ये हैं दुनिया के 10 सबसे लंबी नदियाँ – Top 10 Largest Rivers in the World Hindi

नदियों का नाम आते ही सबसे पहले दिमाग़ मे क्या आता हैं ये आपको पता ही होगा, चाहे लंबाई की बात हो, या चौड़ाई की, या फिर पवित्रता की, सबसे पहले दिमाग़ मे गंगा नदी ही आती हैं। लेकिन आपको ये बात जानकार आश्चर्य होगा की विश्व के 10 सबसे लंबी नदियों की सूची मे गंगा नदी शामिल नही हैं। आइए आज आपको बताते हैं दुनिया की 10 सबसे लंबी नदियों के बारे में :-

The Top Ten: Longest Rivers of the World Information In Hindi –


1. नील नदी (nile river), अफ्रीका – यह नदी नॉर्थ-ईस्ट अफ्रीका में बहती है. यह विश्व की सबसे लंबी नदी है। इसकी लंबाई 6650 किलोमीटर यानी कि 4132 मील है। इसकी कई सहायक नदियाँ हैं जिनमें श्वेत नील एवं नीली नील मुख्य हैं। सी नदी पर मिस्र देश का प्रसिद्ध अस्वान बाँध बनाया गया है।


2. अमेजन नदी (Amazon river), साउथ अमेरिका – इस नदी की लंबाई 6400 किलोमीटर है, जो नील नदी से थोड़ी कम है। लंबाई के मामले में यह नदी भले ही विश्व में दूसरे नम्बर पर है लेकिन आयतन (लंबाई-चौड़ाई) के हिसाब से और पानी के घनत्व के हिसाब से यह दुनिया की सबसे बड़ी नदी है। इस नदी में बहने वाला पानी विश्व की अन्य समस्त नदियों का पांचवा हिस्सा है। बारिश के दिनों में इस नदी की चौड़ाई 190 किलोमीटर तक हो जाती है। दुनिया के समुद्रों में जितना मीठा पानी जाता है उसमें अमेज़न का योगदान 20 प्रतिशत है।


3. यांगत्जी नदी (yangtze river), चीन – चीन में बहने वाली यह नदी एशिया की सबसे बड़ी तथा दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी नदी है। इसकी लंबाई 6300 किलोमीटर है। चीन सरकार ने चीन के सबसे ज्यादा आबादी वाले वुहान शहर के दो हिस्सों को आपस में जोड़ने के लिए इस नदी के आर-पार मेट्रो लाइन का निर्माण भी कर दिया है। इस रेल लाइन की शुरुआत दो साल पहले हुई थी। इस नदी को चीन में चेन जियांग के नाम से भी जाना जाता है।


4. मिसिसिपी-मिसौरी (Mississippi river), यूएस – लंबाई के आधार पर यह नदी अमेरिका की सबसे बड़ी तथा विश्व की चौथी सबसे बड़ी नदी है। इसकी लंबाई 6275 किलोमीटर है। मिसिसिपी की सहायक नदी मिसौरी है और मिसौरी की सहायक नदी जेफरसन है। मिसिसिपी नदी का स्त्रोत इटास्का झील को माना जाता है।


5. येनिस-अंगारा – सेलेंगा (Angara River), रूस और मंगोलिया – यह विश्व की पांचवी सबसे लंबी नदी है, जो रूस में बहती है। इस नदी की लंबाई 5539 किलोमीटर है यानी 3445 मील। ये तीन नदियां हैं, जो एक-दूसरे से जुड़ती चली जाती हैं। यह नदी मंगोलिया के मध्य भाग से निकलती है और रूस के कई क्षेत्रों से बहते हुए आर्कटिक महासागर में मिल जाती है।  इसकी औसत गहराई 14 मीटर (45 फ़ुट) है और सबसे ज़्यादा गहराई 24 मीटर (80 फ़ुट) है।


6. यलो नदी (Yellow river china), चीन – यह नदी मध्य और दक्षिण एशिया की प्रमुख नदी है. इसकी लंबाई 5464 किलोमीटर है। यह चीन, तिब्बत, भारत और बांग्लादेश से होकर बहती है। इसका नाम तिब्बत में सांपो, अरुणाचल में डिहं तथा असम में ब्रह्मपुत्र है। यह दुनिया की सबसे गहरी नदी है।


 

7. ओब-इरटिस नदी (Ob irtysh river), रूस और कजाखस्तान – ओब-इरटिस नदी या ओबी नदी उत्तर एशिया के पश्चिमी साइबेरिया क्षेत्र की एक नदी है। ओब नदी की शुरुआत रूस के अल्ताई क्राय प्रदेश के बियस्क शहर से 26 किमी दक्षिण-पश्चिम में बिया नदी और कुतुन नदी के संगम से होती है। इस नदी की लंबाई 5410 किमी है। ओब नदी में इरतिश के अलावा और भी नदियाँ विलय होती हैं, जैसे की तोम नदी, चुलयिम नदी, केत नदी, त्यिम नदी, वाख़ नदी, वासयुगन नदी और सोस्वा नदी।


8. पराना नदी (Parana river), साउथ अमेरिका – यह नदी दक्षिण-मध्य अमेरिकी में बहती है। दक्षिण अमेरिका में बहने वाली नदियों में अमेजन नदी के बाद यह दूसरी सबसे बड़ी नदी है। पराना नदी का मतलब है- ‘समुद्र जैसी विशाल.’ यह ब्राजील, पैराग्वे और अर्जेंटीना में बहते हुए 4880 किमी का सफर तय करती है। पहले यह पैराग्वे नदी में मिलती है और फिर और नीचे गिरते हुए उरुग्वे नदी में मिल जाती है और रिओ दे ला प्लाता नदी के मुहाने का निर्माण करते हुए अटलांटिक महासागर में मिल जाती है।


9. कांगो नदी (Congo river), अफ्रीका – इस नदी को जेयरे नदी के नाम से भी जाना जाता है। यह नदी 4700 किमी की दूरी तय करती है। इसका प्रवाहक्षेत्र 14,25,000 वर्ग मील है। नील नदी के बाद यह अफ्रीका की सबसे लंबी नदी है। यह समुद्र में प्रति सेकंड 20 लाख घन फुट कीचड़ युक्त पानी गिराती है, जो संपूर्ण मिसिसिपी के औसत का चौगुना है।


10. अमूर-अर्गुन (Amur river) नदी, रूस और चीन – यह विश्व की दसवीं सबसे लंबी नदी है। इसकी लंबाई 4444 किमी है। रूस और चीन के बीच जमीन के लिए जो झड़पें 17वीं शताब्दी से 20वीं शताब्दी तक चलीं, उनमें अमूर नदी की अहम भूमिका थी। यह नदी रूस के सूदूर पूर्वी क्षेत्रों और पूर्वोत्तरी चीन के दरमियान अंतरराष्ट्रीय सीमा भी है।


और अधिक लेख –

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here