भूटान देश का इतिहास और महत्वपूर्ण जानकारी | Bhutan History In Hindi

Bhutan / भूटान हिमालय पर बसा दक्षिण एशिया का एक छोटा और महत्वपूर्ण देश है। जिसकी राजधानी थिम्फु हैं। यह चीन (तिब्बत) और भारत के बीच स्थित भूमि आबद्ध(Land Lock) देश है। इस देश का स्थानीय नाम ड्रुग युल है, जिसका अर्थ होता है अझ़दहा का देश। यह देश मुख्यतः पहाड़ी है और केवल दक्षिणी भाग में थोड़ी सी समतल भूमि है। यह सांस्कृतिक और धार्मिक तौर से तिब्बत से जुड़ा है, लेकिन भौगोलिक और राजनीतिक परिस्थितियों के मद्देनजर वर्तमान में यह देश भारत के करीब है। भूटान अपनी संस्कृति को लेकर हमेशा से बहुत सतर्क रहा हैं। यहां के कानून के अनुसार धरती का 60% हिस्सा में जंगल रहना चाहिए।

भूटान देश का इतिहास और महत्वपूर्ण जानकारी | Bhutan History In Hindiभूटान देश का इतिहास और जानकारी – Bhutan History In Hindi

भूटान नई और पुरानी परंपराओं का अनूठा मिश्रण है| भूटान धीरे-धीरे आधुनिक दुनिया के लिए अपनी प्राचीन परंपराओं के साथ एक अच्छा संतुलन बनाए हुए है। सत्रहवीं सदी के अंत में भूटान ने बौद्ध धर्म को अंगीकार किया। 1865 में ब्रिटेन और भूटान के बीच सिनचुलु संधि पर हस्ताक्षर हुआ, जिसके तहत भूटान को सीमावर्ती कुछ भूभाग के बदले कुछ वार्षिक अनुदान के करार किए गए। ब्रिटिश प्रभाव के तहत 1907 में वहाँ राजशाही की स्थापना हुई। तीन साल बाद एक और समझौता हुआ, जिसके तहत ब्रिटिश इस बात पर राजी हुए कि वे भूटान के आंतरिक मामलों में हस्त्क्षेप नहीं करेंगे लेकिन भूटान की विदेश नीति इंग्लैंड द्वारा तय की जाएगी। बाद में 1947 के पश्चात यही भूमिका भारत को मिली।

भूटान चारों तरफ से स्थल से घिरा हुआ पर्वतीय क्षेत्र है। उत्तर में पर्वतों की चोटियाँ कहीं-कहीं 7000 मीटर से भी ऊँची हैं और सबसे ऊँची चोटी कुला कांगरी की है, कुला कांगरी 7553 मीटर ऊँची है। गांगखर पुएनसुम की ऊँचाई 6896 मीटर है, जिस पर अभी तक मनुष्य के क़दम नहीं पहुँचे हैं। भूटान का दक्षिणी हिस्सा अपेक्षाकृत कम ऊँचा है और यहाँ पर कई उपजाऊ और सघन घाटियाँ हैं, जो ब्रह्मपुत्र की घाटी से मिलती है। देश का लगभग 70% हिस्सा वनों से आच्छादित है। भूटान की ज़्यादातर आबादी मध्यवर्ती हिस्सों में रहती है। भूटान की राजधानी थिम्फू है और यह भूटान का सबसे बड़ा शहर भी है, यह भूटान के पश्चिमी हिस्से में स्थित है और इसकी आबादी 50,000 है। भूटान की जलवायु मुख्य रूप से उष्णकटिबंधीय है।

भूटान की अर्थव्यवस्था मुख्यतः कृषि प्रधान है।भूटान के किसानों की जीविका का मुख्य प्रवास कृषि, पशुपालन है। पनीर, मक्खन और दूध जैसे पशु उत्पादों के किसानों के लिए एक प्रमुख आहार है। भूटान के लोगों की आय भी इन्हीं के द्वारा उत्पन्न होती है। कई किसानों के समूहों और कृषि और वन मंत्रालय द्वारा प्रोत्साहित किया जा रहा सहकारी समितियों के साथ, लोगों को सहकारी स्टालों जहाँ वे आसानी से अपने कृषि उत्पादों के बाज़ार कर सकते हैं स्थापित करने के लिए प्रोत्साहित किया गया है।

भूटान की मुख्य फसलें चावल, मक्का, गेहूं, आलू, सेब, संतरे, इलायची, अदरक, मिर्च और नींबू है। राजधानी में एक फल आधारित उद्योग की स्थापना के साथ, आसपास के इलाकों से किसानों के लिए उनके फलों के उत्पादों के बाज़ार के लिए और इस तरह अतिरिक्त राजस्व कमाने के लिए कर रहे हैं।

भूटान की लगभग आधी आबादी भूटान के मूलनिवासी हैं, जिन्हें गांलोप कहा जाता है और इनका निकट का संबंध तिब्बत की कुछ प्रजातियों से है। इसके अलावा अन्य प्रजातियों में नेपाली है और इनका सम्बन्ध नेपाल राज्य से है। उसके बाद शरछोगपा और ल्होछमपा हैं। यहाँ की आधिकारिक भाषा जोङखा है, इसके साथ ही यहाँ कई अन्य भाषाएँ बोली जाती हैं, जिनमें कुछ तो विलुप्त होने के कगार पर हैं।

भूटान में आधिकारिक धर्म बौद्ध धर्म की वज्रयान शाखा है, जिसका अनुपालन देश की लगभग 75% जनता करती है। भूटान की अतिरिक्त 25 प्रतिशत जनसंख्या हिंदू धर्म की अनुयायी है। भूटान के हिंदू धर्मी नेपाली मूल के लोग है, जिन्हे ल्होछमपा भी कहा जाता है।

भूटान दुनिया के उन कुछ देशों में है, जो खुद को शेष संसार से अलग-थलग रखता चला आ रहा है और आज भी काफी हद तक यहाँ विदेशियों का प्रवेश नियंत्रित है। देश की ज्यादातर आबादी छोटे गाँव में रहते हैं और कृषि पर निर्भर हैं। शहरीकरण धीरे-धीरे अपने पाँव जमा रहा है। बौद्ध विचार यहाँ की ज़िंदगी का अहम हिस्सा हैं। तीरंदाजी यहाँ का राष्ट्रीय खेल है।


भूटान के बारे में और अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करेClick Here

और अधिक लेख – 

Please Note : – Bhutan History & Information In Hindi मे दी गयी Information अच्छी लगी हो तो कृपया हमारा फ़ेसबुक (Facebook) पेज लाइक करे या कोई टिप्पणी (Comments) हो तो नीचे  Comment Box मे करे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *