सफलता के मंत्र – Jivan Me Safalta Kaise Prapt Kare -100% Success

Jivan Me Safalta Kaise Prapt Kare, How to Get Success in Hindi

 Life Me Success Hone Ke Tips In Hindi – Jivan Me Safalta Kaise Prapt Kare :


हर व्यक्ति अपने छेत्र मे सफलता की कामना करता हैं। उसमे सफल होने का विश्वास भी होता हैं और उस विश्वास के साथ वह प्रयास भी आरंभ करता हैं, किंतु इसे निरंतरता देने मे सभी सफल नही होते। इसकी वजह वह परिस्थितिया या वो लोग नही होते, जिनके बीच वह व्यक्ति होता हैं, बल्कि वह स्वंय ही इसका कारण बनता हैं, क्यूंकी वह स्वंय को उसके लिए तैयार नही कर पता हैं। वह अपने व्यवहार को उसके अनुकूल भी नही बना पता, जबकि खुद मे थोड़ा बदलाव लाकर हम अपने बड़े सपने को पूरा कर सकते हैं। 

सफलता के लिए ज़रूरी हैं की सभी काम सही समय पर पूरे हों। यह तभी संभव हैं, जब हमारे पास दिनभर के काम-काज को निबटाने की पूरी प्लानिंग हो। अक्सर देखा जाता हैं की व्यक्ति पूरी क्षमता व योग्यता रखने और कड़ी मेहनत करने के बाद भी अपेक्षित सफलता प्राप्त नही कर पाता। इसकी बड़ी वजह कार्य योजना का अभाव होता हैं। डे प्लान तैयार करते समय अगर वास्तविकता के आकलन मे चूक होती हैं, तो उससे भी सफलता की संभावनाएँ तथा कार्य निष्पादन की क्षमता प्रभावित होती हैं।

सफलता के लिए व्यक्ति प्रयास अकेला करता हैं, लेकिन उसके पीछे प्रेरणा और प्रोत्साहन बहुतों की होती हैं। जैसे अकेला चना भाड़ नही फोड़ सकता, उसी तरह अकेला प्रयास बड़े नतीजे नही ला सकता। लिहाजा यह ज़रूरी हैं की अधिक-से-अधिक प्रेरणा प्रोत्साहन प्राप्त किया जाए। यह तभी संभव हैं, जब आपका व्यवहार उसके अनुकूल हो, आपका व्यवहार मे जीतने कुशल, दक्ष और ब्राह्मुखी होंगे, आप उतने ही सफ़ल व्यक्ति बन सकेंगे।

तो चलिए जीवन मे सफलता पाने के लिए कुछ बेहतरीन टिप्स हम आपको बताते हैं अगर आप ये टिप्स फॉलो करेंगे तो निश्चित आपको सफलता मिलेगी  – How to get Success in life Tips In Hindi :

लक्ष्य प्रकट करने मे संकोच न करे :-  

राल्फ वाल्डो इमर्सन ने कहा हैं की जब आप एक निर्णय लेते हैं, तो आप उसे पूरा करने के लिए कई तरह की शक्तियाँ आपको प्रेरित करती हैं। इसलिए कॅरियर को लेकर अपने लक्ष्य को उनके बीच साझा करे, जिनकी मदद से आगे बढ़ना हैं। ताकि आपके लक्ष्य प्रकटन पर प्रतिक्रिया सकारात्मक हो। यह आपके विश्वास एवं निश्चय को बाल देता हैं और आप जल्द व सही नतीजे की उम्मीद ज़्यादा कर सकते हैं।

काबिलियत प्रमाणित करे :-

सार्वजनिक जीवन और अपने कॅरियर के छेत्र मे सफल लोगो पर एक नज़र डालें। आप पाएँगे की उनकी पहचान उनकी काबिलियत से हैं, किसी और चीज़ से नही। स्टीव जॉब्स या मार्क जुकेरबर्ग पर गौर करे। पाएँगे की स्टीव जॉब्स एक ही तरह की पोशाक पहनते हैं। यहाँ तक की दुनिया के बड़े नेताओ के साथ भी वह उसी पोशाक मे दिखते हैं। कभी सूट मे नज़र नही आते हैं। जुकेरबर्ग भी ऐसे ही हैं। फिर भी उनकी पहचान की चमक कम नही होती। ऐसा इसलिए की उन्होने अपनी काबिलियत साबित की हैं। उन्हे अपनी क्षमता की चिंता हैं, फैशन की नही। उसी तरह आप भी खुद की काबिलियत को साबित करने मे ध्यान केंद्रित करे। इस बात की चिंता ना करे की अपने क्या पहना हैं या आपको लेकर लोग क्या सोचते, क्या बोलते हैं। जब एक बार अपने लक्ष्य के प्रति पूरी निष्ठा से समर्पित हो जाएँगे, तो अन्य बातें गौण हो जाएँगी।

खुद को असुरक्षित महसूस न करे :-

लक्ष्य को पाने के लिए अपने प्रयास मे स्वयं को कभी असुरक्षित महसूस न करे। कभी ऐसा भाव मान मे न लाए की आपका प्रयास असफल हो सकता हैं या आप अकेले पद गये या आप जिस ओर बढ़ रहे हैं, वह आपको सुरक्षा नही दे सकता हैं। अगर आप आगे बढ़े हैं, तो पूर्ण आत्मविश्वास से चलते चले। आप इस विश्वास के साथ अपने प्रयास मे लगे रहे हैं की आप प्रतिभा और सम्थ्र्य हैं। आप पाएँगे की आप सबसे सुरक्षित हैं।

दूसरो की सफलता पर खुश हो :-

सकारात्मक होने का अर्थ यह भी हैं की आप दूसरे के प्रति वही भाव रखें, जो स्वंय के प्रति हैं। आप जिस प्रकार अपनी सफलताओ से खुश और असफलताओ से दुखी होते हैं, उसी तरह दूसरे की सफाताओ से खुश और असफलाओ से दुखी हो। यह खुशी वास्तविक होनी चाहिए, औपचारिक या बनावटी नही। जो आपका सबसे बढ़ा प्रतिस्पर्धी हैं, उसके प्रति भी भाव और व्यवहार ऐसा ही होना चाहिए। अगर आप स्वयं को इस स्थिति मे लाएँगे, तब आप महसूस करेंगे के आपका अहंकार स्वयं दूर हो गया हैं। आपकी दृष्टि व्यापक हुई हैं। आपके साथ खड़े होने वालो की संख्या बड़ी हैं। आप कही अकेले नही हैं। आप के अंदर एक बड़ी दुनिया हैं, जिसमे आप जैसे सकारात्मक सोच वाले अनेक लोग हैं। यह आपकी सफलता के प्रति नयी प्रेरणा और विश्वास पैदा करेगा।

कुछ भी असंभव नही हैं :-

पॉल आर्डन मानते हैं की मनुष्य के लिए कुछ भी असंभव नही हैं। यह आप पर निर्भर करता हैं की आप अपनी क्षमता और उद्देश्य के बीच किस तरह सम्न्जस्य बिता पाते हैं और उसे आगे ले जाते हैं। आपके लिए ज़रूरी यह हैं की आप अपनी क्षमता का पूरी ईमानदारी से और संपूर्णता के साथ उपयोग करे। कभी आधे-अधूरे मान या आधी-अधूरी क्षमता से किसी कार्य को नही करे। अगर आप कॅरियर को लेकर गंभीर हैं, तो उसे पाने के लिए अपनी क्षमता के इस्तेमाल के प्रति भी गंभीर बने। अगर आप ये सोचते हैं की की आप अपने छेत्र की सबसे अच्छी कंपनी मे करने मे समर्थ हैं, तो आप इसे अपना उद्देश्य बनाए। अगर सोचते हैं की आप टाइम्स पत्रिका का कवर पेज बन सकते हैं, तो अपने कॅरियर और कारोबार को उस उँचाई तक ले जाने का लक्ष्य बनाए, तब आप उसके लिए प्रयत्न भी कर सकेंगे।

भाग्य का भरोसा धोखा हैं :-

राफ़ वाल्डो इमर्सन ने कहा उथला और कमजोर पुरुष भाग्य मे विश्वास करते हैं, जबकि मजबूत आदमी कारण और प्रभाव पर भरोसा करता हैं। ब्रूस प्रिंगस्टिन  भी कहते हैं की जब किस्मत की बात आती हैं , तो आप उसे खुद बनाते हैं। यानी भाग्य और चमत्कार का भरोसा अपने कॅरियर के प्रति लापरवाही का प्रतीक हैं। आप जब भविष्य को लेकर कल्पना करते हैं, तो उसे केवल अच्छी योजना, प्रतिबद्धता, श्रम और लगान से ही प्राप्त कर सकते हैं। आप भाग्यशाली की जगह मेहनती कहलाना पसंद करें। तब ठोस सफलता आप प्राप्त कर सकेंगे, जिसमे आपको ज़्यादा संतुष्ट मिलेगा और आप उससे आगे निकलने के प्रति उत्साहित होंगे।

अमेरिका के शॉन एकोर करीब 12 सालो तक हावॉर्ड यून्वर्सिटी से जुड़े रहे। वह सफलता और खुशी के अंतरसंबधो की व्याख्या करने वाले दुनिया के बेहद चर्चित इंसान हैं। उन्होने अपने प्रयोग और अनुभव के आधार पर दुनिया को यह बताया हैं की हमारे अंदर कुछ ऐसी खुशियाँ होती हैं, जिनमे हम आम तौर पर व्यक्त नही करते, किंतु उनका प्रभाव हमारे काम और उसके परिणाम पर पड़ता हैं। ऐसी खुशियों को बटोर कर हम अपने कैरियर और कारोबार को सफलता के शिखर पर ले जा सकते हैं।  

शॉन ने अधिक खुशी, अधिक सफलता और जीवन की अधिक उपलब्धियों के लिए पाँच टिप्स बताए हैं। इन्हे आप भी अपने जीवन  मे अपना सकते हैं। इससे मस्तिष्क को आप बार-बार नयी योजना के मुताबिक उर्जन्वित और सक्रिय कर सकते हैं। ये टिप्स आपको आशावादी बनाते हैं। आपके सामाजिक संबंधो को नया आयाम और अर्थ डेटदे हैं तथा आपको तनाव से मुक्ति का अवसर देते हैं।

शॉन के  इस टिप्स को आप अपने दैनिक जीवन का हिस्सा बनाए :-

  1. मन मे अभारी के भाव, इसके लिए हर दिन की तीन ऐसी बातों, घटनाओ, वस्तुओ या व्यक्ति के विषय मे लिखे, जिनके प्रति आप किसी कारण अभारी हैं।
  2. जर्नल यानी पत्र-पत्रिकाएँ या कोई पुस्तक। दिन भर मे कुछ पल आप किसी अच्छे जर्नल की पड़ने और उससे कुछ नया ज्ञान प्राप्त करने मे खर्च करें।
  3. व्यायाम. आप दिन मे कम-से-कम पाँच मिनट शारीरिक और मानसिक व्यायाम अवश्य करे।
  4. ध्यान. दिन भर मे केवल दो मिनट भी आप इसमे खर्च करते हैं, तो आप खुद मे बड़ा फ़र्क महसूस करेंगे।
  5. दूसरो के प्रति सद्दभाव और सकारात्मक सोच। इसके लिए किसी अच्छे काम को लेकर आप किसी मित्र की प्रशंसा करे। उसे बधाई और धन्यवाद दें। यह काम आप सोशियल मीडीया के ज़रिए भी कर सकते हैं और इस पर दो से पाँच मिनट ही खर्च करे। ऐसा करते समय आपकी मनोदशा पूर्णत: सकारात्मक होनी चाहिए।
और अधिक लेख :-

Please Note : – Jivan Safalta Kaise Prapt Kare मे दी गयी Information अच्छी लगी हो तो कृपया हमारा फ़ेसबुक (Facebook) पेज लाइक करे और इसे अपने दोस्तो को सोशियल मीडीया मे Share करे या कोई टिप्पणी (Comments) हो तो नीचे करे। How To Achieve Success In Life In Hindi व नयी पोस्ट डाइरेक्ट ईमेल मे पाने के लिए Free Email Subscribe करे, धन्यवाद।

loading...

LEAVE A REPLY