कोल्गेट कंपनी की शुरूवात किसने की. कैसे बनी टूतपेस्ट की सबसे बड़ी ब्रांड?

Colgate

इसके बिना आपका दिन अधूरा है. अधूरा क्या, आपके दिन की सुरुवात भी नही होती है. इसी वजाह से
आप सुबहा उठकर अपना मूह आज़ादी से किसी के भी सामने खोल पाते है, यह ना होता तो आपकी बतिसि
वाली मुस्कान भी होठ के पीछे छिपी रहती. ये जनाब है आपका टूथपेस्ट. इसमे कोल्गेट आगे है. कोल्गेट(Colgate) ने ही सही मायने मे दुनिया को टूथपेस्ट(Toothpaste) से 
परिचय करवाया.

     Read More  –  Ladki Ko Kaise Impress Kare

विलियम कोल्गेट 1806 मे न्यूयार्क मे स्टार्च, साबुन और मोमबति बेचा करते थे. ट्यूब मे पेस्ट कोल्गेट के ही देन है. 1873 मे कोल्गेट कंपनी ने टूथपेस्ट बेचना सुरू किया. पहले पेस्ट डिब्बो मे आता था. घी तेल की तरह उसे भी उंगली से निकलना पड़ता था. 1896 मे टूथपेस्ट ट्यूब मे आना सुरू हुवा. इसके बाद दाँत की सफाई आसान हुवी 1928 को पामोलीव कंपनी ने कोल्गेट को खरीद लिया. 1953 को इसका नाम कोल्गेट पमिलिव हो गया कंपनी बॉडी वॉश. लिक्विड शॉप, सेंपू, डिश्वाशर, डियो, सेविंग क्रीम जैसे प्रॉडक्ट भी बनती है.पर उन्हे पामोलीव नाम से बेचती है.

    Ye Bhi Jane  –  20 Most Inspiring Quotes By Narendra Modi In Hindi  

कंपनी का मानना है की कोल्गेट यानी माउत ऐंड तिथ. इसके अलावा किसी और प्रॉडक्ट मे कोल्गेट ब्रांड का इस्तेमाल नही होता. अमेरिका के बाज़ार मे कोल्गेट नंबर वन ब्रांड रहा. 1955 मे प्रॉडक्ट(Product) एंड गेंम्बल ने कोल्गेट को पीछे छोड़ दिया. कंपनी ने फ्लुओरिड वाला टूथपस्र बेज़ार
मे उतरा. प्रॉडक्ट एंड गेंबल ने इसके ज़रिए कोल्गेट की मुस्किले बड़ा दी. इस चुनौती को पड़ने मे कोल्गेट ने देर कर दी. 1964 मे कोल्गेट ने फ़्लुएरीड वाला प्रयोग आजमाया. तबतक क्रेस्ट अमेरिका(America) का नंबर वन टूथपेस्ट बन गया. कोल्गेट खुसकिस्मत रहा की प्रॉडक्ट एंड गेंबल ने एक चूक की. इस चूक ने कोल्गेट को अपने आप बाज़ार दे दिया. क्रेस्ट की कामयाबी को आगे बड़ाने के चक्कर मे क्रेस्ट नाम के 52 प्रॉडक्ट बना दिए. हर प्रॉडक्ट एक नयी खूबी और सुरक्षा का वादा करता था. इसने बाज़ार मे कन्फ्यूज़ पैदा किया. इसे कोल्गेट ने पकड़ लिया और ‘सब मर्ज की एक दवा’ के तर्ज पर कोल्गेट ने कोल्गेट टोटल 1992 मे बाज़ार मे उतरा. इस प्रॉडक्ट ने सिर्फ़ तीन बतो पर टारगेट किया

1. दांतो के बीच मे खाली जगह यानी केविटीज.
2. दांतो की गंदगी.
3. मसूडो की परेसानी.

कोल्गेट टोटल देखते ही देखते अमेरिकाColgate Product मे भी नंबर
एक प्रॉडक्ट बन गयी. दुनिया के दूसरे देशो मे भी कोल्गेट का ही कब्जा है. कोल्गेट ने 14 टूथपेस्ट और इतने ही टूतब्रश बाज़ार मे उतरा है. लिस्ट्रीन को टक्कर देते हुवे कोल्गेट ने फ्लॅक्स नाम का माउत वॉश भी निकाला. कोल्गेट को हिंडुतन मे प्रियंका चोपरा, और करीना कपूर जैसी बॉलीवुड(Bollywood) की टॉप अभिनेत्री भी
परमोट कर चुकी है.

#  कोल्गेट 200 से अधिक देशो मे बिकता है.

#  2 अरब से ज़्यादा सालाना टूत ब्रश बिकते है.

#  कोल्गेटपामोलीव का मुनाफ़ा 2.5 अरब प्रतिवर्ष है.

#.  कोल्गेट कंपनी पहले साबुनऔर मोमबति बेचती थी.

#.  कोल्गेटटोटल बाज़ार मेस्थापित किया .

#.  प्रचार अनूठा. कोल्गेट ने अपने ब्रांड प्रचार के लिए, स्वस्थ मिशन के तहत स्कूल्स मे टूथपेस्ट और टूतब्रश फ्रीमे बाँटे. इससे जनता दांतो की सफाई को जागरूक हुवी और कोल्गेट ब्रांड का भी कारोबार और नाम बड़ा. 1911 से ही कोल्गेट का ये इनोवेटिव अभियान चल रहा है.

हेलो फ्रैंड कैसे लगी कोलगेट की की कहानी कृपया कॉमेंट्स से बताना

  Also Read  –  भगवान गौतम बुद्ध एवं बौध धर्म का इतिहास
                       –  जीवन को सफल बनाने के लिए 10 ज़रूरी बाते
loading...

LEAVE A REPLY