डॉक्टर कैसे बने पूरी जानकारी | How To Become a Doctor in Hindi

MBBS Kaise Kare / लाइफ में हर किसी का एक लक्ष्य रहता हैं की वो आने वाला समय में क्या बनना चाहता है। कोई डॉक्टर बनना चाहता हैं कोई इंजीनियर। हालाँकि हमारे अभिभावक का भी हमारे प्रति एक सपना रहता हैं की हमारे बच्चे क्या बने। अगर आपका भी कुछ ऐसा सपना हैं और आप डॉक्टर बनना चाहते हैं तो ये पोस्ट आप ही के लिए हैं। इस पोस्ट में डॉक्टर बनने की जानकारी दी गयी। यहाँ पे आपको डॉक्टर बनने के लिए शुरुआत कैसे करे, क्या पढ़े, कहा एड्मिशन ले, ये सब जानकारी मिल जाएगी..

डॉक्टर कैसे बने पूरी जानकारी | MBBS Kaise Kare | How To Become a Doctorडॉक्टर बनने के लिए आप किसी भी समय निर्णय नही ले सकते हैं इसके लिए आपको बचपन से ही डॉक्टर बनने के लिए अपना एक लक्ष बनाना होता है और उसके बाद उसकी ओर धीरे धीरे आगे बढ़ने से ही डॉक्टर बना जा सकता है। आपको दसवी के बाद ही निर्णय लेना होगा की आप डॉक्टर बनना चाहते है या नही। यदि हा तो आपको ग्यारवही क्लास मे Biology Subject लेना होगा और अच्छे से मेहनत करके बारहवी मे पास करना होगा। क्यूंकि डॉक्टर बनने के लिए प्रवेश परीक्षा में मिनिमम बारहवीं क्लास के हर सब्जेक्ट में 50% चाहिए। (ध्यान रहे की 12वीं में आरक्षित वर्गों की श्रेणी में आने वाले अभ्यर्थियों को न्यूनतम 40% अंकों के साथ उत्तीर्ण होना आवश्यक है।) इसके साथ ही इंग्लिश में अच्छी पकड़ होनी चाहिए।

MBBS Full Form – Bachelor of Medicine, Bachelor of Surgery

Doctor बनने के लिए एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी करे – Doctor Banne ke Liye Taiyari Kaise Kare 

Doctor बनने के लिए आपको शुरू से तैयारी करनी होगी। सबसे अच्छा प्रैक्टिस हैं की 10वी पास करने के साथ ही ध्यान दे। PCB सब्जेक्ट चुनने के बाद, हर सब्जेक्ट में अच्छे मार्क लाने की कोशिश करे। इंग्लिश को जितना हो सके बेहतर बनाये। इसके साथ ही प्रवेश परीक्षा की भी तैयारी करने लगे।

मेडिकल के लिए प्रवेश परीक्षा – Medical ke Liye Entrance Exam

यदि आप मेडिकल फील्ड में प्रवेश करना चाहते है, तो आपको MBBS में एडमिशन के लिए ऑल इंडिया (All India Level) और स्टेट लेवल (State Level) पर परीक्षाएं देनी पड़ती है। आल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (AIIMS) जैसे बड़े संस्थान सीधे प्रवेश परीक्षा आयोजित करते हैं। वैसे, ऑल इंडिया लेवल पर सीबीएसई द्वारा हर वर्ष अप्रैल माह में आयोजित की जानी वाली आल इंडिया प्री-मेडिकल (AIPMT), प्री-डेंटल टेस्ट सबसे प्रमुख परीक्षा है। इस परीक्षा में सम्म्लित होने के लिए स्टूडेंट्स का बॉयोलॉजी विषय से 12th क्लास पास करना अनिवार्य होता है। परन्तु जो स्टूडेंट्स अभी 12th क्लास की परीक्षा दे रहे है। वे स्टूडेंट्स भी इस परीक्षा में शामिल हो सकते है। लेकिन यदि आप एंट्रेंस एग्जाम पास कर लेते है, तो इसके बाद आपको एमबीबीएस में एडमिशन तभी मिलेगा, जब आप 12th क्लास में उत्तीर्ण हो जायेंगे।

इस परीक्षा को उत्तीर्ण करने वाले स्टूडेंट्स ही फाइनल परीक्षा में भाग लें सकते हैं। इस परीक्षा के बाद प्राप्त रैंकिंग के अनुसार अभ्यर्थियों को काउंसिलिंग के लिए बुलाया जाता है और फिर उन्हें उनकी रैंकिंग के अनुसार कॉलेज अलॉट होते हैं। इस परीक्षा में सम्मिलित होने के लिए अभ्यर्थी को कम से कम 50 प्रतिशत अंकों के साथ बारहवीं उत्तीर्ण होना आवश्यक होता है।

इसके अतरिक्त, उसे अंग्रेजी का भी ज्ञान होना चाहिए। इस परीक्षा में शामिल हो रहे स्टूडेंट्स की अधिकतम उम्र 25 साल से ज्यादा नहीं होनी चाहिए। अनुसूचित जाति व अनुसूचित जनजाति तथा अन्य पिछड़ा वर्ग से संबंधित अभ्यर्थियों के लिए अधिकतम उम्र सीमा में पांच साल की छूट देने का भी प्रावधान बनाया गया है । परन्तु किसी भी वर्ग से संबंधित अभ्यर्थी एआईपीएमटी में केवल तीन बार ही सम्मिलित किये जा सकते हैं।

डॉक्टर बनने के लिए शैक्षिक योग्यता – (Doctor banne ke liye kya qualification chahiye )

यदि आप डॉक्टर बनने की चाह रखते है. तो सबसे पहले आपको 12th क्लास में बॉयोलॉजी विषय से पास होना होगा। 12thक्लास पास करने के बाद आपको बैचलर ऑफ मेडिसिन एवं बैचलर ऑफ सर्जरी (MBBS) की पढ़ाई करनी होती है। एमबीबीएस कोर्स की समय अवधि साढ़े चार वर्ष की होती है।

इस कोर्स को पूरा करने के बाद स्टूडेंट्स को किसी मेडिकल कॉलेज में एक साल की इंटर्नशिप भी करनी होती है। इस कारणवश एमबीबीएस कोर्स साढ़े पांच साल में पूरा होता है। यदि आप एमबीबीएस कोर्स में सफलता प्राप्त कर लेते है। तो आपको मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (MCI) द्वारा योग्य डॉक्टर के रूप में एमबीबीएस की डिग्री प्रदान कर दी जाती है। इसके पश्चात आप अपने इंटरेस्ट या योग्यता के अनुसार पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स जैसे एमडी, एमएस तथा उसके बाद रिसर्च कर सकते हैं। रिसर्च करने के पश्चात आप किसी मेडिकल कॉलेज या रिसर्च संस्थान में प्रैक्टिस के दौरान टीचिंग का कार्य आरम्भ कर सकते हैं।

प्रवेश परीक्षा का प्रारूप – Format of entrance exam

AIPMT के प्रीलिमिनरी एग्जामिनेशन में ऑब्जेक्टिव टाइप के लगभग 100 प्रश्न परीक्षा में दिए जाते हैं। यह परीक्षा तीन घंटे की होती है और इसके अंतर्गत फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी के विषयों पर ही आधारित प्रश्न पूछे जाएंगे। यह एक प्रकार से स्क्रीनिंग परीक्षा होती है, इसका मुख्य उद्देश्य बहुत भारी मात्रा में शामिल हुए अभ्यर्थियों में से प्रतिभाशाली स्टूडेंट्स को चुनने के लिए होती है।

इस परीक्षा उत्तीर्ण मेरिट में स्थान बनाने वाले अभ्यर्थियों को फाइनल परीक्षा में शामिल होने का मौका दिया जाता है। फाइनल परीक्षा में दो-दो घंटे के दो प्रश्नपत्र देने होते हैं। पहले पेपर में फिजिक्स एवं केमिस्ट्री विषयों पर आधारित परीक्षा होती हैं, तथा दूसरे पेपर में बायोलॉजी (जूलॉजी एवं बॉटनी से भी) विषय पर आधारित परीक्षा में प्रश्न पूछे जाते हैं।

तैयारी कैसे करे – How to become a doctor in Hindi

चूंकि एग्जाम दसवीं और बारहवीं के पाठ्यक्रम पर ही आधरित होते हैं, इसलिए जिन स्टूडेंट्स ने अपने पाठ्यक्रम को अच्छी तरह से कवर किया होता है, उनके लिए इस परीक्षा कोई कठिनाई नहीं होती है। बारहवीं के तीनों विषयों के फंडामेंटल्स को पूर्ण रूप से तैयार करें और उनके एप्लीकेशंस पर फोकस करें।

इंटरमीडिएट की बोर्ड परीक्षा समाप्त होते ही एआईपीएमटी के पिछले वर्षों के प्रश्नों का गंभीरता से हल करना प्रारम्भ करें और उनके प्रारूप को समझने का प्रयास करें। इससे आपकी तैयारी को सही दिशा प्रदान होगी। इसके अतरिक्त , जितना हो सकें सैंपल पेपर को भी निर्धारित समय में हल करने का प्रयास लगातार करते रहें। उसके आधार पर अपना मूल्यांकन करें और कमजोरियों को पहचान कर उन्हें दूर करने के प्रयास में लग जाये। जरूरत महसूस होने पर किसी अच्छे कोचिंग संस्थान से भी मार्गदर्शन लेना आपके लिए लाभदायक हो सकता है । इससे आपको सही दिशा में तैयारी करने में सहायता प्राप्त होगी।

मेडिकल एंट्रेंस आयोजित कराने वाले प्रमुख संस्थान –

  • All India Pre-Medical test (AIPMT)
  • All India Institute Of Medical Science (AIIMS)
  • Ittar Pradesh Combined Pre Medical Test (UPCPMT)
  • Guru Gobind Singh Indraprastha University Delhi (
  • Wardha Medical College

मेडिकल कोर्स – Medical Course in Hindi

  • M.B.B.S. (Bachelor of Medicine and Bachelor of Surgery) – 5.5 Years
  • B.D.S (Bachelor of Dental Surgery) – 4 Years
  • B.H.M.S. (Bachelor of Homeopathic Medicine and Surgery) – 5.5 Years
  • B.A.M.S. (Bachelor of Ayurvedic Medicine and Surgery) – 5.5 Years
  • M.D (Doctor of Medicine) – 3 Years
  • M.S (Master of Surgery) – 3 Years
  • D.M (Doctorate in Medicine) – 2 to 3 Years
  • B.Pharm (Bachelor of Pharmacy) – 4 Years
  • B.Sc Nursing – 4 Years
  • B.P.T (Physiotherapy) – 4.5 Years
  • B.O.T (Occupational Therapy) – 3 Years
  • B.U.M.S (Unani Medicine) – 5.5 Years
  • D.Pharm (Ayurvedic, Siddha Medicine) – 2 Years
  • BMLT (Bachelor of Medical Lab Technicians) – 3 Years

भारत के प्रमुख 10 मेडिकल इंस्टीटूट – Top Medical College 

  1. All India Institute of Medical Sciences (AIIMS), Delhi
  2. Grant Medical College, Mumbai
  3. Madras Medical College, Chennai
  4. Lady Hardinge Medical College (LHMC), Delhi
  5. Maulana Azad Medical College (MAMC), Delhi
  6. JIPMER College, Puducherry
  7. Armed Forces Medical College (AFMC), Pune
  8. Christian Medical College (CMC), Vellore
  9. Kasturba Medical College (KMC), Manipal,
  10. Sri Ramachandra Medical College and Research Institute, Chennai

डॉक्टर बनने के बाद नौकरी के क्षेत्र – Doctor Jobs

  • Biomedical Companies
  • Hospitals
  • Laboratories
  • Research Institutes
  • Medical Colleges

और अधिक लेख –

6 thoughts on “डॉक्टर कैसे बने पूरी जानकारी | How To Become a Doctor in Hindi”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *