अभिनेता अक्षय कुमार की जीवनी | Akshay Kumar Biography In Hindi

Akshay Kumar / अक्षय कुमार जिनका असली नाम राजीव हरिओम भाटिया है, वे भारतीय बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता होने के साथ साथ वे फिल्म निर्माता और मार्शल आर्टस में भी पारंगत हैं। उनके चाहते प्यार से उन्हे ‘अक्की’ भी पुकारते है उन्हें कई बार उनकी फिल्मों के लिए फिल्मफेयर अवार्डस में नामांकित किया गया है जिसमें से दो बार उन्होंने यह पुरस्कार जीता है। वे अबतक 120 फ़िल्मो से ज़्यादा मे काम कर चुके, उनकी सबसे बड़ी खास बात है की वे अपने फ़िल्मो के स्टंट खुद ही करते, इसलिए वे ‘खिलाड़ियो के खिलाड़ी’ के नाम से भी मशहूर है।

Akshay Kumar Biography In Hindi

अक्षय कुमार का संक्षिप्त परिचय – Akshay Kumar Biography In Hindi

नाम राजीव हरिओम भाटिया – अक्षय कुमार (Rajeev Hari Om Bhatiya)
जन्म दिनांक 9 सितम्बर 1967, अमृतसर, भारत
पिता का नाम हरिओम भाटिया
माता का नाम अरूणा भाटिया
राष्ट्रीयता कनाडियन
पत्नी ट्विंकल खन्ना
संतान बेटा -आरव व बेटी – नितारा
प्रसिद्धि के कारण अभिनेता, फिल्म निर्माता
हाइट 1.80m
पहली फिल्म ‘सौगंध’

अक्षय कुमार हिंदी सिनेमा का जाना-माना नाम हैं, लेकिन वह इसका शो ऑफ़ कभी भी पब्लिकली नहीं करते, वो यही चीज अपने बच्चो को बताते हैं। इतना ही नहीं जब उन्होंने अपनी बेटी नितारा का एडमिशन प्ले स्कूल में कराया था। तो आम मां-बाप की तरह उन्होंने भी लाइन में लगकर अपनी बारी की प्रतीक्षा की और एडमिशन कराया। अक्षय कुमार के पास पैसे की कमी नहीं है लेकिन वह महीने में सिर्फ पांच से दस हज़ार ही खर्च करते हैं।

प्रारंभिक जीवन –

Akshay Kumar – अक्षय कुमार का जन्म पंजाब के अमृतसर में एक मध्यम वर्गीय पंजाबी परिवार हुआ था। उनके पिता हरिओम भाटिया मिलेटरी आफिसर थे। उनकी माता का नाम अरूणा भाटिया है। अक्षय की एक बहन भी हैं जिनका नाम अलका भाटिया है। वे दिल्ली के चांदनी चौक में पले-बड़े, बाद में वे मुंबई के कोलीवाडा आ गये।

उन्होने अपनी स्कूली शिक्षा डोन बोस्को से ली और आगे की पढ़ाई मुबंई के गुरू नानक खालसा काॅलेज से पूरा किए। अक्षय कुमार अपने कॉलेज दीनो से ही खेल में अपनी रुचि दिखाई। भारत में ताइकक्वांडो में ब्लैक बेल्ट हासिल करने के बाद अक्षय ने थाईलैंड के बैंकाॅक चले गये जहा उन्होने मार्शल आर्ट्स की पढ़ाई की। वही उन्होंने वेटर और कुक के रूप में भी काम किया।

अक्षय ने खाना बनाने से लेकर कार्ड बेचने तक का काम किया। अपनी जरूरत पूरी करने के लिए उन्होंने कई छोटे काम भी किए बैंकॉक से काम की तलाश में अक्षय को बांग्लादेश भी जाना पड़ा, वहां से कोलकाता जाकर अक्षय ने एक ट्रेवल एंजेसी में भी काम किया। कोलकाता से अक्षय मुंबई पहुंचे जहां वो कुंदन के गहने बेचने लगे।

बाद में वे अपनी खुद की मार्शल आर्ट स्कूल शुरू करने के लिए वापिस मुंबई आये। उनका एक विद्यार्थी जो फोटोग्राफर था वह उन्हें एक मॉडल मानता था, और उनकी तस्वीरे लिया करता था। इसके बाद अक्षय मशहूर फोटोग्राफर जयेश के पास गए और उनको अपना असिटेंट बनाने के लिए कहा। अक्षय जयेश की मदद के लिए लाइट उठाने तक का काम करने लगे। काम के दौरान वो गोविंदा की कुछ फोटोज उन्हें देने गए। उस वक्त गोविंदा अक्षय को देखकर कहा कि तू हीरो क्यों नहीं बनता, ये सुनकर अक्षय के दिल में ये बात घर कर गई कि वो भी हीरो बन सकते हैं।

1990 में उन्होंने एक्टिंग का कोर्स भी किया, जिसके बाद उन्हें एक फिल्म आज का ऑफर मिला, जब फिल्म रिलीज हुई तो पता चला कि उनका रोल सिर्फ 7 सेकेंड का था। इस फिल्म के हीरो का नाम था अक्षय। उसी वक्त राजीव भाटिया यानी अक्षय ने अपना बदलकर उस फिल्म के हीरो के नाम पर अक्षय रख लिया, तो इस तरह राजीव भाटिया अक्षय कुमार बन गए। बाद उन्हें फिल्म ‘दीदार’ के लिए साइन किया गया। उनकी पहली फिल्म दीदार ही थी जो प्रमोद चकर्वर्ति के निर्देशन में बनी थी।

फिल्मी कॅरियर –

अक्षय कुमार ने अपने अभिनय की शुरूवात मुख्य अभिनेता के तौर पर फिल्म ‘सौगंध’ से की इससे पहले भी मार्शल आर्टस के प्रशिक्षक के रोल में उन्हें ‘आज’ फिल्म में मौका मिला लेकिन उसमें उनकी बिना श्रेय भूमिका थी, हालाँकि फिल्म सफल नही हो पाई। बाद उन्होंने एक सफल फिल्म ‘खिलाडी’ में अभिनय किया। 1994 में उन्होंने अपनी पहली एक्शन फिल्म ‘मै खिलाडी तू अनारी’ और फिर ‘मोहरा’ में अभिनय किया, जो उस समय साल की सर्वश्रेष्ट फिल्म भी मानी गयी थी। बाद में उन्होंने यश चोपड़ा की फिल्म ‘यह दिल्लगी’ की जिसकी सफलता ने उन्हें फिल्म बॉलीवुड का ‘खिलाड़ी कुमार’ बना दिया।। और इसी फिल्म के लिए फिल्मफेयर में बेस्ट एक्टर के लिए उनके नाम को भी नोमिनेशन किया गया था।

अब्बास-मस्तान की फिल्म खिलाड़ी अक्षय की पहली सुपरहिट फिल्म थी। इस फिल्म के बाद अक्षय के करियर की गाड़ी चल पड़ी। उसके बाद मैं खिलाड़ी तू अनाड़ी, मोहरा, सबसे बड़ा खिलाड़ी, मिस्टर एंड मिसेज खिलाड़ी, खिलाड़ियों का खिलाड़ी, ‘दिल तो पागल है’ जैसी कई हिट फिल्में आईं। बाद में 1999 में, उन्होंने और दो फिल्म संघर्ष और जानवर की, जिसने उस समय ज्यादा कमी तो नही की लेकिन आलोचकों की नज़रो में सफल रही।

2000 में अक्षय ने ‘हेरा फेरी’ में एक्टिंग की। इस फिल्म से अक्षय की इमेज एक्शन और रोमाटिंक हीरो से अलग एक कॉमेडियन की भी बन गई। ‘हेरा फेरी’ की सफलता के बाद उन्होंने कई कॉमेडी फिल्में ‘आवारा पागल दीवाना, मुझसे शादी करोगी, गरम मसाला की। ‘गरम मसाला’ के लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ हास्य अभिनेता का अवॉर्ड फिल्मफेयर की तरफ से मिला। 2001 में अक्षय ने फिल्म ‘अजनबी’ में निगेटिव किरदार निभाया, इस फिल्म के लिए उन्हें फिल्मफेयर का बेस्ट विलेन का अवॉर्ड भी मिला।

वर्ष 2007 अक्षय कुमार के लिए उनके कैरियर का इंडस्ट्री में सबसे ज्यादा सफल वर्ष रहा और बॉक्स ऑफिस के विश्लेषकों ने “शायद एक अभिनेता के लिए चार सीधे हिट और बिना किसी फ्लॉप के शानदार वर्ष रहा। इस वर्ष उनकी फिल्म ‘नमस्ते लंदन’ आलोचनात्मक दृष्टि व कामर्शियल दृष्टि से सफल रही। आलोचक तरण आदर्श ने फ़िल्म में उनके प्रदर्शन के बारे लिखा कि “वे निश्चित रूप से फ़िल्म देखने लाखों दर्शकों का मन अपनी इस फ़िल्म के जरिये लेंगे।” उनकी दो अगली रिलीज ‘हे बेबी’ और ‘भूल भुलैया’ दोनों बॉक्स ऑफिस पर सुपर हिट हुई।

इस वर्ष का अक्षय कुमार के लिए आखिरी रिलीज ‘वेलकम’ थी जिसने बॉक्स ऑफिस पर अच्छा प्रदर्शन किया। ब्लोकबस्टर का अवसर मिला तथा साथ में वे पांचवीं लगातार हिट फ़िल्म देने वाले हीरो बन गए। उस वर्ष कुमार की जितनी भी फिल्में रिलीज हुई वह विदेशी बाजार में भी अच्छा किया। इसके बाद अक्षय ने कई सुपर हिट फ़िल्मे दी।

2010 के शुरू में ही उनकी फिल्म ‘हाउसफुल’ आई जिसने पहले हफ्ते में ही बॉलीवुड में नए रिकार्ड्स बना लिए थे, और सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फिल्म बनी। 2012 में इन्होने ‘रावड़ी राठौर’ की जोकि सुपर हिट साबित हुई। 2016 में ‘रुस्तम’ के लिए इन्हे कई अवार्ड्स भी मिले। 2017 में इनकी फिल्म ‘टॉयलेट एक प्रेम कथा’ भी सफलता के झंडे गाड़े।

Production : अक्षय कुमार के होम प्रोडक्शन का नाम भी उनके पिता के नाम पर है- हरी ओम प्रोडक्शंस। जिसकी शुरुआत 2008 मे की।

निजी जीवन –

अक्षय कुमार का नाम कई हिरोइनों के साथ भी जुड़ा। रवीना टंडन और शिल्पा शेट्ठी के साथ रिश्तों को लेकर कई खबरें उस दौर के अखबारों और फिल्मी पत्रिकाओं की सुर्खियां बनीं। 2001 में अक्षय ने अभिनेत्री ट्विंकल खन्ना से शादी कर ली। उनके दो बच्चे भी हैं। बेटा का नाम -आरव व बेटी नितारा हैं।

सफल फ़िल्मे –

मै खिलाडी तु अनारी, मोहरा, यह दिल्लगी, सबसे बड़ा खिलाडी, मिस्टर & मिसेस खिलाडी, इंटरनेशनल खिलाडी, खिलाडी 420, अंदाज़, गरम मसाला, नमस्ते लंदन, वेलकम, सिंह इज किंग, हाउसफुल, रावडी राठोड, खिलाडी 786, वन्स अपॉन अ टाइम इन मुंबई अगेन, हॉलिडे,  एंटरटेनमेंट, बेबी, गब्बर इज बैक, ब्रदर, सिंह इज ब्लिंग, रुस्तम,

पुरूस्कार और सम्मान –

पद्म श्री 2009 में अक्षय को देश के चोथे सबसे बड़े सम्मान से नवाजा गया था।
राष्ट्रीय सम्मान
  • 2004 – राजीव गांधी पुरस्कार – बॉलीवुड में उत्कृष्ट उपलब्धि के लिए।
  • 2009 – फिक्की-फिक्की फ्रेम्स, भारतीय सिनेमा में उनके योगदानों के लिए “दशक के सर्वश्रेष्ठ मनोरंजनकारी का पुरस्कार”।
  • 2017 – रुस्तम के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का राष्ट्रीय पुरस्कार।
एशियाई पुरस्कार
  • 2011 – सिनेमा में उत्कृष्ट उपलब्धि।
  • 2009 – सिंह इज़ किंग के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के लिए एशियाई फिल्म पुरस्कार।
फ़िल्मफ़ेयर पुरस्कार
  • दिल तो पागल है
  • अजनबी
  • खाकी
  • मुझसे शादी करोगी
  • गरम मसाला
  • ओह माय गॉड
स्टार स्क्रीन पुरस्कार
  • 2006 – गरम मसाला के लिए सर्वश्रेष्ठ हास्य अभिनेता के लिए स्क्रीन अवार्ड.
  • 2008 – सिंह इज़ किंग के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के लिए स्क्रीन अवार्ड.
आईफा पुरस्कार
  • 2002 – अज़नबी के लिए आईफ़ा सर्वश्रेष्ठ खलनायक पुरस्कार
  • 2005 – मुझसे शादी करोगी के लिए आईफ़ा सर्वश्रेष्ठ हास्य अभिनेता पुरस्कार
  • 2008 – मेजबान देश थाईलैण्ड द्वारा विशिष्ट आईफ़ा पुरस्कार।
स्टारडस्ट पुरस्कार
  • 2006 – गरम मसाला के लिए वर्ष का अभिनेता पुरस्कार।
  • 2008 – हे बेबी और नमस्ते लंदन के लिए वर्ष के सर्वश्रेष्ठ पुरुष सितारे का पुरस्कार
  • 2009 – सिंह इज़ किंग के लिए स्टारडस्ट पाठकों च्वाइस सर्वश्रेष्ठ फ़िल्म पुरस्कार (विपुल अमृतलाल शाह के साथ साझा)
  • 2010 – ब्लू के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेता – लोकप्रिय पुरस्कार – पुरुष।
  • 2010 – 8 x 10 तस्वीर के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेता सर्चलाइट पुरस्कार।
  • 2011 – हाउसफुल और तीसमार खां के लिए वर्ष के सर्वश्रेष्ठ पुरुष सितारे का पुरस्कार।
  • 2011 – हाउसफुल और तीसमार खां के लिए स्टारडस्ट सर्वश्रेष्ठ अभिनेता – हास्य/रोमांस।
  • 2012 – देसी बॉयज के लिए स्टारडस्ट सर्वश्रेष्ठ अभिनेता – हास्य/रोमांस।
  • 2013 – रावड़ी राठौर और खिलाड़ी 786 के लिए स्टारडस्ट सर्वश्रेष्ठ अभिनेता – एक्शन/रहस्य (थ्रिलर)
  • 2013 – “हाउसफुल 2”, रावड़ी राठौर और ओ माय गॉड के लिए वर्ष के सर्वश्रेष्ठ पुरुष सितारे का पुरस्कार।
बिग स्टार एंटरटेनमेंट अवार्ड
  • 2013 – रावड़ी राठौर के लिए एक्श्न और रहस्य भूमिका में सर्वश्रेष्ठ मनोरंजक अभिनेता का पुरस्कार।
  • 2013 – वर्ष का पूर्ण मनोरंजक अभिनेता।
  • 2013 – ओ माय गॉड के लिए सर्वश्रेष्ठ मनोरंजक सामाजिक फ़िल्म।
ज़ी सिने पुरस्कार
  • 2005 – मुझसे शादी करोगी के लिए सहायक अभिनेता को ज़ी सिने पुरस्कार।
  • 2006 – वक़्त के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेता को ज़ी सिने पुरस्कार।
  • 2008 – नमस्ते लंदन के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेता को ज़ी सिने पुरस्कार।
  • 2011 – हाउसफुल के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेता को ज़ी सिने पुरस्कार।
  • 2012 – पुरुष मनोरंजक आयकन।
दादासाहब फालके अकादमी पुरस्कार 2013 – रावड़ी राठौर के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेता।

और अधिक लेख –

Please Note :  Salim Ali Biography & Life History In Hindi मे दी गयी Information अच्छी लगी हो तो कृपया हमारा फ़ेसबुक (Facebook) पेज लाइक करे या कोई टिप्पणी (Comments) हो तो नीचे  Comment Box मे करे। Salim Ali Essay & Life Story In Hindi व नयी पोस्ट डाइरेक्ट ईमेल मे पाने के लिए Free Email Subscribe करे, धन्यवाद।

4 thoughts on “अभिनेता अक्षय कुमार की जीवनी | Akshay Kumar Biography In Hindi”

  1. Mera name deepak panwar m bijjay nager rajsthan se hu m apne jivan ke baare m btana chahta hu m ak poor priwar se hu m film indrtrise m kaam krna chahta hu pr gribi k karn m is m baag nhi le skta hu kripya aap meri mded kre
    Thank u

    Deepak panwar
    12th paas
    Ward n. 5
    Sri bijay nager
    Ganga nager rajsthan
    Recquest h ki aap mere spne ko shakar bnane m meri mdad krenge

  2. Mera name deepak tigor ha ghar gogri Jamalpur(bihar Khagaria) mai poor family se belo ng karna hu lekin mai v hero bannna chaatha hu par mere papa farmer hh utna rupee nai hh

Leave a Comment

Your email address will not be published.