सुनिधि चौहान की जीवनी | Biography Of Sunidhi Chauhan In Hindi

Sunidhi Chauhan – सुरो की मल्लिका सुनिधि चौहान आज किसी परिचय की मोहताज नहीं। एक प्लेबैक सिंगर के तौर पर उन्होंने जो मुकाम बनाया है, उसकी जितनी तारीफ की जाये वो कम है। अपने सिंगिंग करियर में सुनिधि ने कई बेहतरीन गानों को अपनी आवाज़ दी है। वे अपनी लाजवाब गायकी के लिए सिर्फ भारत में ही नहीं पूरी दुनिया में जानी जाती हैं। वे हिंदी गानों के साथ-साथ मराठी, कन्नड़, तेलगु,तमिल,पंजाबी,बंगाली,असमी ,नेपाली ,उर्दू में भी पार्श्व गायन करती हैं। सुनिधि चौहान उनकी बेहतरीन गायिकी के लिए कई बड़े इनामों से सम्मानित की जा चुकी हैं। सुनिधि ने अपने बॉलीवुड करियर में खुद को एक निर्भीक स्टेज परफॉर्मर के रूप में भी स्थापित किया है। सुनिधि जितना अच्छा गाती हैं उतनी ही अच्छी दिखती हैं। वह फैशनिस्टा आइकॉन भी हैं उन्होंने साल 2013 में एशिया की टॉप 50 सेक्सियस्ट लेडीज में भी अपनी जगह बनाई। सुनिधि ने भारत मे से 3000 से भी ज़्यादा स्टूडियो रेकॉर्डिंग की हैं और वही मशहूर सिंगर एनरिक के साथ एक इंटरनॅशनल गाना भी गया हैं।

Biography Of Sunidhi Chauhan In Hindi Language,

शुरुआती जीवन :-

सुनिधि का जन्म 14 अगस्त 1983 दिल्ली में हुआ था। सुनिधि का बचपन का नाम निधि चौहान है। सुनिधि के पिता एक छोटे से गुजराती कलाकार हैं। सुनिधि के पिता ने ही उन्हें संगीत सिखने के लिए प्रेरित किया। उनकी एक छोटी बहन भी है – सुनेहा चौहान। सुनिधि ने अपनी प्रारंभिक पढ़ाई ब्लूमिंग बड्स पब्लिक स्कूल बलरामपुर यूपी से की है। उसके बाद उन्होंने ग्रीनवे पब्लिक स्कूल दिलशाद गार्डन दिल्ली से पूरी की। हालाँकि सुनिधि चौहान 10वी कक्षा से आगे की पढ़ाई नही की हैं।

लव अफेर और शादी :-

सुनिधि चौहान ने मात्र 18 साल की उम्र में कोरिओग्राफर और निर्देशक बॉबी खान से प्रेम विवाह की थी। सुनिधि के घरवाले इस शादी के बिलकुल खिलाफ थे मगर सुनिधि ने एक न सुनी। हालंकि यह शादी सिर्फ एक साल तक ही टिकी। सुनिधि ने दूसरी शादी 24 अप्रैल 2012 को अपने बचपन के दोस्त और संगीत निर्देशक हितेश सोनिक से की।

सिंगिंग कैरियर :- 

सुनिधि ने अपने करियर की शुरुआत महज चार वर्ष की उम्र में कर दी थी। सुनिधि ने कई सिंगिंग बेस्ड रियलिटी शोज़ में हिस्सा लिया। लेकिन नन्ही सुनिधि की जिंदगी तब बदली जब टीवी एंकर तब्बसुम ने उनकी गायिकी को देखा, और सुनिधि के माता-पिता को मुंबई आने के लिए कहा। इसके बाद सुनिधि ने मुंबई आकर दूरदर्शन के सिंगिंग बेस्ड रियलिटी शो ‘मेरी आवाज सुनों’ में हिस्सा लिया।  सुनिधि ने इस शो को जीतकर लता मंगेशकर ट्रॉफी पर कब्ज़ा किया था। सुनिधि के लिए संगीत ऑक्सीजन की तरह है। 16 साल की उम्र में ही सुनिधि को रामगोपाल वर्मा की फिल्म मस्त में रुकी रुकी सी जिंदगी गाने को मिला। जो समय का सुपरहिट गाना साबित हुआ था। इस गाने के सुनिधि को चौदह फ़िल्मफ़ेयर पुरस्कारों का नामांकन और तीन में जित हासिल हुई। उन्होंने दो स्टार स्क्रीन पुरस्कार, दो आइफा पुरस्कार और एक ज़ी सिने पुरस्कार जीते है।

सुनिधि बताती हैं – बचपन से ही लता जी, किशोर दा और उस समय के लगभग सभी नामी सिंगर्स के गाने मुझे अभिभूत करते थे। मैं उनके गाने गाती रहती थी। कोई भी मुझे गाने से नहीं रोक सकता था। मैं अकेले बैठ कर घंटों प्रैक्टिस करती थी। तब तो मुझे इतना भी पता नहीं था कि गाना सीखने के लिए गुरु की ज़रूरत होती है। हालांकि अब मैं महसूस करती हूं कि किसी भी फील्ड में ट्रेनिंग का अपना महत्व होता है। यह नुकसान नहीं पहुंचाती, बल्कि आपको परिष्कृत करती है।

संगीत में विधिवत ट्रेनिंग न लेने के बावजूद सुनिधि चौहान आज फिल्म इंडस्ट्री की बडी गायिकाओं में शुमार हैं। जीवन में कई उतार-चढावों का सामना करने वाली सुनिधि चुनौतियों से नहीं घबरातीं। सुनिधि ने अब तक के सफर में तकरीबन 3000 से अधिक गाने गए चुकी हैं। इस दौरान सुनिधि ने टेलेविज़न के सिंगिंग बेस्ड रियलिटी शोज़ को भी जज किया।  जिसमे इंडियन आइडॉल 5, इंडियन आइडॉल 6 में वह बतौर जज नज़र आई थीं।  फ़िलहाल, सुनिधि अभी सिंगिंग बेस्ड रियलिटी शो द वॉइस ऑफ़ इंडिया में बतौर जज नज़र आ रही हैं।

सुनिधि अपने कॅरियर का पूरा श्रेय सिंगर सोनू निगम और अपने पिता को देती हैं। सुनिधि की सबसे पसंदीदा सिंगर लता मंगेशकर हैं। सुनिधि ने एक वक्त पर रेडीओ जोकि का भी काम किया था। सुनिधि चौहान को माइक्रोसॉफ्ट ने विंडो विस्टा का शीर्षक वाओ इज़ नाउ गाने के लिए नियुक्त किया था। आपको बता दें, सुनिधि को बचपन से ही एक्टिंग का शौक हैं, उन्होंने अपने एक इंटरव्यू में कहा था, की मुझे बचपन से ही एक्टिंग का शौक हैं मुझे एक्टिंग के कई ऑफर मिले, लेकिन मैं अपनी गायिकी पर ही फोकस करना चाहती हूँ। हालंकि एक-दो फिल्मों में सुनिधि पर गाना फिल्माया गया है। सुनिधि चौहान अब तक बॉलीवुड की सभी लीडिंग एक्ट्रेस को अपनी आवाज दी है।

सुनिधि का मानना हैं की – कोई भी अपनी काबिलीयत के बल पर ही सफल होता है। ईश्वर की कृपा से जो भी मेहनत करता है, उसे कभी न कभी सफलता ज़रूर मिलती है।

दूरदर्शन से अपने कॅरियर की शुरुआत करने वाली सुनिधि चौहान जो मुकाम हासिल की उसका कोई जवाब नही हैं. वे आज भी लोगो के दिलो मे राज कर रही हैं। सुनिधि ने – धड़क-धड़क (बंटी और बबली), भागे रे मन (चमेली), महबूब मेरे (फिजा), धूम मचाले (धूम), बीड़ी जलइले (ओमकारा) और चोर बाजारी (लव आज कल), शीला की जवानी जैसे कई लोकप्रिय गाने गाए हैं।


ये भी ज़रूर पढ़े :-

Please Note : – Sunidhi Chauhan Biography & Life History In Hindi मे दी गयी Information अच्छी लगी हो तो कृपया हमारा फ़ेसबुक (Facebook) पेज लाइक करे या कोई टिप्पणी (Comments) हो तो नीचे करे। Sunidhi Chauhan Life Story In Hindi व नयी पोस्ट डाइरेक्ट ईमेल मे पाने के लिए Free Email Subscribe करे, धन्यवाद।

loading...

LEAVE A REPLY