वेरावल बंदरगाह पर स्थित इस मंदिर के बारे में कहा जाता है कि इसका निर्माण स्वयं चंद्रदेव ने किया था। इसका उल्लेख ऋग्वेद में भी मिलता है। इसे अब तक 17 बार नष्ट किया गया है और हर बार इसका पुनर्निर्माण किया गया। सोमनाथ में हर साल 10 करोड़ से ज्यादा का चढ़ावा आता है। इसलिए ये दुनिया के अमीर मंदिरों में से एक है।

9). मीनाक्षी अम्मन मंदिर, मदुरै – Meenakshi Amman Temple

मिनाक्षी अम्मन मंदिर का इतिहास | Meenakshi Amman Temple History In Hindiतमिलनाडु में मदुरै शहर में स्थित मीनाक्षी अम्मन मंदिर प्राचीन भारत के सबसे महत्वपूर्ण मंदिरों में से एक है। मीनाक्षी अम्मन मंदिर विश्व के नए सात अजूबों के लिए नामित किया गया है। यह मंदिर भगवान शिव व मीनाक्षी देवी पार्वती के रूप के लिए समर्पित है। मीनाक्षी मंदिर पार्वती के सबसे पवित्र स्थानों में से एक है। मंदिर का मुख्य गर्भगृह 3500 वर्ष से अधिक पुराना माना जा रहा है। यह मंदिर भी अमीर मंदिरों में से एक माना जाता है। इस मंदिर में हर साल लगभग 6 करोड़ नकदी और करोड़ों के जेवरात चढ़ाए जाते हैं। ..और पढ़े

 

10). काशी विश्वनाथ मंदिर, वाराणसी – Kashi Vishwanath Temple

काशी विश्वनाथ मन्दिर का इतिहास | Kashi Vishwanath Temple History In Hindiवाराणसी का काशी विश्वनाथ मंदिर बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक है। मंदिर का हिंदू धर्म में एक विशिष्ट स्थान है। वर्तमान मंदिर का निर्माण महारानी अहिल्या बाई होल्कर द्वारा 1780 में करवाया गया था। बाद में महाराजा रंजीत सिंह द्वारा 1853 में 1000 किलोग्राम शुद्ध सोने द्वारा इसे मढ़वाया गया था। काशी विश्वनाथ भी दुनिया के अमीर मंदिरों में से एक है। क्यूंकि हर साल यहां 6 करोड़ से ज्यादा आय हैं ..और पढ़े 


और अधिक लेख –

Please Note :  Top 10 Richest Temple In The World in India मे दी गयी Information अच्छी लगी हो तो कृपया हमारा फ़ेसबुक (Facebook) पेज लाइक करे या कोई टिप्पणी (Comments) हो तो नीचे  Comment Box मे करे।

Leave a Comment

Your email address will not be published.