बोमन ईरानी की जीवनी | Boman Irani Biography in Hindi

Actor Boman Irani / बोमन ईरानी बॉलीवुड के फेमस अभिनेता हैं जो अपनी जबरदस्त एक्टिंग की वजह से जाने जाते हैं। किसी समय मुंबई के ताज होटल में वेटर की नौकरी करने वाले बोमन ईरानी अपनी लगन और मेहनत के दम पर एक बहुत बड़ा मुकाम हासिल किया।

बोमन ईरानी की जीवनी | Boman Irani Biography in Hindi

बोमन ईरानी का परिचय – Boman Irani Biography in Hindi

बोमन ईरानी अपने द्वारा निभाए गए कॉमेडी और खलनायक के किरदारों के लिए जाने जाते हैं। लेकिन ऐसा नहीं की बोमन ईरानी शुरू से सफल रहे, आर्थिक तंगी कुछ ऐसी आई कि बोमन ने अलग-अलग तरह के बहुत सारे काम किये। कभी होटल में वेटर तो कभी बेकरी दूकान में काम, लेकिन उन्हें असली सफलता लगभग 44 साल की उम्र में जा कर मिली ।

मुन्ना भाई MBBS, 3 इडियट और PK जैसी फिल्मों में अपनी एक्टिंग के जलवे बिखेर चुके बोमन ईरानी आज किसी परिचय के मुहताज नहीं।

प्रारंभिक जीवन – Early Life of Boman Irani

बोमन ईरानी का जन्म 2 दिसंबर 1959 को मुंबई में एक पारसी परिवार में हुआ। उनके जन्म से 3 महीने पहले ही उनके पिता की मृत्यु हो चुकी थी। जिसके बाद उनका पालन माँ ने की। बचपन में वे अपनी मां की बेकरी में उनका हाथ बटाया करते थे।

बोमन ईरानी का पढाई सेंट मेरी स्‍कूल से हुई, जहां पर वे सबसे पिछड़े बच्चों में गिने जाते थे। बोमन ईरानी को बचपन में तुतलाने की बीमारी थी। वे कुछ शब्दों का उच्चारण भी वे सही से नहीं कर पाते हैं। हालांकि ट्रीटमेंट के बाद बोमन ने इस बीमारी से निजात पा लिया था, और फिर स्कूलिंग पूरी करने के बाद उन्होंने मुंबई के मीठीबाई कॉलेज से 6 महीनों का वेटर बनने के लिए कोर्स किया।

कोर्स कंप्लीट हो जाने के बाद वे ताजमहल पैलेस एंड टॉवर नाम की एक होटल में वेटर और रूम सर्विस स्टाफ के तौर पर काम करने लगे। इसके अलावा उन्होंने एक फ्रांसीसी रेस्टोरेंट में भी काम किया। बाद में उन्होंने अपनी मां के साथ पैतृक बैकरी में हाथ बंटाया। 1987 में बोमन ने फोटोग्राफी की तरफ रूख किया।

संघर्ष के समय – Struggle 

बोमन ईरानी को फिल्मो का सौख शुरू से था, इसलिए वे काम से भी टाइम निकाल के फिल्म देखने चले जाते थे। ये बात उनको हमेशा परेशान करती थी की उनका 32 साल हो चुका हैं, लेकिन उन्होंने अपनी लाइफ में ऐसा कुछ भी नहीं किया जिससे कि लोगों में उनकी पहचान बन सके।

कुछ समय बाद वे फोटोग्राफी में हाथ आजमाया। 1985 में PENTAX K100 मोडल का कैमरा खरीदा जिसकी कीमत उस समय 2700 रूपये थी। और फिर वे स्कुल में जा जा कर बच्चो के क्रिकेट और फूटबाल खेलते समय के फोटो खींचते, जिसे वे 20-30 रूपये में बेच दिया करते थे। इस तरह से आगे उन्होंने छोटे छोटे बहुत से इवेंट में भी फोटोग्राफी करनी स्टार्ट करी।

एक्टिंग में इंट्रेस्ट होने के कारण 1981 से 1983 तक एक्टिंग कोच हंसराज सिद्धिकी से ट्रेनिंग भी ली थी। जिसके बाद थियेटर में काम करना शुरू कर दिए। अब तक लगभग चालीस नाटकों में काम कर चुके हैं। शायद यही कारण है कि उनके अभिनय की वो झलक साफ दिखाई पड़ती है। आगे चलकर बोमन ने फेंटा सियेट और क्रैकजैक जैसे बहुत सारे विज्ञापनों में भी काम किया। 2001 में वह “एवरीबॉडी सेस आई एम फाइन” में नजर आएं, लेकिन इस फिल्म से उन्हें पहचान नहीं मिली।

फ़िल्मी करियर – Boman Irani Career

उन्हें फिल्‍मी करियर को पहचान फिल्‍म ‘मुन्‍नाभाई एम.बी.बी.एस.’ से मिली जिसके लिए उनकी काफी तारीफ हुई। यह फिल्म एक डायरेक्टर के तौर पर राजकुमार की भी डेब्यू फिल्म थी और इसके प्रोडूसर थे विनोद चोपड़ा। इस फिल्म में उनके द्वारा निमाये किरदार की लोगों ने खूब तारीफ़ की और बस यही से उन्ही सफलता शुरू हो गयी।

इसके बाद ईरानी को मैं हूं ना, लगे रहो मुन्नाभाई, दोस्ताना, खोसला का घोंसला, वक्त, नो एंट्री, थ्री इडियट्स में भी खूब पसंद किया गया। ईरानी वीर-जारा, मैंने गांधी को नहीं मारा, लक्ष्य, हनीमून ट्रैवल्स प्रा. लि. सॉरी भाई,पेज-3 और माई वाइफ्ज मर्डर में भी दर्शकों की सराहना पाने में सफल रहे।

2012 में फरारी की सवारी में वह पहली बार दादाजी के रोल में नजर आए। इस फिल्म में भी उनके काम को खूब सराहा गया। इसके बाद उन्होंने कई सफल फिल्मो में काम किया जिसमे 3 इडियट, पी के आदि शामिल हैं। बोमन कोरियोग्राफर-डायरेक्टर फराह खान के साथ फिल्म “शिरीन फरहाद की तो निकल पड़ी” में लीड किरदार निभाते नजर आएं। उन्होंने फराह डायरेक्टेड ब्लॉक बस्टर फिल्म “हैप्पी न्यू ईयर” में भी नजर आएं थे।

ईरानी सिर्फ बढिय़ा अभिनेता ही नहीं बल्कि अच्छे एंकर भी हैं। वह 2008, 2009, 2010 और 2011 में आइफा अवार्ड समारोह के एंकरिंग रह चुके हैं। इसके अलावा टीवी पर भी वह एक गेम शो को संचालित कर चुके हैं।

निजी जीवन – Personal Life of Boman Irani

उन्‍होंने जेनोबिया से शादी की है जिनसे उन्‍हें दो बच्‍चे हैं- दानेश और कयोज ईरानी। जेनोबिया से उनकी मुलाकात अपने बेकरी शॉप में काम करने समय हुवा था।


और अधिक लेख – 

Please Note :- I hope these “Boman Irani Biography in Hindi” will like you. If you like these “Boman Irani Information & Story in Hindi” then please like our facebook page & share on whatsapp.

Leave a Comment

Your email address will not be published.