मार्क ज़ुकेरबर्ग की जीवनी | Mark Zuckerberg Biography in Hindi

Mark Zuckerberg in Hindi / फ़ेसबुक जो की दुनिया की सबसे बड़ी सोशियल नेटवर्किंग साइट हैं, और शायद ही दुनिया मे कोई ऐसा जगह हो जहां इंसान रहता हो और इंटरनेट की सुविधा हो और वहाँ फ़ेसबुक उज करने वाला व्यक्ति ना हो। लेकिन क्या आपको पता हैं फ़ेसबुक के जन्मदाता कौन हैं? फ़ेसबुक कैसे बना? कहाँ से बना? तो चलिए जानते हैं फ़ेसबुक के निर्माता मार्क ज़ुकेबर्ग का जीवन परिचय इन्होने कैसे इतनी बड़ी सोशियल साइट का निर्माण किया।

Mark Zuckerberg Biography In Hindi

मार्क जुकेरबर्ग का परिचय – Mark Zuckerberg Biography in Hindi

पूरा नाम मार्क एलियट ज़ुकेरबर्ग (Mark Elliot Zuckerburg)
जन्म दिनांक 14 मई, 1984
जन्म स्थान वाइट प्लेन्स, न्यू यॉर्क, अमेरिका.
पिता का नाम एडवर्ड ज़ुकेरबर्ग
माता का नाम कारेन कम्पनेर
जीवन साथी प्रिसैला चान
कर्म-क्षेत्र Chairman & CEO of Facebook, Incराजा दलपतशाह
राष्ट्रीयता अमेरिकन
शिक्षा ग्रेजुएशन
रिलिजन नास्तिकता
प्रसिद्धि के कारण एक अमेरिकेन उद्यमी और सामाजिक नेट्वोर्किंग साईट फेसबुक के सह-स्थापना के लिए प्रसिद्ध व्यक्ति हैं।

मार्क इलियट जुकेरबर्ग एक अमेरिकन कंप्यूटर प्रोग्रामर, अमेरिकन उद्यमी और सामाजिक नेटवर्किंग साईट फेसबुक के सह-संस्थापक, अध्यक्ष है। मार्क ज़ुकेरबर्ग ने सोशल नेटवर्किंग फेसबुक को अपने कॉलेज हॉस्टल के कमरे में ही बनाई थी। मार्क ज़ुकेरबर्ग बचपन से बहुत ही बुद्धिमान थे। उन्हें अपने स्कूल के गणित, खगोल विज्ञानं, भौतिकी और शास्त्रीय अध्ययन के लिए पुरस्कृत भी किया गया था।

प्रारंभिक जीवन – Early Life Mark Zuckerberg

मार्क जुकेरबर्ग का जन्म 14 मई 1984 को प्लेन्स, न्यू-यॉर्क में एक यहूदी परिवार मे हुआ. उनके पिता डेंटिस्ट एडवर्ड जुकेरबर्ग और माता मनोचिकित्सक करेन केम्प्नेर हैं। मार्क के तीन बहने भी हैं. रेंड़ी, डोना और आरिएल्ले, मार्क का बचपन पूरा परिवार के साथ न्यू-यार्क मे ही बिता।

अर्द्स्लेय हाई स्कूल में उन्होंने ग्रीक रोमनिय भाषा साहित्य का अध्ययन किया था। और बाद माध्यमिक शिक्षा प्राप्त करने के लिए उन्हें फिलिप्स एक्सेटर अकादमी, हैम्पशायर गये. जहा विज्ञान और साहित्यिक प्रेक्टिस में उन्हें कई पुरस्कार भी मिले। एक कॉलेज लेटर में जुकेरबर्ग ने यह कहा था की वे अच्छी तरह से फ्रेंच, हिब्रू, लैटिन और प्राचीन ग्रीक पढ़ और लिख सकते है। इसके बाद उन्होने हार्वर्ड कॉलेज में एडमिसन लिए।  कॉलेज मे वे व्याख्यानों के लिये जाने जाते थे, जिनमे कई कविताये भी शामिल है जैसे थे ल्लीयाद।

मार्क जुकेरबर्ग शादी – Mark Zuckerberg Wedding  : 

मार्क जुकेरबर्ग ने प्रिसैला चान से शादी की जो हार्वर्ड मे साथ मे पढ़ाई करते थे। वे 2003 से एक दूसरे के साथ डेट करते थे. ज़ुकेबर्ग ने 1 दिसम्बर 2015 को अपने पहले बच्चे के जन्म को घोषित किया, जिसका नाम मक्सिमा चन जुकेरबर्ग “मैक्स” है. और जुकेरबर्ग और चन की पूर्वघोषना के अनुसार उन्होंने अपने 99% शेयर उसके नाम कर दिए थे।

फ़ेसबुक की स्थापना – Facebook Start

ज़ुकेबर्ग को बचपन से प्रोग्रामिंग मे बहुत रूचि थी वे जब लगभग 12 वर्ष एक थे तब उन्होंने अटारी बेसिक का उपयोग करके मेसेजिंग प्रोग्राम बनाया था जिसका मार्क ने “ज़ुक्कनेट” नाम दिया था। मार्क ने पिता इस प्रोग्राम को अपने दाँतो का कार्यालय में उपयोग करते थे ताकि दन्त रोगी का स्वागत करने वाला कमरे में आकर चिल्लाए बिना एक नया रोगी की सुचना दे सके।

फिर उसके बाद मार्क ने उनके दोस्त के साथ मिलकर मनोरंजन के लिए कंप्यूटर गेम भी बनया था।

इतना ही नहीं मार्क ने अपने उच्च माध्यमिक स्कूल में एक बुद्धिमान मीडिया एंपी 3 प्लेयर भी बनाया जिससे एक एंपी3 प्लेयर की लिस्ट बन जाती थी इस लिस्ट में अपने आप यूजर के एक्टिविटी से एंपी3 लिस्ट वही बनती जो यूज़र्स अबी सुनना चाहता है। इस प्रोग्राम के लिए मैक्रोसोफ्ट और येओएल जैसे कंपनी मार्क को खरीदना चाहा लेकिन मार्क अपना पढ़ाई मे ध्यान देना चाहते थे।

वे एक बार हॉवर्ड मे हेक करते हुए भी पकड़े गये थे। वे एक ऐसा प्रोग्राम बनाया जो ऑटो 2 फीमेल के इमेज शो करता है और उन पर वोटिंग चलाता है कि कौन इन दोनों में से ज्यादा ब्यूटिफुल है। वोटिंग वेबसाइट पर आने वाले लोगो के द्वारा की जाती है यानी वेबसाइट पर आने वाले लोग वोटर्स होते थे। इस वेबसाइट पर बहुत ही कम समय में बहुत ही ज्यादा लोग/ट्रैफिक आ गये थे। साईट पर ज्यादातर ट्रैफिक हार्वर्ड कॉलेज के छात्र थे। जायदा ट्रैफिक की संख्या बढ़ने पर सर्वर भी क्रेश हो गया था।

और फिर अब आता है मार्क का सबसे ही बड़ा प्रोजेक्ट, फेसबुक। जिसको पूरी दुनिया उपयोग करती है। मार्क ने अपने बाकि प्रग्राम की तरह फेसबुक को भी बहुत कम समय में बना लिया था।

सबसे पहले ज़ुकेरबर्ग के पास सोशल नेटवर्क वेबसाइट बनाने का विचार लेकर दिव्य नरेन्द्र आए थे। दिव्य नरेन्द्र एक अमेरिकी कारोबारी हैं जिन्होंने अपने शिक्षा के समय हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में ज़ुकेरबर्ग को एक सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट बनाने की सलाह दी थी जिसका नाम हावर्ड कनेक्शन रखा गया। पर बाद में ज़ुकेरबर्ग को अपना सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट बनाने का विचार आया जिसका डोमेन नाम उन्होंने thefacebook.com लिया था जो आज फेसबुक के नाम से मशहूर है।

फेसबुक की शुरुवात फरवरी 4, 2004 हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में पढाई करने के दौरान उन्होंने अपने यूनिवर्सिटी के हॉस्टल कमरे में रहने वाले मित्रों के साथ लोंच किया था। अपने कॉलेज रूममेट्स और हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के सहकर्मी Eduardo Saverin, Andrew McCollum, Dustin Moskovitz और Chris Hughes के साथ मिलकर उन्होंने हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में ही फेसबुक की स्थापना की थी।

2010 से, टाइम्स पत्रिका ने मार्क जुकेरबर्ग के नाम को दुनिया के सबसे अमीर एवं प्रतिभावान 100 व्यक्तियों की सूचि में शामिल किया है। वही एक बार वे टाइम्स पत्रिका के “पर्सन ऑफ़ दी इयर” भी रह चुके है।

फेसबुक की मदद से मार्क ज़ुकेरबर्ग 23 साल की उम्र में करोड़पति बन चुके थे । देखते ही देखते फेसबुक इन्टरनेट पर बहुत ज्यादा मशहूर बन गया। अक्टूबर 2006, जैसे ही फेसबुक पर 50 करोड़ ट्रैफिक पुरे हुए Yahoo! ने फेसबुक को 1 अरब $ में खरीदने का ऑफर दिया पर ज़ुकेरबर्ग नें पूरी तरीके से मना कर दिया।

मार्क ज़ुकरबर्ग ने इतने कम समय में सफलता प्राप्त की यह कोई जादू नहीं है उनकी कड़ी मेहनत का फल है । उन्होंने अपने रूचि को अपना उत्साह बनाया और आगे बढ़ते चले गए।


  और अधिक लेख  –

Note – Mark Zuckerberg Story In Hindi जानकारी कैसे लगी कृपया कॉमेंट से बताए और About Mark Zuckerberg Biography In Hindi व New Post अपने ईमेल मे फ्री प्राप्त करने के लिए Free Subscribe करना ना भूले, धन्याबाद,

1 thought on “मार्क ज़ुकेरबर्ग की जीवनी | Mark Zuckerberg Biography in Hindi”

Leave a Comment

Your email address will not be published.