स्मृति ईरानी की जीवनी | Smriti Irani Biography in Hindi

Smriti Irani – स्मृति ज़ुबिन ईरानी एक महिला राजनीतिज्ञ हैं। इन्होने भारत सरकार में महत्वपूर्ण मंत्री पद पर रह चुकी हैं। इससे पहले वे भारतीय टेलीविज़न अभिनेत्री थी। 2019 के लोकसभा चुनाव में अमेठी से सांसद और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को इन्होने शिकस्त दी।

स्मृति ईरानी का परिचय – Smriti Irani Biography in Hindi

स्मृति ईरानी का पूरा नाम स्मृति ज़ुबिन ईरानी है। उन्होंने राष्ट्रीय राजधानी में ही शिक्षा ग्रहण की। वे सौंदर्य प्रसाधनों के प्रचार से लेकर मिस इंडिया प्रतियोगिता की प्रतिभागी भी बनीं। मॉडलिंग में प्रवेश करने से पहले, वह मैकडॉनल्ड्स में वेट्रेस और क्लीनर के पद पर कार्य कर चुकी हैं। बाद में वे मुंबई चली आयीं, जहां उन्होंने टेलीविजन धारावाहिक ‘क्योंकि सास भी कभी बहू थी’ में ‘तुलसी’ का केन्द्रीय किरदार निभाया और चर्चित हुईं।

भारतीय टेलीविज़न अभिनेत्री, महिला राजनीतिज्ञ और भारत सरकार के अंतर्गत कपड़ा मंत्री हैं, और इससे पूर्व वे मानव संसाधन विकास मंत्री रह चुकी हैं।

प्रारंभिक जीवन – Early Life of Smriti Irani in Hindi

स्मृति ज़ुबिन ईरानी का जन्म: 23 मार्च 1976 को दिल्ली में हुआ। इनके पिता अजय कुमार मल्होत्रा का जहां एक पंजाबी परिवार से ताल्लुक था। वहीं इनकी मां शिबानी एक बंगाली परिवार से आती थी। स्मृति ईरानी तीन बहनों में सबसे बड़ी हैं। स्मृति ईरानी ने नई दिल्ली में हॉली चाइल्ड औक्सिलियम स्कूल से अपनी 12वीं कक्षा की पढ़ाई की हुई है। इन्होंने अपनी डिग्री दिल्ली विश्वविद्यालय से ली।

स्मृति ईरानी ने 10वीं की परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद से ही पैसा कमाना शुरू कर दिया था और सौंदर्य प्रसाधन के प्रचार करने लगी थी। रूढ़ीवादी पंजाबी-बंगाली परिवार की तीन बेटियों में से एक स्मृति ने सारी बंदिशें तोड़कर ग्लैमर जगत में कदम रखा। उन्होंने 1998 में मिस इंडिया प्रतियोगिता में हिस्सा लिया, लेकिन फाइनल तक मुकाम नहीं बना पाईं। इसके बाद स्मृति ने मुंबई जाकर अभिनय के जरिए अपनी किस्मत बनाई।

स्मृति ने 2001 में अपने बचपन के दोस्त जुबिन ईरानी से विवाह किया था। जुबिन ईरानी एक व्यापारी हैं और स्मृति के साथ उनकी ये दूसरी शादी है। वहीं इस शादी से इन दोनों के दो बच्चे हैं, एक लड़का और एक लड़की। लड़के का नाम जोहर है जबकि लड़की का नाम ज़ोईश है।

कैरियर – Smriti Irani Television Career in Hindi

स्मृति ईरानी अपने सपनों को पूरा करने के लिए दिल्ली को छोड़ मुंबई 1990 के दशक में आ गई। मुंबई में स्मृति ईरानी ने 1998 में फेमिना मिस इंडिया सुंदरता प्रतियोगिता में भाग लिया। हालांकि वो इस प्रतियोगिता को जीत नहीं पाई, मगर उन्होंने शीर्ष फाइनलिस्ट में अपनी जगह बना ली। स्मृति ईरानी गायक मिका सिंह के साथ एक गाने में भी नजर आई हैं। लेकिन स्मृति ईरानी को सही पहचान एकता कपूर के सीरियल ‘क्योंकि सास भी कभी बहू थी’ से मिली। इस सीरियल मे स्मृति ने तुलसी नाम की महिला की भूमिका निभाई, इसके साथ ही स्मृति ने लोगो के दिल में जगह बनाने में कामयाब रही। ये नाटक 3 जुलाई 2000 से 6 नवंबर 2008 तक चला था।

वहीं ‘क्योंकि सास भी कभी बहू थी’ के अलावा स्मृति ईरानी ने ओर भी कई सारे सीरियलों मे अपना अभिनय दिखाया है। जैसे ‘क्या हादसा क्या हकीकत’, ‘रामायण’, ‘मेरे अपने’ और इत्यादि। इतना ही नहीं उन्होंने बंगाली, हिंदी और तेलुगू भाषा की कुछ फिल्मों में भी काम किया है। स्मृति ने कई सारे रंगमंच (थिएटर) में भी कार्य किया है।

राजनीतिक कैरियर – Smriti Irani Political Career

स्मृति ईरानी का राजनीतिक जीवन वर्ष 2003 में तब शुरू हुआ जब उन्होंने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सदस्यता ग्रहण की और दिल्ली के चाँदनी चौक लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से चुनाव लड़ा। हालांकि वे भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के उम्मीदवार और पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल से हार गईं। वहीं 2004 में स्मृति ईरानी को पार्टी द्वारा महाराष्ट्र युवा विंग के उपाध्यक्ष का पद सौंपा गया और यहां से शुरू हुआ स्मृति ईरानी का राजनीति करियर आज एक नए मुकाम पर पहुंच चुका है।

अपने इस 19 साल के सफर में स्मृति ईरानी ने पार्टी की तरफ से दी गई कई सारी अहम जिम्मेदारियां निभाई हैं। इतना ही नहीं साल 2014 में देश में हुए लोकसभा के चुनाव के लिए बीजेपी ने कांग्रेस पार्टी के उस समय के उपाध्यक्ष राहुल गांधी के विरुद्ध स्मृति ईरानी को खड़ा किया था। हालांकि इस चुनाव में स्मृति को राहुल गांधी से हार मिली थी। लेकिन बीजेपी को इन चुनाव में मिली जीत के बाद उन्होंने केंद्रीय मंत्री बना दिया गया। साथ ही 2019 के चुनाव में स्मृति ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को मात देकर पासा पलट दिया।

सम्मान और पुरस्कार – Smriti Irani Awards

  1.  5 बार सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के लिए भारतीय टेलीविजन अकादमी पुरस्कार
  2. 4 बार इंडियन टेली पुरस्कार
  3. 8 बार स्टार परिवार पुरस्कार

और अधिक लेख –

Leave a Comment

Your email address will not be published.