मेघालय की जानकारी, तथ्य, इतिहास | Meghalaya information in hindi

Meghalaya / मेघालय भारत के उत्तर पूर्व में स्थित एक राज्य है। मेघालय अर्थ यानि ‘बादलों का घर’। हर साल 1200 सेमी. वर्षा होने के कारण मेघालय को सबसे नम राज्य कहा जा सकता है। यहां कई नदियां हैं जिनमें गनोल, उमियाम, मिनगोत, मिखेम और दारेंग शामिल हैं। इन नदियों के अलावा आपको यहां और भी ढेरों नदियां जैसे उमियाम, मावपा और खरी मिल सकती हैं। राज्य के करीब एक तिहाई हिस्से पर जंगल है। आइये जाने मेघालय के बारे में और अधिक जानकारी…

Meghalayमेघालय की जानकारी एक नजर में – Meghalaya Information & History In Hindi

1). मेघालय की स्थापना 21 जनवरी 1972 में हुई थी।

2). यहॉ की राजधानी शिलांग है।

3). राज्य में जिलों की संख्या 7 है। ऋभोई जिला, पश्चिम खासी पहाड़ी, पूर्व खासी पहाड़ी, जैंतिया पहाड़ी, पश्चिम गारो पहाड़ी, पूर्वी गारो पहाड़ी, और दक्षिण गारो पहाड़ी।

4). राज्य की राजभाषा अंग्रेजी है।

5). राज्य में राज्य सभा की 1 सीट है और लोकसभा की 2 सीटें हैं।

6). राज्य में सडकों की कुल लंमाई 7977.98 किमी है।

7). राज्य की सीमा का एक प्रमुख हिस्सा असम के उत्तर और पूर्वी भाग में स्थित है। दक्षिण और पश्चिमी भाग बांग्लादेश के साथ है।

8). यहॉ का गोल्फ कोर्स देश के बेहतरीन गोल्फ कोर्स में से एक है।

9). इस राज्य का राजकीय पक्षी ‘पहाडी मैना’ है।

10). इस राज्य का राजकीय पशु ‘चितकबरा तेंदुआ’ है।

11). इस राज्य का राजकीय फूल ‘लेडी स्लिपर ऑर्चिड’ है।

12). इस राज्य का राजकीय वृक्ष ‘गमारी’ है।

13). राज्य के सबसे बडे शहर शिलांग, तुरा, चेरापूॅजी, नोंगस्तोईन हैं।

14). राज्य की प्रमुख फसलें चावल, मक्का, दालें, आलू, हल्दी, काली मिर्च, सुपारी, पान, आदि हैं।

15). राज्य की प्रमुख नदियां सिमसंग, मंदा, जन्जीराम, दमरिंग हैं।

16). मेघालय कृषि प्रधान राज्य है यहॉ की 80 प्रतिशत जनसंख्याकृषि पर निर्भर है।

17). यहां मूल रूप से खासी, जयंतिया और गारो जनजाति के लोग रहते हैं।

18). यह राज्य फल और सुपारी के उत्पादन के लिए काफी प्रसिद्ध है। यहां के लोगों को सुपारी चबाते देखना एक आम नजारा है।

19). मेघालय के जंगल स्तनपाई, पक्षी और पौधों की जैव विविधता के लिए जाने जाते हैं।

20). असम के दो जिलों को अलग कर मेघालय राज्य का गठन किया गया था।

21). 21 जनवरी 1972 को जयंतिया हिल्स और यूनाइटेड खासी हिल्स को मिला कर मेघालय राज्य बनाया गया था।

22). पूर्ण राज्य का दर्जा पाने के पहले मेघालय को सन् 1970 में अर्ध-स्वायत्त राज्य का दर्जा दिया गया था।

23). कुछ ऐसे नृत्य रुप हैं जो मेघालय की संस्कृति का अभिन्न अंग हैं जैसे लाहो, शाद नोंगक्रेम, डोरेराता, शाद सुकमिनसीम और डोकरुसुआ। बड़ी संख्या में लोग मानते हैं कि शाद सुकमिनसिम ‘सुखी दिल’ का नृत्य है।

24). पर्यटन मेघालय की अर्थव्यवस्था का बहुत अहम हिस्सा है। पिछले कुछ सालों में इस राज्य ने खुद को बहुत विकसित किया है। मेघालय की सरकार द्वारा उठाए गए कई कदमों ने राज्य को नए आयाम दिए हैं। राज्य से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण पर्यटन स्थलों में शिलांग, मौसिनराम और चेरापूंजी शामिल हैं।

25). मेघालय के मुख्य जातीय समुदाय में खासीस, गारो और जैंतिया शामिल है। माना जाता है की इन समुदाय के लोग दक्षिण पूर्वी एशिया से मेघालय में आये थे।

26). यहां के लोग हंसमुख स्वभाव और अनुकूलता के लिए जाने जाते है।

मेघालय के पर्यटन स्थल – Meghalaya Tourism in Hindi

  1. शिलांग
  2. चेरापूंजी
  3. सीजू गुफा
  4. मोसमाई झरना
  5. मफलंग
  6. मावसिनराम
  7. क्रेम डैम गुफा
  8. क्रेम लैशिंग
  9. नारतियांग
  10. नोकरेक चोटी
  11. एलिफेण्ट फॉल्स

और अधिक लेख –

Leave a Comment

Your email address will not be published.