वनखंडेश्वर मंदिर का इतिहास, जानकारी | Vankhandeshwar Temple in Hindi

Vankhandeshwar Mandir in Hindi / वनखंडेश्वर मंदिर, मध्य प्रदेश के भिंड नगर में स्थित एक हिन्दू मंदिर हैं। यह मंदिर भगवान् शिव को समर्पित हैं। इस मंदिर का निर्माण 11 वीं सदी में दिल्ली के शासक पृथ्वीराज चौहान द्वारा किया गया था। वनखंडेश्वर महादेव मंदिर पर करीब 900 साल से अखंड ज्योति प्रज्वलित है।

वनखंडेश्वर मंदिर का इतिहास, जानकारी | Vankhandeshwar Temple in Hindi

वनखंडेश्वर मंदिर का इतिहास – Vankhandeshwar Temple History in Hindi

Vankhandeshwar Mandir – शहर के बीचों बीच स्थित यह मंदिर लगभग नौ सौ साल पुराना है। इस मंदिर का निर्माण ग्यारहवीं शताब्दी में दिल्ली के राजा पृथ्वीराज चौहान ने करवाया था। बताया जाता है कि मोहम्मद गौरी से युद्ध के समय पृथ्वीराज चौहान ने इस जगह पर अपना डेरा डाला था और काफी समय यहां रुके। पृथ्वीराज चौहान शिवभक्त थे और प्रतिदिन शिव की पूजा किया करते थे इसलिए उन्होंने इस मंदिर का निर्माण करवाया।

चूंकि यहां पर घना जंगल हुआ करता था इसलिए इस मंदिर का नाम वनखंडेश्वर पड़ा। वनखंडेश्वर मंदिर की ख्याति दूर दूर तक फैली हुई है और हर सोमवार को यहां भक्तों का तांता लगा रहता है। विशेषकर श्रावण मास में यहां भक्तों की भारी भीड़ देखने को मिलती है। इस मंदिर में घी से जल रहे दो अखंड दीपक भी मंदिर के निर्माण के समय से ही जल रहे हैं और हमेशा जलते रहते हैं। भक्तों द्वारा इन दीपकों के लिए घी दान किया जाता है।

गौरी सरोवर के किनारे स्थित वनखंडेश्वर महादेव मंदिर पर महाशिवरात्रि पर्व पर हजारों श्रद्धालु कांवर में लाए गंगाजल से अभिषेक करते हैं वहीं सावन के महीने में प्रतिदिन भक्त साधना आराधना करते हैं। मनोकामनाएं पूर्ण होने पर श्रद्धालु घी से दीपक भरने के लिए आते रहते हैं।

शिवरात्रि पर्व पर जहां एक ओर बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं द्वारा कांवर में लाए गंगाजल से अभिषेक किया जाता है वहीं दूसरी ओर सांयकाल मंदिर के महादेव की आकृति में शिवजी की सवारी लालबत्ती लगी पालकी शोभायात्रा में निकलती है।

वनखंडेश्वर महादेव का दशहरा पर्व पर विशेष रूप से चांदी के साजो सामान से श्रंगार होता है। इस दिन महादेव न केवल चांदी के मुखौटे में आकर्षक अंदाज में दिखाई देते हैं बल्कि मुकुट और छत्र में मनभावन हो जाते हैं।


और अधिक लेख –

Note: I hope these “Vankhandeshwar Temple in Hindi” will like you. If you like these “Vankhandeshwar Mandir in Hindi” then please like our facebook page & share on whatsapp.

Leave a Comment

Your email address will not be published.