कैसे बने परीक्षा मे टॉपर | Exam Me Top Karne Ke Liye Kaise Padhe

Exam Tips in Hindi / अगर इंसान के अंदर कुछ करने चाहत हो तो कुछ भी इंपॉसिबल नही है। बस अपने काम के प्रति जुनून रहनी चाहिए। आप साल भर पूरी मेहनत से पढ़ाई करते हैं तो आपकी मेहनत ज़रूर रंग लाएगी। लगभग हर स्टूडेंट चाहता है की उसका मार्क्स अच्छा आए और वो इसके लिए तायारी भी करता हैं पर मार्क्स नही आता हैं क्यूकी पढ़ाई मे कुछ ऐसे तरीके हैं जिसे वो फॉलो नही करता हैं।

ऐसा नही की जो स्टूडेंट्स टॉप करता हैं वो शुरुआत से ही तेज और इंटीलिजेंट रहता हैं। बस उसका पढ़ने का तरीका दूसरे स्टूडेंट्स से अलग होता हैं। वो एग्ज़ॅम का बाड़िया से तायारी करता हैं। तो चलिए वही तरीके आज हम आपको बताते हैं। आप भी इन तरीक़ो को फॉलो करके अच्छा मार्क्स ला सकते और टॉपर बन सकते हैं।

Exam Me Top Kaise Kare

पढ़ने का टाइम टेबल और रूटीन सेट करे – Study Timing Tips in Hindi

अगर आपने सोच लिया है की मुझे टॉपर बनाना है तो सबसे पहले अपना टाइम टेबल और रूटीन सेट करे। बहुत से  स्टूडेंट साल भर कुछ नही पढ़ते है और जब एग्ज़ॅम करीब होता है तब पढ़ना शुरू करते है, ये बिल्कुल ग़लत आदत है। शॉर्टकट से काम नही चलने वाला हैं। मान ले इस शॉर्टकट तरीका से आप पास भी कर जाए। पर कभी भी टॉपर नही बन सकते हैं। इसलिए जिस दिन से आपका सेमेस्टर या क्लास स्टार्ट हो उसी दिन से अपना डेली बेसिस पे रूटीन बना ले।

सुबह से रात कब कितना पढ़ना है कब खेलना है कब से कब सोना है इसका रूटीन बनाए और किस टाइम पे कोन सा सब्जेक्ट पढ़ना है। एक टाइम पे एक ही सब्जेक्ट का रूटीन बनाए, और कोशिश करे सुबह का टाइम ज़्यादा निकालने का. क्यूंकी सुबह का वक्त सबसे अच्छा है पढ़ने के लिए। ऐसा नही की सिर्फ़ दीवार मे रूटीन चिपका के भूल जाए। अपने रूटीन को फॉलो भी करे।

डेली क्लास अटेंड करे – 

अगर आप एग्ज़ॅम के टाइम पर टेन्षन (Tension) नही लेना चाहते और बुक की पूरी सिलबस से बचना चाहते है तो उसके लिए ज़रूरी है की आप डेली स्कूल और कॉलेज मे क्लास अटेंड करे। ऐसा करना इसलिए ज़रूरी है क्यूकी टीचर का पढ़ाया हुआ हमे आसानी से समझ आ जाता है और हुमारे दिमाग़ मे सेट हो जाता है। जिसे हम अगर महीने बाद भी पढ़े तो हमे ध्यान रहता है और स्टडी करने मे ईज़ी रहता है। सो एक टाइम पर बहुत सारा टेन्षन लेने से अच्छा है की आप रेग्युलर सब क्लास अटेंड करो एंड टेन्षन फ्री रो। और वही स्टूडेंट टॉप करता हैं जो हर रोज क्लास अटेंड करता हैं।

ग्रूप स्टडी करे – Group Study 

पढ़ाई के लिए ये बेस्ट तरीका माना जाता है – आप ग्रूप स्टडी करे फ्रेंड के साथ, ग्रूप स्टडी करने से आपको न्यू आइडिया आने लग जाते है जो आपको एग्ज़ॅम के टाइम हेल्प करते है। अच्छे मार्क्स लाने मे. ग्रूप स्टडी एक बेहद अछा ऑप्षन है और साथ हू साथ थोड़ी मस्ती भी हो जाती है जिससे माइंड भी फ्रेश होता हैं। जो एग्ज़ॅम के टेन्षन वाले महॉल मे बहुत अच्छा होता है। ग्रूप स्टडी से एग्ज़ॅम का प्रेशर भी कम हो जाता है और कोई ऐसी चीज़ जो आपको समझ नही आती उसे आपके फ्रेंड आपको आसानी से समझा देते है। इसके अलावा भी बहुत सारे फ़ायदे हैं ग्रूप स्टडी का।

नोट :- एक बात याद रखे कई बार ऐसा भी होता है की ग्रूप स्टडी के नाम पर स्टूडेंट्स साथ स्टडी का प्लान तो करते है।पर वो स्टडी से ज़्यादा इधर- उधर की बाते करते है और बहुत इंपॉर्टेंट टाइम बर्बाद करते है। सो आप ध्यान रखो की आपके साथ ऐसा कुछ ना हो। एक बात याद रहे.. दोस्त आपके हमेशा साथ रहेंगे पर एग्ज़ॅम मे ज़्यादा मार्क्स लेने का चान्स फिर कभी नही मिलेगा सो इंपॉर्टेंट चीज़ पर फोकस करना समझदारी होगी।

समझ के पढ़े और मन लगा के – Exam Tips

पढ़ाई करने टाइम जो भी चेपटर पढ़े उसे अच्छी तरह समझ कर पढ़े। आधा-अधूरा ना पढ़े ना समझे। मन लगा के पढ़े. और सिर्फ़ रेटेने के चक्कर मे ना रहे। इससे क्या होता है की एग्ज़ॅम समय अगर किसी तरह से सवाल का लाइन चेंज हो जाए तो आपको उत्तर देने मे प्राब्लम होगी। वही समझ के पढ़े रहेंगे तो आप अच्छी तरह से उत्तर दे सकते हैं और भविष्य मे भी काम आएगा। क्या होता है की ज़्यादा स्टूडेंट की आदत होती है की वो ध्यान लगा के पढ़ते नही है। कोई टीबी देखते हुए पढ़ाई करता है, कोई गाना सुनते हुए पढ़ाई करता है या फोन पे अपने गर्लफ्रेंड / बाय्फ्रेंड से बात करते रहते हैं और बोलते है ऐसा करने से मुझे जल्दी याद होता है, ऐसा ग़लती आप भी ना करे।

थोड़ा रिलेक्स करे –

एग्जाम से पहले अपना कोर्स समय रहते पढ़ लें और उसका रिविज़न भी कम से कम एक दिन पहले ही पूरा कर लें। ऐन वक्त तक पढ़ते रहने से तनाव बढ़ता है। चित्त स्थिर रखने और मन शांत करने के अलग-अलग तरीके हो सकते हैं, किसी को संगीत सुनने पर सुकून मिलता है तो किसी को व्यायाम करने से या फिर कुनकुने पानी से स्नान करना भी अच्छा तरीका हो सकता है। अपने लिए रिलेक्स करने का ऐसा ही कोई तरीका चुनें।

एग्जाम के टाइम –

कई विद्यर्थियों को परीक्षा के बारे में सोचकर ही बेचैनी महसूस होने लगती है। पढ़ाई नहीं की हो तो ये ख्याल परेशान कर सकता है लेकिन अच्छे से पढ़ने पर भी ऐसे विचार उत्पन्न होना घबराहट के संकेत हैं। तनाव के कारण विद्यार्थी ध्यान केंद्रित नहीं कर पाते। कई तो प्रश्न भी ठीक से नहीं पढ़ पाते हैं। इसलिए कॉन्फि‍डेंस बनाए रखें। आपने जो भी पढ़ा है, उस पर कॉन्फिडेंस बनाए रखें। आपको सब आता है, इस सोच के साथ पेपर देने जाएं।

मन में कोई सकारात्मक बात रखे। एग्जाम कक्ष में पहुंचकर लंबी-गहरी सांसें लें और छोड़ें। घबराहट में अक्सर लोग ठीक से सांस नहीं लेते हैं। गहरी सांस लेते हुए अपनी पीठ एकदम सीधी कर लें। प्रश्नों को ध्यान से पढ़ें। यदि परीक्षा के बीच बीच फिर से घबराहट होने लगे तो एकाग्रता के उपाय अपनाएं। प्रश्नपत्र सॉल्व करने की रणनीति तय कर लें। कौनसे प्रश्न पहले सॉल्व करेंगे आदि और बिना समय बर्बाद किए उत्तर लिखना शुरु कर दें। हो सकता है कि इस समय माता-पिता या टीचर्स आप पर लगातार पढ़ने या अच्‍छे नंबर लाने का दबाव डालें। आप बस अपना पूरा एफर्ट दें, रिजल्‍ट की चिंता ना करें।

और आखरी बात…एक मूवी : “3 ईडियट” का डाइयलोग हैं ना :-

“कामयाब होने के लिए नही, काबिल होने लिए पढ़ो,
सक्सेस के पीछा मत करो, एक्सलेन्स का पीछा करो
     देन..सक्सेस तुम्हारे पीछे आएगी”
⇒ सो कीप स्टडी ⇐

ज़रूर पढ़े  – Also Read More :-

Please Note : – Exam Ki Tyari Kaise Kare  & Exam Me Top Kaise Kare मे दी गयी Information अच्छी लगी हो तो कृपया हमारा फ़ेसबुक (Facebook) पेज लाइक करे या कोई टिप्पणी (Comments) हो तो नीचे करे. Exam Me Top Karne Ke Liye Padhai Kaise Kare व नयी पोस्ट डाइरेक्ट ईमेल मे पाने के लिए Free Email Subscribe करे, धन्यवाद।

18 thoughts on “कैसे बने परीक्षा मे टॉपर | Exam Me Top Karne Ke Liye Kaise Padhe”

  1. Yeh sab padhane se kuch nhi hooga itna meditation karo ki sab aaye aur jis time jyaada maza aaye yah dimag fresh ho us time padho mujhe lecture toh nhi dena chaiye par yeh khud meri trick hai padhene ki thank you

  2. time table bnane k baad use hii bhul gye toh kya kre sir mere sath esa hii hota h 1-2 din hii ho pati h study thik se but very nice thank u
    sir

Leave a Comment

Your email address will not be published.