प्रियंका गाँधी वाड्रा की जीवनी | Priyanka Gandhi Biography in Hindi

Priyanka Gandhi Vadra / प्रियंका गाँधी वाड्रा एक भारतीय राजनितिज्ञ हैं। वे भारत के सबसे प्रतिष्ठित राजनीतिक पर‍िवार गांधी-नेहरू परिवार से है और फिरोज़ गाँधी तथा इंदिरा गाँधी की पोती हैं। प्रियंका गांधी एक आकर्षक व्यक्त‍ित्व वाली मह‍िला हैं। इसलिए प्रियंका गाँधी लगभग हर चुनावों में कांग्रेस की स्‍टार प्रचारक के रूप में दिखाई देती हैं। कई बार प्रियंका के नाम का सुझाव कांग्रेस के अध्‍यक्ष पद के लिये भी दिया गया, लेकिन वे खुद कभी पार्टी की बागडोर हाथ में लेने के लिये आगे नहीं आयीं। प्रियंका बचपन से ही नेताओं के बीच पाली बड़ी हैं, इसलिए प्रियंका के लिए अपने जीवन में राजनीतिक रास्ता अपनाना स्वाभाविक ही था! आइये जाने विस्तार से प्रियंका गाँधी का जीवन परिचय।

प्रियंका गाँधी वाड्रा की जीवनी | Priyanka Gandhi Biography in Hindi

प्रियंका गाँधी का परिचय – Priyanka Gandhi ka Parichay 

पूरा नाम  प्रियंका गांधी वाड्रा
जन्म तारीख 12 जनवरी, 1972 50 साल (साल 2022 )
जन्म स्थान  दिल्ली, भारत
शिक्षा  मनोविज्ञान में बीए
बौद्ध अध्ययन में एमए
स्कूल  मॉडर्न स्कूल, नई दिल्ली, भारत
कॉन्वेंट ऑफ जीसस एंड मैरी, दिल्ली, भारत
कॉलेज  दिल्ली विश्वविद्यालय, दिल्ली, भारत
नागरिकता भारतीय
धर्म  बौद्ध धर्म
पेशा राजनीतिज्ञ
राजनैतिक पार्टी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (INC)
वैवाहिक स्थिति  विवाहित
विवाह की तारीख 18 फरवरी 1997
संतान 1 पुत्र 1 पुत्री

प्रियंका गाँधी वाड्रा की जीवनी – Priyanka Gandhi Biography in Hindi

प्रियंका गाँधी वाड्रा भारत के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गाँधी और भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की वर्तमान अध्यक्ष एवं सत्तारूढ़ संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन की मुखिया सोनिया गाँधी की दूसरी संतान है। प्रियंका का जन्म 12 जनवरी,1972,को दिल्ली में हुआ था। उनकी दादी इंदिरा गाँधी और परदादा जवाहर लाल नेहरू भी भारत के प्रधानमंत्री रहे हैं। उनके दादा फिरोज़ गाँधी एक जाने-माने संसद सदस्य थे और उनके परदादा, मोतीलाल नेहरु भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के एक महत्वपूर्ण नेता थे।

राजनीति के माहौल में पली बढी़ प्रियंका बचपन से ही इसमें रची बसी हैं। दादी इंदिरा गांधी की हत्या के बाद राहुल और प्रियंका ने अपनी पढ़ाई घर से ही जारी रखी। इसके बाद उनकी सामजिक जिंदगी बहुत सिमट गई। उन्हेें 24 घंटे सुरक्षाकर्मियों के साये में रहना पड़ता था। प्रियंका अपनी स्कूली श‍िक्षा नई द‍िल्ली के मॉर्डन स्कूल कान्वेंट ऑफ जीजस एंड मैरी से क‍ी और नई दिल्ली के जीजस एंड मैरी महाविद्यालय से स्नातक की पढ़ाई की है। मनोविज्ञान में बीए कर चुकीं प्रियंका की हिन्दी साहित्य में गहन रूच‍ि है। इसका श्रेय वह अम‍िताभ बच्चन की मां तेजी बच्चन को देती हैं। उन्होंने ही प्रियंका को इतनी अच्छी ह‍िन्दी स‍िखाई। वे प्रियंका को श्री हर‍िवंशराय बच्चन की कव‍िताएं सुनाती थीं और प्रियंका को उन्हें पढ़ने को कहती थीं।

प्रियंका की तुलना अक्सर उनकी दादी इंदिरा गांधी से होती है। प्रियंका का हेयरस्टाइल, कपड़ों के चयन और बात करने के सलीके में इंदिरा गांधी की छाप साफ नजर आती है। अपने भाई राहुल गांधी से उम्र में छोटी प्रियंका बचपन से ही काफी स्मार्ट हैं। सुंदर नैन-नक्श वाली प्रियंका अपनी दादी की छव‍ि हैं। उनका दमदार व्यक्त‍ित्व भी दादी की तरह है।

प्रियंका गांधी का परिवार जो राजनीती से जुड़े हैं – Priyanka Gandhi Family

पिता  राजीव गांधी
माता  सोनिया गांधी
दादाजी फिरोज गांधी
दादीजी  इंदिरा गांधी
भाई  राहुल गांधी
पर नाना पंडित जवाहरलाल नेहरु
चाचा  संजय गांधी
चाची  मेनिका गांधी

प्रियंका गांधी की शादी – Priyanka Gandhi Marriage

Priyanka Gandhi and Robert Vadra Wedding

18 फरवरी सन् 1997 में उनकी शादी द‍िल्ली के उघोगपत‍ि रॉबर्ट वडेरा से हुई। उनकी पहली मुलाकात एक म‍ित्र ओटेवियो क्वट्रोच के घर हुई थी। 29 अगस्त सन् 2000 में उन्होंने एक बेटे को जन्म द‍िया। उसके बाद उन्होंने 24 जून 2002 को एक बेटी को जन्म द‍िया। ज‍िनके नाम रेहान व म‍िराया है। कई बार चुनाव अभ‍ियान में प्रियंका अपने बच्चों के साथ दिखाई देती हैं। प्रियंका अपने पति रॉबर्ट वाड्रा से 13 साल की उम्र में मिली थीं। प्रियंका ने ही रॉबर्ट की तरफ दोस्ती का हाथ बढ़ाया था। प्रियंका और रॉबर्ट शादी से पहले 6 साल तक एकसाथ थे। इसके बाद उन्होंने परिवार को अपने रिश्ते के बारे में बताया। गांधी परिवार ने इस रिश्ते का विरोध किया लेकिन दादी इंदिरा गांधी की तरह प्रियंका भी अपने प्यार के लिए अड़ गईं। आखिरकार परिवार को हामी भरनी ही पड़ी। प्रियंका और रॉबर्ट की शादी काफी लो-प्रोफाइल रखी गई। शादी में महज 150 मेहमानों को निमंत्रण दिया गया. इन मेहमानों में बच्चन परिवार भी शामिल था।

प्रियंका गांधी का करियर – Priyanka Gandhi Career in Hindi

एक सफल और सक्रिय राजनीति घराने से संबंध रखने वाली प्रियंका अपना भव‍िष्य राजनीति में नहीं बनाना चाहतीं। जब उनसे इस बारे में सवाल क‍िया गया तो उनका जवाब न में ही रहा। उनका मानना है क‍ि राजनीति का मतलब स‍िर्फ लोगों की सेवा करना है और यह मैं पहले से कर रही हूं। गौरतलब है कि वे अपनी मां और भाई को चुनाव अभ‍ियान में मदद करती हैं। उनकी सबसे अध‍िक सक्रियता 2004 के उत्तरप्रदेश चुनाव में देखी गई थी। रायबरेली और अमेठी में वे अपने भाई राहुल, मां सोन‍िया गांधी के साथ जनसंपर्क में जाती रही हैं। प्रियंका गांधी ने अपना पहला सार्वजनिक भाषण 16 साल की उम्र में दिया था।

प्रियंका एक अच्छी इलेक्शन आर्गेनाइजर और अपनी मां की सलाहकार भी हैं।  उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव, 2007 में, जबकि राहुल गांधी ने राज्यव्यापी अभियान का प्रबंधन किया, उन्होंने अमेठी रायबरेली क्षेत्र की दस सीटों पर ध्यान केंद्रित किया, वहां दो सप्ताह बिताकर सीट आवंटन को लेकर पार्टी कार्यकर्ताओं के भीतर काफी अंतर्कलह को दबाने की कोशिश की।

2012 में उत्तर प्रदेश चुनाव के दौरान वे कांग्रेस की स्‍टार प्रचारक रहीं। उन्‍होंने इस बार अमेठी से बाहर जाकर सुल्‍तानपुर में भी प्रचार किया। 2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान उन्‍होंने स्‍टार प्रचारक के रूप में कांग्रेस का साथ दिया और बीच में सिक्‍योरिटी प्रोटोकॉल भी तोड़ा, जिसके लिये पुलिस ने उनसे ऐसा नहीं करने के लिये अनुरोध किया। हालाँकि लेकिन इस साल वे पार्टी को जीत नहीं दिला सकीं थी।

23 जनवरी 2019 को प्रियंका गांधी जी पूरी तरह से राजनीति में शामिल हो गई है। उन्हें उत्तर प्रदेश के पूर्वी हिस्से का प्रभारी महासचिव नियुक्त किया गया। अब 24 जनवरी 2019 को प्रियंका गांधी को कांग्रेस का महासचिव नियुक्त किया गया है। कुछ समय से यह पद रिक्त था। प्रियंका गांधी जी के राजनीति में शामिल होने पर कांग्रेस पार्टी के नेताओं का यह कहना है था की इससे पार्टी मजबूत स्थिति में होगी। लेकिन 2019 में भी पार्टी कुछ खास कमाल नहीं कर पायी।

व्यक्तिगत जानकारी – Priyanka Gandhi Personal Life in Hindi

प्रियंका गाँधी अपने बचपन में भारतीय स्वतंत्रता संग्राम से जुड़ी किताबें, हिंदी कहानियां और कविताएं पढ़ा करती थीं और वह अक्सर अपने खाली समय में इन सब विषयों पर पढ़ती रहती हैं। प्रियंका को फोटोग्राफी, कुकिंग, और पढ़ना खासा पसंद है। प्रियंका को बच्चों से खासा लगाव है। उन्होंने ही राजीव गांधी फाउंडेशन के बेसमेंट में बच्चों के लिए लाइब्रेरी शुरू कराई जिसका इस्तेमाल रोजाना कई बच्चे करते हैं।

प्रियंका गाँधी वाड्रा से जुड़े रोचक जानकारी – Interesting Facts about Priyanka Gandhi 

  • प्रियंका गाँधी शुरू से ही बौद्ध धर्म की प्रमुख अनुयायी थी। उन्होंने विपासना के एक चिकित्सक एस एन गोयनका से इसकी शिक्षा प्राप्त की। इसके बाद प्रियंका बौद्ध धर्म में परिवर्तित भी हो गई थी।
  • हालांकि उन्होंने दावा किया कि वह कभी राजनीति में नहीं आएंगी लेकिन 23 जनवरी 2019 को वह उत्तर प्रदेश के पूर्वी क्षेत्र से कांग्रेस पार्टी की महासचिव बनकर सक्रीय रूप से राजनीति में शामिल हुईं।
  • प्रियंका गाँधी की चाची मेनका गांधी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की एक राजनेत्री हैं और पीएम नरेंद्र मोदी की सरकार में केंद्रीय मंत्री रह चुकी हैं। उनके चचेरे भाई वरुण गांधी भी भाजपा के राजनेता हैं और सुल्तानपुर विधानसभा क्षेत्र से सांसद रह चुके हैं।
  • प्रियंका एक बेहद जिम्मेदार नागरिक और एक बहुत अच्छी आर्गेनाइजर भी हैं. वे राजनीतिक हित के मामले में अपनी माँ की मुख्य सलाहकार की भूमिका निभाती है।

FAQ

Q : प्रियंका गांधी के हस्बैंड कौन है?

Ans : रोबर्ट वाड्रा

Q : प्रियंका गांधी के पिता का नाम क्या है?

Ans : राजीव गांधी

Q : प्रियंका गांधी के कितने बच्चे हैं?

Ans : दो बच्चे हैं 1). मिराया वाड्रा और 2). रेहान वाड्रा

Q :  प्रियंका गांधी के बच्चों का क्या नाम है?

Ans : मिराया वाड्रा और रेहान वाड्रा

Q : प्रियंका गांधी के पति कहां के रहने वाले हैं?

Ans : रॉबर्ट वाड्रा का जन्म 18 अप्रैल 1969 में उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद शहर में हुआ था। मुरादाबाद पीतल के काम के लिए प्रसिद्ध है। वाड्रा के पिता राजेंद्र वाड्रा भी पीतल व्यवसायी थे जबकि उनकी मां मूलत: स्कॉटलैंड से हैं।


और अधिक लेख – 

Leave a Comment

Your email address will not be published.