जोगेश्‍वरी गुफ़ा का इतिहास और जानकारी | Jogeshwari Gufa in Hindi

Jogeshwari cave mumbai / जोगेश्‍वरी गुफ़ा मंदिर महाराष्ट्र के मुंबई से से 21 मील दक्षिण में अंबोली गांव के सामने, जोगेश्वरी (जोगेश्वरी या योगेश्वरी) का विशाल गुफ़ा मन्दिर है जो एलोरा के कैलाश मंदिर के अतिरिक्त भारत का सबसे विशाल गुहामंदिर माना जाता है।

जोगेश्‍वरी गुफ़ा का इतिहास और जानकारी | Jogeshwari Gufa in Hindi

जोगेश्‍वरी गुफ़ा, मुंबई – Jogeshwari Gufa Mandir in Hindi

जोगेश्‍वरी की गुफ़ा 1500 साल पुरानी है। इसका निर्माण काल 7वीं-8वीं शती ई. (उत्तर गुप्तकाल) है। गुफ़ा का अधिकांश भूगर्भ में बना है। इसका पत्थर भुरभरा है और इसी कारण अनेक मूर्तियाँ और गुहास्तंभ आदि समय के प्रवाह में नष्ट-भ्रष्ट हो गए हैं।

गुहा में शिव आदि हिन्दू देवों की सुन्दर मूर्तियों से स्थापित किया जा सकता है। जोगेश्वरी की गुफ़ा में जलनिर्यात का सुन्दर प्रबंध किया गया था। जोगेश्‍वरी गुफ़ा में पाषाण कला के नमूने हैं।

मुंबई में और भी कई गुफाएं हैं। उनमें से एलीफेंटा, महाकाली, कन्हेरी और जोगेश्‍वरी की गुफाएं प्रसि‍द्ध हैं। जोगेश्वरी गुफा एक पहाड़ को अन्दर से बिलकुल काट कर बनाई गई हैं, जिसके एक किनारे पर जोगेश्वरी मंदिर, बीच में आँगन-नुमा गुफा और दूसरी किनारे पर दोमंजिला गुफाएं. बीच का भाग भग्न हो जाने से अब वहां एक आँगन जैसा दिखाई देता है।

जोगेश्‍वरी की गुफ़ा तक पहुँचने के लिए चर्च गेट से 45 मिनट की यात्रा करनी होती है। जोगेश्‍वरी की गुफ़ा मंदिर में विशाल केंद्रीय हॉल भी है। इसके अतिरिक्त हनुमान, देवी माता जोगेश्‍वरी और गणेशजी की मूर्तियाँ भी यहाँ स्थित है।


और अधिक लेख –

Please Note :- I hope these “Jogeshwari Cave Temple Mumbai in Hindi” will like you. If you like these “Jogeshwari Gufa Information in Hindi” then please like our facebook page & share on whatsapp.

Leave a Comment

Your email address will not be published.