सौरभ अग्रवाल, +10M डाउनलोड मोबाइल गेम के पीछे का आदमी

Saurabh Aggarwal, the man behind a mobile game with +10M downloads

ऑनलाइन गेम खेलना आज के समय में सबसे आकर्षक गतिविधियों में से एक है। साथ ही, यह एक अलग अनुभवों का दरवाज़ा हैं जहां आप दूर के दोस्तों से और नए लोगों से मिलकर अपने सोशल जीवन का विस्तार कर सकते हैं। पिछले वर्ष दुनिया ने एक ऐसा अनुभव किया जो कुछ पीढ़ियों ने पहले नहीं देखा था: महामारी जो की हम वर्तमान में भी अनुभव कर रहे हैं। और gaming industry के लिए, यह साल कई मौको से भरा था, उसमे से एक फैक्ट यह भी था की Octro Inc.’s के teen patti ने कुछ ही महीनों में अपने डाउनलोड में 800% की वृद्धि दर्ज की।

लेकिन, इस मोबाइल गेम को क्या इतना खास बनाता है कि हर कोई इसे खेलना चाहता है? भारत के शीर्ष 5 teen patti गेम में से एक के निर्माण के पीछे, यहाँ पर एक कहानी हैं जो समर्पण, कड़ी मेहनत के लिए जुनून और एक सपने साकार करने की चाह की हैं। हम आपको इस सफलता की कहानी के पीछे के आदमी सौरभ अग्रवाल से मिलवाते हैं।

सौरभ अग्रवाल कौन हैं?

इस व्यक्ति ने इंटरनेट पर उन इमोशन के कारण हलचल मचाई है जो लोग teen patti खेला करते हैं। इसलिए, कई लोग यह जानने के लिए उत्सुक हैं कि इसके पीछे कौन है? बस सर्च करें और आपको सौरभ के बारे में बहुत से रिव्यु मिल जायेंगे, जो ज्यादातर लोग उन्हें गेम का बड़ा प्रशंसक मानते हैं।

सच्चाई यह है कि वह एक उच्च शिक्षित व्यक्ति है: उनके पिता ने संयुक्त राज्य अमेरिका में अध्ययन किया था और उनके दादा एक पीएच.डी. और नई दिल्ली के रामजस कोलेज के प्रोफेसर थे। इसी रास्ते में चलते हुवे, सौरभ ने स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय में अध्ययन किया, जिसके बाद इन्होने नेटवर्किंग एक़ुइपटमेंट में पहली नौकरी की शुरुवात की।

वह game industry में कैसे आए?

भारत में गेमिंग एप्लीकेशन की दुनिया में शीर्ष पर पहुंचने में उन्हें 13 साल लग गए। कहानी शुरू होती हैं उनकी पहली नौकरी से, जिस जगह उन्हें उनका पहला smartphone मिला। वहां, सौरभ ने स्मार्टफोन पर भविष्य के अवसरों को देखा और डिवाइस के लिए हैक्स का निर्माण शुरू किया, जो कि बाजार द्वारा बहुत अच्छी तरह से लिया गया था, जब तक कि उन्होंने एक प्रोडक्ट विकसित नहीं किया।

Octro Inc. का जन्म कैसे हुवा?

Octro Inc. की स्थापना नोएडा में 2006 में हुई थी, जिसके ठीक बाद सौरभ ने अपनी पहली कंपनी बेची थी। यह एक कंपनी के रूप में शुरू हुआ जिसने VOIP (voice over IP) किया, जिसने ग्राहकों के पोर्टफोलियो के निर्माण के लिए रास्ते खोले, क्योंकि उन्होंने विंडोज सहित लगभग सभी प्लेटफार्मों के लिए एक mobile communication product बनाया। हालांकि, यह बाजार कई जटिलताओं से भरा था, यही कारण हैं की वे और उनकी टीम ने गेमिंग इंडस्ट्री की तरफ रुख करने फैसला लिया, यह एक ऐसा क्षेत्र था, जिसमे बहुत कम कंपनियां गेम बनाने के लिए थी।

आज यह दुनिया की सबसे प्रमुख कंपनियों में से एक है, जिसका गेम Google Play Store में शीर्ष 5 गेमों में हैं। सौरभ के लिए, इसके पीछे का रहस्य हैं की धैर्य रखना, लगातार बने रहना और जितना हो सकते बॉक्स के बाहर सोचने की कोशिश करना है।

सौरभ की कहानी प्रेरणादायक है। कई बार हम अपने रचनात्मक पक्ष को दिन-प्रतिदिन के तनाव के कारण दिखने नहीं देते हैं। बल्कि हमें इसका ख्याल और सुरक्षित रखना चाहिए, हम कभी नहीं जानते कि हमारी कल्पना हमें कहां ले जा सकती है।

Also, Read More :- 

Leave a Comment

Your email address will not be published.