दिमाग तेज कैसे करें- How To Increase Brain Power Tips In Hindi

How To Increase Brain Power And Concentration In Hindi

Dimag Ko Tej Kaise Kare – How To Increase Brain Power And Concentration In Hindi :-


आज के इस कॉंपिटिशन भरे दुनिया मे हमारे दिमाग़ का तेज (Brain Power) होना बहुत ज़रूरी हैं। आज कल हर जगह पर खेल बस दिमाग़ का हैं। अगर ज़रा सा हम कमजोर पड़ जाए तो हमारे विपक्षी हमसे आगे निकल जाते हैं और हम पीछे रह जाते हैं। इसीलिए हर समय मे हमारे दिमाग़ को तेज होना बहुत ज़रूरी हैं। यदि आपकी बुद्धि प्रखर (Brain Power) है तो आप कोई भी काम बड़ी ही सहजता से कर सकते हैं और बड़े से बड़े संकट का सामना भी आसानी से करते हैं। सिर्फ़ प्रोफेशनल लाइफ के लिए ही नही बल्कि हमारे पर्सनल लाइफ के लिए भी हमारे दिमाग़ को तेज होना बहुत ज़रूरी हैं और हर जगह करेंट ऑफ माइंड वाले को ज़्यादा पसंद किया जाता हैं, चाहे जॉब की बात हो, या बिज़्नेस की बात हो, या पढ़ाई की। लेकिन कुच्छ लोग चाहते हुए भी अपना दिमाग़ तेज़ी से नही चला पाते जिसके कारण बहुत सी फील्ड मे वो लोग बाकियो से पीछे रह जाते हैं।

ऐसे तो भगवान ने हर मनुष्य को एक विशेष क्षमता युक्त करके ही धरती पर भेजा है। कोई दिमाग से तेज है तो कोई अन्य कार्यों में फुर्तीला है। लेकिन आप स्वयं अपनी दिमागी क्षमता को बढ़ा सकते हैं, जानना चाहेंगे कैसे? तो चलिए हम आपको कुछ ऐसे घरेलू नुस्खे और टिप्स बताते हैं, जिससे आपका दिमाग़ कम्प्यूटर से भी तेज चलेगा दिमाग(Brain Power)…

सबसे पहले दिमाग़ तेज बनाने के लिए ये टिप्स को फॉलो करे :-

मेंटल एक्सरसाइज : दिमाग तेज करने के लिए मेंटल एक्सरसाइज करना बहुत जरूरी है। वैसे तो दिमाग हर वक्त काम करता रहता है, लेकिन मेंटल एनालेसिस, ब्रेन प्रेक्टिस, पजल गेम सॉल्व करें।

ध्यान लगाए/ Meditation : दिमाग़ को तेज करने के लिए दिमाग़ को रिलॅक्स देना भी ज़रूरी हैं इसके लिए आप 5-10 मेडिटेशन करे। इसके अलावा योगा भी बहुत ज़रूरी हैं योगा से शरीर भी स्वस्थ रहता हैं और दिमाग़ भी तेज होता हैं।

नयी चुनौती /Competition : अपने स्कूल कॉलेज या ऑफीस मे हर कॉंपिटिशन मे हिस्सा लीजिए, अगर आप खुद को नियमित रूप से चैलेंज देते रहेंगे तो ये आपके दिमाग को सोचने पर मजबूर करेगा। इससे आपका दिमाग रोज नई चीजें सीखेगा। वहीं पुरानी चीजों को भी याद रखने में मदद मिलेगी।

किताबे पढ़े : आपको तो ये बात ज़रूर पता होगा की किताबो मैं ज्ञान का भंडार होता हैं. और किताबो मैं कुच्छ भी ऐसा नही लिखा रहता हैं जिससे पढ़कर हम पर कोई भी बुरा प्रभाव पड़े. इसीलिए आप अगर रियल मैं अपने दिमाग़ को तेज करना चाहते हैं तो नयी-नयी किताबो से रिश्ता जोड़िए. नये पुराने किताबो को पढ़ने से आपका दिमाग़ पहले से काफ़ी तेज हो जाएगा।

नयी चीज़ो को जानने की कोशिश करे : आपके मन मे जब भी कुच्छ नया करने की इक्षा हो तो उस इक्षा को दबाइए मत. बल्कि सीखने की कोशिश करिए की उस काम को कैसे करना हैं. नयी नयी चीज़े ट्राइ करने से भी हमारा दिमाग़ पहले से ज़्यादा शार्प हो जाता हैं।

दोस्तो से समय बिताए : अपने दोस्तो और पढ़ोसियों के साथ टाइम बिताने की कोशिश करे. इससे आप नयी-नयी बात सुनेंगे और सीखेंगे. जिससे आपके दिमाग़ मे नये आइडिया आएँगे।

गाना सुने : माइंड फ्रेश करने के लिए या शार्प एंड आक्टिव (Active) करने के लिए आप गाना (Songs) को भी उसे मे ला सकते है. ऐसा करने से दिमाग़ मे शांति रहती है।

पूरी नींद ले : अपने दिमाग को आराम देने और नई ऊर्जा के लिए आपको एक दिन में 7-9 घंटे की गहरी नींद लेनी चाहिए। इससे आपका दिमाग ज्यादा कुशलतापुर्वक काम कर पाएगा।

दिमाग़ तेज करने के लिए घरेलू नुस्खे :-

Tea/चाइ पिए : चाइ मे जो पॉल्यफोनेस पाए जाते है वो दिमाग़ को बैलेँसे रखने मे हेल्प करता है ओर साथ ही साथ आपको शांति से सोचने की शक्ति भी देता है। ग्रीन टी अर्बॅल टी मानी जाती है ये हेल्थ (Heath)के लिए भी अच्छा हैं इसलिए ज़्यादा से ज़्यादा ग्रीन टी ही पीने की कोशिश करे।

बादाम : दिमाग़ तेज करने के लिए सबसे अच्छा और पॉप्यूलर उपाय है बादाम। इसके लिए रोज रात को 5 बादाम भीगो दें और सुबह उन्हें खाएं। आयुर्वेद के मुताबिक रोज सुबह भीगे बादाम खाने से याददाश्त तेज होगी। यदि आप अखरोट खाते हैं तो भी आपकी याददाश बढ़ती है। रात को 10 बादामों को पानी में भिगोकर सुबह उनका छिलका उतार लें और इसे 10 ग्राम मक्खन और मिश्री के साथ मिलाकर कुछ दिनों तक खाने से दिमाग की शक्ति बढ़ती है।

मेहंदी : मेहंदी के पत्तों में बहुत पावर होती है। इसकी महक में कारनोसिक एसिड पाया जाता है। जिससे दिमाग की मांसपेशियां एक्टिव होती है। इससे खोई हुई याददाश्त भी वापस आ सकती है।

हल्दी : कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी में हुए शोध के अनुसार, हल्दी में पाया जाने वाला रासायनिक तत्व कुरकुमीन दिमाग की क्षतिग्रस्त कोशिकाओं को रिपेयर करने में मदद करता है और इसके नियमित सेवन से एल्जाइमर रोग नहीं होता है। इसलिए आप इसे गर्म दूध में मिलाकर पी लें, फायदा होगा लेकिन ध्यान रहे कि ऐसा रोज़ाना ना करें। क्योंकि हल्दी की तासीर गर्म होती है, जिससे पेट की परेशानियां भी उत्पन्न हो सकती हैं।

तुलसी : वैसे तो तुलसी कई प्रकार की बीमारियों का इलाज करने में सहायक सिद्ध होती है, लेकिन साथ ही यह दिमाग को तेज करने के लिए एक जानी-मानी जड़ी बूटी भी है। समें मौजूद शक्तिशाली एंटीऑक्सी डेंट हृदय और मस्तिष्क में रक्त के प्रवाह में सुधार करता है। साथ ही इसमें पाई जाने वाली एंटी-इंफ्लेमेटरी अल्जाहइमर जैसे रोग से सुरक्षा प्रदान करता हैं।

जैतून का तेल : ऑयल (जैतून का तेल) आपके शरीर के साथ-साथ दिमाग के लिए भी बहुत फायदेमंद है। इसमें मानोसेच्यूसरेटेड फैट्स पाया जाता है, जो आपकी ब्लड वैसेल्स (नसों) को एक्टिव करता है और याददाश्त बढ़ाने में मदद करते है। 10 ग्राम किशमिश के साथ 20 ग्राम अखरोट खायें। इससे मानसिक तनाव भी दूर होता है। गाय के घी से सिर पर कुछ दिनों तक मालिश करने से आपकी स्मर्ण शक्ति बढ़ती है।

केसर : दूध में या फिर अन्य खाद्य पदार्थ में चुटकी से भी कम केसर का इस्तेमाल करने से अनिद्रा और डिप्रेशन जैसी बीमारियों से छुटकारा मिलता है। और ऐसी ही बीमारियां हमारे दिमाग को कमज़ोर बनाती हैं।

घी : गाय के घी से सिर पर कुछ दिनों तक मालिश करने से आपकी स्मर्ण शक्ति बढ़ती है। गाजर का हलुआ खाते रहने से दिमाग की कमजोरी दूर होती है।

विटामिन : विटामिन की कमी से शरीर और दिमाग पर बुरा असर पड़ता है। विटामिन ई और विटामिन सी आपकी मैमोरी बढ़ाते हैं। इसके लिए ओट्स, हरी सब्जियां, खट्टे फल, सोयाबीन ऑयल का सेवन करें। इनमें पर्याप्त मात्रा में विटामिन्स पाए जाते हैं। सुबह खाली पेट आंवले का मुरब्बा खाने से दिमागी विकार दूर होता है।

काली मिर्च : काली मिर्च भी दिमाग़ को तेज (Brain Power) बनाने मे काफ़ी हेल्पफुल हैं क्योंकि इसमें पाया जाने वाला पेपरिन नामक रसायन शरीर और दिमाग की कोशिकाओं को आराम देता है। डिप्रेशन को दूर करने के लिए भी यह रसायन जादू सा काम करता है। इसीलिए दिमाग को स्वस्थ बनाए रखने के लिए काली मिर्च का उपयोग करें।

जटामांसी : औषधीय गुणों से भरपूर यह बूटी व्यक्ति की याददाश्त को तेज करने का काम करती है। इस बूटी के नाम में ही इसके गुण छिपे हैं। जटा यानी कि बाल, और इस बूटी पर लगे हुए छोटे-छोटे बाल जैसे तंतु काफी प्रभावशाली हैं।

मछली/Fish : फिश को तो मोस्ट्ली ब्रायन फुड ही कहा जाता है। क्यूंकी इसके आयिल मे ओमेगा 3 फॅटी एसिडस पाया जाता है, जो दिमाग़ के लिए बहुत ज़रूरी है. ये बहुत ही लाभदायक हैं।

शहद : शहद में 10 ग्राम दालचीनी को मिलाकर चाटने से दिमाग तेज होता है। 6 से 7 काली मिर्च में 25 से 30 ग्राम मक्खन और शक्कर मिलाकर रोज खाने से दिमाक तेज होता है और भूलने की बीमारी दूर होती है। गेहूं के पौधे का रस कुछ दिनों तक रोज पीने से भूलने की बीमारी दूर होती है।

सौंफ : सौंफ को मोटा कूट कर उसे छान लें और इसे एक-एक चम्मच सुबह शाम दो बार पानी या दूध के साथ फंकी लें। जीरा, अदरक, और मिश्री को पीसकर उसका पेस्ट बनाकर खाने से याददाशत की कमजोरी दूर होती है। गुलकन्द को रोज दिन में दो से तीन बार खाने से स्मरण शक्ति को लाभ मिलता है।

बुद्धि बढ़ाने का मंत्र :- 

सर्वस्य बुद्धिरूपेण जनस्थ ह्रदि संस्थिते।
स्वर्गापवर्गके देवि नारायाणि नमोस्तुते।।

मंत्र जप करने की विधि – हर रोज सुबह स्नान आदि करने के बाद तुलसी के पौधे के सामने घी का दीया जलाएं। इसके बाद कुश के आसन पर बैठकर तुलसी की माला से इस मंत्र का कम से कम 108 बार जप करें। कुछ ही दिनों में आपको इसका असर नज़र आने लगेगा।

 

ये आर्टिकल सिर्फ़ आपके लिए  :-

Please Note : – How To Increase Brain power And Concentration In Hindi मे दी गयी Information अच्छी लगी हो तो कृपया हमारा फ़ेसबुक (Facebook) पेज लाइक करे या कोई टिप्पणी (Comments) हो तो नीचे करे। How To Increase Mind Power Tips In Hindi व नयी पोस्ट डाइरेक्ट ईमेल मे पाने के लिए Free Email Subscribe करे, धन्यवाद।

loading...

LEAVE A REPLY