विक्‍टोरिया मेमोरियल कोलकाता का इतिहास | Victoria Memorial Kolkata

Victoria Memorial Kolkata  / विक्‍टोरिया मेमोरियल पश्चिम बंगाल राज्य के कोलकाता शहर में स्थित स्मारक है, जो रानी विक्टोरिया को समर्पित है। इसकी स्‍थापना अंग्रेज़ गवर्नर-जनरल लॉर्ड कर्ज़न ने 1905 ई. में की थी। वर्तमान में विक्‍टोरिया मेमोरियल भारत में सर्वाधिक लोगों द्वारा देखे जाने वाले संग्रहालय के रूप में जाना जाता है। वर्ष 2013-2014 में इसकी वीथियों का लगभग 20 लाख लोगों ने और बगीचे का अलग से 13 लाख से अधिक लोगों ने दौरा किया। इसके मुगल शैली के गुंबदों में सारसेनिक और पुनर्जागरण काल की शैलियां दिखाई पड़ती हैं।

विक्‍टोरिया मेमोरियल कोलकाता का इतिहास | Victoria Memorial Kolkata

विक्‍टोरिया मेमोरियल कोलकाता का इतिहास, जानकारी – Victoria Memorial Kolkata History in Hindi

विक्‍टोरिया मेमोरियल की स्‍थापना लॉर्ड कर्ज़न की पहल पर इंडो-ब्रिटिश इतिहास पर विशेष जोर देने के साथ महारानी विक्टोरिया की याद में काल विशेष संग्रहालय के रूप में की गई थी। विक्टोरिया मेमोरियल की नींव सन् 1906 में वेल्स के राजकुमार द्वारा रखी गयी थी। यह 57 एकड़ भूमि पर निर्मित है और इसे ‘राज का ताज’ कहा जाता है, क्‍योंकि भारत में इंडो-ब्रिटिश स्‍थापत्‍य कला के सर्वोत्‍तम नमूने के रूप में मान्‍यता प्राप्‍त विक्‍टोरिया मेमोरियल को सन 1921 में आम जन के लिए खोला गया था और 1935 के भारत सरकार के अधिनियम द्वारा इसे राष्‍ट्रीय महत्त्व का संस्‍थान घोषित किया गया।

1947, आज़ादी के बाद उपनिवेशवाद के अंत के बाद भारत में अंग्रेजों द्वारा स्थापित किये गए कई प्रतिमाओं और मूर्तियों को हटा दिया गया या भारतीय प्रतिमाओं से बदल दिया गया या विक्टोरिया मेमोरियल के बाग़ में ले जाया गया।

विक्टोरिया मेमोरियल की स्थापना से पहले इस जगह पर प्रेसीडेंसी जेल हुआ करता था। विक्टोरिया मेमोरियल को बनाने के लिए इसे ध्वस्त कर दिया गया और अलिपुर में इसका निर्माण किया गया। इस बड़े रचना के निर्माण के लिए भारतियों द्वारा ही फण्ड जमा किया गया। पुरे देश से इसके लिए चंदा इकठ्ठा किया गया और जितने पैसे जमा हुए उन्हीं पैसों से इस शानदार मेमोरियल का निर्माण कराया गया। ब्रिटिश सरकार ने भी इस रचना के लिए कुछ फण्ड अपनी तरफ से जोड़े।

गेट के पास आप “VRI लिखा हुआ देखेंगे जिसका मतलब शायद विक्टोरिया रेजाइना इम्पराट्रिक्स जिसका मतलब विक्टोरिया रानी और महारानी है। इसका मतलब यह हो सकता है कि विक्टोरिया जो इंग्लैंण्ड की रानी है वह भारत की महारानी भी है। वहीं पर एक अजीब सा और गुप्त लेखन और है “Dieu Et Mon Droit” जो मेमोरियल के प्रवेशद्वार पर लिखा हुआ है। इसका मतलब है ” भगवान और मेरे अधिकार ” जो शायद सम्राट के शासन करने के अधिकार की और इशारा करता है।

विक्‍टोरिया मेमोरियल संग्रह – Victoria Memorial Palace Kolkata in Hindi

विक्‍टोरिया मेमोरियल संग्रह के पास नौ दीर्घाओं में प्रदर्शित 28,394 कलाकृतियाँ हैं, जो देश की संस्कृति को दर्शाता है। इसकी दीवारों पर बेहतरीन नक़्क़ाशी की गई है। इस स्मारक में शिल्पकला का सुंदर मिश्रण है। इसके मुग़ल शैली के गुंबदों में सौरसेनिक और पुनर्जागरण काल की शैलियाँ दिखाई पड़ती हैं। मेमोरियल में एक शानदार संग्रहालय है, जहाँ महारानी विक्टोरिया के पियानो और स्टडी-डेस्क सहित 3000 से अधिक वस्तुएं प्रदर्शित की गई हैं।

विक्टोरिया मेमोरियल के केंद्रीय गुम्बद पर ‘विजय के दूत’ की प्रतिमा स्थापित है। बड़े से बॉल बेअरिंग पर स्थापित यह प्रतिमा हवा के साथ इधर-उधर घूमती है। ताजमहल की तरह विक्टोरिया मेमोरियल भी मकराना संगमरमर से बनवाया गया है। यहाँ के गुम्बद और अन्य रचनाओं के रचनात्मक तत्व भी ताजमहल के ही डिजाईन की तरह हैं। केंद्रीय गुम्बद के चारों तरफ आसपास कई रूपक(अल्गोरिकल) प्रतिमाएं स्थापित हैं जो कला, वास्तुशिल्प, दया, न्याय, ममता, शिक्षा और विवेक को दर्शाती हैं।

विक्टोरिया मेमोरियल में 25 गैलरियां हैं। इन गैलरियों में मूर्ति गैलरी, राजसी गैलरी, सेंट्रल हॉल, पोर्ट्रेट गैलरी, हथियार और शस्त्रागार गैलरी और कोलकाता गैलरी हैं। म्यूजियम के अन्य प्रदर्शनियों में पुराने ज़माने के सिक्कों, स्टैम्प्स और नक्शों की प्रदर्शनी लगी हुई हैं।


और अधिक लेख –

Please Note :- Victoria Memorial Palace Kolkata History & Story In Hindi मे दी गयी Information अच्छी लगी हो तो कृपया हमारा फ़ेसबुक (Facebook) पेज लाइक करे या कोई टिप्पणी (Comments) हो तो नीचे करे, धन्यवाद।

1 thought on “विक्‍टोरिया मेमोरियल कोलकाता का इतिहास | Victoria Memorial Kolkata”

Leave a Comment

Your email address will not be published.