पाकिस्तान का इतिहास और जानकारी | Pakistan History in Hindi

Pakistan / पाकिस्तान जिसका आधिकारिक नाम ‘पाकिस्तान इस्लामी गणतंत्र’ हैं जो की भारत के पश्चिम में स्थित एक इस्लामी देश है। 20 करोड़ की आबादी के साथ ये दुनिया का छठा बड़ी आबादी वाला देश है। यहाँ की प्रमुख भाषाएँ उर्दू, पंजाबी, सिंधी, बलूची और पश्तो हैं। पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद और अन्य महत्वपूर्ण नगर कराची व लाहौर हैं। आतंकवादी और विद्रोही गतिविधियों के आधार पर किए गए विश्लेषण में पाकिस्तान को दुनिया का आठवां सबसे खतरनाक देश बताया गया है। 

पाकिस्तान का इतिहास और जानकारी | Pakistan History in Hindiक्षेत्रफल के हिसाब से पाकिस्तान 8,81,913वर्ग किलोमीटर के साथ दुनिया का 36 वा सबसे बड़ा देश है। पाकिस्तान के चार सूबे हैं: पंजाब, सिंध, बलोचिस्तान और ख़ैबर​-पख़्तूनख़्वा। क़बाइली इलाक़े और इस्लामाबाद भी पाकिस्तान में शामिल हैं। इन के अलावा आज़ाद कश्मीर और गिलगित-बल्तिस्तान भी पाकिस्तान द्वारा नियंत्रित हैं हालाँकि भारत इन्हें अपना भाग मानता है। पाकिस्तान का समुद्र तट 1,046 किलोमीटर लम्बा है, साथ में इसके दक्षिण में अरेबियन सागर और ओमान की खाड़ी, पूर्व में भारत की बॉर्डर, पश्चिम में अफगानिस्तान, दक्षिण-पश्चिम में ईरान और उत्तर-पूर्व में चाइना है। यह ताजीकिस्तान से अलग है और ओमान के साथ इसकी समुद्री बॉर्डर भी है। पाकिस्तान रणनीतिक रूप से मध्य पूर्व, सेंट्रल एशिया और दक्षिण एशिया पर अपने पैर फैलाये बैठा हुआ है।

पाकिस्तान का इतिहास – Pakistan History in Hindi

आज के पाकिस्तानी भूभाग का मानवीय इतिहास कम से कम 5000 साल पुराना है, वह प्राचीन सभ्यता का उद्गम स्थल माना जाता था, जो पहले बहुत से प्राचीन संस्कृतियों का घर हुआ करते था, जिनमे निओलिथिक के मेहरगढ़ और सिन्धु घटी सभ्यता का भी समावेश है और बाद में इन प्रदेश के लोगो पर बहुत से शासको और अलग-अलग संस्कृतियों ने राज किया था, जिनमे हिन्दू, इंडो-ग्रीक, मुस्लिम, तुर्की-मुग़ल, अफगान और सिक्ख शामिल है। इस भूभाग पर बहुत से शासको और साम्राज्यों ने शासन किया था, जिनमे भारतीय मौर्य साम्राज्य, पर्शियन अचार्मेनिद साम्राज्य, मकदूनिया के एलेग्जेंडर, अरब उमय्यद कालिफाते, दिल्ली सल्तनत, मंगोल साम्राज्य, मुग़ल साम्राज्य, दुर्रानी साम्राज्य, सिक्ख साम्राज्य और ब्रिटिश साम्राज्य का समावेश है।

सिकंदर के आक्रमण के समय पाकिस्तान के अधिकतर क्षेत्र पर सम्राट पोरस का सम्राज्य था। राजा पोरस का समय 340 ईसापूर्व से 315 ईसापूर्व तक का माना जाता है। पुरुवंशी महान सम्राट पोरस सिन्ध-पंजाब सहित एक बहुत बड़े भू-भाग के स्वामी थे। पोरस का साम्राज्य जेहलम (झेलम) और चिनाब नदियों के बीच स्थित था।

भारत में इस्लामिक शासन का विस्तार 7वीं शताब्दी के अंत में मोहम्मद बिन कासिम के सिन्ध पर आक्रमण और बाद के मुस्लिम शासकों द्वारा हुआ। इतिहासकारों अनुसार इस्लाम के प्रवेश के पहले अफगानिस्तान (कम्बोज और गांधार) में बौद्ध एवं हिन्दू धर्म यहां के राजधर्म थे। मोहम्मद बिन कासिम ने बलूचिस्तान को अपने अधीन लेने के बाद सिन्ध पर आक्रमण कर दिया।

711 ईस्वी में पाकिस्तान का पश्चिमी भाग हिंदू राजपुत्रों द्वारा शासित था। 1076 ईश्वर में गजनी ने राजा जयपाल शाही से इस क्षेत्र को जीत लिया इस समय बहुत सी हिंदु जातिया इस्लाम में जाने लगी। इनको अरबो द्वारा शेख का पद दिया गया। हिन्दुओं के धर्म परिवर्तन के कई कारण थे जिसमे इस्लाम के प्रति झुकाव और आर्थिक दबाव प्रमुख थे। मुस्लिम शासकों शासन में संरक्षण और सामाजिक गतिशीलाता के कारण यह परिवर्तन हो पाया। इसका अन्य कारण जिजिया कर जो धिम्मी (काफ़िर) लोगो पर लगाया जाता था से भी बचा जा सकता था।

तत्कालीन कठोर जाती व्यवस्था के कारण दलित जातीय, ऊँची हिंदू जातियों द्वारा सामाजिक अत्याचार अपमान से परेशान होकर सूफीयों द्वारा मुस्लिम बन गई। हिन्दू जातियों का मुस्लिम परिवर्तन मुख्यतः 13 वी और 14 वी सदी में हुआ था। उच्च हिंदू जातियां भी मुस्लिम धर्म में आर्थिक, राजनीतिक फायदे के कारण आए थे लेकिन फिर भी उनका सामाजिक ढांचा पूर्ववत ही बना रहा था। इन परिवर्तनों को समूहित किया गया था, जिसके द्वारा संपूर्ण जाति को बचाया जाने का धारणा था।

सोलहवीं सदी में मध्य-एशिया से भाग कर आए हुए बाबर ने दिल्ली की सत्ता पर अधिकार किया और पाकिस्तान मुगल साम्राज्य का अंग बन गया। मुगलों ने काबुल तक के क्षेत्र को अपने साम्राज्य में मिला लिया था। अठारहवीं सदी के अन्त तक विदेशियों (खासकर अंग्रेजों) का प्रभुत्व भारतीय उपमहाद्वीप पर बढ़ता गया। सन् 1857 के गदर के बाद सम्पूर्ण भारत अंग्रेजों के शासन में आ गया। अंग्रेज़ों के शासन काल में, ख़ासकर पंजाब में कई विरोध आंदोलन हुए। इस दौरान पंजाब और सिंध में अच्छी ख़ासी हिंदू आबादी थी। पर जनतंत्र की मांग को लेकर और मुस्लिमों के अल्पमत में होने के कारण अलग मुस्लिम राष्ट्र की मांग होने लगी।

पाकिस्तान का जन्म सन् 1947 में भारत के विभाजन के फलस्वरूप हुआ था। सर्वप्रथम सन् 1930 में कवि (शायर) मुहम्मद इक़बाल ने द्विराष्ट्र सिद्धान्त का ज़िक्र किया था। उन्होंने भारत के उत्तर-पश्चिम में सिंध, बलूचिस्तान, पंजाब तथा अफ़गान (सूबा-ए-सरहद) को मिलाकर एक नया राष्ट्र बनाने की बात की थी। सन् 1933 में कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय के छात्र चौधरी रहमत अली ने पंजाब, सिन्ध, कश्मीर तथा बलोचिस्तान के लोगों के लिए पाक्स्तान (जो बाद में पाकिस्तान बना) शब्द का सृजन किया।

मुहम्मद अली जिन्नाह के नेतृत्व में किये गये पाकिस्तान अभियान के परिणामस्वरुप 1947 में पाकिस्तान का निर्माण मुस्लिम धर्म के लिये एक आज़ाद देश के रूप में किया गया। सन् 1947 से 1970 तक पाकिस्तान दो भागों में बंटा रहा – पूर्वी पाकिस्तान और पश्चिमी पाकिस्तान। दिसम्बर, सन् 1971 में भारत के साथ हुई लड़ाई के फलस्वरूप पूर्वी पाकिस्तान बांग्लादेश बना और पश्चिमी पाकिस्तान, पाकिस्तान रह गया।

Pakistan Naam Kisne Diya

पाकिस्तान नाम का उद्भव ‘पाक्स्तान’ से हुआ जिसे प्रथम चौधरी नवाज शरीफ ने प्रयोग में लाया। ‘पाक्स्तान’ शब्द का अर्थ हैॅ पाक याने कि पवित्र लोगो का वतन। पहले पाकिस्तान भारत का ही अंग था। जिसे धर्म के आधार पर भारत से अलग किसी ने नहीं किया पर कई राजनितिक तत्वो ने मिलकर अलग कर दिया और नाम दिया अंग्रेजो का की अंग्रेजो ने अलग कर दिया।

पाकिस्तान के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी – Pakistan Information in Hindi

पाकिस्तान एक विकासशील देश है। सन् 2007 तक पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था 7 प्रतिशत की वार्षिक दर से घट रही थी। यहाँ की मुद्रा पाकिस्तानी रुपया है, जो पैसे में बाँटा जा सकता है। एक अमरीकी डालर की कीमत लगभग 166 पाकिस्तानी रुपये (सन् 2020) हैं। सन् 2005 तक पाकिस्तान पर 240 अरब अमेरिकी डॉलर का विदेशी कर्ज था जो अमेरिका द्वारा दिए गए ऋणमाफ़ी और अन्य संस्थाओं द्वारा दिए गए वित्तीय मदद के कारण कम होता जा रहा है पर अब अमेरिका पाकिस्तान की कोई सहायता नहीँ करेगा।

यहाँ की अर्थव्यवस्था में कृषि का योगदान कम होता जा रहा है। आज कृषि सकल घरेलू उत्पाद का मात्र 2 फ़ीसदी हिस्सा है जबकि 3 फ़ीसदी सेवा क्षेत्र से आता है। लेकिन राजनीतिक उथल-पुथल के कारण आज यह दिवालिया होने के कगार पर आ गया। लेकिन पिछले पांच साल में पाकिस्तान की साक्षरता दर, 250% तक बढ़ गई।

पाकिस्तानी आर्मी बल देश की छठी सबसे विशाल आर्मी है और पाकिस्तान के पास नुक्लेअर शक्ति भी है, और नुक्लेअर हथियार बनाने वाला दक्षिण एशिया में वह दूसरा देश है और एकमात्र मुस्लिम देश है। खरीदने की क्षमता के हिसाब से पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था दुनिया में 26 वे पायदान पर है और जीडीपी के हिसाब से 45 वे स्थान पर है। पिछले कुछ सालो में पाकिस्तान के मध्यम वर्गीय लोगो में तेज़ी से सकारात्मक बदलाव दिखाई दिए। पाकिस्तान का स्टॉक एक्सचेंज एशिया का सबसे ज्यादा परफोर्मिंग स्टॉक मार्केट है और 2016 से यह MSCI के उभरते हुए मार्केट इंडेक्स का ही एक भाग है। पाकिस्तान, यूनाइटेड नेशन, कामनवेल्थ ऑफ़ नेशन, शंघाई कोऑपरेशन आर्गेनाईजेशन, ECO, UFC, D8, कैर्न्स ग्रुप, क्योटो प्रोटोकॉल, ICCPR, RCD, UNCHR, एशियन इंफ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट बैंक, ग्रुप ऑफ़ एलेवन, CPFTA, G20, विकसनशील देश, ECOSOC, इस्लामिक को-ऑपरेशन, SAARC और CERN का भी सदस्य है।

संस्कृति की बात की जाए तो पाकिस्तान एक इस्लामिक देश है, अतः यहाँ की संस्कृति पर इस्लाम का प्रभाव रहा है। नृत्य और संगीत पर इस्लाम की पाबंदी की वजह से सार्वजनिक जीवन में इनका प्रचलन उच्च वर्ग तथा निम्न तबके के बीच रह गया है। सूफ़ी मज़ारों पर मेले और अन्य परंपराएँ सदियों से चली आ रही है। । शायर इक़बाल, फ़ैज़ अहमद फैज़, अहमद फ़राज़ के अलावे ग़ालिब, मीर, दाग़, जिगर इत्यादि उर्दू शायरों की गज़ले आज भी पसंद की जातीं हैं। ग़ुलाम अली, मेहदी हसन, नुसरत फतह अली खान और उनके भतीजे राहत फ़तेह अली खान प्रमुख गायक हैं। इसके अलावे फ़ारसी शायरी गाई जाती है – इक़बाल, हाफ़िज़, रूमी, निज़ामी गंजवी, अमीर ख़ुसरो और सादी का कलाम कई जगह गाया और मदरसों में भी पढ़ाया जाता है।

महत्वपूर्ण तिथियां – Pakistan History Important Dates

  • 1920 में महात्मा गांधी ने सविनय अवज्ञा आंदोलन की शुरुआत की। 1933 में पहली बार कैम्ब्रिज के छात्र रहमतुल्लाह चौधरी ने पाकिस्तान का नाम सुझाया। 1940 में जाकर देश में मोहम्मद अली जिन्ना ने अलग मुस्लिम मुल्क की पहली बार मांग रखी।
  • 1946 के कैबिनेट मिशन प्लान में हिंदू और मुस्लिमों को साथ रहने का प्रस्ताव दिया गया। अगस्त 1947 में बंगाल में जबरदस्त सांप्रदायिक तनाव फैला और 5000 लोग मारे गए।
  • जून 1947 में तत्कालीन गवर्नर लॉर्ड माउंटबेटन के विभाजन प्रस्ताव को जिन्ना और कांग्रेस ने मंजूरी दी।
  • भारत को अंग्रेज़ों से 1947 में स्वतंत्रता मिली।
  • पाकिस्तान 14 अगस्त को स्वतंत्र हुआ।
  • पाकिस्तान के जनक मोहम्मद अली जिन्ना हैं जो की एक स्वतंत्रता सेनानी और राजनेता थे।
  • पाकिस्तान ने 1948 और 1965 में भारत के साथ युद्ध किया । 1948 के युद्ध के समय भारत के प्रधानमंत्री नेहरू जी थे और 1965 के युद्ध के समय लालबहादुर शास्त्री प्रधानमंत्री थे। इन दोनों ही युद्धों में हार जीत का निर्णय नहीं हुआ और अंतर्ऱाष्ट्रीय संधि के अंतर्गत संघर्ष विराम हुआ।
  • सन 1971 में पाक़िस्तान ने फिर भारत के साथ हुए युद्ध किया। इस समय भारत की प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी थी। इस युद्ध में पाकिस्तान की हार हुई। पूर्वी पाकिस्तान स्वतंत्र हो गया और बांग्लादेश का जन्म हुआ। स्वतंत्र देश के प्रधानमंत्री शेख़ मुजीबुर्रहमान बने।
  • सन 1998 में भारत के साथ कारगिल युद्ध हुआ जिसमें पाकिस्तानी सेना को कारगिल से हटना पड़ा।

Pakistan History Books in Hindi

  1. द ग्रेट डिवाइड ब्रिटेन-इंडिया-पाकिस्तान
  2. द सोल स्पोक्समैन: जिन्ना, द मुस्लिम लीग एंड द डिमांड फॉर पाकिस्तान
  3. जिन्ना, क्रिएटर ऑफ पाकिस्तान
  4. द आइडिया ऑफ पाकिस्तान
  5. द मर्डर ऑफ हिस्ट्री

और अधिक लेख –

Please Note : – Pakistan History & Information In Hindi मे दी गयी Information अच्छी लगी हो तो कृपया हमारा फ़ेसबुक (Facebook) पेज लाइक करे या (Pakistan ka Itihaas) कोई टिप्पणी (Comments) हो तो नीचे  Comment Box मे करे।

Leave a Comment

Your email address will not be published.