मलेशिया देश का इतिहास और जानकारी | Malaysia History in Hindi

Malaysia / मलेशिया दक्षिण पूर्व एशिया में स्थित एक उष्णकटिबंधीय देश है। यहाँ की राजभाषा ‘मलय’ तथा राजधानी ‘क्वालालंपुर’ है, लेकिन हाल ही में संघीय राजधानी को खासतौर से प्रशासन के लिए बनाए गए नए शहर पुत्रजया में स्थानांतरित कर दिया गया है। यह 13 राज्यों से बनाया गया एक एक संघीय राज्य है। यह दक्षिण चीन सागर से दो भागों में विभाजित है। मलय प्रायद्वीप पर स्थित मुख्य भूमि के पश्चिम तट पर मलक्का जलडमरू और इसके पूर्व तट पर दक्षिण चीन सागर है। देश का दूसरा हिस्सा, जिसे कभी-कभी पूर्व मलेशिया के नाम से भी जाना जाता है, दक्षिण चीन सागर में बोर्नियो द्वीप के उत्तरी भाग पर स्थित है। यह एक ऐसा देश है, जहाँ बहुत सारे उत्सव वर्ष के बारह महीने चलते रहते हैं।

मलेशिया देश का इतिहास और जानकारी | Malaysia History in Hindiमलेशिया देश के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी – Malaysia Information in Hindi

मलेशिया ऐसा देश है, जो पर्यटकों का ध्यान अपनी ओर खींचने की पूरा क्षमता रखता है। यह एक ऐसा देश है, जहाँ बहुत सारे उत्सव वर्ष के बारह महीने चलते रहते हैं। मलेशिया के लोगों की ऊर्जा और उत्साह ही वहाँ होने वाले उत्सवों की जान है, जो पर्यटकों को अपने देश बुलाती है।

16 सितम्बर, 1963 ई. को मलाया प्रायद्वीप, सिंगापुर, साबाह एवं सारावाक नामक ब्रिटिश उपनिवेशों के विलयन के फलस्वरूप मलेशिया गणतंत्र की स्थापना हुई थी। 9 अगस्त, 1965 ई. को आपसी समझौते द्वारा सिंगापुर मलेशिया से अलग हो गया एवं एक स्वतंत्र राष्ट्र बन गया। इस देश का संविधान भूतपूर्व मलयम संघ के संविधान पर ही आधारित है। फिर भी साबाह और सारावाक की सुरक्षा का विशेष ध्यान रखा गया है।

मलेशिया की सरकार एक संवैधानिक राजशाही है। यांग डी-पर्तुआन एगॉन्ग (मलेशिया के सुप्रीम राजा) शीर्षक नौ राज्यों के शासकों के बीच एक पांच साल का कार्यकाल के रूप में घूमता है। राजा राज्य के प्रमुख है और एक औपचारिक भूमिका में कार्य करता है।

मलेशिया का क्षेत्रफल लगभग 1,30,224 वर्ग मील है। देश की सुरक्षा के लिये सुव्यवस्थित स्थल, वायु एवं जल सेनाएँ हैं। क्वालालंपुर के निकट सुंगेई बेसी नामक स्थान पर संघीय सैनिक महाविद्यालय है, जहाँ सशस्त्र सेनाओं के अधिकारियों को प्रशिक्षण दिया जाता है।

मलेशिया में चीनी, मलय और भारतीय जैसे विभिन्न जातीय समूह निवास करते हैं। यहां का आधिकारिक भाषा मलय है, लेकिन शिक्षा और आर्थिक क्षेत्र में ज्यादातर अंग्रेजी का इस्तेमाल होता है। मलेशिया में 130 से अधिक बोलियां बोली जाती हैं, इनमें से 94 मलेशियाई बर्नियओ में और 40 प्रायद्वीप में बोली जाती है। यद्यपि देश सरकार धर्म इस्लाम है, लेकिन नागरिकों को अन्य धर्मों का मानना ​​स्वतंत्रता है।

मलेशिया 13 राज्य है और तीन संघीय प्रदेश है मलेशिया का प्रमुख यांग डी-पेर्तुआन आगगा, जिसे सामान्यतः “मलेशिया का राजा” कहा जाता है। यह पदवी वर्तमान में सल्तन मिज़ान जैनुल अबीदीन धारण किया गया है। मलेशिया में शासन का प्रमुख प्रधान मंत्री हैं मलेशिया का एशियन का सदस्य है। इसकी अर्थव्यवस्था लगातार बढ़ रही है और यह दक्षिण पूर्व एशिया में एक अपेक्षाकृत समृद्ध देश है। देश के प्रमुख शहरों में कुआलालंपुर, जॉर्ज टाउन, ईपोह और जोहर बाहरीु हैं।

मलेशिया एक बहु धार्मिक समाज है और मलेशिया में प्रमुख धर्म इस्लाम है। 2010 में सरकार की जनगणना के आंकड़ों के अनुसार, यहां के प्रमुख धर्मावलंबियों में मुस्लिम (61.3%), बौद्ध ( 9 .8%), ईसाई (9.2%), हिंदू (6.3%) और कन्फ्यूशीवाद, ताओ धर्म और अन्य पारंपरिक चीनी धर्मों (1.3%), शामिल हैं। मलेशियाई हिंदू धर्म विविध है, जिसमें विशिष्ट शहरी लोगों को समर्पित बड़े शहरी मंदिर और संपत्ति पर स्थित छोटे मंदिर हैं।

इतिहास – History of Malaysia in Hindi

मलेशिया, चीन और भारत के बीच प्राचीन काल से व्यापारिक केंद्र था। जब यूरोपीय लोग इस क्षेत्र में आए तो उन्होंने मलक्का को महत्वपूर्ण व्यापार बंदरगाह बनाया। कालांतर में मलेशिया ब्रिटिश साम्राज्य का एक उपनिवेश बन गया। इसके प्रायद्वीप भाग में 31 अगस्त 1957 को फेडरेशन मलाया के रूप में स्वतंत्र हुआ था। 1963 में मलाया, सिंगापुर और बोर्नियो भाग के साथ मिलिया बन गए 1965 सिंगापुर अलग होकर अपनी स्वतंत्रता की घोषणा की। सिंगापुर का मलेशिया से अलगाव के मुख्य कारण आर्थिक और राजनीतिक मतभेद थे।

पर्यटन – Malaysia Tourism in Hindi

एक तरह से मलेशिया में प्रकृति को क़रीब से महसूस किया जा सकता है। मलेशिया में सांस्कृतिक, भौगोलिक और जैवविविधता को देखा और महसूसा जा सकता है। ‘मलय’ शब्द का संस्कृत में अर्थ होता है- ‘पहाड़ों की भूमि’। मलेशिया घूमने के हिसाब से इसलिए बेहतर देश है, क्योंकि यहाँ साधारण जीवन भी देखने को मिल जाता है और खूब चमकते-दमकते शहर भी दिखाई देते हैं। यह देश विविधता से भरा हुआ है, जहाँ जीवन अपने अलग-अलग रंगों में धड़कता दिखाई देता है

यहां के कुछ पर्यटन स्थल 
  1. जेंटिंग पहाड़ी – इसे ‘लॉस वेगास ऑफ़ मलेशिया’ और ‘सिटी ऑफ़ इंटरटेनमेंट’ कहा जाता है।
  2. बाटु गुफ़ाएँ – हिन्दुओं के लिए यह जगह पवित्र मानी जाती है। यह जगह थाईपुसम त्योहार के लिए प्रसिद्ध है।
  3. पेट्रोनॉस ट्विन टॉवर – 88 मंजिला यह इमारत वर्ष 2004 तक दुनिया की सबसे ऊँची इमारत थी और आज भी दुनिया की सबसे ऊँची जुड़वाँ मीनार है।
  4. पेनाँग – यह एक धार्मिक आकर्षण का स्थल है। यहाँ कई संग्रहालय और गैलरी देखने लायक़ हैं।
  5. मलक्का – यह मलेशिया का सबसे प्राचीन ऐतिहासिक शहर है। यहाँ चीनी, पुर्तग़ाली, डच और ब्रिटिश प्रभावों का दिलचस्प मिश्रण देखने को मिलता है।

और अधिक लेख –

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *