पत्रकार रविश कुमार की जीवनी | Ravish Kumar Biography In Hindi

Ravish Kumar in Hindi/ रविश कुमार एक भारतीय टीवी एंकर, लेखक और पत्रकार है जो भारतीय राजनीति और समाज से संबंधित विषयों को व्याप्ति किया है। रविश कुमार नाम है पत्रकारिता के उस जूनून का जो अपनी रिपोर्टिंग के पहले पांच मिनट में ऐसा समां बांधता है, कि आप विवश हो जाते हैं पूरी चर्चा को सुनने के लिए। साधारण व्यक्तित्व के रविश कुमार भारत के सबसे प्रसिद्द जर्नलिस्ट हैं। इन्हे पत्रकारिता क्षेत्र में कई सम्मान से भी नवाज़ा गया हैं।

पत्रकार रविश कुमार की जीवनी | Ravish Kumar Biography In Hindiरविश कुमार की जीवनी – Ravish Kumar Biography in Hindi

एनडीटीवी में अपनी पहली नौकरी के रूप में, रविश कुमार एनडीटीवी को भेजे गए पत्र पढ़ते थे और उनसे महत्वपूर्ण चीजों की पहचान करते थे। बाद में राजदीप सरदेसाई और प्रणय रॉय के सलाह पर उन्होंने पत्रकारिता शुरू की। वे अर्नाब गोस्वामी के साथ भी काम कर चुके है। कड़ी मेहनत और ईमानदारी के वजह आज  रविश कुमार एनडीटीवी इंडिया के वरिष्ठ कार्यकारी संपादक है। हिंदी समाचार चैनल एनडीटीवी समाचार नेटवर्क और होस्ट्स के चैनल के प्रमुख कार्य दिवस सहित कई कार्यक्रमों प्रस्तुत करते हैं जिनमे ‘प्राइम टाइम शो, हम लोग और रविश की रिपोर्ट हैं। ये NDTV India से लगभग 20 साल से जुड़े हैं।

रविश कुमार जनता की हित में मुद्दों की बात रखने के लिए जाने जाते हैं। कई बारे इन्हे इस कारण परेशानी का भी सामना करना पड़ा हैं। उनके पत्रकारिता करने अंदाज बिलकुल अलग हैं। वे अपने भाषा में अक्सर ‘बाबू जी’, ‘मां’, ‘बाग-बगीचे’, ‘खलिहान’, ‘बरहम बाबा’, ‘पोखर’, ‘छठी माई’, ‘नारायणी नदी’, ‘गौरैया’ आदि का जिक्र करते रहते हैं। वे हमेशा गरीबो की मुद्दों पर बात करते हैं। जो की दर्शाता हैं की वे जमीन से जुड़े व्यक्ति हैं। इसके आलावा उनका एक ब्लॉग भी हैं ‘कस्बा‘ जिसमे वे अपने विचार रखते हैं।

रविश कुमार सोशल मीडिया में भी काफी एक्टिव रहते हैं और अपनी बात रखते हैं।

Ravish Kumar Twitter Account – https://twitter.com/ravishndtv?lang=en

प्रारंभिक जीवन – Early Life of Ravish Kumar in Hindi

रविश कुमार का जन्म 5 दिसम्बर 1974 को एक छोटे से गांव जितवारपुर में हुआ था जो की बिहार के पूर्व चंपारन जिले के मोतीहारी में हैं। वे ब्राह्मण परिवार से सम्बन्ध रखते हैं इनका पूरा नाम रविश कुमार पांडेय (Ravish Kumar Pandey) हैं। इनकी शुरूआती शिक्षा लोयोला हाई स्कूल, पटना से हुई। इसके बाद उन्होंने अपने उच्च अध्ययन के लिए करने के लिए दिल्ली चले गए, जहा से इन्होने दिल्ली विश्वविद्यालय से स्नातक उपाधि प्राप्त की और भारतीय जन संचार संस्थान से पत्रकारिता में स्नातकोत्तर डिप्लोमा प्राप्त किया।

जब वे कॉलेज में M phil कर रहे थे तभी इनकी मुलाकात नयना दासगुप्ता से हुई, दोनों एक दूसरे को पसंद करते थे बाद इन दोनों ने शादी कर ली। शादी करने से पहले, रवीश और नयना ने लगभग सात साल तक डेट किया था। नयना दासगुप्ता अभी लेडी श्री राम कॉलेज दिल्ली में हिस्ट्री की टीचर हैं। एक इंटरव्यू में रविश कुमार ने कहा था की ‘मेरी पत्नी नयन दासगुप्ता मेरी मुख्य प्रेरणा है’

अवार्ड्स – Ravish Kumar Awards

पत्रकारिता जगत में अपनी अलग पहचान बना चुके पत्रकार रवीश कुमार को कई सम्मान से नवाजा गया हैं। जैसे –

  • हिंदी पत्रिका रंग में गनेेश शंकर छात्र पुरस्कार 2010 के लिए राष्ट्रपति के हाथों (प्रदान में 2014)।
  • पत्रिका रंग में रामनाथ गोएनाका पुरस्कार – 2013
  • भारतीय टेलिविजन पुरस्कार – 2014 – सर्वश्रेष्ठ हिंदी एंकर
  • 2017 में ‘लोकरत्न सम्मान’ (लोकरत्न सम्मान’ अमर कथा शिल्पी फणीश्वर नाथ रेणु के परिवार की तरफ़ से दिया जाता है। रेणु के गाँव औराही हिंगना में आयोजित कार्य्रकम में यह सम्मान रवीश कुमार को दिया गया)
  • कुलदीप नैयर अवार्ड्स संजीदा पत्रकार – 2017

2020 में रविश कुमार को ‘एशिया का नोबेल पुरस्कार’ (Asia’s Nobel) माने जाने वाले रेमन मैग्सेसे अवार्ड (Ramon Magsaysay Award) से सम्मानित किया गया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि भारत का मीडिया (Indian Media) ‘संकट’ में है और यह संकट ढांचागत है, अचानक नहीं हुआ है। ‘‘हर जंग जीतने के लिए नहीं लड़ी जाती… कुछ जंग सिर्फ इसलिए लड़ी जाती हैं, ताकि दुनिया को बताया जा सके, कोई है, जो लड़ रहा है. मैं उन सभी पत्रकारों की ओर से इस सम्मान को स्वीकार करता हूं.’’

रविश कुमार की प्रसिद्द किताबे – Ravish Kumar Books

  • इश्क में शहर होना
  • देखते रहिये
  • रवीशपन्ति

और अधिक लेख-

Please Note :  Ravish Kumar Biography & Life History In Hindi मे दी गयी Information अच्छी लगी हो तो कृपया हमारा फ़ेसबुक (Facebook) पेज लाइक करे या कोई टिप्पणी (Comments) हो तो नीचे  Comment Box मे करे।

8 thoughts on “पत्रकार रविश कुमार की जीवनी | Ravish Kumar Biography In Hindi”

  1. Bahut hi achha lga aapka jeevan parichay padkar hm bhi God se pray karenge ki aapko God bulandiyo tk pahuchaye kyo ki aapke sath India k lakho gareeb majloom logo ki duaye aapke sath h jab aap jaise repoter h tb tk meedia bharat ka 4th sthambh bna rahega

  2. मैं आदरणीय रविषकुमार जी को ,जब भी मुझे समय मिलता हैं utube पर उनको सुनता हुं, जिने की प्रेरणा मिलती हैं कठीण घडी मे।

  3. Ek sachha desh Bhakta hai ravish kumar maine kabhi kisi ke liye comment nahi Kiya but I salute ravish sir

  4. Ravish sir aap bjp ke liye nahi is system jo hindu Muslim right karwana chahti hai ke liye lad rahe ho sir aap continue raho kai pm aayenge aur jayenge jo aadwani Ka nahi hua apni patni Ka nahi hua wo mera aur aapka kaise hoga

  5. Rakesh Kumar Singh Kushwaha

    Ravish Kumar Ji aap bol achha lete ho parantu jat pat par charcha karna aap ko shobha nahi deti aap Brahman cast se belog karte ho acchi bat parantu sab jati ka samman aap ko karna hi parega .kisi jati par galat bat bolne se pehle 100 bar sochiye

  6. sayyed zayer hussain

    namashkar, ravish kumar ji apka channle bhot acha kabile tarif jo hamesha sach dikhata hai yaha tak ke mai janta hun sach dikhane walo ko mushkil or pareshaniyo se guzra padhta hai hazaro chizo ka samna karnma padhta hai lekin ap or media se alg hai apko dekhne bad dil me ek alg bat peda hoti hai zindgi me daro mat uska samna karo mujhe apka channle or ap bhot pasand hai agr ap mujhe seva ka mouka de to mere liye apki bhot meharbani hogi saharnpur se ndtv ke liye……….

Leave a Comment

Your email address will not be published.