भारत का संविधान- राज्य सभा [Rajya Sabha Seats In Hindi]

भारत का संविधान – चौथी अनुसूची [Fourth Schedule]


अनुच्छेद 4 (1) और अनुच्छेद 80 (2)

राज्यसभा में स्थानों का आबंटन

निम्नलिखित सारणी के पहले स्तंभ में विनिर्दिष्ट प्रत्येक राज्य या संघ राज्य क्षेत्र को उतने स्थान आबंटित किए जाएँगे जितने उसके दूसरे स्तंभ में, यथास्थिति, उस राज्य या उस संघ राज्य क्षेत्र के सामने विनिर्दिष्ट हैं।

सारणी
  1. आंध्र प्रदेश 18
  2. असम 7
  3. बिहार 22

* प्रविष्टि गोआ, दमण और दीव पुनर्गठन अधिनियम, 1987 (1987 का 18) की धारा 6 द्वारा (30-5-1987 से) अंतःस्थापित।

  1. गोआ 1

* मुंबई पुनर्गठन अधिनियम, 1960 (1960 का 11) की धारा 6 द्वारा (1-5-1960 से) प्रविष्टि 4 के स्थान पर प्रतिस्थापित।

* गोआ, दमण और दीव पुनर्गठन अधिनियम, 1987 (1987 का 18) की धारा 6 द्वारा (30-5-1987 से) प्रविष्टि 4 से 26 को क्रमशः प्रविष्टि 5 से 27 के रूप में पुनःसंख्यांकित किया गया।

  1. गुजरात 11

* पंजाब पुनर्गठन अधिनियम, 1966 (1966 का 31) की धारा 9 द्वारा (1-11-1966 से) अंतःस्थापित।

* गोआ, दमण और दीव पुनर्गठन अधिनियम, 1987 (1987 का 18) की धारा 6 द्वारा (30-5-1987 से) प्रविष्टि 4 से 26 को क्रमशः प्रविष्टि 5 से 27 के रूप में पुनःसंख्यांकित किया गया।

  1. हरियाणा 5

* गोआ, दमण और दीव पुनर्गठन अधिनियम, 1987 (1987 का 18) की धारा 6 द्वारा (30-5-1987 से) प्रविष्टि 4 से 26 को क्रमशः प्रविष्टि 5 से 27 के रूप में पुनःसंख्यांकित किया गया।

  1. केरल 9

* गोआ, दमण और दीव पुनर्गठन अधिनियम, 1987 (1987 का 18) की धारा 6 द्वारा (30-5-1987 से) प्रविष्टि 4 से 26 को क्रमशः प्रविष्टि 5 से 27 के रूप में पुनःसंख्यांकित किया गया।

  1. मध्यप्रदेश 16

* मद्रास राज्य (नाम परिवर्तन) अधिनियम, 1968 (1968 का 53) की धारा 5 द्वारा (14-1-1969 से) ‘8. मद्रास’ के स्थान पर प्रतिस्थापित।

* गोआ, दमण और दीव पुनर्गठन अधिनियम, 1987 (1987 का 18) की धारा 6 द्वारा (30-5-1987 से) प्रविष्टि 4 से 26 को क्रमशः प्रविष्टि 5 से 27 के रूप में पुनःसंख्यांकित किया गया।

* आंध्रप्रदेश और मद्रास (सीमा परिवर्तन) अधिनियम, 1959 (1959 का 56) की धारा 8 द्वारा (1-4-1960 से) ’17’ के स्थान पर प्रतिस्थापित।

  1. तमिलनाडु 18

* मुंबई पुनर्गठन अधिनियम, 1960 (1960 का 11) की धारा 6 द्वारा (1-5-1960 से) अंतःस्थापित।

* गोआ, दमण और दीव पुनर्गठन अधिनियम, 1987 (1987 का 18) की धारा 6 द्वारा (30-5-1987 से) प्रविष्टि 4 से 26 को क्रमशः प्रविष्टि 5 से 27 के रूप में पुनःसंख्यांकित किया गया।

  1. महाराष्ट्र 19

* मैसूर राज्य (नाम परिवर्तन) अधिनियम, 1973 (1973 का 31) की धारा 5 द्वारा (1-11-1973 से) ’10. मैसूर’ के स्थान पर प्रतिस्थापित।

* गोआ, दमण और दीव पुनर्गठन अधिनियम, 1987 (1987 का 18) की धारा 6 द्वारा (30-5-1987 से) प्रविष्टि 4 से 26 को क्रमशः प्रविष्टि 5 से 27 के रूप में पुनःसंख्यांकित किया गया।

  1. कर्नाटक 12

* गोआ, दमण और दीव पुनर्गठन अधिनियम, 1987 (1987 का 18) की धारा 6 द्वारा (30-5-1987 से) प्रविष्टि 4 से 26 को क्रमशः प्रविष्टि 5 से 27 के रूप में पुनःसंख्यांकित किया गया।

  1. उड़ीसा 10

* गोआ, दमण और दीव पुनर्गठन अधिनियम, 1987 (1987 का 18) की धारा 6 द्वारा (30-5-1987 से) प्रविष्टि 4 से 26 को क्रमशः प्रविष्टि 5 से 27 के रूप में पुनःसंख्यांकित किया गया।

* पंजाब पुनर्गठन अधिनियम, 1966 (1966 का 31) की धारा 9 द्वारा (1-11-1966 से) ’11’ के स्थान पर प्रतिस्थापित।

  1. पंजाब 7

* गोआ, दमण और दीव पुनर्गठन अधिनियम, 1987 (1987 का 18) की धारा 6 द्वारा (30-5-1987 से) प्रविष्टि 4 से 26 को क्रमशः प्रविष्टि 5 से 27 के रूप में पुनःसंख्यांकित किया गया।

  1. राजस्थान 10

* गोआ, दमण और दीव पुनर्गठन अधिनियम, 1987 (1987 का 18) की धारा 6 द्वारा (30-5-1987 से) प्रविष्टि 4 से 26 को क्रमशः प्रविष्टि 5 से 27 के रूप में पुनःसंख्यांकित किया गया।

  1. उत्तरप्रदेश 34

* गोआ, दमण और दीव पुनर्गठन अधिनियम, 1987 (1987 का 18) की धारा 6 द्वारा (30-5-1987 से) प्रविष्टि 4 से 26 को क्रमशः प्रविष्टि 5 से 27 के रूप में पुनःसंख्यांकित किया गया।

  1. पश्चिमी बंगाल 16

* गोआ, दमण और दीव पुनर्गठन अधिनियम, 1987 (1987 का 18) की धारा 6 द्वारा (30-5-1987 से) प्रविष्टि 4 से 26 को क्रमशः प्रविष्टि 5 से 27 के रूप में पुनःसंख्यांकित किया गया।

  1. जम्मू-कश्मीर 4

* नागालैंड राज्य अधिनियम, 1962 (1962 का 27) की धारा 6 द्वारा (1-12-1963 से)
अंतःस्थापित।

* गोआ, दमण और दीव पुनर्गठन अधिनियम, 1987 (1987 का 18) की धारा 6 द्वारा (30-5-1987 से) प्रविष्टि 4 से 26 को क्रमशः प्रविष्टि 5 से 27 के रूप में पुनःसंख्यांकित किया गया।

  1. नागालैंड 1

* हिमाचलप्रदेश राज्य अधिनियम, 1970 (1970 का 53) की धारा 5 द्वारा (25-1-1971 से)
अंतःस्थापित।

* गोआ, दमण और दीव पुनर्गठन अधिनियम, 1987 (1987 का 18) की धारा 6 द्वारा (30-5-1987 से) प्रविष्टि 4 से 26 को क्रमशः प्रविष्टि 5 से 27 के रूप में पुनःसंख्यांकित किया गया।

  1. हिमाचलप्रदेश 3

* पूर्वोत्तर क्षेत्र (पुनर्गठन) अधिनियम, 1971 (1971 का 81) की धारा 10 द्वारा (21-1-1972 से) प्रविष्टि 19 से 22 के स्थान पर प्रतिस्थापित।

* गोआ, दमण और दीव पुनर्गठन अधिनियम, 1987 (1987 का 18) की धारा 6 द्वारा (30-5-1987 से) प्रविष्टि 4 से 26 को क्रमशः प्रविष्टि 5 से 27 के रूप में पुनःसंख्यांकित किया गया।

  1. मणिपुर 1

* गोआ, दमण और दीव पुनर्गठन अधिनियम, 1987 (1987 का 18) की धारा 6 द्वारा (30-5-1987 से) प्रविष्टि 4 से 26 को क्रमशः प्रविष्टि 5 से 27 के रूप में पुनःसंख्यांकित किया गया।

  1. त्रिपुरा 1
    * गोआ, दमण और दीव पुनर्गठन अधिनियम, 1987 (1987 का 18) की धारा 6 द्वारा (30-5-1987 से) प्रविष्टि 4 से 26 को क्रमशः प्रविष्टि 5 से 27 के रूप में पुनःसंख्यांकित किया गया।
  2. मेघायल 1
    * संविधान (छत्तीसवाँ संशोधन) अधिनियम, 1975 की धारा 4 द्वारा (26-4-1975 से) अंतःस्थापित।

* गोआ, दमण और दीव पुनर्गठन अधिनियम, 1987 (1987 का 18) की धारा 6 द्वारा (30-5-1987 से) प्रविष्टि 4 से 26 को क्रमशः प्रविष्टि 5 से 27 के रूप में पुनःसंख्यांकित किया गया।

  1. सिक्किम 1

* मिजोरम राज्य अधिनियम, 1986 (1986 का 34) की धारा 5 द्वारा (20-2-1987 से), प्रविष्टि
23 और 24 को क्रमशः प्रविष्टि 24 और 25 के रूप में पुनःसंख्यांकित और इस प्रकार पुनःसंख्यांकित प्रविष्टि 24 से पूर्व नई प्रविष्टि 23 अंतःस्थापित तथा प्रविष्टि 25 का लोप किया गया।

* गोआ, दमण और दीव पुनर्गठन अधिनियम, 1987 (1987 का 18) की धारा 6 द्वारा (30-5-1987 से) प्रविष्टि 4 से 26 को क्रमशः प्रविष्टि 5 से 27 के रूप में पुनःसंख्यांकित किया गया।

  1. मिजोरम 1

* अरुणाचल प्रदेश राज्य अधिनियम, 1986 (1986 का 69) की धारा 5 द्वारा (20-2-1987 से)
अंतःस्थापित।

* गोआ, दमण और दीव पुनर्गठन अधिनियम, 1987 (1987 का 18) की धारा 6 द्वारा (30-5-1987 से) प्रविष्टि 4 से 26 को क्रमशः प्रविष्टि 5 से 27 के रूप में पुनःसंख्यांकित किया गया।

  1. अरुणाचलप्रदेश 1

* गोआ, दमण और दीव पुनर्गठन अधिनियम, 1987 (1987 का 18) की धारा 6 द्वारा (30-5-1987 से) प्रविष्टि 4 से 26 को क्रमशः प्रविष्टि 5 से 27 के रूप में पुनःसंख्यांकित किया गया।

  1. दिल्ली 3

* गोआ, दमण और दीव पुनर्गठन अधिनियम, 1987 (1987 का 18) की धारा 6 द्वारा (30-5-1987 से) प्रविष्टि 4 से 26 को क्रमशः प्रविष्टि 5 से 27 के रूप में पुनःसंख्यांकित किया गया।

  1. पांडिचेरी 1

* गोआ, दमण और दीव पुनर्गठन अधिनियम, 1987 (1987 का 18) की धारा 6 द्वारा (30-5-1987 से) ‘232’ के स्थान पर प्रतिस्थापित। Next


 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here