मुंह के छाले दूर करने के घरेलू उपाय | Muh Ke Chhale Kaise Thik Kare

मुंह के छाले दूर करने के घरेलू उपाय | Muh Ke Chhale Kaise Thik KareMouth Ulcers / मुंह में अगर छाले हो जाएं तो जीना मुहाल हो जाता है। खाना तो दूर पानी पीना भी मुश्किल हो जाता है। जिस कारण हमारे शरीर पे भी प्रभाव पड़ता हैं। दरअसल मुंह में छाले होना एक आम समस्या है। आमतौर पर पांच सात दिन में ठीक भी हो जाते हैं। कभी-कभी छाले लम्बे समय तक ठीक नहीं होते जो भोजन करते व बोलते समय तकलीफ देते हैं। लेकिन घबराने की ज़रूरत नहीं है क्योंकि ऐसे कई आयुर्वेदिक और घरेलू उपचार हैं जिनकी मदद से हम मुंह के छालों से तुरंत छुटकारा पा सकते हैं।

मुंह में छाले होने का कारण –

  • मुंह के छाले पेट की गड़बड़ी एवं तेज मिर्च-मसालों के सेवन के कारण होते हैं।
  • बुखार आने से भी मुंह में छाले पड़ सकते हैं। और गला इन्फ़ैकशन से लाल हो जाता है।
  • पान-मसाला, सिगरेट, का धिक सेवन करने से भी होता हैं।
  • शरीर में vitamin B की कमी हो जाने पर भी यह तकलीफ हो जाती है।
  • शरीर में iron की कमी भी मुंह में गर्मी लगने का बड़ा कारण हो सकता है।
  • दाँत में से फंसा खाना निकालने से या सख्त ब्रश से दाँत साफ करने से ज़ख्म लग जाने से भी मुंह में छाले पड़ सकते हैं।
  • अधिक मानसीक तनाव मे रहने से भी यह तकलीफ हो सकती है।

मुंह के छाले दूर करने के आयुर्वेदिक और घरेलू नुस्खे – Muh Ke Chhale Home Remedies In Hindi

  • पानी में हरा पुदीना उबालकर, उस पानी से कुल्ले करें। मुंह के छाले खत्म हो जाएंगे। हरा पुदीना ना मिले तो सुखा पुदीना या उसके डंठल भी काम में लाए जा सकते हैं।
  • दिन मे 3-4 बार नींबू पानी का सेवन से बड़ी राहत मिलेगी। आप चाहे तो नींबू का रस छालो पर लगा सकते हैं इससे जल्द ही राहत मिलेगी।
  • हरे धनिये के रस से कुल्ला करने पर मुंह के छाले नष्ट हो जाते हैं।
  • बबूल की छाल को बारीक पीस कर पानी में उबाल कर घोल तैयार कर के उसके कुल्ले करने से भी मुंह के छाले और जीवा पर उबर आए दाने मिट जाते हैं।
  • सुबह के समय केले के पत्तों की ओस मुंह के छालों पर लगाने से आराम मिलता है।
  • अलसी के तेल को मुंह के छालों पर लगाने से मुंह के छाले दूर हो जाते हैं।
  • मुंह में छाले होने पर पाँच रत्ती शोधित सुहागा आधे गिलास पानी में घोल ले और कुल्ले करें। छाले तुरत नष्ट हो जाएंगे। (सुहागा आग पर रखकर भूना अथवा शोधित किया जाता है। इसे तवे पर रखकर नीचे आग लगा देनी चाहिए। कुछ ही देर में यह भूनकर खिल जाता है। यही शोधित सुहागा कहलाता है।)
  • पचास ग्राम देशी घी आग पर गरम करे। उसमें 6 ग्राम कपूर डाल ले। इस घी को ठंडा करके मुंह में लगाने से मुंह के छाले बहुत जल्द ठीक हो जाते हैं।
  • इन्द्र जौ, कूठ, और काला जीरा मिला कर उसे चबाने से भी मुंह के छाले मिट जाते हैं।
  • चमेली के पत्ते चबाने से भी मुंह के छाले जल्दी ठीक होते हैं।
  • शीतल चीनी और मिश्री मुंह में रखने से मुंह के जख्मों या छाले मिट जाते हैं।
  • चावल में थोड़ा घी और एक चम्मच चीनी मिला कर खाने से भी पेट की गर्मी दूर हो जाती है। और मुंह के छाले मिट जाते हैं।
  • कत्था चूसने से मुंह के छाले, मसूड़ों का फूलना और गले की सूजन आदि में तत्काल आराम मिलता है।
  • मेथी के दाने को पानी मे उबालकर, उससे गरारे करें। मुंह के छाले और दुर्गंध नष्ट हो जाएंगे।
  • मुंह में छाले पड़ जाने पर मेहंदी की पत्तिया को चबाने से वह ठीक हो जाते हैं। यदि पतियों को चबाना अच्छा ना लगे तो उन्हें पानी में भिगोकर उस पानी से कुल्ला करना चाहिए।
  • कच्ची फिटकरी पानी में मिला कर घोल तैयार करें और उस से कुल्ला करें। कच्ची फिटकरी और शहद मिला कर उसका पेस्ट मुंह के छालों पर लगाने से भी मुंह को आराम मिलता है।
  • मुंह में छाले होने पर, गाजर का रस मुंह में चारों तरफ घूमाकर पी जाएं। छाले शीघ्र ठीक हो जाएंगे।
  • आठ से दस मुनक्का के दाने और थोड़े जांबुन के पत्तों को मिला कर उसका काढ़ा बना कर कुल्ला करने से मुंह के तमाम प्रकार के रोग मिटते हैं।
  • हरीतकी का काढ़ा बना कर उस से गरारे करने से गले की तकलीफ और मुंह के छाले दूर हो जाते हैं।
  • हरी दुब को साफ करके काढ़ा बना ले और उससे कुल्ला करे। छाले ख़त्म हो जाएँगे।
  • चावल के माढ़ से कुल्ला करने तथा दो-तीन घूँट माढ़ पीने से दो-तीन दिन में मुंह के छाले ठीक हो जाते हैं। पूरे दिन में दो-तीन बार करें।
  • तालमखाना मुंह में रखकर चूसने से मुंह के छालों में आराम मिलता है।
  • पान के पत्तों का रस निकालकर, देशी घी मे मिलाकर छालो पर लगाने से फ़ायदा मिलता है और छाले समाप्त हो जाते है।
  • सिल्वर नाइट्रेट (चांदी का पानी) का 1% घोल छालों पर लगाने से छाले एकदम से ठीक हो जाते हैं।
कई बार यह समस्या गंभीर हो जाने पर चालो से खून भी निकलता है। ऐसे में डॉक्टर से इनकी जांच अवश्य करानी चाहिए, क्योंकि ये घातक भी हो सकते हैं

और अधिक लेख –




loading…


LEAVE A REPLY