हाथों को कोमल और गोरा कैसे बनाएँ | Best Hand Care Tips in Hindi

हाथों को कोमल और गोरा कैसे बनाएँ | Best Hand Care Tips In HindiHand Care Tips – सुंदर दिखने का मतलब यह नही की सिर्फ़ चेहरे पे ही ध्यान दिया जाए, शरीर के अन्य अंगो की तरह आपके हाथों का भी खूबसूरती मे काफ़ी अहम रोल होता हैं। मुलायम, आकर्षक तथा नाजुक हाथ किसे अच्छे नहीं लगते। लेकिन ठंडे तापमान और लगातार उपयोग में आते रहने से आपकी कोमल हाथ सर्दियों के मौसम में रूखी सूखी और बेजान सी दिखने लगती है। चलिए मैं आपको कुछ ऐसे घरेलू नुस्खे की जानकारी दे रहा हूँ, जिससे आपके हाथ रूखी-सुखी और बेजान नही लगेंगे।

याद रखें कि अपने हाथों के लिए जो भी उपचार आप चुनें अच्छे नतीजे पाने के लिए नियत समय पर निश्चित रुप से उन्हें बार-बार दोहराना जरूरी है।

हाथों को गोरा और कोमल बनाएँ बनाने के घरेलू तरीके – Hatho ko Gora Kaise Kare in Hindi

  • हाथो को मुलायम और स्वस्थ रखने का एक पुराना नुस्खा यह है की- चौथाई कीलो ज़ई के आटे को, एक क्वाटर गर्म पानी में शाम को भिगो दें। इसे रात भर छोड़ दें अगली सुबह उसे छान लें। जो द्रव हासिल होता है उसमे एक छोटा चम्मच जैतून का तेल, एक छोटा चम्मच नींबू का रस, साथ में एक छोटा चम्मच पानी मिला अमोनिया मिलाकर अच्छी तरह फेंट लें। एक लोशन को एक बोतल में इकट्ठा कर ले और दिन में कम-से-कम तीन-चार बार अपने हाथों पर इसकी मालिश करें।
  • साबुन, कड़े डिटर्जेंट और दूसरे ऐसे पदार्थों द्वारा किए गए नुकसान की भरपाई करने के लिए ग्लिसरीन और गुलाब जल की बराबर-बराबर मात्रा को मिलाकर अपने हाथों पर लगाएं।
  • सूखे हाथों की चिकित्सा के लिए लेनोलिन, कोको, मक्खन और बदाम का तेल बराबर-बराबर मात्रा में मिलाकर इनसे से बने मिश्रण को हाथों पर रगड़ना चाहिए।
  • एक अंडे की जर्दी में एक छोटा चम्मच शहद और दो बड़ा चम्मच बादाम का तेल मिलाकर फेंट लें। इस मिश्रण को अच्छी तरह हाथों पर मालिश करने के लिए सूती दस्ताने पहने लें। 1 घंटे बाद दस्ताने उतार दें और साफ पानी तथा सिरका बराबर-बराबर मिलाकर उससे हाथ को धो ले। बचे हुए लोशन को कांच की बोतल में डाल कर फ्रिज में रख दें या लोशन 2 सप्ताह तक ठीक रह सकता है। (इसका रोजाना दो बार इस्तेमाल करें)
  • हाथों को मुलायम रखने के लिए सहद और संतरे के रस के मिश्रण में 10 मिनट तक उन्हें डुबोएँ। फिर हल्के गर्म पानी से उन्हें धो डालें, तौलिए से सुखाएं और तब उन पर हैंड क्रीम लगाएं।
  • वैसलीन (पेट्रोलियम जेली) मे कार्बोलिक अम्ल मिलाकर या फिर खाली वैसलीन लगाकर रात-भर छोड़ दें। इससे बहुत सख़्त हाथ भी मुलायम हो जाते हैं।
  • दही में बेसन को बराबर मात्रा में लेकर इसे मिक्स करके इसका पेस्ट तैयार कर लीजिये। इस पेस्ट को हाथो में 15 मिनट तक लगा रहने दे। 15 मिनट बाद हाथो को गरम पानी से धो दे। बेसन और दही हाथो से टैनिंग मिटाती है और उसमें ग्लो भरती है।
  • शहद में बादाम तेल मिला लें, इस मिश्रण को हाथो में लगाये। जिससे हाथों का रूखापन दूर करने में मदद मिलती हैं। कुछ दिन लगातार इसका प्रयोग करे इससे हाथ कोमल और खूबसूरत बनेगे।

>> अपने हाथों का प्राकृतिक तेलों से उपचार करें : आप प्राकृतिक तेलों को भी लोशन की तरह ही नियमित अपने हाथों पर लगा सकते हैं। इनकी बहुत थोड़ी सी मात्रा भी लंबे समय तक काम करती है, यह एक सस्ता विकल्प भी है। नींचे दिये गए सभी प्राकृतिक तेल खाना पकाने में उपयोग होते है, लेकिन ये नियमित रूप से लगाने पर त्वचा, नाखून और बालों को भी पोषण देते हैं और स्वस्थ बनाते है:-

  1. एवेकेडो (Avocado)
  2. बादाम
  3. एलों वेरा जेल
  4. नारियल
  5. कोकोआ बटर
  6. सूरजमुखी
  7. जैतून

>> सौम्य, प्राकृतिक साबुन का उपयोग करें:- नियमित रूप से हाथ धोना स्वछता की दृष्टि से अच्छा होता है, लेकिन ऐसा करने से आपके हाथ रूखे हो जाते है। ऐसा साबुन पता करे जो त्वचा के लिए संवेदनशील और जिसमे की नमी प्रदान करने वाली सामाग्री जैसे की जोजोबा (jojoba), जैतून का तेल हो, जो पोषण देकर रूखे हाथों को ठीक करने में मदद करें।

  1. अल्कोहल और ग्लिसरीन वाले हाथ साफ करने वाले हैंड सैनिटाइजर(hand sanitizer) का उपयोग न करें, जो की आपके हाथों की त्वचा को रुखा कर देते है।
  2. नियमित रूप से शरीर की सफाई के लिए उपयोग किए जाने वाले बॉडी वॉश (body wash), या साबुन ऐसे चुनें की उनमे नमी प्रदान करने वाली सामग्री शामिल हो, जिससे की आप रोज़ नहाते या शावर (shower) लेने के समय अपने हाथों को रूखे होने से बचा सके।

दूध और निम्बू -.दूध और निम्बू स्किन के लिए नेचुरल ब्लीच का काम करता है। एक कटोरी दूध में कुछ बूंदे निम्बू के रस की और आधा चम्मच ग्लिसरीन मिला ले। अब इस मिश्रण को 10 मिनट तक आप हाथ पर लगाए फिर ठन्डे पानी से इसे साफ़ कर ले। हाथ का कालापन दूर करने और चमकदार बनाने के लिए ये बहुत सरल उपाय है।

हमेशा अपनी त्वचा की प्रत्यूर्जता (allergy) और स्थिति (जैसे की संवेदनशील) को ध्यान में रखें। और लोशन को पूरे हाथों पर लगाने से पहले इसे अपने शरीर के छुपे हुए हिस्सो पर लगाकर जाँच कर लें। यदि कोई भी उत्पाद से आपको परेशानी या तकलीफ हो रही हो तो उसे लगाना बंद कर दें।

You May Also Like This Article –

Leave a Comment

Your email address will not be published.