हस्तमैथुन/Masturbation के फ़ायदे व हानि क्या है? कैसे छोड़े हस्तमैथुन करना

How to Stop a Masturbation Addiction In Hindi

हस्तमैथुन(Masturbation) सेक्स मिथ्या के लिए सबसे बड़ा टॉपिक है एक उम्र हर इंसान के जीवन मे आता है जब उसे सेक्स की चाहत पड़ती है और इस बीच हस्तमैथुन करना शुरू करते है चाहे वो लड़का हो या लड़की दोनो मे समान बीमारी होती है, इस उम्र अगर कोई कंट्रोल कर लिया तो अच्छा है और नही तो उसे लत लग जाती है ऐसे आकड़े भी ये बात बताते है की 95% मर्द (Male) और 83% महिला(Female) हर रोज हस्तमैथुन के सौकीन है ऐसा नही की लोग शादी-शुदा हो जाने के बाद ये काम छोड़ देते है, ये चलता रहता है इसके बहुत से कारण है, हस्तमैथुन पुरुषों में निर्मित और महिलाओं में लजाता हुआ एक अभ्यास है। लेकिन आप हस्तमैथुन से बच नहीं सकते, यह जीवन का एक हिस्सा है। और हर व्यक्ति चाहता है की मैं इसे ना करू पर कंट्रोल नही करने सकता है, चन्द मिनट का मज़ा रहता है पर लोगो के बस मे नही रहता, करने टाइम कुछ भी समझ मे नही आता है पर करने का बाद बहुत शर्म महसूस होता है हज़ार तरह के लोग कसमे खाते है की आज बाद नही करूँगा, परंतु अगले दिन फिर वही स्थिति रहती है, हालाँकि हस्तमैथुन करना हानिकारक है या लाभदायक ये तो हम आगे जाँएंगे, पर ये एक तरह का गुप्त बीमारी है जिसे लोग सेयर करने मे शरमाते है और चुपके-चुपके इसका इलाज भी खोजते रहते है, तो आए जानते इस बीमार के कारण और इलाज..

हस्तमैथुन क्या है? क्यू करते है

हस्तमैथुन करने का अर्थ है, अपने शरीर के अंगों को इस तरह से छूना-सहलाना जिससे आपको बहुत आनंद महसूस हो। हस्तमैथुन करने टाइम गुप्त अंग से वीर्य(Sperm) निकलता है जो निकलते टाइम मज़ा आता है इसे आप तब तक करते हैं जब तक आप पूरी तरह उत्तेजित हो जाते और आर्गैज़्म महसूस कर लेते हैं।

हस्तमैथुन करने के फ़ायदे..

  • कुछ लोग मानते हैं की हस्तमैथुन से मुहासे होते हैं, तो कुछ ये मानते हैं की इससे आप अंधे या और गंजे हो जाते हैं और आपकी हथेलियों पर बाल भी उग जाते हैं। यह इस तरह की बहुत सारी बातें होते है…खैर, इसमें से कुछ भी सच नहीं है। हस्तमैथुन ना ही आपको अँधा करता है और ना ही गंजा, और ना ही इससे आपको मुहासे होते हैं।. असल में, एक रिसर्च के अनुसार हस्तमैथुन आपका स्ट्रेस (चिंता) कम करने में मदद कर सकता है, आपको मूड सही कर सकता है,
  • ऑस्ट्रेलियन स्टडी के मुताबिक जो पुरुष हफ्ते मे कम से कम 5 बार एजॅक्यूलेट होते है उनमे प्रॉस्टेट कैंसर होने के संभावना कम होते है. हस्तमैथुन के ज़रिए प्रॉस्टेट कैंसर के सेल्स बाहर निकल जाते है.
  • अपने शायद सुना होगा की पुरुष ज़्यादा हस्तमैथुन से अपने सारे शुक्राणु ख़त्म कर देते हैं और वो नपुंसक हो जाते हैं। ऐसा बिल्कुल नही है क्यूंकि जब तक किसी भी पुरुष के पास स्वस्थ्य सेक्स अंग है, तब तक शुक्राणु लगातार बनते रहते हैं, चाहे वो हस्तमैथुन करे या नहीं। यही बात महिलाओं पर भी लागू होती है – हस्तमैथुन से महिलाओं की उर्वरता पर कोई असर नहीं पड़ता और अंडे बनते रहते हैं। हक़ीकत तो यह है की जो लोग अपनी साथी को गर्भवती करने की कोशिश कर रहे हैं, उनके लिए शुक्राणु रिसाइकलिंग होते रहता है और ये अच्छी बात है
  • हस्तमैथुन से यौन रोग संक्रमण नही होता है अगर आप सेफ़एटी से करे तो,
  • ऐसे अनुमानित हफ्ते मे 2 बार हस्तमैथुन सेहत के लिए फ़ायदेमंद साबित हो सकता है,
  • अपनी कमासुत्रा को काबू रखने के लिए हस्तमैथुन पूरी तरह से सेफ प्रक्रिया है.
  • हस्तमैथुन करने से अच्छी नींद आती है और अच्छी नींद आने का मतलब काम या पड़ाई मे मन लगना,
  • जब आप हस्तमैथुन के दौरान क्लाइमॅक्स पर होते है, तब शरीर मे निकलने वाले हॉर्मोन्स आपको सुख की अनुभूति करते है और आपको मानसिक शांति देते है.
  • हस्तमैथुन के दौरान धड़कन बाड़ जाती है. ब्लड का फ्लो भी बदता है और मसल्स मे सख्ती आती है. इन सारी शारीरिक प्रक्रियाओ के कारण तनाव से मुक्ति मिलती है. जैसे की आप सेक्स के बाद राहत और तनाव से मुक्त महसूस करते है.

हस्तमैथुन के हानिकारक

  • हस्तमैथुन ज़्यादा करने से शरीर कमजोर होता है क्यूकी हस्तमैथुन करने के बाद जो वीर्य निकलता है वो हमारे शरीर का निचोड़ ताक़त होता है.
  • हस्तमैथुन के वजह से शरीर का अंग विकास नही होता है और समय से पहले शरीर मे दर्द का सामना करना पड़ेगा, ये जल्दी बुडापे का भी कारण बन सकता है.
  • हस्तमैथुन करने से लिंग की बनावट बिगड़ सकती है, जैसे पतला हो जाना, टेडा हो जाना, साथ मे सेक्स करने की छमता कम हो सकता है, जल्दी वीर्य निकलने लगेंगे जिससे आप अपने साथी को सेक्स के टाइम संतुष्ट नही कर सकते,
  • जल्दी थकने की बीमारी हो सकती है , गालो का धसना, चेहरे से चमक ख़तम हो सकता है आप इस कारण खेल-कूद मे पिछड़ जाएँगे.
  • शरीर मे हारमोन की कमी हो सकती है, आपका वजन कम हो जाएगा, शरीर पतला हो सकता है, किसी से सही से बात नही कर सकते, सोचने की ताक़त कम हो सकता है.
  • इससे हंडसॅम नही कमजोर, लुक्खा बन सकते है, आप अच्छी गर्ल फ्रेंड नही पा सकते, क्यूकी आपकी पेर्सनलिटी खो सकती है, लोगो के लिए मज़ाक बन सकते है कभी हेल्थ नही बन सकता,
  • कुल मिलाकर ये अपने पैर मे कुल्हाड़ी मारने जैसा है, पाँच मिनट का मज़ा और बाद मे सज़ा, इससे बेहतर इसे छोड़ना ही अच्छा है, ये बहुत बुरी आदत है, ये आपकी लाइफ चौपट कर सकती,
  • उपर जो हस्तमैथुन के फ़ायदे बताए गये है उसे आप दूसरे तरीके से भी हासिल कर सकते है, पर इसके हानिकारक से आप दूसरे तरीके से नही बच सकते, बस नुकसान ही होगा

कैसे छोड़े हस्तमैथुन करना

ऐसे तो इस बीमारी का कोई स्थायी इलाज नही है अगर आपको हस्तमैथुन करने की ज़्यादा लत है तो किसी डॉक्टर से मिल सकते है, पर नीचे कुछ तरीके बताए जा रहे है जिससे आपको हस्तमैथुन की आदत छोड़ने मे मदद मिल सकती है,

  • सबसे पहले फ्रेश रहा कीजिए, और अपना काम मे ध्यान देने की कोशिस करे, जितना बिज़ी अपने दिमाग़ को रखेंगे उतना ये सब आदत भूलेंगे, एक कहावत है ना अकेला दिमाग़ सैतान का दिमाग़ होता है.
  • घर मे जब अकेले रहे तो कोई अच्छी किताब पड़ा कीजिए जिसमे आपका मन लगे, अपने दोस्तो के साथ टाइम बिताए, और सबसे ज़रूरी चीज़, खेलने मे इंटरेस्ट रखे, ये बहुत अच्छा तरकीब है हस्तमैथुन छोड़ने का,
  • जब इस टाइप का ख्याल आपके दिमाग़ मे आए तो अपना फॅमिली मेंबर के पास जा कर बैठ जाई, ये खुद आपके दिमाग़ से निकल जाएगा,
  • और हमेशा दिमाग़ मे अपने भविष्य के बारे मे सोचे, ये ठान ले की किसी भी स्थिति मे हस्तमैथुन नही करना है, और वैसे चीज़ो या दोस्तो से दूर रहे जो हमेशा सेक्स की बाते किया करते है,
  • अगर आप कंप्यूटर, लॅपटॉप, स्मार्ट्फोन यूज़ करते है तो कभी उसमे, सेक्स वीडियो, पॉर्न फोटो, सेक्स स्टोरी ना रखे, हर हाल मे उसे डिलीट करे, और इंटरनेट चलाते है तो, पॉर्न या सेक्स संबंधित साइट को ब्लॉक कर दे और इसके लिए ऐसा पास्वोर्ड डाले जिसे आप याद नही रख सकते, क्यूकी अगर पास्वोर्ड याद रहा तो हस्तमैथुन का सैतान जब शरीर मे आता है तो कुछ भी याद नही रहता बस करने का मन करता है, इसलिए पास्वोर्ड ही भूल जाए,
  • अगर आपकी गर्ल फ्रेंड या जीवन साथी हो तो उसे अपना प्राब्लम से अवगत कराए, ताकि वो हेल्प कर सके,
  • और अपने धार्मिक चीज़ो से जुड़े रहे, पूजा पाठ, नमाज़, किया कीजिए अपने मन को शांत रखने के लिए,

जानकारी अच्छी लगी हो तो कृपया फ़ेसबुक, ट्विटर मे सेयर और फॉलो करे, अगर किसी तरह का कोई सवाल हो तो कॉमेंट के मध्यम से पूछे, और हमारी न्यू पोस्ट डाइरेक्ट अपने ईमेल मे फ्री प्राप्त करने के लिए सबस्क्राइब करना ना भूले
Click Here To Subscribe

  Also Read More  •  कैंसर क्या है? कैंसर कैसे होता है? कैंसर के लक्षण व घरेलू उपचार
                                   •  जल्दी बॉडी बनाने का आसान तरीका जाने
                                   •  Ladki Ko Kaise Impress Kare
loading...

4 COMMENTS

  1. आप की जितनी भी बाते है वो एकदम सच है और ऐसे ही मेरी भी आदत थी
    लेकिन अब कम हो गया है पर जब कभी उस तरह की सीन देखता हू तो क्या करू बस फिर दिल है कि मानता नही,,।
    इन सब आदतो से ऊब जुका हू मुझे निकलना है कृपया कोइ सुझाव दे।
    अब तो न चेहरे पर ताजगी रहती है और न ही चमक एकदम कमजोर सा हो गया हू । अब तो न सेहत बनती है ना शरीर ये मान लो की मेरे शरीर मे खाया पिया लगता ही नही।।
    बहुत कोशिश की एकदम से छोडने के लिए लेकिन एकदम से छूटती ही नही और इसी के वजह से और दूसरी बिमारी भी बनने लगी हैं जैसे-
    धातु रिसाव ,पेसाब मे जलन और कितना भी इलाज करवाओ धातु रिशाव बन्द नही होता
    इसमे हमने कोइ भी तथ्य छुपाया नही है ; कहते है ना कि मर्ज कभी छुपाया नही जाता जो है सो बता दो हो सकता है की कुछ फायदा ही हो जाय।

    तो प्लीज कोइ उपाय करिये सर आपके रिप्ले मैसेज का इन्तजार रहेगा।

    • डियर अमन,,, इस आदत को छोड्ने का कोई मेडिसिन तो नही हैं,,पर आप अपने जिने का तरिका चेंज करके इस्से बच सकते हैं, सपोज – १) नोंवेज खाना कम करे,,,,२) जिम या योगा करे – इस्से शरीर भी बनेगा और आपके अंदर इस चीज का Excitement कम होगा,,, ३) अपने काम या पडाई मे बिजी रहे,,,और थोडा अध्यात्मिक बने व फाल्तु बातो से बचे,,,,ये छोडने का मुल्मंत्र हैं,,,व उपर जो टिप्स दिये हुये हैं उसे फोलो करे,,,ये आपके सोच पे निर्भर करता हैं कि आप इसे छोडना चाहते हैं या नही. इसलिये सोंच चेंज करे,,,

LEAVE A REPLY